'दीया और बाती हम' की इस टीवी एक्ट्रेस ने सुष्मिता सेन के भाई के संग लिए सात फेरे

'दीया और बाती हम' की इस टीवी एक्ट्रेस ने सुष्मिता सेन के भाई के संग लिए सात फेरे

बॉलीवुड की बिंदास बाला सुष्मिता सेन (Sushmita Sen) शादी के चलते इन दिनों काफी व्यस्त चल रही हैं। लेकिन शादी उनकी नहीं बल्कि उनके भाई राजीव सेन की हुई है। उन्होंने टीवी एक्ट्रेस चारू असोपा से शादी की है। जानकारी के मुताबिक, दोनों ने दो रीति- रिवाजों से शादी की है।

राजीव और चारू की शादी की सभी रस्में गोवा में संपन्न हुई हैं। उनकी शादी की कुछ तस्वीरें सामने आई हैं, जो आते ही सोशल मीडिया पर वायरल होने लगीं।

 

बता दें कि इस शादी को पूरी तरह से प्राइवेट रखा गया था। यह फंक्शन कुछ रिश्तेदारों और करीबी दोस्तों की मौजूदगी में आयोजित किया गया था। राजीव और चारू ने गोवा में बंगाली और क्रिश्चियन, दो रीति- रिवाजों से शादी की है।                                                         

 

सुष्मिता की भाभी चारू एक फेमस टीवी एक्ट्रेस हैं। चारू ने 'फिर जीने की तमन्ना है', 'लकीरें किस्मत की', 'बड़े अच्छे लगते हैं', 'अगले जन्म मोहे बीटिया न कीजौ' और 'दीया और बाती हम' जैसे कई सीरियल्स में अहम किरदार निभाए हैं।

 

बात करें अगर सुष्मिता सेन की तो वे अपने भाई की शादी में काफी एंजॉय करती नजर आईं। चमक- धमक से दूर उनका सिंपल लुक सभी को काफी अट्रैक्ट करता नजर आया। वहीं उनके साथ इस शादी में उनके बॉयफ्रेंड रोहमन शॉल भी नजर आये। आपको बता दें कि उम्र में रोहमन सुष्मिता से 15 साल छोटे हैं और उन्हें काफी लंबे समय से डेट कर रहे हैं।

 

गौरतलब है कि इनकी शादी 16 जून को हिन्दू रीति- रिवाज के साथ हुई, जबकि दोनों पहले ही कोर्ट मैरिज कर चुके थे। शादी से पहले दोनों की हल्दी की रस्में हुईं, जिसकी तस्वीरें और वीडियो चारू की बहन चिंतन असोपा ने अपने इंस्टाग्राम अकांउट पर शेयर किये। इन तस्वीरों में चारू पीले रंग के देसी अवतार में बेहद खूबसूरत नजर आ रही हैं।

(आपके लिए खुशखबरी! POPxo शॉप आपके लिए लेकर आए हैं आकर्षक लैपटॉप कवर, कॉफी मग, बैग्स और होम डेकोर प्रोडक्ट्स और वो भी आपके बजट में! तो फिर देर किस बात की, शुरू कीजिए शॉपिंग हमारे साथ।)

.. अब आयेगा अपना वाला खास फील क्योंकि Popxo आ गया है 6 भाषाओं में ... तो फिर देर किस बात की! चुनें अपनी भाषा - अंग्रेजीहिन्दीतमिलतेलुगूबांग्ला और मराठी.. क्योंकि अपनी भाषा की बात अलग ही होती है।