सनी देओल का खुलासा- आखिर क्यों 'डर' फिल्म के बाद 16 साल तक रहे शाह रुख खान से नाराज़

सनी देओल का खुलासा- आखिर क्यों 'डर' फिल्म के बाद 16 साल तक रहे शाह रुख खान से नाराज़

साल 1993 में आई “डर” फिल्म तो आपको याद ही होगी। यशराज बैनर तले बनी इस फिल्म ने शाह रुख खान को रातों- रात बड़ा स्टार बना दिया। फिल्म में भले ही उनका किरदार एक विलेन का रहा लेकिन फुटेज और पाॅपुलैरिटी उन्हें फिल्म के हीरो यानि सनी देओल से भी ज्यादा मिली। मगर इसके अलावा “डर” की शूटिंग के दौरान कुछ ऐसा भी हुआ, जिसकी वजह से सनी देओल ने 16 साल तक शाह रुख खान से बात भी नहीं की। आखिर ऐसा क्या था दोनों के बीच, इसका खुलासा खुद फिल्म के 25 साल बाद सनी देओल ने किया।

फिल्म में हुए बदलाव से थे नाराज़

हमेशा मीडिया से दूर- दूर रहने वाले सनी देओल ने हाल ही में एक इंटरव्यू के दौरान खुलकर अपने दिल की बातें रखीं। इस इंटरव्यू में जब सनी देओल से पूछा गया कि क्या उन्होंने फिल्म के बाद 16 साल तक शाह रुख खान से बात नहीं की तो सनी ने एक बार फिर 25 साल पुरानी घटना को याद करते हुए बताया, “ऐसा नहीं है कि मैंने 16 साल तक शाह रुख खान से बात नहीं की लेकिन मैंने खुद को उन लोगों से दूर कर लिया। ऐसे में हम कभी मिले ही नहीं तो बात करने की भी ज़रूरत नहीं पड़ी।”

सनी देओल ने उस समय को याद करते हुए आगे बताया, “फिल्म ‘डर’ में लोगों ने मुझे और मेरे काम को पसंद किया था। शाह रुख को भी पसंद किया गया। फिल्म के साथ मुझे बस इतनी समस्या थी कि मुझे नहीं पता था कि वे विलेन के किरदार को इतनी अहमियत देंगे। मैं फिल्मों में हमेशा खुले दिल से और लोगों पर भरोसा करके काम करता हूं। दुर्भाग्यवश ऐसे कई लोग और एक्टर्स हैं, जो ऐसे काम नहीं करते। शायद वे ऐसे ही स्टारडम चाहते हैं।”

सनी को पसंद आया था पाॅज़िटिव रोल

दरअसल, जिस समय “डर” आई थी, तब सनी देओल एक बड़े स्टार थे और शाह रुख खान अपने करियर में स्ट्रगल कर रहे थे। डायरेक्टर यश चोपड़ा ने सनी देओल को ऑफर दिया था कि वे राहुल मेहरा और सुनील मल्होत्रा में से किसी एक किरदार को चुन लें। सनी देओल ने अपने लिए सुनील मल्होत्रा का पॉजिटिव रोल चुना।

उन्होंने फिल्म में एक कमांडो का रोल निभाया था, वहीं शाह रुख खान विलेन के किरदार में थे। फिल्म के आखिर में एक सीन में शाह रुख खान सनी देओल को चाकू मारते हैं। इस सीन को लेकर सनी देओल ने यश चोपड़ा से बहस भी की थी। सनी का कहना था कि कोई कमांडो को चाकू कैसे मार सकता है? साथ ही फिल्म का हीरो विलेन से मात कैसे खा सकता है? लेकिन डायरेक्टर यश चोपड़ा इस सीन के लिए नहीं माने। बताया जाता है कि इसी के बाद से सनी देओल ने कभी यशराज बैनर के साथ काम नहीं किया।

(आपके लिए खुशखबरी! POPxo शॉप आपके लिए लेकर आए हैं आकर्षक लैपटॉप कवर, कॉफी मग, बैग्स और होम डेकोर प्रोडक्ट्स और वो भी आपके बजट में! तो फिर देर किस बात की, शुरू कीजिए शॉपिंग हमारे साथ।)

... अब आयेगा अपना वाला खास फील क्योंकि Popxo आ गया है 6 भाषाओं में ... तो फिर देर किस बात की! चुनें अपनी भाषा - अंग्रेजी, हिन्दी, तमिल, तेलुगू, बांग्ला और मराठी.. क्योंकि अपनी भाषा की बात अलग ही होती है।

ये भी पढ़ें-