लाॅकडाउन: 20 अप्रैल के बाद शुरू होगी अमेज़न और फ्लिपकार्ट जैसी ऑनलाइन रिटेल सर्विसेज!

लाॅकडाउन: 20 अप्रैल के बाद शुरू होगी अमेज़न और फ्लिपकार्ट जैसी ऑनलाइन रिटेल सर्विसेज!

लॉकडाउन के चलते इन दिनों ऑनलाइन रिटेल कंपनियां ग्राहकों तक अपनी सर्विसेज नहीं पहुंचा पा रही हैं। अब खबर है कि 20 अप्रैल के बाद से फ्लिपकार्ट, अमेज़न और पेटीएम मॉल जैसी ऑनलाइन रिटेल कंपनियां अपना बिज़नेस पूरी तरह से चालू करने की तैयारी कर रही हैं। हालांकि अभी सरकार की तरफ से ये बात साफ होनी बाकी है कि इन ई-कॉमर्स कंपनियों को सभी तरह के सामान की सप्लाई की इजाजत होगी या सिर्फ जरूरी सामान की। जल्द ही गृह मंत्रालय की तरफ से इस बात स्पष्टीकरण भी हो जाएगा। 

14 अप्रैल को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संबोधन में लाॅकडाउन को 3 मई तक के लिए बढ़ा दिया गया। इसके बाद अगले दिन गृह मंत्रालय की तरफ से इस बाबत एक गाइडलाइन भी जारी की गई। इस गाइडलाइन में कुछ सेवाओं के लिए शर्तों के साथ छूट दी गई है, ताकि रोजमर्रा की जरूरी चीजों की सप्लाई जारी रहे। गाइडलाइन के अनुसार 20 अप्रैल के बाद ऑनलाइन रिटेल सर्विसेज को उन इलाकों में शुरू किया जाएगा जो हॉटस्पॉट नही हैं। इसके बाद से ही इन कंपनियों ने अपना काम पूरी तरह से शुरू होने की तैयारी शुरू कर दी है।

हालांकि, गृह मंत्रालय की ओर से जारी गाइडलाइन के अनुसार ई-कॉमर्स कंपनियों को सिर्फ जरूरी सामान की सप्लाई करने की ही इजाजत है। इस बात पर अभी तक संशय बना हुआ है कि क्या ये कंपनियां गैर जरूरी सामान जैसे किताबें, इलेक्ट्रॉनिक्स आदि की सप्लाई भी कर सकती हैं या नहीं।

एक रिपोर्ट के मुताबिक, अमेज़न, फ्लिपकार्ट जैसी ई-कॉमर्स कंपनियां इस बारे में गृह मंत्रालय से स्पष्टीकरण का इंतजार कर रही हैं। वे इस बात को स्पष्ट कर लेना चाहती हैं कि उन्हें फूड एवं ग्रॉसरी के अलावा अन्य गैर-जरूरी सामान बेचने की इजाजत है या नहीं। अगर ऐसा हुआ तो ग्राहक काफी हद तक ऑनलाइन सर्विसेज का लाभ उठा पाएंगे। 

इतना ही नहीं गाइडलाइन के अनुसार कोरियर सेवाओं को भी शुरू किया जा सकता है। साथ ही सभी तरह के माल की आवाजाही शुरू की जाएगी। इसमें कहा गया है कि रेलवे, एयरपोर्ट, सीपोर्ट, लैंडपोर्ट पर काम माल ढुलाई के लिए शुरू किया जाएगा।