सोनाक्षी सिन्हा को ट्रोल करना ‘शक्तिमान’ को पड़ा महंगा, नितीश भारद्वाज ने दिया करार जवाब

सोनाक्षी सिन्हा को ट्रोल करना ‘शक्तिमान’ को पड़ा महंगा, नितीश भारद्वाज ने दिया करार जवाब

कोरोनावायरस के चलते हुए लॉकडाउन के बाद घर बैठे लोगों का मनोरंजन करने के उद्देश्य से दूरदर्शन ने एक बार फिर 'रामायण' का प्रसारण शुरू कर दिया है। इसके बाद दूरदर्शन न सिर्फ सोशल मीडिया पर हर जगह ट्रेंड करने लगा बल्कि टीआरपी के मामले में भी 'रामायण' ने सभी को पछाड़ दिया। हाल ही में दूरदर्शन ने 'रामायण' से संबंधित अपने ट्विटर अकाउंट पर एक ट्वीट किया था, जिसके बाद बॉलीवुड एक्ट्रेस सोनाक्षी सिन्हा एक बार फिर बुरी तरह से ट्रोल हो गईं। उन्हें ट्रोल करने वालों में 'शक्तिमान' मुकेश खन्ना भी एक थे, जिन्हें अब 'श्री कृष्ण' नितीश भारद्वाज ने करारा जवाब दिया है। 

 

दरअसल, लॉकडाउन के समय में टीवी पर 'रामायण' और 'महाभारत' जैसे सीरियल्स की वापसी से खुश ऐक्टर और प्रड्यूसर मुकेश खन्ना ने हाल ही में बॉलीवुड एक्ट्रेस सोनाक्षी सिन्हा पर तंज कसा था। उन्होंने कहा था कि ऐसे शोज को दोबारा दिखाए जाने से सोनाक्षी सिन्हा जैसे लोगों को मदद मिलेगी, जो पौराण‍िक कथाओं के बारे में कुछ नहीं जानते। इस बात पर दूरदर्शन के 'महाभारत' में 'श्री कृष्ण' का किरदार निभा चुके एक्टर नितीश भारद्वाज ने मुकेश खन्ना को जवाब देते हुए खुलकर सोनाक्षी सिन्हा और आज की पीढ़ी का बचाव किया है।

 

इस बाबत एक इंटरव्यू के दौरान नितीश भारद्वाज ने कहा, "मैं अपने दोस्त मुकेश खन्ना से कहना चाहता हूं कि हो सकता है सोनाक्षी सिन्हा सहित पूरी नई पीढ़ी को ही भारतीय संस्कृति, विरासत और उसके साहित्य के बारे में कुछ न पता हो लेकिन इसमें उनकी कोई गलती नहीं है। 1992 के बाद भारत के आर्थिक परिवेश में बहुत बड़ा बदलाव हुआ और फिर उसके बाद सभी के बीच अपने करियर में आगे बढ़ने, खुद को आर्थिक रूप से समृद्ध बनाने की दौड़ शुरू हो गई। अगर हमें किसी की गलती निकालनी है, तो फिर पिछली पीढ़ी के माता-पिता की गलती निकालिए, जो अपने बच्चों को हमारी संस्कृति और विरासत से वाकिफ कराने में विफल रहे।"

 

नीतीश भारद्वाज इतने में ही नहीं रुके। उन्होंने सोनाक्षी सिन्हा को टारगेट किए जाने की बात पर आगे कहा, "अकेले सोनाक्षी सिन्हा को ही क्यों टारगेट करना? एक ही बात को कहने का सही और अलग तरीका भी होता है, वो है एक संतुलित, कोमल और सहानुभूति का तरीका और उस तरीके से किसी को कुछ बुरा भी नहीं लगता है। सीनियर लोग तभी सम्मान का पात्र होते हैं जब वे सहानुभूति के रास्ते पर चलते हैं।"

आपको बता दें कि कुछ समय पहले दूरदर्शन ने अपने ट्विटर अकाउंट पर 'कौन बनेगा करोड़पति' का वही सवाल ट्वीट किया था, जिसका जवाब सोनाक्षी सिन्हा नहीं दे पाई थीं। इसी के बाद से ट्विटर पर एक बार फिर सोनाक्षी सिन्हा ट्रोल करने सिलसिला शुरू हो गया।