पद्म अवाॅर्ड 2020 रहे महिलाओं के नाम, कंगना रनौत सहित इन शख्सियतों को मिलेगा सम्मान

पद्म अवाॅर्ड 2020 रहे  महिलाओं के नाम, कंगना रनौत सहित इन शख्सियतों को मिलेगा सम्मान

भारत सरकार ने गणतंत्र दिवस से एक दिन पहले 25 जनवरी की शाम पद्म पुरस्कारों की घोषणा कर दी। हर बार की तरह इस बार भी अपने-अपने क्षेत्र में बहुमूल्य योगदान देने वाली शख्सियतों को इस अवॉर्ड से सम्मानित किया जाएगा। इस बार 7 हस्तियों को पद्म विभूषण, 16 हस्तियों को पद्म भूषण और 118 शख्सियतों को पद्मश्री के लिए चुना गया है। खास बात ये है कि इनमें ज्यादातर महिलाओं के नाम शामिल हैं। 

इनको मिलेगा पद्म भूषण अवॉर्ड

पद्म भूषण सम्मान भारत सरकार द्वारा दिया जाने वाला तीसरा सर्वोच्च नागरिक सम्मान है। इस बार खेल जगत में बहुमूल्य योगदान देने के लिए भारत की नंबर वन बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु को पद्म भूषण अवॉर्ड से सम्मानित करने के लिए चुना गया है।
Instagram

इनको मिलेगा पद्म विभूषण अवॉर्ड

पद्म विभूषण सम्मान भारत सरकार द्वारा दिया जाने वाला दूसरा उच्च नागरिक सम्मान है, जो भारत के राष्ट्रपति द्वारा दिया जाता है। भारत रत्‍न के बाद यह दूसरा प्रतिष्ठित सम्मान है। इस साल दिवंगत सुषमा स्वराज को मरणोपरांत पद्म विभूषण अवॉर्ड के लिए चुना गया है। वहीं खेल जगत में अपने उत्कृष्ट योगदान के लिए वर्ल्ड चैंपियन बॉक्सर मैरी कॉम का नाम पद्म विभूषण अवॉर्ड के लिए चुना गया है। 

पद्मश्री के लिए चुने गए इनके नाम

भारत सरकार द्वारा पद्मश्री सम्मान जीवन के विभिन्न क्षेत्रों जैसे- कला, शिक्षा, उद्योग, साहित्य, विज्ञान, खेल, चिकित्सा, समाज सेवा और सार्वजनिक जीवन आदि में विशिष्ट योगदान प्रदान करने वाली शख्शियतों को दिया जाता है। भारत रत्न, पद्म विभूषण और पद्म भूषन के बाद भारत के नागरिक पुरस्कारों में दिया जाने वाला यह चौथा सबसे बड़ा पुरस्कार है। इस साल बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत और प्रोड्यूसर एकता कपूर सहित कई महिलाओं को इस सम्मान के लिए चुना गया है। कंगना रनौत ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर एक वीडियो के ज़रिए पद्मश्री के लिए चुने जाने पर भारत सरकार का आभार व्यक्त किया।
 

अब तक 100 से भी ज्यादा टीवी सीरियल्स व कई फिल्में प्रोड्यूस कर चुकीं एकता कपूर ने भी इंस्टाग्राम पर एक नोट के ज़रिए भारत सरकार को धन्यवाद किया है। अपने नोट में एकता कपूर ने लिखा, "मैंने 17 साल की उम्र में इंडस्ट्री में डेब्यू किया था। तब लोग मुझे कहते थे कि ये सब करने के लिए मैं बहुत यंग हूं, बहुत छोटी हूं। समय के साथ मुझे एहसास हुआ कि कुछ भी नया करने के लिए यही उम्र सबसे बेहतर होती है। मैं आगे भी सीमाओं को तोड़ती रहूंगी और यंग टैलेंट्स को मौका देती रहूंगी, और वो प्यार जो मुझे मिलता है, वही देश को भी देती रहूंगी।