अपने नवजात बेबी के लिप्स पर कभी न करें किस, हो सकता है जानलेवा ...

अपने नवजात बेबी के लिप्स पर कभी न करें किस, हो सकता है जानलेवा ...

एक दम्पति ने अपने छोटे नवजात बेबी के गंभीर रूप से बीमार हो जाने के बाद एक सख्त चेतावनी जारी की है। यह छोटा बच्चा लिप्स पर ढेर सारे किसेज़ किये जाने के बाद बीमार पड़ गया था। लूसी केंडैल और जैज़ मिलर ने बेबी को लिप्स पर किस करने के खतरों से आगाह करते हुए लोगों को चेतावनी दी है। इस दम्पति का 11 दिन का बेबी किस करने की वजह से ओरल हर्पीस नाम की बीमारी का शिकार हो गया।


ले जाना पड़ा अस्पताल


इस दम्पति ने बताया कि किसेज़ करने के बाद उनके बच्चे ने धीरे- धीरे दूध पीना पूरी तरह से बंद कर दिया था, इसके बाद ही उन्हें लगा कि कुछ न कुछ गड़बड़ है। इसके बाद उन्होंने बच्चे को अस्पताल में भर्ती करवाया, जहां उसके बहुत से टेस्ट किये गए।


newborn-babies


ओरल हर्पीस का खतरनाक वायरस


हालांकि वयस्कों के लिए ओरल हर्पीस काफी कॉमन है, लेकिन बेबी के लिए इसका वायरस बहुत खतरनाक और जानलेवा होता है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि उनका इम्यून सिस्टम इससे लड़ने के लिए अभी काफी कमजोर होता है।


फेसबुक मैसेज


अपने जिस फेसबुक मैसेज में इस दम्पति ने यह चेतावनी जारी की है, वह अब तक 8 हजार बार शेयर हो चुका है। इस मैसेज में लूसी ने दूसरे पैरेंट्स को बताया है कि कैसे उनके बेबी पर लिप्स पर किस करने की वजह से वायरल का अटैक हुआ। देखें यह मैसेज -


 


छोटे से बच्चे को ऑक्सीजन मास्क


लूसी लिखती हैं कि उनके बेबी को तेज बुखार हो गया और उसने दूध पीना बिलकुल बंद कर दिया, इसके बाद हमें उसे लेकर अस्पताल भागना पड़ा, जहां छोटे से 12 दिन के बच्चे को ऑक्सीजन मास्क, फीडिंग ट्यूब और बहुत से कैनुला लगा दिये गए। अस्पताल में करीब 8 दिन तक चले जिंदगी और मौत से जूझने के बाद डॉक्टरों ने फाइनली बताया कि उसे नियोनेटल हर्पीस नाम की बीमारी हो गई थी। इससे हम दोनों ही शॉक में आ गए।


बच्चे में कैसे आया यह वायरस


डॉक्टर ने उन्हें बताया कि इस बीमारी का वायरस कैसे बच्चे में चला जाता है। उनके अनुसार जब भी सर्दी जुकाम से ग्रस्त कोई भी व्यक्ति बच्चे को छूता है या किस करता है तो इस बीमारी का वायरस बच्चे को पास हो जाता है। तेज सर्दी- जुकाम तब सबसे ज्यादा फैलता है जब किसी के गले में खराशें भी हों और यह तब तक फैलता ही रहता है जब तक कि यह बिलकुल ठीक न हो जाए।


21 दिन अस्पताल में


इस दम्पति का बेबी ओलिवर करीब 21 दिन तक अस्पताल में रहा और घर आने के बाद भी करीब छह महीने तक एंटीबायोटिक्स पर रहा और अस्पताल आता- जाता रहा। 


बच्चे की करें रेस्पेक्ट


दूसरे सभी पैरेन्ट्स को चेतावनी देते हुए लूसी ने लिखा है, "प्लीज नवजात बच्चे की रेस्पेक्ट करें और अगर आपको जुकाम या खांसी है तो उससे दूर ही रहें। हम लकी हैं, लेकिन अगर कुछ समय और हो जाता तो यह बहुत खतरनाक हो सकता था "
....अब लूसी और उनके पार्टनर अपने बेबी ओलिवर को बिलकुल किस नहीं करते हैं।


इन्हें भी देखें - 


जानें कौन से हैं महिलाओं में सबसे ज्यादा होने वाले पांच तरह के कैंसर और इनसे जुड़े लक्षण


जानलेवा बीमारी कैंसर से संघर्ष करने वाले टॉप 10 बॉलीवुड सेलिब्रिटीज़


बॉलीवुड फिल्में जिनमें लीड कैरेक्टर को है जानलेवा बीमारी कैंसर