लॉकडाउन खुलने से पहले दिल्ली मेट्रो ने यात्रियों के लिए जारी की गाइडलाइन | POPxo

लॉकडाउन खुलने के बाद आरोग्य सेतु ऐप और मास्क के बगैर दिल्ली मेट्रो में नहीं मिलेगी एंट्री

लॉकडाउन खुलने के बाद आरोग्य सेतु ऐप और मास्क के बगैर दिल्ली मेट्रो में नहीं मिलेगी एंट्री

कोरोनावायरस (coronavirus) के बढ़ते प्रकोप से सभी परेशान हैं और उसके कहर को रोकने के लिए सरकार और प्रशासन मिलकर तैयारी कर रहे हैं। 22 मार्च से देश में लॉकडाउन की स्थिति है, जो कि 3 मई तक जारी रहेगी। अभी यह स्पष्ट नहीं है कि 40 दिन बाद भी लॉकडाउन खुलने की कितनी संभावना है या उसके बाद लोगों के लिए किन नए नियमों को जारी किया जाएगा। कयास लगाए जा रहे हैं कि शायद कुछ शर्तों के साथ लॉकडाउन में थोड़ी ढील दे दी जाएगी। हालांकि, दिल्ली मेट्रो (Delhi metro) सेवा की तरफ से लॉकडाउन खुलने के बाद की कुछ गाइडलाइंस शेयर की गई हैं। 

लॉकडाउन के बाद भी सख्ती ज़रूरी

देश के सभी नागरिकों को लॉकडाउन (lockdown) खुलने का बेसब्री से इंतज़ार है, जबकि प्रशासन लॉकडाउन खोलने में किसी भी तरह की हड़बड़ाहट नहीं रखना चाहता है। सभी को डर है कि पूरे देश में एक साथ लॉकडाउन खोल देने के बाद स्थिति नियंत्रण से बाहर निकल सकती है। बिना किसी फुलप्रूफ प्लान के लॉकडाउन खोलने से देश में कोरोनावायरस से संक्रमित लोगों के बढ़ने की आशंका व्यक्त की जा रही है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भी स्पष्ट तौर पर कह दिया है कि फिलहाल लॉकडाउन खोलना ठीक नहीं है। हालांकि, दिल्ली मेट्रो व अन्य सेवाएं अपने-अपने प्लान्स बनाने में जुट गई हैं।

CISF ने दिया प्रपोज़ल

लॉकडाउन के बाद दिल्ली मेट्रो को यात्रियों के लिए फिर से शुरू करना किसी चुनौती से कम नहीं है। मेट्रो में सफर करने वाले लोग विभिन्न स्टेशंस पर लगने वाली भीड़ का अंदाज़ा आसानी से लगा सकते हैं। ऐसे में मेट्रो में यात्रियों के प्रवेश को लेकर CISF ने अपना एक प्रपोज़ल तैयार किया है। दिल्ली मेट्रो में सफर करने वाले यात्रियों व वहां कार्यरत लोगों की सुरक्षा की ज़िम्मेदारी CISF के पास होती है और इसीलिए लॉकडाउन खुलने से पहले ही CISF अपनी तैयारी को पुख्ता कर लेना चाहती है, जिससे कि लॉकडाउन खुलने के बाद अचानक से लोड न बढ़े।

आरोग्य सेतु ऐप और मास्क अनिवार्य

CISF के इस प्लान में स्पष्ट तौर पर कहा गया है कि मेट्रो में सफर करने के लिए सिर्फ उन्हीं यात्रियों को अनुमति मिलेगी, जिनके फोन में आरोग्य सेतु ऐप होगी। यह ऐप भारत सरकार द्वारा प्रमाणित की गई है और इसके माध्यम से लोगों को ट्रैक कर उनके आस-पास कोरोनावायरस से संक्रमित लोगों की जानकारी दी जाती है।

इस ऐप के अलावा CISF ने यह भी स्पष्ट कर दिया है कि बिना मास्क लगाए किसी को भी मेट्रो में एंट्री नहीं दी जाएगी। अगर आप लॉकडाउन के बाद दिल्ली मेट्रो से सफर करना चाहते हैं तो ये दो चीज़ें अपने पास ज़रूर रखें।

चेकिंग के नए नियम

आरोग्य सेतु ऐप और मास्क की अनिवार्यता के अलावा CISF ने यह भी कहा है कि अब यात्रियों की चेकिंग संबंधी नियम में भी बदलाव किया जाएगा। अगर किसी यात्री के पास धातु की कोई वस्तु है तो वह उसे अपने बैग में ही रखनी होगी। यहां तक कि अगर आपने बेल्ट लगा रखी है तो उसे भी उतारकर आपको अपने बैग में ही रखना होगा। जिन लोगों के पास बैग नहीं होगा, उन्हें ट्रे उपलब्ध करवाई जाएगी।

160 से अधिक मेट्रो स्टेशंस पर 12 हज़ार से अधिक जवानों को तैनात किया जाएगा, जो यात्रियों की हर गतिविधि पर पैनी नज़र रखेंगे।

थर्मल स्क्रीनिंग ज़रूरी

अभी तक के प्लान के मुताबिक मेट्रो में सफर करने के लिए यात्रियों को थर्मल स्क्रीनिंग करवानी होगी। जिन भी यात्रियों में बुखार या फ्लू के लक्षण पाए जाएंगे, उन्हें मेट्रो में सफर करने की अनुमति बिल्कुल भी नहीं दी जाएगी। मेट्रो स्टेशन के परिसर में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन भी करना होगा।

सिक्योरिटी स्क्रीनिंग वाली जगह से लाइन शुरू होने के बीच में 2 मीटर का फ़ासला रखा जाएगा, वहीं यात्रियों के बीच में भी कम से कम एक मीटर का फ़ासला रखा जाना तय किया गया है।