कोविड पेंडेमिक में माता-पिता को खो रहे बच्चों के लिए आगे आए सेलिब्रिटीज

Celebrities came forward for children losing parents in Covid Pandemic, campaign started by sonu sood

कोरोना वायरस की दूसरी लहर ने देश को हिला कर रख दिया है। हर कोई डरा-सहमा हुआ है। लोग अपनों की ज़िंदगी के लिए दुआयें मांग रहे हैं। ऑक्सीजन सिलेंडर से लेकर हॉस्पिटल में बेड तक के लिए मारामारी हो रखी है। कोविड पेंडेमिक में अब तक कई लोग अपनी जान भी गंवा चुके हैं। इनमें से कई ऐसे लोग भी हैं, जो अपने पीछे मासूम बच्चों को छोड़कर इस दुनिया से अलविदा कह चुके हैं और ये सिलसिला अभी भी जारी है। अब तक कई मासूम बच्चे इस कोविड पेंडेमिक में अपने माता-पिता को खो चुके हैं। ऐसे बच्चों के लिए अब बॉलीवुड और टीवी जगत की हस्तियां एकजुट होकर आगे आईं हैं। बता दें इन बच्चों के बारे में सोचने की शुरुआत सबसे पहले एक्टर सोनू सूद ने की थी।   

कोरोना की दूसरी लहर हम सब पर काल बनकर टूटी है। ऐसे में उन बच्चों के बारे में सोचकर ही दिल कांप उठता है, जो इस कोविड पेंडेमिक में अपने माता-पिता को खो रहे हैं। पल भर में ये बच्चे अनाथ हो रहे हैं, वो भी बिना किसी कसूर के। इस मुश्किल समय में एक्टर सोनू ने इन बच्चों के बारे में सोचा और केंद्र सरकार के साथ राज्य सरकारों से इस बात की अपील की कि ऐसे बच्चों की शिक्षा किसी भी हाल में न रुके। फिर चाहे वो स्कूल में हों, कॉलेज में हों या फिर उच्च शिक्षा प्राप्त कर रहे हों। सोनू सूद ने यह बात रखी कि माता-पिता को खोने की वजह से और पैसों की तंगी के चलते किसी भी बच्चे की शिक्षा नहीं रुकनी चाहिए। 
 

सोनू सूद के इस वीडियो को प्रियंका चोपड़ा ने भी अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर शेयर किया। वीडियो शेयर करते हुए प्रियंका चोपड़ा ने लिखा, "आपने दूरदर्शी परोपकारी लोगों के बारे में सुना है? मेरा सहकर्मी सोनू सूद उनमें से एक ऐसा ही हैं ,जो यह सोचता है और आगे की योजना बनाता है। मैं सोनू के अवलोक और विश्लेषण से प्रभावित हूं। सोनू ने जिस  समस्या को पहले देखा और जाना और समाधान के लिए आगे आए हैं वह तारीफ के लायक है। मैं सोनू का सपोर्ट करते हुए राज्य और केंद्र, दोनों सरकारों को ऐसे बच्चों के लिए फ्री एजुकेशन देने की मांग पर अमल चाहती हूं। और जो लोग मदद कर सकते हैं वह इसमें अपना सहयोग जरूर दें।"

प्रियंका चोपड़ा के इस पोस्ट पर केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी भी आगे आईं। सबसे पहले उन्होंने प्रियंका चोपड़ा की पोस्ट पर कमेंट करते हुए एक चाइल्ड हेल्पलाइन नंबर शेयर किया। बाद में इस दिशा की ओर काम करते हुए स्मृति ईरानी ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर एक पोस्ट शेयर की। इस पोस्ट में उन्होंने लिखा, "अगर आपको किसी ऐसे बच्चे के बारे में पता चलता है, जिसने अपने माता-पिता दोनों को कोरोना में खो दिया है और उसकी देखभाल करने वाला कोई नहीं है, तो अपने जिले की पुलिस या बाल कल्याण समिति को सूचित करें या फिर चाइल्डलाइन 1098 पर संपर्क करें। यह आपकी कानूनी जिम्मेदारी है।"
 

स्मृति ईरानी ने पोस्ट किया, "हम सभी को कानूनी रूप से गोद लेना सुनिश्चित करना होगा, अन्यथा गोद लेने के नाम पर बच्चों की तस्करी की जा सकती है. उन्हें बचाइए। अगर आपको ऐसे किसी बच्चे का पता चलता है तो पुलिस, चाइल्ड वेलफेयर कमेटी या चाइल्डलाइन को सूचित करें। कृपया करके उस बच्चे की तस्वीर या कॉन्टैक्ट डिटेल सोशल मीडिया पर शेयर न करें। कानून के मुताबिक ऐसे बच्चों की पहचान गुप्त रखी जाती है।"
 

स्मृति ईरानी के इस पोस्ट को बॉलीवुड और टीवी जगत के कई सेलिब्रिटीज शेयर कर रहे हैं। इनमें मौनी रॉय सहित कई सेलिब्रिटीज अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर शेयर कर रहे हैं। उम्मीद है इस पहल के चलते कई बच्चों का भविष्य उज्जवल हो जायेगा।  

MYGLAMM के ये शनदार बेस्ट नैचुरल सैनिटाइजिंग प्रोडक्ट की मदद से घर के बाहर और अंदर दोनों ही जगह को रखें साफ और संक्रमण से सुरक्षित!

Beauty

Ultimate Germ Defence 35 Sanitizing Wipes + 30 Sanitizing Towels + 4 Moisturizing Hand Sanitizers

INR 999 AT MyGlamm