ADVERTISEMENT
home / एंटरटेनमेंट
जीनत अमान ने महिलाओं को दी अपने फाइनेंस मैनेज करने की सलाह, कहा…

जीनत अमान ने महिलाओं को दी अपने फाइनेंस मैनेज करने की सलाह, कहा…

जीनत अमान ने हाल ही में कुशा कपिला के ड्राइव-अलॉन्ग चैट शो में हिस्सा लिया था। अपने अपीयरेंस के दौरान दिग्गज अभिनेत्री जीनत अमान ने डेटिंग और ऑटोनॉमी पर कई एडवाइज दी। उन्होंने कहा कि महिलाओं को फाइनेंशियली इंडीपेंडेंट होना चाहिए ताकि वो खुद के लिए एक सिक्योर लाइफ बना सकें। जीनत ने अपनी खुद की जिंदगी पर भी इसी नियम को फॉलो किया है और इसकी मदद से वह खुद के लिए सेल्फ रेलिएंट फ्यूचर बना बाईं, जबकि उस वक्त कई मैगजीन ने उनके करियर को चैलेंज किया था।

अपने डेटिंग एक्सपीरियंस पर जीनत ने कहा, ”मैं 17 साल की उम्र से सेल्फ रैलिएंट रही हूं और अपने घर की प्राइमरी प्रोवाइडर रही हूं। मैं ऐसे रिश्तों में रही हूं जहां मैंने जरूरी चीजों को किया और मेरे बेटों ने मुझे ऐसा करते हुए देखा भी है। उनके जो भी रिलेशन रहे हैं वो ऐसी महिलाओं से रहे हैं जिनमें स्ट्रेंथ हो, ऑपीनियन हो और च्वॉइस हो और उन्होंने इसे एक जरूरी चीज माना है क्योंकि उन्होंने अपनी खुद की मां को भी ऐसा करते हुए देखा है।”

कुशा के शो में जीनत ने कहा, ”हर महिला में कॉन्फिडेंस और फाइनेंशियली खुद को सपोर्ट करने की काबीलियत होनी चाहिए। इसके जरिए वह खुद के लिए च्वॉइस बना सकती हैं और अपने फ्यूचर को कंट्रोल कर सकती हैं। जब महिलाओं के पास फाइनेंशियल रिसोर्स होते हैं और मौके होते हैं तो वह मुश्किलों का सामना कर पाती हैं और अपने पैशन को फॉलो कर पाती हैं, इससे उन्हें आजादी मिलती है और वो खुद की शर्तों पर जिंदगी जी सकती हैं और इसके लिए उन्हें किसी पर निर्भर नहीं रहना पड़ता है। यह एक तरीका है जिसकी मदद से वो अपने फैसले ले सकती हैं और खुद का बेस्ट वर्जन भी बन सकती हैं।”

जीनत का यह इंटरव्यू उनके द्वारा इंस्टाग्राम पर 70 के दशक का एक मैगजीन कवर शेयर करने के बाद आया है। इसके कैप्शन में उन्होंने लिखा, ”अगर हैडिंग पर विश्वास किया जाए तो 1979 में मैंने खुद को श्राप दिया, 1982 में मुझे उठाया गया, 1984 में मैं सिंक से बाहर थी, 1985 में मैंने सेल्फ डिस्ट्रक्शन का रास्ता चुन लिया था और 1998 में मैंने खुद को पूरी तरह से बर्बाद कर लिया था। एक वक्त था जब मैं ग्लॉसिस और टैबलॉइड पढ़ती थी लेकिन वो वक्त काफी जल्दी बीत गया।”

ADVERTISEMENT

जीनत ने आगे लिखा, ”मुझे जिस तरह से उन्हें दर्शाया मैं उस इंसान के साथ खुद को रिलेट नहीं कर पा रही थी। एक दिन हेडिंग अडल्टरी होती थी तो दूसरे दिन वीशियस होती थी। उसमें कम ही फैक्ट-चैकिंग की गई थी और गलतियों की कोई गुंजाइश नहीं थी। जब वो सही स्टोरी प्राप्त कर लेते थे तो वह आमतौर पर प्राइवसी को तोड़ना होता है। जब वह गलत कुछ लिखते थे तो इसे गॉसिप के तौर पर लिया जाता था। इन स्कैंडल ने अपना टॉल लिया। यह अपने आप में पबल्कि ह्यूमिलेशन है और इसके साथ जो एन्जाइटी, आउटरेज और ग्रीफ आया था वो मुझे याद है।”

जीनत अमान ने 70 के दशक में मॉडलिंग से अपना करियर शुरू किया था और इसके बाद वह हरे राम हरे कृष्ण और यादों की बारात में नजर आई थीं। इन फिल्मों ने जीनत अमान को नेशनल सेंसेशन बना दिया था। इसके बाद उन्होंने डॉन, रोटी कपड़ा और मकान आदि कई अन्य हिट फिल्में भी दी थीं।

15 Sep 2023

Read More

read more articles like this
good points

Read More

read more articles like this
ADVERTISEMENT