logo
Logo
User
home / DIY लाइफ हैक्स
सावधान! रात में ऊनी कपड़े पहनकर सोना आपके स्वास्थ्य और स्किन दोनों के लिए हो सकता है खतरनाक

सावधान! रात में ऊनी कपड़े पहनकर सोना आपके स्वास्थ्य और स्किन दोनों के लिए हो सकता है खतरनाक

सर्दियों में लोग शरीर को गर्म रखने के लिए ऊनी कपड़ों का इस्तेमाल कर खुद को ठंड से बचाने की कोशिश करते हैं। क्योंकि गर्म कपड़े ऊष्मा के सुचालक होते हैं। यह शरीर को गर्म करता है। इस वजह से आपके शरीर में पैदा होने वाली गर्मी को लॉक नहीं किया जा सकता है। वहीं कुछ लोगों की रात में गर्म कपड़े पहनकर सोने की आदत होती है। लेकिन उनकी ये जरा सी लापरवाही शरीर के लिए हानिकारक हो सकती है। आज हम आपको स्वेटर जैसे गर्म कपड़ों पर सोने के प्रभावों के बारे में बताने जा रहे हैं।

ऊनी कपड़े रात में पहनकर सोने के साइड इफेक्ट्स why you should not wear a sweater while sleeping in hindi

विशेषज्ञों के अनुसार सर्दियों में रक्त वाहिकाएं सिकुड़ जाती हैं। गर्म कपड़े पहनकर कंबल या रजाई ओढ़कर सोने से शरीर गर्म होता है लेकिन साथ ही यह अक्सर बेचैनी, भय और लो ब्लडप्रेशर का कारण बनता है। अगर ऐसी कोई समस्या गंभीर रूप से हो जाए तो यह शरीर के लिए हानिकारक हो सकती है। यही नहीं ऊनी कपड़े पहनकर सोने से स्वास्थ्य के साथ-साथ आपकी स्किन पर भी बुरा असर पड़ सकता है। तो आइए जानते हैं ऊनी कपड़े रात में पहनकर सोने के साइड इफेक्ट्स के बारे में –

स्किन एलर्जी की समस्या

गर्म कपड़े पहनकर सोने से एलर्जी और खुजली हो सकती है। मुलायम त्वचा पर गर्म कपड़ों के धागों से खुजली या रैशेज हो सकते हैं। इसलिए अगर आपकी त्वचा रूखी है तो इससे और भी समस्याएं हो सकती हैं। त्वचा पर रैशेज, निशान, लाल धब्बे जैसी समस्याएं हो सकती हैं। इसलिए सर्दियों में स्वेटर पहनकर सोना उचित नहीं है। यदि आप स्वेटर का उपयोग करना चाहते हैं, तो आपको शरीर पर अच्छी क्वालिटी वाला लोशन लगाना चाहिए। इससे त्वचा मुलायम रहती है और एलर्जी की संभावना कम हो जाती है।

मधुमेह और हृदय रोग के रोगियों के लिए खतरनाक

गर्म कपड़े के रेशे आमतौर पर सूती कपड़े के रेशों से मोटे होते हैं। इस बीच एक छोटे इंसुलेटर के रूप में कार्य करने वाले एयर पॉकेट्स को छोटा कर दिया जाता है। रात में स्वेटर पहनकर  सोते समय ऊनी कपड़ों के रेशे आपके शरीर की गर्मी को बंद कर देते हैं। ऐसे में सर्दियों के मौसम में स्वेटर की गर्मी मधुमेह रोगियों और खासकर हृदय रोगियों के लिए खतरनाक हो सकती है। इसलिए उन्हें भूलकर भी स्वेटर पहनकर नहीं सोना चाहिए। 

ऊनी मोजे पहनकर सोना भी हैं खतरनाक

विशेषज्ञों का मानना ​​​​है कि ऊन में अच्छा थर्मल इन्सुलेशन होता है, लेकिन यह पसीने को अच्छी तरह से अवशोषित नहीं करता है। इससे बैक्टीरिया पनपते हैं और छाले भी हो सकते हैं। इसलिए रात में ऊनी मोजे पहनने की बजाय सूती मोजे पहनने की सलाह दी जाती है। अगर यह सर्दियों में बहुत जरूरी है और आपके पास और कोई विकल्प नहीं है, तो कॉटन या सिल्क के मोजे पहनें।

हार्ट अटैक का रिस्क

इसी तरह हार्ट की समस्या से पीड़ित लोगों को  भी रात में ऊनी कपड़े पहनने से मना किया जाता है। दरअसल, ऊनी कपड़ों के कारण शरीर का हवा से सम्पर्क पूरी तरह रूक जाता है। जिससे, बॉडी टेम्परेचर बढ़ सकता है और इससे हार्ट अटैक का खतराबढ़ सकता है। 

24 Jan 2022

Read More

read more articles like this
good points logo

good points text