home / ब्यूटी
Shaving Reasons in Hindi

ये 4 कारण जानने के बाद आप भी कहेंगे कि शेविंग से बेहतर है वैक्सिंग करना

ज्यादातर लोगों के लिए, अनचाहे बालों का विकास एक लंबे समय तक चलने वाली ब्यूटी टेंशन है जो आमतौर पर एक ही, मुश्किल और कठिन सवाल के ईद-गिर्द घूमती है, वो है “वैक्स या शेव करने के लिए?” यह आसान फैसला आपके दैनिक जीवन पर महत्वपूर्ण प्रभाव डाल सकता है। शेविंग की तुलना में वैक्सिंग पेनफुल लग सकती है, लेकिन लंबे समय में बाल न आने के लिए बेस्ट ऑफ्शन है। हालांकि शरीर के अनचाहे बाल कैसे साफ करें ये हर किसी की अपनी पर्सनल चॉइस होती है जो कि लोग अपनी जरूरत, पास में समय कितना है और स्किन कैसी है, ये सब देखकर तय कर सकते हैं। 

Why Waxing Is Better Than Shaving Reasons in Hindi | शेविंग से वैक्सिंग से बेहतर क्यों है 

जब यह तय करने की बात आती है कि आपकी स्किन के लिए सबसे अच्छा क्या है, तो जवाब असानी से मिल जाता है कि शेविंग नहीं बल्कि वैक्सिंग ही सही उपाय है। लेकिन अगर आपको फिर भी शेविंग बेस्ट ऑप्शन लगता है तो आपकी ये गलतफहमी हम दूर किये देते हैं। यहां चार कारण बताए गए हैं कि आपको अपने बालों को शेव करने के बजाय वैक्स क्यों करवाना चाहिए –

ADVERTISEMENT

न कोई कट और न ही खुजली 

शेविंग के परिणामस्वरूप कट और खरोंच हो सकते हैं। जब आप अपनी त्वचा को काटते हैं, तो आप खुद को संक्रमण के खतरे में डालते हैं, खासकर अगर आप बार-बार रेजर का इस्तेमाल करते हैं। वैक्सिंग का दर्द सहन करने वाला होता है और बिना डिप्लिलेशन के बेहतर परिणाम देती है। जबिक शेविंग रेजर की वजह से कट और रेशेज और बस कुछ दिनों के लिए ही बाल नहीं दिखते हैं। आपको यह भी पता होना चाहिए कि शेविंग करने से बालों के रोम छिद्रों में सूजन, खुजली, इंग्रोन हेयर और रेजर बर्न हो सकते हैं। जबकि वैक्सिंग एक तरह से एक्सफोलिएशन का काम करती है।

एक्सफोलिएशन की गारंटी और हाइपरपिग्मेंटेशन नहीं

वैक्सिंग से डेड स्किन सेल्स को हटाने में सहायता करने का एक्सट्रा बेनिफिट्स होता है। डेड स्किन सेल्स को हटाने से आपकी त्वचा मुलायम हो जाएगी। यह आपको वैक्सिंग से कुछ दिन पहले एक्सफोलिएट करने से नहीं रोकता है। इंग्रोन हेयर से बचने के लिए वैक्सिंग से कई दिन पहले अपनी त्वचा को एक्सफोलिएट करें। वहीं कुछ लोग नोटिस करते हैं कि शेविंग के बाद उनकी त्वचा काली दिखाई देने लगती है, जबकि वैक्सिंग के बाद ऐसा नहीं होता है। वैक्सिंग न केवल आपकी त्वचा को एक्सफोलिएट करता है बल्कि हाइपरपिग्मेंटेशन को भी रोकता है।

ADVERTISEMENT

रीग्रोथ में पतले बाल का आना

नियमित वैक्सिंग रूटीन बनाए रखने से आपके बाल  धीरे-धीरे बढ़ सकते हैं। अगल आप लंबे समय तक वैक्स करवाते हैं, तो आप देखेंगे कि आपके बाल वापस बढ़ने पर मुश्किल से दिखाई देते हैं। ऐसा इसलिए भी संभव है क्योंकि लगातार वैक्सिंग करने से आपके रोम छिद्र कमजोर हो जाते हैं, जिससे वे पतले और महीन दिखने लगते हैं। जब आप शेव करते हैं, तो आप फॉलिकल्स के सबसे मोटे हिस्से पर बाल तोड़ते हैं, जिससे यह वापस मोटा हो जाता है, जोकि देखने में भी खराब लगते हैं।

स्मूद और लंबे समय तक चलने वाला

अगर आप शेविंग के बजाय वैक्स करवाते हैं, तो आपके हाथ-पैर लगभग तीन सप्ताह तक बच्चे के तलवे की तरह चिकने और मुलायम बने रह सकते हैं, जबकि शेविंग करने में आपकी त्वचा को कांटेदार होने में केवल कुछ ही गिने-चुने दिन लगते हैं। आजकल बिजी लाइफस्टाइल के चलते हर कुछ दिनों में शेव बनाने का समय निकालना मुश्किल हो सकता है। वैक्सिंग बालों को जड़ से हटा देता है, इसके लिए इसे पूरी तरह से फिर से उगाने की आवश्यकता होती है, जिससे आपको हफ्तों तक चिकनी और मुलायम त्वचा मिलती है।

ADVERTISEMENT

बिकिनी वैक्स के बारे में ये बातें आपको ज़रूर पता होनी चाहिए
Tips: अंडरआर्म्स के बाल हटाने के लिए रेजर का इस्तेमाल करती हैं तो इन बातों का जरूर रखें ध्यान
वैक्सिंग के बाद क्या आपकी स्किन भी हो जाती है Bumpy? अगर हां तो ये टिप्स आएंगी आपके काम

16 Jan 2023

Read More

read more articles like this
good points

Read More

read more articles like this
good points logo

good points text