Oily Skin

जानिए क्यों सबसे ज्यादा जरूरी है ऑयली स्किन के लिए टोनर, कैसे करें इस्तेमाल

Archana ChaturvediArchana Chaturvedi  |  Apr 7, 2021
ऑयली स्किन के लिए टोनर, Oily Skin Care Tips In Hindi, why toner is important for oily skin
हर किसी की त्‍वचा अलग होती है और इसलिए त्‍वचा की देखभाल भी अपनी स्किन टाइप को ध्‍यान में रखकर ही करनी चाहिए। खासतौर पर जिन महिलाओं की ऑयली स्किन होती है (Oily Skin Care Tips In Hindi) उन्हें अपनी त्वचा की दोहरी देखभाल करने की आवश्यकता होती है। गर्मियां में तो ऑयली स्किन वालों को पिंपल्स और चिपचिपाहट जैसी दिक्कतें होने लगती हैं। इसके अलावा ब्लैकहेड्स, पिंपल्स और त्वचा की अन्य समस्याएं हो सकती हैं और तो और मेकअप भी स्किन से चिपकता नहीं है। इसीलिए आज यहां हम आपको ऑयली स्किन की देखभाल करने के बारे में बहुत ही महत्वपूर्ण जानकारी दे रहे हैं।
दरअसल, वास्तव में हमारी ऑयल ग्लैंड्स स्किन को मुलायम और नमीयुक्त रखने के लिए सीबम का उत्पादन करती हैं। लेकिन जब अधिक सीबम का उत्पादन होता है, तो हमारी स्किन ऑयली हो जाती है और उस पर पिंपल्स दिखाई देते हैं। तैलीय त्वचा के दो मुख्य कारण हार्मोन और आनुवंशिकता हैं। हार्मोन में उतार-चढ़ाव से एंड्रोजन में वृद्धि होती है। इससे सीबम की मात्रा बढ़ जाती है और यदि शरीर में बहुत अधिक एंड्रोजन है, तो इसे सीबम छिद्रों के माध्यम से बाहर निकाल दिया जाता है। यह सीबम हमारी बाहरी स्किन को ऑयली बनाता है। इसीलिए ज्यादातर स्किन एक्सपर्ट ऑयली स्किन वालों को टोनर इस्तेमाल करने की सलाह देते हैं। 

ऑयली स्किन के लिए क्यों जरूरी है टोनर?

ऑयली स्किन के लिए टोनर सबसे जरूरी ब्यूटी प्रोडक्ट्स में से एक है। क्योंकि ये स्किन पर जमा एक्सट्रा ऑयल को कंट्रोल करने में बेहद कारगर है। इससे चेहरे में कसावट भी आती है और ये नेचुरल तरीके से चेहरे पर ग्लो लाने का काम करता है। साथ ही टोनर स्किन पोर्स को छोटा करने में भी मदद करता है और सीबम प्रोडक्शन को कंट्रोल करता है। टोनर का इस्तेमाल करने से आपको अपनी स्किन में चिपचिपाहट महसूस नहीं होगी। टोनर के उपयोग से स्किन का pH लेवल बैलेंस रहता है और आपकी स्किन खराब नहीं होती। MyGlamm का ग्लो इरिडेसेंट ब्राइटनिंग टोनर इसमें आपकी बहुत हेल्प कर सकता है। क्योकि ये आपकी स्किन को रिचार्ज कर देता है। ये आपकी स्किन को गहराई से पोषण देता है और मॉइश्चर को स्किन में लॉक कर देता है। गुलाब का तेल का पीएच लेवल आपकी स्किन से मैच करता है, इसीलिए ऑयल को भी ज्यादा बढ़ने नहीं देता है। इसीलिए रोजाना चेहरे को धोने के बाद टोनर का इस्तेमाल करना चाहिए। इससे आपकी त्वचा के रोम छिद्र बंद हो जाते हैं और एक्सट्रा ऑयल व मुहांसे होने का खतरा भी कम हो जाता है।

ऑयली स्किन वाले टोनर का इस्तेमाल कैसे करें 

स्टेप 1 – सबसे पहले आपको अपना फेस क्लींजर से क्लीन करें। इससे चेहरे पर जमा धूल-मिट्टी हट जाती हैं। अगर आपके पास क्लींजर नहीं है तो आप माइल्ड फेसवॉश से अपना चेहरा धो भी सकते हैं।
स्टेप 2 – इसके बाद अपने चेहरे को किसी साफ कपड़े या फिर टॉवल से सुखा लें।

स्टेप 3 – अब एक कॉटन बॉल लें और उसमें तब तक टोनर भरते जाएं, तब तक कि ये हल्का सा, लेकिन बहुत ज्यादा भी गीला न महसूस हो।
स्टेप 4 –  फिर इसे अपने चेहरे, गर्दन और क्लीवेज एरिया पर धीरे-धीरे से लगाने के लिए कॉटन बॉल का उपयोग करें। ध्यान रहें कि टोनर आंखों और होंठों पर मत लगाएं।
स्टेप 5 – टोनर को आप उन हिस्सों पर जरूर लगाएं जो क्लींजिंग करते समय छूठ जाते हैं, जैसे कि नाक के साइड में, कान के करीब और आइब्रोज एरिया पर।
स्टेप 6 – टोनर को थोड़ी देर सुखने दें फिर उसके बाद ही कोई दूसरा प्रोडक्ट चेहरे पर अप्लाई करें।

POPxo की सलाह: MyGlamm की ग्लो स्किनकेयर रेंज के साथ रखें अपनी त्वचा का ख्याल।