home / Hindi
Astro Tips: जानिए मंगलसूत्र पहनने के कुछ अहम नियम और गलतियां

Astro Tips: जानिए मंगलसूत्र पहनने के कुछ अहम नियम और गलतियां

सुहागन स्त्री से मंगलसूत्र का अटूट रिश्ता होता है। ये पति और पत्नी के बीच सुखी जीवन का संकेत माना जाता है। देश के कई हिस्सों में तो मंगलसूत्र के बिना कोई भी विवाहित महिला अधूरी मानी जाती है। यह न केवल यह दर्शाता है कि एक महिला शादीशुदा है, बल्कि उसे जीवन के इस नए चरण के लिए की शुरूआत के लिए साहस देता है, रक्षा कवच की तरह काम करता है और विश्वास पैदा करते है।

मंगलसूत्र, वैवाहिक जीवन का सबसे बड़ा प्रतीक माना जाता है। “मंगल सूत्र” जैसा कि नाम से ही पता चलता है, एक शुभ और पवित्र आभूषण है जो दूल्हा-दुल्हन के गले में बांधता है। यह एक काले मोतियों की माला होती है, जिसे महिलाएं अपने गले में धारण करती हैं। धर्मशास्त्र में इसे भगवान शिव और माता पार्वती से जुड़ा माना गया है। मंगलसूत्र में काले मोती और सोने को शिव-पार्वती बंधन का प्रतीक माना जाता है। वहीं ज्योतिष शास्त्र में सोने को बृहस्पति और भगवान विष्णु से जोड़ा गया है। इसके साथ ही धर्म और ज्योतिष ने खरीदारी, पहनने आदि के संबंध में भी कुछ नियम बताए हैं।

ज्योतिषशास्त्र के अनुसार जानिए मंगलसूत्र पहनने के नियम wearing mangalsutra rules according to astrology in hindi

  • इसके अलावा मंगलसूत्र में काले मोतियों का प्रयोग पर्याप्त मात्रा में करना चाहिए। सोने का इस्तेमाल कुछ हद तक करना चाहिए। ऐसा मंगलसूत्र पति-पत्नी दोनों के लिए सौभाग्य लाता है।
  • एक पारंपरिक मंगलसूत्र में 9 मनके होते हैं और इसे ऊर्जा का प्रतीक माना जाता है। वे दुर्गा के 9 रूपों का प्रतिनिधित्व करते हैं और जोड़े की रक्षा करते हैं। ऐसा माना जाता है कि ये मणियां विवाहित जीवन को बुरी नजर से बचाने में मदद करती हैं। इसलिए शास्त्र कहता है कि हर विवाहित महिला को मंगलसूत्र पहनना चाहिए।
  • मंगलसूत्र हमेशा शुभ मुहूर्त में ही खरीदना चाहिए। ज्योतिष की दृष्टि से मंगलसूत्र खरीदने का सबसे अच्छा दिन गुरुवार या शुक्रवार का होता है। 
  • आप किसी भी महीने की 3, 12, 21, 31, 6, 15 और 24 तारीख को मंगलसूत्र खरीदने पर भी विचार कर सकते हैं। 
  • वहीं शुभ अवसरों पर नया मंगलसूत्र भी धारण करना चाहिए। अन्य गहनों की तरह इसे बार-बार नहीं उतारना चाहिए। मंगलसूत्र हमेशा धारण करे रहना चाहिए।
  •  जो महिलाएं हमेशा मंगलसूत्र पहनती हैं उन्हें बृहस्पति का शुभ प्रभाव मिलता है और उनका वैवाहिक जीवन हमेशा सुखी रहता है।
  • आपको खुद कभी भी किसी और महिला के मंगलसूत्र का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। ऐसा करना अशुभ होता है और दाम्पत्य जीवन पर बुरा प्रभाव डालता है। दूसरी महिला का मंगलसूत्र पहनने से पति-पत्नी के बीच मतभेद और तनाव पैदा होते हैं।
  • जरूरी है कि मंगलसूत्र छाती के पास रहे, कपड़ों के ऊपर नहीं रहना चाहिए। विज्ञान के मुताबिक, मंगलसूत्र ब्लड सर्कुलेशन बेहतर बनाने के साथ ही बॉडी प्रेशर को भी कंट्रोल में रखता है।

बच्चे का नाम चुनने से पहले जरूर जान लीजिए ये 5 बातें, नहीं होगी बाद में कोई दिक्कत

13 Sep 2022

Read More

read more articles like this

Read More

read more articles like this
good points logo

good points text