home / पैरेंटिंग
न्यू मॉम के स्किन केयर

प्रेग्नेंसी के दौरान खूबसूरती को बनाए रखने के लिए ये विटामिन्स हैं फायदेमंद, जानें इस्तेमाल करने का तरीका

प्रेग्नेंट महिलाओं की बात करें या फिर न्यू मॉम्स की, दोनों को ही स्किन केयर प्रोडकट्स का चयन करते समय काफी एहतियात बरतने की जरूरत होती है। क्योंकि कई स्किन केयर उत्पादों में ऐसे केमिकल शामिल होते हैं, जो शिशु को नुकसान पहुंचा सकते हैं। यही वजह है इस लेख में हम प्रेग्नेंट महिलाओं व न्यू मॉम के स्किन केयर रिजीम के बारे में विस्तार से जानेंगे।

गर्भवती व स्तनपान कराने वाली महिलाओं को त्वचा संबंधित कई अलग-अलग परेशानियां होती हैं। त्वचा का सही ध्यान रखकर वो कुछ हद तक इन परेशानियों को नियंत्रित कर सकती हैं। इन दोनों ही स्थितियों में त्वचा के लिए विटामिन-सी और विटामिन-ई युक्त प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल सुरक्षित और लाभदायक माना जाता है। तो चलिए जानते हैं प्रेग्नेंट महिलाओं से लेकर न्यू मॉम के स्किन केयर के लिए विटामिन सी और विटामिन ई का क्या रोल है।

प्रेग्नेंट महिलाओं और न्यू मॉम के स्किन केयर के लिए कैसे फायदेमंद है विटामिन-सी और विटामिन-ई? (How Vitamin C And Vitamin E is Effective for Pregnant Women and New Mom Skin Care)

न्यू मॉम के स्किन केयर
त्वचा के लिए विटामिन-सी

विटामिन-सी और विटामिन-ई दोनों विटामिन होने के साथ एंटीऑक्सीडेंट भी हैं। खास बात यह है कि दोनों का इस्तेमाल गर्भावस्था व न्यू मॉम के लिए सुरक्षित होता है। त्वचा को स्वस्थ रखने में दोनों कई तरह से लाभ पहुंचाते हैं, जिनके बारे में नीचे बिंदुओं के माध्यम से बता रहे हैं:

  • मुक्स कणों से त्वचा को होने वाले नुकसान से सुरक्षा प्रदान करते हैं।
  • इन दोनों में एंटी-इंफ्लामेटरी गुण मौजूद होता है, जो त्वचा से सूजन को दूर करता है।
  • त्वचा को ग्लोइंग बनाने में विटामिन-सी व विटामिन-ई दोनों कारगर माने जाते हैं।
  • त्वचा को हाइड्रेट रखते हैं।
  • एक क्लिनिकल ट्रायल में यह पाया गया कि दिन में दो दफा विटामिन सी का इस्तेमाल करने से पिंपल्स से निजात मिल सकता है।
  • विटामिन-सी त्वचा को सूरज की हानिकारक किरणों के साथ पिगमेंटेशन से भी बचाव करता है।

प्रेग्नेंट महिलाएं और न्यू मॉम स्किन केयर रूटीन में विटामिन-सी और विटामिन-ई को कैसे शामिल करें?

प्रेग्नेंसी के दौरान व ब्रेस्टफीडिंग कराने वाली महिलाएं निम्नलिखित तरीकों से विटामिन-सी और विटामिन-ई को अपने स्किन केयर रिजीम में शामिल कर सकती हैं:

  • सोने से पहले एलोवेरा जेल और विटामिन-ई के कैप्सूल को मिक्स कर मसाज कर सकती हैं।
  • विटामिन-ई कैप्सूल के साथ नींबू का रस और शहद मिलाकर फेस मास्क तैयार करें। इसे कभी भी 15 मिनट के लिए लगाया जा सकता है।
  • विटामिन-सी युक्त फलों से तैयार फेस पैक लगा सकती हैं।
  • बाजार में प्रेग्नेंसी सेफ विटामिन-सी युक्त स्किन केयर प्रोडक्ट्स उपलब्ध हैं। जैसे विटामिन-सी युक्त फेस वॉश, सीरम, फेस क्रीम आदि का इस्तेमाल कर सकती हैं।

प्रेग्नेंट महिलाओं और न्यू मॉम के लिए विटामिन-सी युक्त क्रीम

न्यू मॉम के स्किन केयर
विटामिन-सी युक्त क्रीम

प्रेग्नेंट महिलाएं व न्यू मॉम्स के लिए ‘द मॉम्स को’ की नेचुरल विटामिन सी फेस क्रीम का इस्तेमाल करना लाभकारी हो सकता है। यह फेस क्रीम त्वचा को डीप हाइड्रेट करने के साथ ग्लोइंग बनाती है। कंपनी का दावा है कि इसे तैयार करने के लिए किसी भी तरह के टॉक्सिन, सल्फेट, पैराबींस आदि का इस्तेमाल नहीं किया गया है। 

इस क्रीम में इंग्रीडिएंट्स के तौर पर विटामिन-सी, फेरुलिक एसिड, स्कवालेन, कैनेडियन विल्लो हर्ब को प्रयोग में लाया गया है। डर्मेटोलॉजिस्ट टेस्टेड इस क्रीम का इस्तेमाल प्रेग्नेंसी व ब्रेस्टफीडिंग के दौरान भी किया जा सकता है।

प्रेग्नेंट महिलाओं और न्यू मॉम के लिए विटामिन-ई युक्त फेस सीरम

प्रेग्नेंसी और ब्रेस्टफीडिंग के दौरान विटामिन-ई युक्त फेस सीरम को स्किन केयर रिजीम का हिस्सा बनाया जा सकता है। इस सीरम में विटामिन-ई के अलावा हयालरोनिक एसिड, ककाडू प्लम, नियासिनामाइड शामिल हैं। ककाडू प्लम विटामिन-सी का अच्छा स्त्रोत है। यह सीरम त्वचा को नमी प्रदान करने के साथ रिपेयर करने में सहायक है। साथ ही यह त्वचा की लोच में सुधार करता है। इसके अलावा, यह सेरामाइड के प्रोडक्शन को उत्तेजित करने के साथ त्वचा में जान भरने का काम करता है।

इस लेख को पढ़ने के बाद गर्भवती व स्तनपान कराने वाली महिलाओं को अपनी त्वचा का कैसे ध्यान रखना है, यह अच्छे से मालूम हो गया होगा। उम्मीद करते हैं इस लेख के माध्यम से हम आपके स्किन केयर से जुड़े सवालों के उत्तर देने में कामयाब रहे होंगे। हैप्पी एंड सेफ प्रेग्नेंसी।

चित्र स्रोत: Freepik

10 Jun 2022

Read More

read more articles like this
good points logo

good points text