home / Hindi
वास्तु के अनुसार अगर लगवायेंगे घर की नेम प्लेट तो जरूर मिलेगा Name & Fame

वास्तु के अनुसार अगर लगवायेंगे घर की नेम प्लेट तो जरूर मिलेगा Name & Fame

नेमप्लेट आपके घर की पहचान होती है। नेमप्लेट पर घर में रहने वाले मुख्य व्यक्ति का नाम लिखा होता है। ज्यादातर घरों के बाहर नेम प्लेट लगाई जाती है। खुद का घर होने के बाद, अपने नाम के साथ एक सुंदर नेमप्लेट रखना ज्यादातर लोगों का सपना होता है। हालांकि नेमप्लेट पहले एक सुविधा के तौर पर लगाई जाती थी, ताकि घर पहचानने में आसानी हो लेकिन अब यह इंटीरियर का हिस्सा बन गई है। इसीलिए आजकल मार्केट में तरह-तरह की डिजाइनर नेमप्लेट आ गई हैं।लेकिन नेमप्लेट लगाने के लिए वास्तु शास्त्र के कुछ नियम हैं। आपके घर की नेमप्लेट भी आपके व्यक्तित्व को दर्शाती है। ऐसे में नेमप्लेट से जुड़े वास्तु शास्त्र के कुछ नियमों को जानना जरूरी है। 

वास्तु शास्त्र के अनुसार घर की नेमप्लेट लगाने के नियम vastu tips for house name plate in hindi

वास्तु में नेमप्लेट को बहुत महत्वपूर्ण माना जाता है। एक नेमप्लेट न केवल आपके घर की पहचान है बल्कि यह भी माना जाता है कि यह पॉजिटिव एनर्जी को अपनी ओर आकर्षित करती है। बहुत से लोग अपने घर को कोई अच्छा नाम देते हैं और उसी नाम को नेमप्लेट पर रख देते हैं और उसके साथ घर के मुखिया का नाम भी लिख देते हैं। लोग घर के मुख्य द्वार पर नेमप्लेट लगाते हैं। आइए आज इस लेख में जानते हैं कि नेमप्लेट का महत्व क्या है और वास्तु के अनुसार इसे घर के मुख्य द्वार पर स्थापित करते समय किन नियमों का पालन करना चाहिए ताकि आपके जीवन में प्रसिद्धि, सुख और समृद्धि आए।

  • नेमप्लेट टूटी या ढीली नहीं होनी चाहिए। अगर नेमप्लेट में छेद हैं तो उसे तुरंत बदल दें।
  • नेमप्लेट का रंग घर के मुखिया की राशि के अनुसार तय करना चाहिए। उस रंग की नेमप्लेट लगाएं जो घर के मुखिया की राशि के अनुसार भाग्यशाली हो।
  • नेम प्लेट पर नाम इस तरह लिखा होना चाहिए कि नेम प्लेट न तो ज्यादा भरी और न ही ज्यादा खाली दिखे।
  • नेमप्लेट पर अक्षर संरचना स्पष्ट रूप से लिखी जानी चाहिए। यदि आपका कोई व्यवसाय है तो उसकी नेमप्लेट पर स्पष्ट रूप से लिखा होना चाहिए। उदाहरण के लिए, यदि आप डॉक्टर या वकील हैं, तो अपने नाम के आगे डॉ. जोड़ें। इसे जोड़ो। इसे लिखना सुनिश्चित करें।
  • नेम प्लेट का साइज इतना बड़ा होना चाहिए कि लोग नाम को आसानी से पढ़ सकें।
    Vastu Tips : घर में मनी प्लांट का पौधा लगाया है तो भूलकर भी न करें ये गलतियां, हो सकती है धन की हानि
  • अगर आपको नेमप्लेट को दायीं तरफ लगाने में दिक्कत होती है तो आप नेमप्लेट को लेफ्ट साइड में भी लगा सकते हैं। उस नेमप्लेट पर भगवान गणेश का चित्र या स्वस्तिक का चित्र होने पर भी यह शुभ होता है।
  • याद रखें कि नेम प्लेट मजबूत और ठीक से फिट होनी चाहिए। लटकी हुई नेम प्लेट आपकी छवि खराब कर सकती है।
  • घर की नेमप्लेट हमेशा साफ सुथरी और सही शेप में होनी चाहिए। सबसे अच्छा नेमप्लेट आयताकार माना जाता है। साथ ही नेमप्लेट हमेशा दो पंक्तियों में लिखी जानी चाहिए और प्रवेश द्वार के दाईं ओर लगाई जानी चाहिए।
  • नेमप्लेट को हमेशा साफ रखें। उस पर धूल और गंदगी जमा न होने दें। साथ ही उस पर स्पाइडर माइट्स न लगाएं। समय-समय पर नेमप्लेट को साफ करते रहें।
  • नेमप्लेट पर अक्षर संरचना स्पष्ट रूप से लिखी जानी चाहिए। यदि आपका कोई व्यवसाय है तो नेमप्लेट पर स्पष्ट रूप से लिखा होना चाहिए। उदाहरण के लिए यदि आप डॉक्टर या वकील हैं तो अपने नाम के आगे डॉक्टर या एडवोकेट को शॉटफॉर्म में जरूर से लिखें।
  • नेम प्लेट लगाते समय इस बात का ध्यान रखें कि वह रोशन हो, ताकि दूर खड़ा व्यक्ति भी उसे पढ़ सके।
  • यदि नेमप्लेट थोड़ी सी चिटकी हुई है या उसकी पॉलिश खराब हो गई है, तो उसे बदल दिया जाना चाहिए। 
  • नेमप्लेट के ऊपर आप चाहें तो एक छोटा बल्ब भी लगा सकते हैं। जिससे नेमप्लेट रोशन हो जाए। 

वास्तु के अनुसार घर में ये 5 बदलाव करने से चमक जायेगी आपकी किस्मत

10 Sep 2022

Read More

read more articles like this

Read More

read more articles like this
good points logo

good points text