home / पैरेंटिंग
कोविड से बचाव

कोरोना काल में बच्चा जाता है स्कूल, तो पेरेंट्स बैग में जरूर रखें ये चीजें

देश में एक बार फिर कोविड के मामलों की तेजी से वृद्धि हो रही है। अभी कुछ दिनों पहले करण जौहर की बर्थडे पार्टी में शामिल मेहमानों में से 50 से ज्यादा लोग कोविड पॉजिटिव हो गए थे। ऐसे में जरूरी है कि बच्चों को इससे बचा कर रखा जाए। बच्चे के स्कूल व ट्यूशन जाते समय कोविड से बचाव के लिए पेरेंट्स को किन बातों का ध्यान रखना चाहिए, इसके बारे में लेख में जानेंगे। साथ ही कोरोना काल में बच्चों के बैग की चेकलिस्ट शेयर करेंगे।

बच्चों में कोविड से बचाव के लिए पेरेंट्स के लिए जरूरी टिप्स

पिछले काफी समय से लोग कोविड के प्रति काफी लापरवाह हो गए हैं। ऐसे में कोरोना के बढ़ते मामलों को देख बच्चे को स्कूल व ट्यूशन भेजते समय हर माता-पिता का घबराना स्वाभाविक है। नीचे कुछ ऐसी बातों के बारे में बता रहे हैं, जिनका माता-पिता को अपने बच्चों को स्कूल भेजते समय ध्यान रखना चाहिए।

1. मास्क है आपका कवच

बच्चों को कोविड संक्रमण से बचाव के लिए मास्क अहम उपायों में से एक है। यह ड्रॉपलेट्स को रोककर संक्रमण के प्रसार को रोकता है। कोविड के कम केस होने की वजह से लोग इसके प्रति काफी लापरवाह हो गए हैं। कुछ राज्य मास्क फ्री हो गए हैं। वहीं, कुछ राज्यों में अभी भी मास्क लगाने का नियम लागू है। लेकिन, लोग कहीं भी मास्क नहीं लगा रहे हैं। 

कोविड देश में कम हो गया है, लेकिन खत्म नहीं हुआ है। वहीं, 12 साल से कम वर्ष के बच्चों में वैक्सीन भी नहीं लगी है। ऐसे में बच्चों को मास्क लगाकर स्कूल भेजें। बच्चों के लिए डॉक्टर से सलाह लेकर अच्छी क्वालिटी का मास्क खरीदें। बच्चे के बैग में एक बैकअप मास्क भी रखें।

2. कोविड से बचाव के लिए सैनिटाइजर है जरूरी

कोविड से बचाव
सैनिटाइजर का इस्तेमाल

बच्चे के बैग में कॉपी, किताबे, लंच बॉक्स, पानी की बोतल आदि के साथ चाइल्ड सैनिटाइजर रखना न भूलें। कोविड से बचाव के लिए हाथों की नियमित सफाई रखना बेहद जरूरी है। बच्चे को स्कूल यह समझाकर भेजें कि कुछ भी खाने व बाथरूम आने व जाने के बाद सैनिटाइजर से हाथ जरूर साफ करें।

ध्यान रखें बच्चों के लिए हमेशा केमिकल फ्री सैनिटाइजर खरीदें। बाजार में सैनिटाइजर के ऐसे कई ऑप्शन मिल जाएंगे जिन्हें बच्चे के बैग की चेन में लगाया जा सकता है। इससे बच्चे को बार-बार बैग से सैनिटाइजर निकालने की जरूरत नहीं पड़ेगी।

3. टिशू पेपर का पैकेट

शिशुओं को रूमाल देने की बजाय उनके बैग में टिश्यू पेपर का पैकेट रखें। बच्चों को छींकते वा खांसते समय मुंह पर टिशू रखने व इस्तेमाल के बाद इसे डस्टबीन में डालने की हिदायत दें। 

4. कोविड से बचाव के लिए फेस मास्क होल्डर 

बच्चे के स्कूल बैग में फेस मास्क होल्डर देना न भूलें। इससे बच्चा खाना खाते समय या वॉशरूम जाते समय फेस मास्क उतारता है, तो वो फेस मास्क से सुरक्षित तरीके से फेस मास्क होल्डर में रख सकता है। फेस मास्क के प्रति लापरवाही बरतने से चेहरे पर कीटाणु और बैक्टीरिया होने की संभावना अधिक हो सकती है।

5. पानी की बोतल

बच्चों में कोविड से बचाव
पानी की बोतल

स्कूलों में बच्चों के पानी पीने के लिए कॉमन वॉटर टैप होती है। लेकिन एक ही टैप से सारे बच्चों का पानी पीना व पानी पीने के लिए लाइन में लगना, इससे कोविड संक्रमण के बढ़ने की संभावना होती है। ऐसे में शिशु को वाटर बोतल देकर भेजें। साथ ही शिशु को भीड़ में जाकर बोतल न भरने की सलाह दें। 

लोगों ने कोविड से डरने की बजाय अब इसके साथ जीना सीख लिया है। पिछले कुछ समय से कोविड के बढ़ते मामलों को देखते हुए अभिभावक बच्चों को स्कूल जाने से तो नहीं रोक सकते हैं। लेकिन लेख में बताई गई बच्चों की सुरक्षा के प्रति बातों का पालन जरूर करें। इससे शिशु को काफी हद तक कोविड संक्रमण से बचाया जा सकता है। उम्मीद करते हैं यह लेख आपके लिए मददगार साबित होगा।

चित्र स्रोत: Freepik

15 Jun 2022

Read More

read more articles like this
good points logo

good points text