home / पैरेंटिंग
प्रेग्नेंसी में चेहरे पर काले दाग-धब्बे

अब नहीं होंगे प्रेग्नेंसी में चेहरे पर दाग-धब्बे, बस करना होगा आसान काम

गर्भावस्था में महिलाओं को त्वचा संबंधित कई परेशानियों का सामना करना पड़ता है। इनमें से एक है चेहरे पर दाग-धब्बे होना। इसे मेलास्मा के नाम से भी जाना जाता है। अमेरिकन अकेडमी ऑफ डर्मेटोलॉजी की रिपोर्ट के मुताबिक, प्रेग्नेंसी में 90 प्रतिशत महिलाएं इस परेशानी का सामना करती हैं। यही वजह है इस लेख में प्रेग्नेंसी में चेहरे पर काले दाग-धब्बे को लेकर विस्तार से चर्चा करेंगे।

मेलास्मा क्या है?

मेलास्मा एक ऐसी स्थिति है, जिसमें त्वचा के कुछ हिस्से पर गहरे भूरे रंग के पैच बन जाते हैं। आमतौर पर यह गाल, नाक और माथे पर होते हैं। हालांकि, कई बार ये गर्दन पर भी हो सकते हैं। दिखने में ये चेहरे पर काले धब्बों की तरह नजर आते हैं। डिलीवरी के बाद ये निशान अपने आप हल्के हो जाते हैं। 

प्रेग्नेंसी में चेहरे पर काले दाग-धब्बे क्यों होते हैं?

प्रेग्नेंसी में चेहरे पर काले दाग-धब्बे हार्मोनल परिवर्तनों के कारण होते हैं। इन्हें क्लोस्मा के रूप में जाना जाता है। इसके अलावा इस परेशानी के पीछे कुछ और भी कारण हो सकते हैं, जो कुछ इस प्रकार हैं:

  • थायराइड या हाइपोथायराइड
  • स्ट्रेस
  • सूरज की हानिकारक किरणें
  • गर्भनिरोधक दवाओं का सेवन
  • हार्मोनल थेरेपी
  • पारिवारिक इतिहास

प्रेग्नेंसी में चेहरे पर काले दाग-धब्बे कम करने के लिए क्या करें?

प्रेग्नेंसी में चेहरे की सही देखभाल करके मेलास्मा की परेशानी से बचा जा सकता है। यदि चेहरे पर काले-धब्बे हुए भी हैं तो सही स्किन केयर रूटीन को फॉलो कर इन्हें हल्का किया जा सकता है। 

विटामिन सी युक्त स्किन केयर प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल

प्रेग्नेंसी में चेहरे पर काले दाग-धब्बे
त्वचा के लिए विटामिन-सी

प्रेग्नेंसी में चेहरे पर होने वाले काले दाग-धब्बों को हल्का करने व इनसे बचाव के लिए विटामिन-सी युक्त स्किन केयर प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल लाभकारी हो सकता है। इसकी पुष्टि कई शोध में भी की जा चुकी है। एक शोध में साफतौर से बताया गया है कि विटामिन-सी गर्भावस्था में होने वाले दाग-धब्बों को हल्का करने में प्रभावी हो सकता है। ऐसे में नीचे मेलास्मा से बचाव के लिए आपका स्किन केयर रूटीन कैसा होना चाहिए, यह समझा रहे हैं:

  • सबसे पहले विटामिन-सी युक्त क्लींजर से चेहरे को साफ करें। यह आपके चेहरे की गहराई से सफाई करेगा।
  • इसके बाद चेहरे पर विटामिन-सी युक्त टोनर लगाएं। टोनर त्वचा को स्वस्थ रखने के साथ पोर्स को टाइट करने में मदद करता है।
  • अब बारी आती है सीरम की। हथेलियों पर कुछ बूंद विटामिन-सी युक्त सीरम लें। इसे फेस पर उंगलियों की मदद से टैप करते हुए लगाएं।
  • इसके बाद त्वचा पर विटामिन-सी युक्त क्रीम लगाएं। यह त्वचा गहराई से नमी प्रदान करने का काम करती है।
  • 15 मिनट बाद सनस्क्रीन लगाएं। यह त्वचा को यूवी किरणों से सुरक्षा कवच प्रदान करता है।

प्रेग्नेंसी के दौरान स्किन केयर प्रोडक्ट्स खरीदते समय इन बातों का रखें ध्यान

प्रेग्नेंसी के दौरान किसी भी स्किन केयर प्रोडक्ट का चुनाव करते समय यह जरूर ध्यान दें कि ये प्रेग्नेंसी सेफ है या नहीं। गर्भावस्था में किसी भी स्किन केयर प्रोडक्ट का इस्तेमाल करने से बचना चाहिए। क्योंकि कई प्रोडक्ट्स में कुछ ऐसे केमिकल होते हैं, जो ब्लड स्ट्रीम के जरिए शरीर में प्रवेश कर भ्रूण को नुकसान पहुंचा सकते हैं। 

दाग-धब्बों की समस्या में अक्सर हाइड्रोक्विनोन या स्टेरॉयड आधारित क्रीम का इस्तेमाल करने की सलाह दी जाती है। लेकिन प्रेग्नेंसी में इनका इस्तेमाल सेफ नहीं होता है। इसलिए स्किन केयर प्रोडक्ट्स को खरीदते समय यह सुनिश्चित करें कि उनमें स्टेरॉयड तो नहीं है।

ऐसे में ‘द मॉम्स को’ की विटामिन-सी स्किन केयर रेंज प्रेग्नेंट महिलाओं के लिए बेहतर साबित हो सकती है। इसे खास प्रेग्नेंट महिलाओं को ध्यान में रखते हुए तैयार किया गया है। 

प्रेग्नेंसी में चेहरे पर काले दाग-धब्बों के लिए घरेलू नुस्खें

प्रेग्नेंसी में मेलास्मा की परेशानी को दूर करने के लिए बेहतर स्किन केयर रूटीन को फॉलो करने के साथ कुछ घरेलू उपायों को भी आजमाया जा सकता है। नीचे इसी से जुड़ी जानकारी दे रहे हैं।

  1. टमाटर का रस

ब्रिटिश जर्नल ऑफ डर्मेटोलॉजी द्वारा प्रकाशित एक शोध में बताया गया है कि टमाटर का इस्तेमाल मेलास्मा के लिए कारगर हो सकता है। इसके पीछे टमाटर में मौजूद लायकोपीन को प्रभावी माना जाता है। यह त्वचा की रंगत में सुधार के साथ चेहरे को इवन टोन बनाने में अहम भूमिका निभाता है।

  1. दही और हल्दी से तैयार पैक
प्रेग्नेंसी में चेहरे पर काले दाग-धब्बे
स्किन के लिए हल्दी के फायदे

दही और हल्दी के लेप को प्रेग्नेंसी में चेहरे पर दाग-धब्बे की समस्या को कम कर सकते हैं। दरअसल, हल्दी त्वचा में मेलिनिन को बनने से रोकती है। यही वजह है इसका इस्तेमाल करने से धब्बे हल्के पड़ने लगते हैं। इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट्स भी त्वचा को कई तरह से लाभ पहुंचाते हैं। 

इसके अलावा, हल्दी को त्वचा की चमक बढ़ाने के लिए भी अच्छा माना जाता है। वहीं, बात करें दही की तो यह त्वचा को नरिश करने के साथ स्वस्थ बनाए रखने का काम करती है।

इस लेख में आपने प्रेग्नेंसी में काले-धब्बे क्यों होते हैं व इन्हें कैसे हल्का किया जा सकता है, इसके बारे में जाना। प्रेग्नेंसी में स्किन केयर के प्रति लापरवाही नहीं बरतनी चाहिए। वर्ना त्वचा का प्राकृतिक ग्लो खो सकता है। ऊपर दी गई टिप्स को करें फॉलो और रखें अपनी त्वचा को हेल्दी।

चित्र स्रोत: Freepik

30 May 2022

Read More

read more articles like this
good points logo

good points text