home / ब्यूटी
बालों को पहली बार कर रही हैं डाई तो इन बातों का रखें ध्यान

बालों को पहली बार कर रही हैं डाई तो इन बातों का रखें ध्यान

डाई किए हुए बाल बहुत ही खूबसूरत लगते हैं और बालों का पोप कलर आपकी स्किन को भी ग्लो देता है। ये हमेशा आपके स्टाइल को दर्शाते हैं और साथ ही आपकी क्रिएटिव साइड को भी दिखाता है। साथ ही बालों को डाई कराने का बेस्ट पार्ट ये है कि आपको केवल आराम से बैठना होता है और स्टाइलिस्ट को समझाना होता है कि आप क्या चाहती हैं और ये बिल्कुल जादू की तरह काम करता है लेकिन अगर आप ये खुद से करती हैं तो पूरी कहानी बदल जाती है। वैसे खुद से बालों को डाई करना वाकई बहुत सस्ता पड़ता है लेकिन यदि आपको ये करना नहीं आता है तो शायद आपको वैसा रिजल्ट ना मिले जैसा आप चाहती हैं। 

हम नहीं चाहते कि आपके बाल डाई करने के बाद खराब लगें और इस वजह से हम आपके लिए कुछ टिप्स और ट्रिक्स लेकर आए हैं जिन्हें आपको अपने बालों को डाई करने से पहले फॉलो करना चाहिए, खासकर तब जब आप पहली बार अपने बालों को डाई कर रही हों। साथ ही बालों को डाई करते समय आप हमेशा अपने दोस्तों या फिर परिवार के सदस्यों से मदद ले सकती हैं और किसी की मदद लेने से पहले बिल्कुल भी ना हिचकिचाएं।

अपने बालों को समझें

अपने बालों को डाई करने से पहले आपको अपने बालों और बालों के टाइप के बारे में समझना चाहिए। हेयर टाइप को मुख्य रूप से तीन में बांटा जा सकता है। एक वेवी हेयर, दूसरा कर्ली हेयर और तीसरा स्ट्रेट हेयर। हालांकि, हो सकता है कि इनमें कुछ सबटाइप बों। साथ ही आपको अपने बालों की थिकनेस और डेनसिटी के बारे में आइडिया होना चाहिए।

भारतीय डार्क बालों को हल्का करने में अधिक समय लगता है और कर्ली बाल, सामान्य बालों के मुकाबले अधिक मोटे होते हैं। साथ ही बालों को 2 से अधिक बार ब्लीच करने से आपके बालों की इंटीग्रिटी खराब हो सकती है और इस वजह से 40 वॉल्यूम टोनर का इस्तेमाल करना चाहिए। 

अपने स्किन टोन को जानें

आप अपने बालों को किस कलर या फिर किस तरह से स्टाइल करना चाहते है, उसके बारे में सोचने से पहले स्किन टोन को समझना जरूरी है। स्किन टोन वार्म से लेकर कूल टोन तक अलग अलग हो सकते हैं और अगर आपकी कॉम्बिनेशन स्किन है तो कुछ का अधिक हिस्सा कूल टोन या फिर वार्म टोन हो सकता है। 

कूल टोन वो होते हैं, जिन पर ब्लू, पर्पल या फिर इंकी ब्लैक आदि अच्छे लगते हैं और वार्म टोन डार्क स्किन टोन होते हैं, जिन पर ब्राउन हेयर या फिर ब्लोंड और ऐशी ब्राउन अच्छा लगता है। आपको ये समझना चाहिए कि आपके स्किनटोन पर कौन सा कलर अधिक अच्छा लगेगा।

अपने स्किन टोन को जानें

अब जब आपको अपना स्किन टोन और हेयर टाइप के बारे में पता है तो आप आसानी से ये तय कर सकती हैं कि आप क्या चाहती हैं। ये जरूरी है कि आप रियलिस्टिक गोल रखें और अपने दिमाग में एक बैकअप प्लान भी रखें। उदाहरण के लिए यदि आप ब्लैक से ब्लोंड के लिए जाती हैं तो अपने बालों को 2 बार ब्लीच करें और इसे गैप्स में करें। इसका मतलब है कि पहले बालों को ब्लीच करें और फिर टोनर से टोन करें लेकिन अगर आपको अच्छा रिजल्ट नहीं मिलता है तो प्लान बी तैयार रखें। आप हमेशा अपने बालों को अलग कलर में डाई कर सकती हैं और फिर टोन कर सकती हैं।

बालों को सेक्शन में बांट लें

अपने बालों को डाई करते समय उन्हें सेक्शन करना ना भूलें। चाहे आप ब्लीच कर रही हों या फिर डाई, बालों को सेक्शन करना बहुत ही जरूरी है। सेक्शन करने से आपके बाल ईवनली डाई होते हैं। यहां तक कि अगर आप बालों को ब्लीच करते हैं तो भी वो सेक्शन में करने से ईवनली होते हैं और कोई स्पॉटिंग नहीं होती है। ब्लीच करते समय इस बात का भी ध्यान रखें कि जड़े जल्दी ब्लीच होती हैं क्योंकि स्कैल्प हीट पैदा करती है, जो प्रोसेस को तेज कर देता है। डाई करते समय आपको बालों को 4 सेक्शन में बांटना चाहिए लेकिन ब्लीच करते समय आपको बालों को और भी छोटे सेक्शन में बांटना चाहिए। इसके लिए आप पिन, क्लिप या फिर रबड़बैंड का इस्तेमाल कर सकती हैं।

POPxo मेकअप कलेक्शन की हॉट मेस आईशैडो पैलेट के साथ करें खुद को फेस्टिव रेडी।

22 Oct 2021

Read More

read more articles like this

Read More

read more articles like this
good points logo

good points text