Advertisement

Acne

आपकी इन गलतियों के चलते और ज्यादा बढ़ सकती है पिगमेंटेशन की समस्या

Archana ChaturvediArchana Chaturvedi  |  Jul 16, 2021
पिगमेंटेशन की समस्या, pigmentation problems in hindi

हम में से हर कोई चाहता है कि हमारा चेहरा बेदाग और खूबसूरत हो। लेकिन वास्तव में सबके साथ होता नहीं है। चेहरे पर पिगमेंटेशन की समस्या (pigmentation problems) से आजकल बहुत से लोगों को जूझना पड़ता है। पिगमेंटेशन एक ऐसी समस्या है जो महिलाएं अपने जीवन के किसी भी चरण में अनुभव करती हैं। पिगमेंटेशन से त्वचा असमान और खराब दिखती है। पिगमेंटेशन केवल त्वचा में मेलानिन का स्तर बढ़ जाने के कारण ही नहीं बल्कि हाइपर पिगमेंटेशन जैसी समस्या ड्रग्स या कॉस्मेटिक्स, हार्मोन के कारण भी होती है। पिगमेंटेशन की समस्या किसी भी उम्र में हो सकती है। यह एक ऐसी स्थिति है जो त्वचा की मलिनकिरण का कारण बनती है। आपकी त्वचा में वर्णक कोशिकाएं आपको रंग देती हैं। जिन्हें मेलानोसाइट्स कहते हैं। मेलानोसाइट्स मेलेनिन का उत्पादन करते हैं। जो त्वचा को रंग देता है। जब मेलानोसाइट्स प्रभावित होते हैं, तो त्वचा के कुछ हिस्से अत्यधिक मात्रा में मेलेनिन का उत्पादन करते हैं। इससे त्वचा के कुछ हिस्से दूसरों की तुलना में गहरे रंग के दिखने लगते हैं। त्वचा पर काले धब्बे या निशान आपकी सुंदरता को प्रभावित कर सकते हैं। 

इन वजहों से बढ़ सकती है पिगमेंटेशन की समस्या these mistakes increase pigmentation problems in hindi

पिगमेंटेशन की समस्या कई लोगों को परेशान करती है। कई लोगों ने बताया है कि उन्होंने पिंगमेंटेशन को खत्म करने के लिए कई तरह की क्रीम और दवाओं का इस्तेमाल किया है, लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ। यह समस्या दूर न होने का कारण हो सकता है कि आपका आहार और हार्मोन सही न हो। जी हां, त्वचा पर काले धब्बे उचित पोषण की कमी के कारण भी होते हैं। तो आइए हम आपको बताते हैं कि किन गलतियों से पिगमेंटेशन बढ़ सकता है। 

शरीर को सही तरीके से हाइड्रेशन नहीं मिलना

आपके पिगमेंट की समस्या का एक कारण यह भी हो सकता है कि आपने शरीर में हाइड्रेशन का ध्यान नहीं रखा। डिहाइड्रेशन की वजह से हाइपर पिगमेंटेशन की समस्या काफी बढ़ जाती है। इसीलिए खूब पानी पीना चाहिए और अपने शरीर को हर समय हाइड्रेट रखना चाहिए।

अपने हार्मोनल स्तर को अनदेखा करना

बहुत से लोगों को पीसीओडी/पीसीओएस आदि समस्याएं होती हैं और ऐसे में शरीर में हार्मोन्स में उतार-चढ़ाव आता है। इतना ही नहीं, बहुत से लोग हाई डाइट लेते हैं या खुद को धूप में ज्यादा समय रहते हैं, इससे उनके पास एस्ट्रोजन और प्रोजेस्टेरोन के निम्न स्तर होते हैं जो उच्च मेलेनिन की ओर ले जाते हैं। यही कारण है कि आपकी पिगमेंटेशन की समस्या खत्म नहीं होती है बल्कि और ज्यादा बढ़ जाती है।

नींद की कमी

नींद की कमी भी त्वचा को ठीक से पुनर्जीवित होने से रोकती है। त्वचा को वापस पाने में कई घंटे की नींद लग जाती है। अगर आप 24 घंटे में 7-8 घंटे की नींद नहीं लेते हैं तो यह गलत होगा। यह आपकी त्वचा की मरम्मत के लिए समय नहीं देगा और इससे पिगमेंटेशन हो सकता है।

https://hindi.popxo.com/article/how-to-use-salt-to-get-rid-of-skin-problems-in-hindi

शरीर में प्रोटीन की कमी

अगर आपके शरीर को पर्याप्त मात्रा प्रोटीन नहीं मिलेगा तो यह सेल रिप्लेसमेंट ठीक से नहीं करेगा और स्किन पर समय से पहले ही एजिंग दिखने लगेगी और साथ ही उसमें मेलेनिन भी ज्यादा होगा। नई त्वचा बनाने और अपनी डेड स्किन को साफ करने के लिए आपको दिन भर अपनी डाइट में प्रोटीन को शामिल करना चाहिए।

आहार में पोषक तत्वों की कमी

यह संभव है कि आपके शरीर में विटामिन और खनिजों जैसे सूक्ष्म पोषक तत्वों की कमी हो, जो महत्वपूर्ण कमी की ओर ले जाती है, जिससे त्वचा का डिटॉक्सिफिकेशन कम हो जाता है। इसके लिए आपको सब्जी और फलों के जूस की जरूरत होगी।

https://hindi.popxo.com/article/how-to-make-curry-leaves-face-pack-benefits-in-hindi

POPxo की सलाह: त्वचा की देखभाल के लिए आज ही MyGlamm की ग्लो स्किनकेयर एव्रीडे एसेंशियल किट को बनाए अपने स्किन केयर रूटीन का हिस्सा।