लाइफस्टाइल

बीजेपी विधायक का दावा, अब बदलेंगे हैदराबाद का नाम

Deepali PorwalDeepali Porwal  |  Nov 9, 2018
बीजेपी विधायक का दावा, अब बदलेंगे हैदराबाद का नाम

हाल ही में शहरों के नाम बदलने की परंपरा ने जोर पकड़ा है। इलाहाबाद को प्रयागराज किए जाने के बाद कुछ और शहरों के नाम बदलने पर विचार किया जा रहा है। इन्हीं खबरों के बीच, तेलंगाना बीजेपी के विधायक टी राजा सिंह ने दावा किया है कि अगर तेलंगाना (Telangana) में बीजेपी की सरकार बनती है तो वे हैदराबाद (Hyderabad) का नाम भी बदल देंगे।

हैदराबाद की बदलेगी पहचान

देश में शहरों के नाम बदलने का चलन पुराना है। जब जो सरकार सत्ता में आती है, वह अपनी सहूलियत के हिसाब से शहर का नाम बदल देती है। जैसे कलकत्ता कोलकाता बना और बॉम्बे मुंबई, उसी तर्ज पर हाल ही में इलाहाबाद को प्रयागराज, फैजाबाद का अयोध्या और मुगलसराय का नाम दीन दयाल उपाध्याय कर दिया गया है। अब तेलंगाना बीजेपी के विधायक टी राजा सिंह (T Raja Singh) ने दावा किया है कि अगर भारतीय जनता पार्टी वहां सत्ता में आती है तो वे हैदराबाद का नाम बदल देंगे। उनके मुताबिक, बीजेपी के सत्ता में आने के बाद हैदराबाद को भाग्यनगर के नाम से जाना जाएगा।

कुछ और शहरों के भी बदलेंगे नाम…

टी राजा सिंह अक्सर अपने बयानों को लेकर चर्चा में रहते हैं। उनका कहना है कि अगर आगामी विधानसभा चुनाव में बीजेपी जीतती है तो हैदराबाद के साथ ही कुछ और शहरों के नाम भी बदले जाएंगे। उनके मुताबिक, तेलंगाना में निजाम का कोई योगदान नहीं रहा है, उसके बावजूद वहां के अधिकांश शहरों के नाम सिकंदराबाद, करीमनगर आदि रखे गए हैं। इसलिए सत्ता में काबिज होने के बाद वे हैदराबाद के अलावा सिकंदराबाद और करीमनगर जैसे शहरों के नाम भी बदलेंगे। गौरतलब है कि वे शहरों का नामकरण महापुरुषों के नामों पर करना चाहते हैं, जिन्होंने तेलंगाना या देश के लिए कुछ काम किया हो।

Hyderabad-news-in-hindi

पहले भी था भाग्यनगर

राजा सिंह ने हैदराबाद का नाम बदलने की मंशा जाहिर करते हुए वहां के इतिहास पर भी प्रकाश डाला है। उन्होंने बताया, ‘1590 में कुली कुतुब शाह के यहां आने से पहले हैदराबाद का नाम भाग्यनगर था लेकिन बाद में भाग्यनगर का नाम बदलकर हैदराबाद कर दिया गया। अब हम फिर से हैदराबाद का नाम बदलने की योजना बना रहे हैं।’ बीजेपी विधायक टी राजा सिंह ने दो महीने पहले अपना इस्तीफा दे दिया था। टी राजा सिंह गोशामहल विदानसभा क्षेत्र से विधायक हैं। गौरक्षा के लिए ही उन्होंने बीजेपी से इस्तीफा दिया था।

खबरों की मानें तो अहमदाबाद का नाम भी बदलकर कर्णावती कर दिया जाएगा।

ये भी पढ़ें :

LGBTQ पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला, समलैंगिता अब अपराध नहीं

सेक्शन 497 पर  फैसला – शादी के बाद संबंध हुए मान्य

सबरीमाला मंदिर – रेहाना फातिमा का विवादों से है पुराना नाता

बच्ची को साथ लाने वाली महिला पुलिसकर्मी को मिला सम्मान

हर तरफ मंडरा रहा है जीका वायरस का खतरा