home / लाइफस्टाइल
पढ़ें और शेयर करें शिक्षक दिवस पर कविताएं – Teachers Day Poem in Hindi

पढ़ें और शेयर करें शिक्षक दिवस पर कविताएं – Teachers Day Poem in Hindi

गुरु-शिष्य परंपरा भारतीय संस्कृति का एक महत्वपूर्ण और पवित्र हिस्सा है। जीवन में माता-पिता का स्थान कोई नहीं ले सकता क्योंकि जीवन में प्रथम गुरु हमारे माता-पिता होते हैं क्योंकि हमें इस खूबसूरत दुनिया में लाने का श्रेय दिया जाता है। भारत में प्राचीन काल से गुरु-शिष्य परंपरा रही है और शिक्षक हमें जीने का सही तरीका बताते हैं। हम सभी के जीवन में सफलता के पीछे एक शिक्षक का हाथ होता है जो की हमारे शिष्यकाल के समय हमें सही मार्ग पर चलने की प्रेरणा देता है। यही कारण हैं कि हर साल छात्र शिक्षकों के सामान में टीचर्स डे मनाते हैं। टीचर्स डे भारत के भूतपूर्व राष्ट्रपति डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन के जन्मदिन (5 सितंबर) के उपलक्ष्य में सेलिब्रेट किया जाता है। शिक्षा के क्षेत्र में डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन का अहम योगदान माना जाता है। वैसे ये सच है कि अगर हमारी जिंदगी में टीचर्स न होते तो कुछ भी सीखना आसान नहीं होता। तो इस मौके को हाथ से जाने न दें अपने खास अंदाज़ में अपने टीचर को मैसेज या सोशल मीडियो पोस्ट के जरिए शिक्षक दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं, शिक्षक दिवस पर कविताएं (emotional poem on teacher in hindi) यानि कि टीचर डे पर कविता जरूर शेयर करें और यहां हम ऐसा ही कलेक्शन शिक्षक दिवस पर कविता हिंदी में (teachers day poem in hindi) लेकर आये हैं, जिनमे से कोई भी आप चुन सकते हैं।

टीचर डे पर कविता – Teachers Day Poem in Hindi

‘गुरु’ शब्द संस्कृत के दो शब्दों ‘गु’ और ‘रू’ से मिलकर बना है, ‘गु’ का अर्थ होता है अंधेरा या अज्ञानता और ‘रू’ का तात्पर्य है ‘निवारण’ यानी गुरु का अर्थ हुआ एक ऐसा व्यक्ति जो अज्ञानता रूपी अंधकार को जीवन से मिटा दे। गुरु और शिष्य एक दुसरे के पूरक होते हैं। शिष्य को देखकर उसके गुरु की दी हुई शिक्षा का पता लगाया जा सकता है। ऐसे शिक्षक (thank you poems for teachers in hindi) समान गुरू को पाकर हमारा जीवन धन्य हो जाता है। अगर आप भी अपने शिक्षकों को टीचर डे पर कविता (shikshak diwas par kavita) भेजना चाहते हैं तो ये चंद लाइनें आपके काम आ सकती हैं।

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस कोट्स

Teachers Day Poem in Hindi

1 – ”गुरु आपकी ये अमृत वाणी

हमेशा मुझको याद रहे।

जो अच्छा है जो बुरा है

उसकी हम पहचान करे।

मार्ग मिले चाहे जैसा भी

उसका हम सम्मान करे।

दीप जले या अँगारे हो

पाठ तुम्हारा याद रहे।

अच्छाई और बुराई का

जब भी हम चुनाव करे।

गुरु आपकी ये अमृत वाणी

हमेशा मुझको याद रहे।।”

2 – ”दीपक सा जलता है गुरु फैलाने ज्ञान का प्रकाश 

न भूख उसे किसी दौलत की न कोई लालच 

न आस उसे चाहिए, 

हमारी उपलब्ध‍ियां उंचाईयां, 

जहां हम जब खड़े होकर उनकी तरफ देखें पलटकर 

तो गौरव से उठ जाए सर उनका हो जाए 

सीना चौड़ा हर वक्त साथ चलता है 

गुरु करता हममें गुणों की तलाश 

फिर तराशता है शिद्दत से और बना देता है सबसे खास 

उसे नहीं चाहिए कोई वाहवाही बस रोकता है 

वह गुणों की तबाही और सहेजता है हममें 

एक नेक और काबिल इंसान को।”

3 – ”गिरते है जब हम, तो उठाते है शिक्षक

जीवन की रह दिखाते है शिक्षक।

अंधेरे यहाँ पर बनकर दीपक,

जीवन को रोशन करते है शिक्षक।

कभी नन्ही आँखों मैं नमी जो होती,

तो अच्छे दोस्त बनकर हमे हसांते है शिक्षक।

झटकती है दुनिया हाथ कभी जब,

तो झटपट हाथ बढ़ाते है शिक्षक।

जीवन डगर है जीवन समर है

जीवन संघर्ष सिखाते है शिक्षक।

देकर अपनी ज्ञान की पूंजी,

हमे योग्य बनाते है शिक्षक।

इस देश और दुनिया के लिये,

एक अच्छा समाज बनाते है शिक्षक।

नहीं हो कही अशांति,

बस यही एक पैगाम फैलते है शिक्षक

गिरते है जब हम, तो उठाते है शिक्षक।”

4 – ”सुन्दर सुर सजाने को साज बनाता हूं।

नौसिखिये परिंदों को बाज़ बनाता हूं ।।

चुपचाप सुनता हूं शिकायतें सबकी।

तब दुनिया बदलने की आवाज़ बनाता हूं ।।

समन्दर तो परखता है हौसले कश्तियों के,

और मैं, डूबती कश्तियों को जहाज बनाता हूं ।।

बनाये चाहे चाँद पर कोई बुर्ज ए खलीफा।

अरे, मैं तो कच्ची ईंटों से ताज बनाता हूं।।

ढूंढों मेरा मजहब जाके इन किताबों में।

मैं तो उन्हीं से आरती, नमाज़ बनाता हूं।।

न मुझसे सीखने आना कभी जंतर जुगाड़ के।

अरे! मैं तो मेहनत लगन के रीवाज़ बनाता हूं।।

ज्योतिषी छोड़ दो तारों को तकना तुम।

है जो आने वाला कल उसे मैं आज बनाता हूं।।”

5 – ”वो कौन सा है पद,

जिसे देता ये जहाँ सम्मान ।

वो कौन सा है पद ,

जो करता है देशों का निर्माण ।

वो कौन सा है पद ,

जो बनाता है इंसान को इंसान ।

वो कौन सा है पद ,

जिसे करते है सभी प्रणाम ।

वो कौन सा है पद ,

जिकसी छाया में मिलता ज्ञान ।

वो कौन सा है पद ,

जो कराये सही दिशा की पहचान ।

गुरू है इस पद का नाम ।

मेरा सभी गुरूजनो को शत-शत प्रणाम ।”
हिन्दी दिवस से जुड़ी जरूरी बातें

शिक्षक दिवस पर कविता – Thank You Poems for Teachers in Hindi

शिक्षक वो महान शख्स होता है जो आपकी जीवन को अर्थपूर्ण बनाने में सबसे अहम भूमिका निभाता है। शिक्षक की खासियत ही यही होती है कि वो अपने बारे में न सोचकर पहले अपने छात्र के बारे में सोचता है। उसका भला बुरा सोचकर ही एक शिक्षक उसे ज़िंदगी की सीख देता है। ये शिक्षक दिवस पर कविताएं (teachers day par poem) हमारे जीवन में गुरु के महत्व को दर्शाती हैं और बातती है कि शिक्षक द्वारा हमे शिक्षित करने के लिए जो कड़ी मेहनत और प्रयत्न किया गया है उससे हम कभी उऋण नहीं पायेंगे। 

Thank You Poems for Teachers in Hindi

1 – ”कभी डांट कर, इसने प्यार जताया

कभी रोक-टोक कर चलना सिखाया,

कभी काली स्लेट पर चाक से,

उज्ज्वल भविष्य का सूरज उगाया।

ढाल बनकर के हर मुश्किल से बचाया।।

कभी हक़ के लिये लड़ना सिखाया,

कभी गलती बताकर कभी गलती छुपाकर,

एक सच्चे गुरु का फर्ज निभाया,

कभी माता-पिता बन दी सलाह,

कभी दोस्त बन हौसला बढ़ाया।।

आज कहते हैं उन टीचर्स को बड़ा सा थैंक यू,

जिन्होंने हमें इस काबिल बनाया।”

2 – ”शिक्षक दिवस पर साथियों एक बात कहना चाहता हूं,

जब भी धरा पर जन्म लूं, शिक्षक ही रहना चाहता।

गलियों से खेलते वर्तमान से, भविष्य के ख्वाब सजाता हूं,

कोरे कागजों पर लिखकर, उन्हें किताब मैं बनाता हूं।

‘अ’ अनपढ़ से शुरू कर, “ज्ञ” ज्ञानी तक पहुँचाता हूं

घनी अंधेरी दीवारों, पर रोशनी की मुहर लगाता हूं।

माना कि केवल शिक्षक हूं, विद्यार्थी को पढ़ाता हूं

मगर चन्द्रमा तक जाने की, पहली सीढ़ी मैं बनाता हूं।

शिक्षा पर नित नए प्रयोग देख, थोड़ा विचलित हो जाता हूं

मगर हर सरकारी फरमान को, बखूबी मैं निभाता हूं।

हैप्पीनेस और EMC से, विद्यार्थियों को परिचित कराता हूं

सपना देखने और उन्हें पूरा करने का, मार्ग मैं दिखाता हूं।

जो शिक्षा देता हूं सबको, पहले आदर्श बन दिखाता हूं 

त्याग देता हूं इच्छाएं बहुत सी, मगर कभी ना ये जताता हूं।

शिक्षक दिवस पर साथियों, एक बात कहना चाहता हूं 

जब भी धरा पर जन्म लूं, शिक्षक ही रहना चाहता हूं।”

3 – ”आदर्शों की मिसाल बनकर, बाल जीवन संवारता शिक्षक।

सदाबहार फूल-सा खिलकर, महकता और महकाता शिक्षक।

नित नए प्रेरक आयाम लेकर, हर पल भव्य बनता शिक्षक।

संचित ज्ञान का धन हमें देकर, खुशियां खूब मनाता शिक्षक।

पाप व लालच से डरने की, धर्मीय सीख सिखाता शिक्षक।

देश के लिए मर मिटने की, बलिदानी राह दिखता शिक्षक।

प्रकाशपुंज का आधार बनकर, कराव्या अपना निभाता शिक्षक।

प्रेम सरिता की बनकर धारा, नैया पार लगता शिक्षक।”

4 – ”जानवर इंसान में जो भेद बताये,

वही सच्चा गुरु कहलाये।।

जीवन पथ पर जो चलना सिखाये,

वही सच्चा गुरु कहलाये।।

जो धैर्यता का पाठ पढाये,

वही सच्चा गुरु कहलाये।।

संकट में जो हसना सिखाये,

वही सच्चा गुरु कहलाये।।

पग-पग पर परछाई सा साथ निभाए,

वही सच्चा गुरु कहलाये।।

जिसे देख आदर से सर झुक जाए,

वही सच्चा गुरु कहलाये ।।”

5 – ”ज्ञान का दीपक वो जलाते हैं,

माता पिता के बाद वो आते हैं।

माता देती हैं हमको जीवन,

पिता करते हैं हमारी सुरक्षा,

लेकिन जो जीवन को सजाते हैं,

वही हमारे शिक्षक कहलाते है।|

शिक्षक बिना न ज्ञान है,

शिक्षक बिना न मान है,

हमारा जीवन सफल बनाते हैं,

ज्ञान का दीपक वो जलाते हैं।|

जीवन संघर्षो से लड़ना शिक्षक हमे बताते हैं।

सत्य न्याय के पथ पे चलना शिक्षक हमे बताते हैं

ज्ञान का दीपक वो जलाते हैं, माता पिता के बाद वो आते हैं।”

टीचर्स डे पर कविता – Emotional Poem on Teacher in Hindi 

माता-पिता के बाद एक शिक्षक ही हैं जो हमारे जीवन में अहम महत्व रखते हैं। वो ही हमें सही एवं गलत के बीच का फर्क बताते हैं। हर साल शिक्षक दिवस 5 सितम्बर को आता है और आप सोचते रह जाते हैं कि आपन टीचर्स का कैसे आभार व्यक्त करें। अपने जज़्बातों को शिक्षक दिन कविता में पिरो कर करें अपने टीचर के साथ शेयर और उन्हें बताएं आप जो कुछ भी है उनकी दी हुई शिक्षा के कारण हैं। यहां पढ़ें टीचर के लिए शिक्षक दिवस पर कविता हिंदी में। 

Emotional Poem on Teacher in Hindi

1 – ”गुरु बिन ज्ञान नहीं 

गुरु बिन ज्ञान नहीं रे।

अंधकार बस तब तक ही है, 

जब तक है दिनमान नहीं रे॥ 

मिले न गुरु का अगर सहारा, 

मिटे नहीं मन का अंधियारा 

लक्ष्य नहीं दिखलाई पड़ता, 

पग आगे रखते मन डरता। 

हो पाता है पूरा कोई भी अभियान नहीं रे। 

गुरु बिन ज्ञान नहीं रे॥ 

जब तक रहती गुरु से दूरी, 

होती मन की प्यास न पूरी। 

गुरु मन की पीड़ा हर लेते, 

दिव्य सरस जीवन कर देते। 

गुरु बिन जीवन होता ऐसा, 

जैसे प्राण नहीं, नहीं रे॥ 

गुरु से जब अनुदान मिलेंगे, 

अति पावन परिणाम मिलेंगे। 

टूटेंगे भवबन्धन सारे, 

खुल जायेंगे, प्रभु के द्वारे। 

क्या से क्या तुम बन जाओगे, 

तुमको ध्यान नहीं, नहीं रे॥

गुरु बिन ज्ञान नहीं रे॥”

2 – ”जल जाता है वो दिए की तरह, 

कई जीवन रोशन कर जाता है। 

कुछ इसी तरह से हर गुरु, 

अपना फर्ज निभाता है। 

अज्ञान को मिटा कर, 

ज्ञान का दीपक जलाया है। 

गुरु कृपा से मैंने, 

ये अनमोल शिक्षा पाया है। 

जिसे देता है हर व्यक्ति सम्मान, 

जो करता है वीरों का निर्माण। 

जो बनाता है इंसान को इंसान, 

ऐसे गुरु को हम करते हैं प्रणाम।”

3 – ”शिक्षक है शिक्षा का सागर

शिक्षक बांटें ज्ञान बराबर,

शिक्षक मंदिर जैसी पूजा,

माता-पिता का नाम है दूजा

प्यासे को जैसे मिलता पानी,

शिक्षक है वो ही जिंदगानी

शिक्षक न देखे जात-पात,

शिक्षक न करता पक्ष-पात,

निर्धन हो या हो धनवान,

शिक्षक को सब एक सामान

शिक्षक माझी नाव किनारा

शिक्षक डूबते को सहारा

शिक्षक का सदा ही कहना

श्रम लगन है सच्चा गहना।।”

4 – ”बच्चों के भविष्य को,

शिक्षक सजाता है।

ज्ञान के प्रकाश को,

शिक्षक जलाता है।

सही-गलत के फर्क को,

शिक्षक बताता है।

शिष्यों को सही शिक्षा,

शिक्षक ही दे पाता है।

ऊंचे शिखर पर शिष्य को,

शिक्षक ही चढ़ाता है।

बच्चों के भविष्य में,

और निखार लाता है।

शिष्य को कभी शिक्षक,

नहीं ढाल बनाता है।

असफल होते जब कार्य में,

अफसोस जताता है।

शिक्षक ही समाज का,

उत्तम जो ज्ञाता है।”

5 – ”आज सुधा की पावन घड़ी का,

मान बढ़ाते हैं शिक्षक

वैदिक काल से चली ज्ञान का भान कराते हैं शिक्षक।

क, ख, ग से A to Z का ज्ञान कराते शिक्षक

अपनी शिक्षा के द्वारा एक अच्छा इन्सान बनाते हैं शिक्षक,

बाल्यकाल से जीवन पर्यन्त तक

साथ निभाते शिक्षक है

जीवन पथ पर सही गलत का राह दिखाते शिक्षक है

हर कठिनाई में राह दिये, 

हर मुश्किल में खड़े शिक्षक है

शिक्षक की महिमा हैं अनन्त,

ईश्वर से भी बड़े ये शिक्षक है,

शिक्षक के शिक्षण द्वारा

ये फूल खिलखिलाया है

ऐसे शिक्षक को शतशत नमन

शत शत नमन !”

हैप्पी टीचर्स डे कविता – Teachers Day Par Poem

बच्चों के लिए टीचर्स डे का दिन बहुत खास होता है। वो इस अपने टीचर्स को खुश करने उन्हें इंप्रेस करने के लिए तरह-तरह की एक्टिविटिज करते हैं, जैसे डांस, सिंगिग, नाटक या फिर शिक्षक दिवस पर कविता (short poem on teachers day in hindi) सुनाते हैं। यहां हम आपके लिए लेकर आये बच्चों के लिए टीचर डे पर कविता (happy teachers day poem in hindi), जिन्हें वो टीचर्स डे के मौके पर अपने मैम या सर को सुना कर उनका प्यार और वाहवाही पा सकते हैं।

Teachers Day Par Poem

1 – ”रोज सुबह मिलते है इनसे, 

क्या हमको करना है, ये बतलाते है।

ले के तस्वीरें इन्सानों की, 

सही गलत का भेद हमें, ये बतलाते है ।

कभी ड़ांट तो कभी प्यार से, 

कितना कुछ हमको, ये समझाते है ।

है भविष्य देश का जिन में, 

उनका सबका भविष्य, ये बनाते है।

है रगं कई इस जीवन में, 

रंगों की दुनिया से पहचान, ये करवाते हैं।

खो ना जाये भीड़ में कहीं हम, 

हम को हम से ही, ये मिलवाते हैं।

हार हार के फिर लड़ना ही जीत है सच्ची, 

ऐसा एहसास, ये करवाते है।

कोशिश करते रहना हर पल, 

जीवन का अर्थ हमें, ये बतलाते है।

देते है नेक मज़िल भी हमें, 

राह भी बेहत्तर हमे, ये दिखलाते है।

देते है ज्ञान जीवन का, 

काम यही सब है इनका,

ये शिक्षक कहलाते है।”

2 – ”हम स्कूल रोज हैं जाते 

शिक्षक हमको पाठ पढ़ाते,

दिल बच्चों का कोरा कागज 

उस पर ज्ञान अमिट लिखवाते, 

जाति-धर्म पर लड़े न कोई 

करना सबसे प्रेम सिखाते, 

हमें सफलता कैसे पानी 

कैसे चढ़ना शिखर बताते, 

सच तो ये है स्कूलों में 

अच्छा इक इंसान बनाते।”

3 – ”आपने बनाया है मुझे इस योग्य,

की प्राप्त करूं मैं अपना लक्ष्य,

दिया है हर समय आपने सहारा,

जब भी लगा मुझे की मैं हारा।।

पर मैं हूं कितना मतलबी,

याद किया न मैंने आपको कभी,

आज करता हूं दिल से आप सब का सम्मान,

आप सब को है मेरा शत शत प्रणाम।।”

4 – अ आ इ ई हमें पढ़ाकर

ज्ञान का दीप जलाती मैडम।

बात कभी बिगडी हम रोये

पल में हमें हंसाती मैडम।।

सैर कराती दुनिया भर का

कई कई राग सुनाती मैडम।

घर बैठे दुनिया दिखलाती

बिगड़ी बात बनाती मैडम।।

दो और दो है चार बताती

दुश्मन यार बनाती मैडम्।

कभी हमें है डांस सीखाती

कभी है नाच नचाती मैडम।।

देश के सब त्यौहार बताती

हर मौसम समझाती मैडम।

सदा बडों का आदर करना

ऐसी बात बताती मैडम।।”

5 – ”मातायें देती नव जीवन,

पिता सुरक्षा करते हैं।

लेकिन सच्ची मानवता,

शिक्षक जीवन में भरते हैं।।

शिक्षक ईश्वर से बढ़ कर हैं,

यह कबीर बतलाते हैं।

क्योंकि शिक्षक ही भक्तों को,

ईश्वर तक पहुंचाते हैं।।

जीवन में कुछ पाना है तो,

शिक्षक का सम्मान करो।

शीश झूका कर श्रद्धा से तुम,

बच्चों उन्हें प्रणाम करो।।”

Teachers Day wishes in English

05 Aug 2021

Read More

read more articles like this
good points logo

good points text