home / Periods
टैम्पोन, इस्तेमाल करने का तरीका और इसके फायदे - Tampon Kya Hota Hai

जानिए टैम्पोन क्या है? इस्तेमाल करने का तरीका और इसके फायदे – Tampon Meaning in Hindi

पीरियड एक ऐसा दौर है, जिससे हर लड़की को होकर गुजरना पड़ता है। हर महीने 5 दिन के लिए होने वाले ये पीरियड 13-14 साल की उम्र के बाद एक लड़की की ज़िंदगी का अभिन्न हिस्सा बन जाते हैं और लगभग 45 साल की उम्र तक चलते हैं। हालांकि प्रेगनेंट होने की वजह से महिलाओं को 9 महीने इन पीरियड्स का सामना नहीं करना पड़ता है। मगर डिलीवरी के बाद 15 दिन से 1 महीने की अवधि तक लगातार पीरियड्स होते हैं और 9 महीने की कसर पूरी कर लेते हैं। पहले के जमाने में पीरियड्स के दौरान लड़कियां कपड़ा इस्तेमाल किया करती थीं। मगर बदलते समय के साथ कपड़े की जगह कॉटन यानी रुई ने ले ली। उसके बाद मार्केट में सेनेटरी नैपकिन यानी पैड आने शुरू हो गए, जिसने लड़कियों को एक बड़ी राहत दी और उन्हें कपड़े व रुई जैसी चीज़ों से छुटकारा मिल गया। इसी कड़ी में कुछ समय पहले टैम्पोन भी प्रकाश में आये हैं। फर्क बस इतना है कि जहां सेनेटरी नैपकिन वजाइना के बाहर लगाए जाते हैं वहीं टैम्पोन को वजाइना के अंदर इंसर्ट किया जाता है। हम यहां आपको बता रहे हैं कि टैम्पोन क्या होता है (tampon kya hota hai), टैम्पोन का उपयोग कैसे करे (how to use tampon in hindi) और टैम्पोन के फायदे (tampon ke fayde)।

टैम्पोन क्या है? – Tampon Meaning in Hindi

टैम्पोन रुई से बने छोटे प्लग होते हैं जो आपकी योनि के अंदर फिट होते हैं और मासिक धर्म के रक्त को सोख लेते हैं। कुछ टैम्पोन एक एप्लीकेटर के साथ आते हैं जो आपको टैम्पोन अंदर डालने में मदद करते हैं। यह सिलिंडर नूमा आकार का होता है। टैम्पोन के अंत में एक तार जुड़ा होता है, जिससे आप उन्हें आसानी से बाहर निकाल सकते हैं। आपको यह जानकर हैरानी होगी कि एफडीए (Food and Drug Administration) टैम्पोन को मेडिकल डिवाइस की श्रंखला में रखता है। एफडीए द्वारा पास किए गए टैम्पोन एक बार उपयोग किए जाने के लिए होते हैं और फिर फेंक दिए जाते हैं। किसी भी टैम्पोन को एक से अधिक बार इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।

Tampon Meaning in Hindi

टैम्पोन कैसे इस्तेमाल करते हैं? – How to Use Tampon in Hindi

क्योंकि आपको पिछले कई समय से सेनेटरी नैपकिन इस्तेमाल करने की आदत है इसलिए हो सकता है कि शुरुआत में टैम्पोन इस्तेमाल करना आपके लिए थोड़ा अजीब और असहज हो। मगर एक बार आपको पीरियड्स के दौरान इसकी आदत हो गई तो धीरे-धीरे आप आराम महसूस करने लगेंगी। इसके लिए आपको यह पता होना जरूरी है कि टैम्पोन कैसे इस्तेमाल करते हैं? (How to Use Tampon in Hindi) ताकि पीरियड्स के दौरान इसे उपयोग करना असहज न हो। टैम्पोन विभिन्न आकार में आते हैं, जैसे लाइट, रेगुलर और सुपर। सबसे हल्के टैम्पोन का इस्तेमाल करना सबसे अच्छा होता है, जो कुछ घंटों तक चलता है। कुछ टैम्पोन एप्लीकेटर के साथ आते हैं। यह कार्डबोर्ड या प्लास्टिक से बनी छोटी छड़ें होती हैं, जो वजाइना में टैम्पोन डालने में आपकी मदद करती हैं और कुछ टैम्पोन में एप्लीकेटर नहीं होता है, इसलिए आप उन्हें अपनी उंगली से ही डालें। जानिए टैम्पोन इस्तेमाल करने का तरीका स्टेप बाय स्टेप। 

 How to Use Tampon in Hindi

स्टेप 1- अपने हाथ धोएं और आरामदायक स्थिति में आ जाएं। आप स्क्वाट कर सकते हैं, एक पैर ऊपर रख सकते हैं या अपने घुटनों को अलग करके शौचालय पर बैठ सकते हैं।

स्टेप 2- आपके पास किस प्रकार का टैम्पोन है, इस पर निर्भर करते हुए, एप्लीकेटर या अपनी उंगली का उपयोग करके टैम्पोन को वजाइना के अंदर डालें। 

स्टेप 3- जैसा ही टैम्‍पोन एक बार आपकी वेजाइना के अंदर चला जाए वैसे ही एप्लिकेटर को हटा लें। 

स्टेप 4 – यदि आप तनावमुक्त हैं तो अपनी योनि में टैम्पोन डालना अधिक आरामदायक होता है। चिकनी, गोल एप्लिकेटर के साथ टैम्पोन का उपयोग करना इसे आसान बना सकता है। आप टैम्पोन या एप्लीकेटर की नोक पर थोड़ा सा लुब्रिकेंट भी लगा सकते हैं। यदि आपको परेशानी हो रही है, तो किसी ऐसे व्यक्ति से पूछें जिस पर आप भरोसा करते हैं (जैसे आपकी मां, बहन, या कोई अन्य व्यक्ति, जिसने टैम्पोन का इस्तेमाल किया है) आपको यह दिखाने के लिए कि आपकी योनि में टैम्पोन कैसे डाला जाए।

स्टेप 5- अब आप देखेंगी कि टैम्‍पोन में लगी थ्रेड बाहर लटक रही होगी। 

स्टेप 6- एक टैम्पोन का इस्तेमाल 4 से 8 घंटे से ज्यादा नहीं करना चाहिए। डोरी की मदद से आप टैम्पोन को बाहर निकाल सकती हैं। 

स्टेप 7- बाहर निकालने के बाद आपको टैम्‍पोन को रैप करके फेंक देना चाहिए। ध्यान रहे सेनेटरी नैपकिन की तरह टैम्पोन को भी कभी दोबारा इस्तेमाल न करें। 

स्टेप 8- इसके बाद अपने हाथों को अच्‍छी तरह से साफ करें। इससे किसी भी तरह का इन्फेक्शन नहीं फैलेगा। 

अगर टैम्पोन लगाने में बहुत दर्द होता है, तो इसके बारे में अपनी डॉक्टर बात करें। आपकी कोई मेडिकल प्रॉब्लम हो सकती है, या हो सकता है कि आपका हाइमन आपकी वजाइना के द्वार को ढक रहा हो। एक डॉक्टर आपको यह पता लगाने में मदद कर सकते हैं कि यह दर्द क्यों पैदा कर रहा है और यह पता लगा सकता है कि इसके बारे में क्या करना है।

टैम्पोन के फायदे – Tampon ke Fayde

समय के साथ बदलती चीज़ें अपने साथ कई फायदे लेकर भी आती है। जैसे सेनेटरी नैपकिन कपड़े और रुई के मुकाबले कहीं अधिक बेहतर और फायदेमंद साबित हुए ठीक उसी तरह टैम्पोन भी अपने साथ कुछ ऐसे फायदे लेकर आता है, जो सेनेटरी नैपकिन से भी बेहतर हैं। हम यहां आपको ऐसी ही कुछ फायदे बता रहे हैं। 

Tampon ke Fayde

1- यह आकार में काफी छोटा होता है, इसे आप जेब में रखकर या हाथ में पकड़कर आसानी से बाथरूम तक ले जा सकती हैं, वो भी बिना किसी को पता चले। 

2- क्योंकि टैम्पोन वजाइना के अंदर इंसर्ट होता है कि वजाइना के बाहर की त्वचा पर किसी भी तरह का नुकसान नहीं होता। वहीं कई मामलों में पीरियड का 5 वां दिन आते-आते सेनेटरी नैपकिन की वजह से वजाइना के आस-पास की त्वचा में जलन, खुजली व चकत्ते की समस्या हो जाती है।

3- टैम्पोन एक बार वजाइना के अंदर डालने के बाद तब तक अपने आप नहीं निकलता जब तक आप खुद उसे न निकालें। इस दौरान आप कोई भी फिजिकल वर्क आसानी से कर सकती हैं बिना इस बात की परवाह किये कि आपके कपड़ों पर दाग लग सकता है। 

4- टैम्पोन इतना हल्का होता है कि यह आपकी वजाइना के अंदर है, इस बात का एहसास तक नहीं होता। जबकि सेनेटरी नैपकिन लगाने के बाद हर समय इसे लगाए रखने का एहसास होता रहता है। 

5- यह आपको कपड़ों के ऊपर ने नजर भी नहीं आता। जबकि टाइट जींस पहनने के बाद सेनेटरी नैपकिन उभरकर दिखने लगते हैं।   

टैम्पोन के साइड इफेक्ट – Side Effects of Tempons in Hindi

हर चीज़ के अपने फायदे और नुकसान होते हैं। टैम्पोन के अपने फायदे हैं तो कुछ साइड इफेक्ट्स भी हैं। जानिए टैम्पोन के साइड इफेक्ट (Side Effects of Tempons in Hindi)।

Side Effects of Tempoons in Hindi

1- जैसा कि हमने आपको बताया, टैम्पोन लगाने के बाद इस बात का एहसास ही नहीं होता कि वजाइना के अंदर कुछ लगा भी है, इस वजह से कई बार इसे लगाकर भूल जाने की आशंका भी बनी रहती है। जबकि सुरक्षा और सफाई की दृष्टि से तक 4 से 8 घंटे में टैम्पोन बदल लेना चाहिए। 

2- कई महिलाओं को पीरियड्स के दौरान सेक्स करने की इच्छा भी जागृत होती है। ऐसे में सेक्स करने से पहले अगर आप टैम्पोन निकलना भूल गईं तो यह भी आपके लिए नुकसानदायक हो सकता है। 

3- कई मामलों में टैम्पोन टॉक्सिक शॉक सिंड्रोम नामक इंफेक्शन की वजह भी बन सकता है। 

4- अगर इसे वजाइना में ठीक तरीके से नहीं  डाला गया तो यह वजाइना में दर्द का कारण भी बन सकता है। 

बेस्ट टैम्पोन इन हिंदी

आज के वक्त में मार्केट में टैम्पोन (best tampons) आसानी से मिल जाते हैं। आप चाहें तो इन्हें किसी भी मेडिकल स्टोर से खरीद सकते हैं और ये पीरियड फ्लो के मुताबिक अलग-अलग पैकिंग्स में आते हैं। कुछ टैम्पोन हेवी पीरियड फ्लो के लिए होते हैं और कुछ अन्य नॉर्मल पीरियड फ्लो के लिए होते हैं। इस वजह से हम यहां आपके लिए मार्केट में मिलने वाले कुछ बेस्ट टेम्पोन्स लाए हैं।

सिरोना नॉन एप्लिकेयर टेंपोन- हेवी फ्लो

अगर आपको पैड बहुत ही अनकंफर्टेबल लगते हैं और पैड लगाने की वजह से रैश हो जाते हैं तो ये टेंपोन आपके लिए बेस्ट ऑप्शन हैं। सिरोना के इन टेंपोन्स को हाई क्वालिटी फाइबर से बनाया गया है जो 8 चैनल से फ्लो को एब्जॉर्ब करते हैं और लंबे समय तक आपको ड्राई रखने में मदद करते हैं।

PeeSafe 100% ऑर्गेनिक टेंपोन

आप चाहें तो पीसेफ के टेंपोन भी ट्राई कर सकती हैं। ब्रांड का दावा है कि उनके ये टेंपोन 100% ऑर्गेनिक हैं और साथ ही हाई क्वालिटी भी हैं। ये हेवी फ्लो को अच्छे से एब्जॉर्ब कर लेते हैं और आपको दिन भर ड्राई और फ्रेश रखते हैं।

द वूमन कंपनी टेंपोन

द वूमन कंपनी के ये टेंपोन सभी फ्लो जैसे कि हैवी फ्लो, लो फ्लो के लिए बनाए गए हैं और बायोडिग्रेडेबल हैं। ये आपको पीरियड्स में फुल सिक्योरिटी देते हैं और फ्रेश रखने में मदद करते हैं।

POPxo की सलाह: MyGlamm की ग्लो स्किन केयर रेंज के साथ रखें अपनी त्वचा का खास ख्याल।

26 Jul 2021

Read More

read more articles like this

Read More

read more articles like this
good points logo

good points text