ब्यूटी

स्क्रीन को देखते रहने से होता है त्वचा को नुकसान, छुटकारा पाने के लिए फॉलो करें ये टिप्स

Megha SharmaMegha Sharma  |  Mar 1, 2021
स्क्रीन को देखते रहने से होता है त्वचा को नुकसान, छुटकारा पाने के लिए फॉलो करें ये टिप्स
घर से काम करने की वजह से हम अपना अधिक से अधिक समय स्क्रीन को देखते हुए बिताते हैं। फिर चाहे लंबी ऑनलाइन क्लास लेना हो या फिर वर्चुअल मीटिंग अटेंड करना हो या फिर कोई वेब सीरिज ही देखना क्यों ना हो, हम लगातार घंटों तक स्क्रीन को देखते रहते हैं। वैसे तो ये समय की जरूरत है लेकिन आज के वक्त में हम टेक्नोलॉजिकल डिवाइस से अधिक समय का ब्रेक नहीं ले पाते हैं। लेकिन लगातार लेपटॉप देखने से या फिर फोन की स्क्रीन देखने से आपकी सेहत पर असर पड़ता है।
आपको पता तो नहीं चलता है लेकिन ये वाकई बहुत हानिकारक है, स्क्रीन के आगे घंटों बैठे रहने के कारण आपकी त्वचा के संपर्क में आने वाली रेज त्वचा के लिए बहुत ही टॉक्सिक होती हैं। इस प्रकार की रेज को ब्लू लाइट (Blue Light) कहा जाता है। तो चलिए आपको आज के हमारे इस लेख में ब्लू लाइट के बारे में अधिक डिटेल में बताते हैं और ये भी कि किस तरह से आप अपने स्किनकेयर रूटीन में कुछ टिप्स को शामिल करके इन हानिकारक किरणों से अपनी त्वचा (Skincare Tips) को बचा सकती हैं।

क्या होती है ब्लू लाइट और हम कैसे इसके संपर्क में आते हैं?

Blue Light

ब्लू लाइट या फिर हाई-एनर्जी विजिबल लाइट, विजिबल लाइट स्पैक्ट्रम का हिस्सा है, जो आमूमन सभी इलेक्ट्रोनिक डिवाइस से आती है। खासतौर पर टीवी, लैपटॉप, गेमिंग और मोबाइल स्क्रीन। इस तरह की हाई-एनर्जी लाइट को इंसान आसानी से अपनी आंखों से देख सकता है।

ये त्वचा के लिए हानिकारक क्यों है?

ब्लू लाइट केवल हमारी त्वचा ही नहीं बल्कि हमारी स्लीप साइकिल के लिए और शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य के लिए भी हानिकारक होती है। एक्सपर्ट्स की मानें तो ब्लू लाइट के अधिक संपर्क में आने से इसका प्रभाव यूवी किरणों के जैसा ही हो सकता है, और आपकी त्वचा पर इसका लंबे समय तक असर रह सकता है। इससे चेहरे पर फ्री रेडिकल्स होते हैं जो कोलाजन को तोड़ सकते हैं और इंफ्लामेशन कर सकते हैं, जिससे आपके चेहरे पर रेडनेस, डार्क स्पॉट या फिर रिंकल आदि हो सकते हैं। 

ब्लू लाइट के असर को कम करने के लिए फॉलो करें ये टिप्स – Tips to Combat effect of Blue Light in Hindi

tips to Combat effect of blue light

– एंटिऑक्सिडेंट सीरम
एक एंटिऑक्सिडेंट सीरम, लाइट के कारण होने वाले ऑक्सिडेटिव स्ट्रेस को कम करता है। ये एंटिऑक्सिडेंट रिच सीरम डल कॉम्प्लेक्शन, ड्राइनेस और फाइन लाइन्स आदि को दूर करने में भी मदद करते हैं। विटामिन सी भी अच्छी एंटिऑक्सिडेंट होता है और आप इसका सीरम के रूप में इस्तेमाल कर सकते हैं।
– हाइलुरोनिक सीरम
हाइलुरोनिक एसिड आपकी त्वचा को हाइड्रेट करता है और उसे ब्लू लाइट के संपर्क में आने से बचाता है। ये आपके मॉइश्चर को सैक्रिफाइज नहीं करते हैं और आप इसका इस्तेमाल मॉइश्चराइजर और सनस्क्रीन लगाने से पहले कर सकते हैं।
– एसपीएफ
जैसा कि आप जानते हैं, अधिकतर सनस्क्रीन यूवीए और यूवीबी किरणों से बचाव करती हैं और इस वजह से जरूरी है कि आप ऐसी सनस्क्रीन खरीदें जो आपकी त्वचा को विजिबल स्पेक्ट्रम से भी बचाए। एसपीएफ जो जिंक ऑक्साइड से भरपूर होता है वो विजिबल स्पेक्ट्रम को ब्लॉक करता है और इस वजह से आप रोजाना इसका इस्तेमाल कर सकती हैं। 
POPxo की सलाह: MyGlamm की ग्लो स्किनकेयर रेंज के साथ अपनी त्वचा को रखें स्वस्थ और शाइनी।