home / Hindi
2 शादियां टूटने के बाद टीवी एक्ट्रेस श्वेता तिवारी ने अपने बेटी को दी शादी न करने की सलाह

2 शादियां टूटने के बाद टीवी एक्ट्रेस श्वेता तिवारी ने अपने बेटी को दी शादी न करने की सलाह

टीवी जगत की जानीमानी एक्ट्रेस श्वेता तिवारी की एक्टिंग के साथ-साथ लोग उनकी खूबसूरती के चर्चेभी  टीवी से लेकर भोजपुरी सिनेमा तक होते हैं। अब श्वेता की तरह उनकी बेटी पलक भी अपनी खूबसूरती और बोल्ड अदाओं की वजह से सोशल मीडिया पर छाई रहती हैं। 

श्वेता तिवारी आखरी बार ‘मेरे डैड की दुल्हन’ धारावाहिक में नजर आई थी। अब एक बार फिर श्वेता टीवी पर ‘मैं हूं अपराजिता’ नाम की सीरियल के साथ वापसी कर रही है। करीब 2 साल बाद श्वेता एक ऐसा शो करने जा रही हैं जिसमें अपराजिता तीन बेटियों के परिवार को अकेले पालती हुईं नजर आएगी।

हाल ही में ‘मैं हूं अपराजिता’ के प्रमोशन के दौरान श्वेता तिवारी ने एक चैनल को इंटरव्यू दिया और इस दौरान उन्होंने कई खुलासे किये। श्वेता ने कहा है, ”जब एक महिला कॉन्फिडेंट होती है, तो उसे एरोगेंट बोला जाता है। कहा जाता है कि वह अच्छे स्वभाव की नहीं है, लोगों को कॉन्फिडेंट महिलाएं तेज और लड़ाकू लगती है। मुझे भी लोग कहते हैं कि मैं तेज हूं लड़ाकू हूं, मेरी दो असफल शादियों के बाद तो लोगों का निशाना हमेशा मुझ पर रहता है। कई ऐसे लोग हैं जिन्होंने कई कई बार तलाक लिया है, लेकिन मुझे हमेशा ही मुद्दा बनाया गया है, लेकिन यह बात अच्छी रही है कि मैंने कभी काम करना नहीं छोड़ा और फाइनेंशली इंडिपेंडेंट हूं।

श्वेता तिवारी की पर्सनल लाइफ से हम सभी वाकिफ हैं। उनकी पहले दो बार शादी हुई, लेकिन दुर्भाग्य से उनकी दोनों शादियां ज्यादा लंबे वक्त तक नहीं चलीं और उन्हें काफी कंट्रोवर्सी के बाद तलाक का रास्ता चुनना पड़ा। 

अपनी शादी को लेकर श्वेता तिवारी ने कहा, “ईमानदारी से कहूं तो मैंने अपनी पहली शादी को बचाने की कोशिश की थी। क्योंकि वो मेरी परवरिश थी। मुझे सिखाया गया था। हालांकि, मैंने अपनी दूसरी शादी में समय बर्बाद नहीं किया। मुझे पता था मेरा रिश्ता खराब हो चुका है और अब मैं इसे नहीं बचा सकती। एक पॉइंट के बाद मैंने इसे खत्म करने का फैसला कर लिया। एक पल के लिए भी नहीं सोचा था कि लोग क्या कहेंगे।”

शादी पर अपनी राय देते हुए श्वेता कहती हैं, ”मुझे अब शादी पर विश्वास नहीं है, मैं तो अपनी बेटी को भी यही सिखाती हूं कि शादी मत करो। वैसे तो ये उसकी जिंदगी है लेकिन मां होने के नाते मैं उसे सिखाती रहती हूं कि मैं चाहती हूं, वह बहुत सोच समझकर शादी करे। सारी शादियां खराब नहीं होती हैं। लाइफ में शादी करना बहुत जरूरी है और शादी के बिना जिंदगी में अकेलापन होता है, मेरे कई दोस्त हैं जो खुशी-खुशी शादीशुदा हैं और मैं उनके लिए खुश हूं।”

वैसे कुछ भी कहिए ज़िंदगी में इतना कुछ झेलने के बाद भी श्वेता तिवारी अपने बच्चों के लिए चट्टान की तरह खड़ी हैं। और कई ऐसी औरतों के लिए प्रेरणा बनी हुई हैं।

12 Sep 2022

Read More

read more articles like this
good points logo

good points text