home / xSEO
Sendha namak ke fayde - सेंधा नमक के फायदे और नुकसान - Himalayan pink salt in hindi

सेंधा नमक के फायदे और नुकसान – Sendha Namak Khane ke Fayde aur Nuksan

सेंधा नमक, जैसा कि लोकप्रिय रूप से जाना जाता है, नवरात्रि के शुभ दिनों में उपवास करने वालों का पसंदीदा है। इन नौ दिनों के दौरान सेवन किया जाने वाला यह एकमात्र प्रकार का ‘नमक’ है। इसमें अनप्रोसेस्ड और रौ यानी कच्चा नमक सबसे शुद्ध माना जाता है क्योंकि इसमें किसी भी तरह का केमिकल नहीं मिला होता। इसमें पोटेशियम, लोहा, कैल्शियम, जस्ता, मैग्नीशियम, तांबा आदि सहित शरीर के लिए आवश्यक कई पोषक तत्व शामिल हैं। सेंधा नमक का उपयोग ज्यादातर लोग अपनी रोजाना की ज़िंदगी में भी करना पसंद करते हैं। हम यहां आपको सेंधा नमक खाने के फायदे (sendha namak ke fayde) सहित सेंधा नमक के नुकसान (sendha namak ke nuksan) के बारे में बता रहे हैं। मगर उससे पहले जान लेते हैं कि सेंधा नमक आखिर है क्या?

क्या है सेंधा नमक – Rock Salt in Hindi

Himalayan pink salt in hindi

सेंधा नमक का उपयोग पूरे उत्तर भारत में नवरात्रि के दौरान उपवास अनुष्ठान के रूप में किया जाता है। यह समुद्र के पानी को वाष्पित करके बनाया जाता है और इसमें उच्च मात्रा में सोडियम क्लोराइड नहीं होता है।  सेंधा नमक के स्वाद में कम खारा होने के साथ इसकी खुरदरे क्रिस्टल के रूप में दानेदार बनावट होती है। यह शरीर के इलेक्ट्रोलाइट्स को भरने में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है और पीएच संतुलन को बनाए रखता है। हिमालयन गुलाबी नमक सबसे प्रसिद्ध प्रकार के सेंधा नमक में से एक है, लेकिन इसमें कई अन्य किस्में भी मौजूद हैं। भारत में, हिमालय के अर्ध-शुष्क घाटी क्षेत्रों में अंतर्देशीय समुद्रों आदि जगहों पर कच्चे सेंधा नमक के विशाल भंडार देखने को मिलते हैं। इसमें कोई दोराय नहीं है कि सेंधा नमक भारत में सबसे शुद्ध प्रकार का सेंधा नमक है। यह टेबल सॉल्ट की तरह रासायनिक रूप से नहीं बनाया जाता। साथ ही इसमें आयोडीन नहीं होता है, इसलिए इसे कम मात्रा में व्यावसायिक रूप से बेचा जाता है।

सेंधा नमक के फायदे – Sendha Namak ke Fayde

आम नमक के मुकाबले सेंधा नमक के फायदे हैरान कर देने वाले हैं। सेंधा नमक आयुर्वेद में अत्यधिक मूल्यवान है, भारत में उत्पन्न होने वाली वैकल्पिक चिकित्सा की प्रणाली का एक अभिन्न हिस्सा है। सेंधा नमक के गुण कई स्वास्थ्य लाभ प्रदान करता है, जैसे सर्दी और खांसी का इलाज करना, साथ ही पाचन और आंखों की रोशनी में सहायता करना। सेंधा नमक मिनरल्स का एक रूप है और इसमें सोडियम क्लोराइड के आइसोमेट्रिक क्रिस्टल होते हैं। इसके अलावा सेंधा नमक में ज़िंक, आयरन, मैंगनीज, पोटेशियम और मैग्नीशियम जैसे पोषक तत्व भी शामिल होते हैं। हम यहां आपको सेंधा नमक खाने के फायदे बता रहे हैं|

sendha namak khane ke fayde

पाचन करे दुरुस्त – Improve Digestion With Sendha Namak in Hindi

सेंधा नमक पाचन में सुधार करने के साथ पेट दर्द को दूर करने का एक प्राकृतिक तरीका है। आप एक गिलास लस्सी में सेंधा नमक और ताज़े पुदीने के पत्तों के कुछ क्रिस्टल मिला सकते हैं और लाभ उठा सकते हैं। सेंधा नमक का उपयोग पेट के संक्रमण को ठीक करने के लिए भी किया जा सकता है। आयुर्वेदिक में भी सेंधा नमक का उपयोग विभिन्न पाचन रोगों के लिए घरेलू उपचार के रूप में किया जाता रहा है, जिसमें पेट के कीड़े, सूजन, कब्ज, पेट दर्द और उल्टी शामिल हैं।

बढ़ाए मेटाबॉलिज्म – Improve Metabolism With Rock Salt in Hindi

आहार में सेंधा नमक को सही अनुपात में शामिल करने से सिस्टम के भीतर पानी और मिनरल्स अवशोषण में काफी सुधार होता है। या शरीर की ऊर्जा बढ़ाने के साथ कई आवश्यक पोषक तत्वों की आपूर्ति भी करता है। वहीं मेटाबोलिज्म हमारे शरीर में कुछ रासायनिक प्रतिक्रियाओं को संदर्भित करता है जो कोशिकाओं और जीवों के स्वास्थ्य को बनाए रखने में मदद करते हैं। सेंधा नमक का उपयोग शरीर के मेटाबोलिज्म को बूस्ट करने और उसमें ऊर्जा भरने के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है। 

सिरदर्द और माइग्रेन में फायदेमंद – Sar Dard ke liye Sendha Namak 

सेंधा नमक सिरदर्द और माइग्रेन में भी काफी फायदेमंद साबित होता है। यहां तक कि आयुर्वेद में भी सिरदर्द और माइग्रेन की समस्या दूर करने के लिए हिमालयन साल्ट इस्तेमाल करने की सलाह दी गई है। सेंधा नमक युक्त तेल से मालिश करने पर माइग्रेन और सिरदर्द की समस्या से राहत पाई सकती है। दरअसल, सेंधा नमक में उचित मात्रा में कैल्शियम, मैग्नीशियम, पोटैशियम, सोडियम और मिनरल्स पाए जाते हैं। यही वजह है कि यह सिरदर्द और माइग्रेन की समस्या में असरदार साबित हो सकता है। 

Rock Salt ke Fayde Sar Dard Ke Liye

मांसपेशियां करे मजबूत – Rock Salt Benefit for Muscles in Hindi

शरीर में नमक और इलेक्ट्रोलाइट का संतुलन बिगड़ने से मांसपेशियों में ऐंठन की समस्या उत्पन्न हो सकती है। इलेक्ट्रोलाइट्स, वो आवश्यक मिनरल्स हैं, जो आपके शरीर में मांसपेशियों के कार्य के लिए आवश्यक हैं। क्योंकि सेंधा नमक में कई प्रकार के इलेक्ट्रोलाइट्स होते हैं, यह मांसपेशियों में ऐंठन और दर्द को दूर करने में मदद कर सकता है।

दूर करे स्ट्रेस – Sendha Namak Gives Relief From Stress

सेंधा नमक शरीर और दिमाग को आराम देने में मदद करता है। तनाव और चिंता को दूर करने के लिए नहाने के पानी में एक बड़ा चम्मच सेंधा नमक मिलाएं और आराम से स्नान करें। इसके अलावा सूप या सलाद में थोड़ा सा सेंधा नमक का सेवन करने से तंत्रिका तंत्र के कार्यों में तुरंत वृद्धि होती है। यह मस्तिष्क को सक्रिय करता है और मन को आराम देता है। यह तनाव के स्तर को कम करने, मधुमेह, हृदय रोग और कैंसर जैसी पुरानी बीमारियों के जोखिम को कम करने में भी मदद करता है, साथ ही रात में गहरी, अबाधित नींद सुनिश्चित करता है।

ब्लड प्रेशर करे नियंत्रित –  Control Blood Pressure With Rock Salt

अपने आहार में सोडियम को कम करना आपके बीपी को बनाए रखने का सबसे अच्छा तरीका है। आहार में सोडियम की थोड़ी सी कमी भी ब्लड प्रेशर में लगभग 5 से 6 मिमी एचजी तक सुधार कर सकती है। यही वजह है कि सादे नमक की तुलना में हिमालयन साल्ट या सेंधा नमक लेना अधिक बेहतर है। सेंधा नमक हाई ब्लड प्रेशर और लो ब्लड प्रेशर के संतुलन को बनाए रखते हुए ब्लड प्रेशर को स्थिर रखता है, क्योंकि इसमें पोटैशियम की मात्रा अधिक होती है। 

वजन कम करने में सहायक – Sendha Namak se Kare Weight Loss 

वजन कम करना पुरुषों और महिलाओं के बीच एक आम चिंता है, सेंधा नमक का सेवन वसा को कम करने में मदद कर सकता है और व्यक्ति को पतला होने में मदद करता है। यह सेंधा नमक में मौजूद मिनरल्स के कारण होता है जो चीनी की तलब को कम करके इंसुलिन को फिर से सक्रिय करता है। चीनी की लालसा जितनी कम होगी, व्यक्ति उतना ही कम इसका सेवन करेगा। रोजाना नींबू के साथ सेंधा नमक का सेवन वजन घटाने के साथ के साथ मोटापे से निपटने में मदद कर सकता है।

सेंधा नमक के नुकसान – Sendha Namak ke Nuksan

सेंधा नमक में सोडियम की मात्रा अधिक होती है इसलिए प्रतिदिन 6 ग्राम से अधिक इसका सेवन नहीं करना चाहिए। सोडियम की अधिक मात्रा हमारे शरीर के लिए घातक साबित हो सकती है। इसका उपयोग अन्य मसालों और जड़ी बूटियों के साथ भी किया जाना चाहिए। साथ ही जिनका ब्लड प्रेशर ज्यादा हाई रहता है, उन लोगों को सेंधा नमक का सेवन नहीं करना चाहिए, क्योंकि यह उनके स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकता है। वहीं टेबल सॉल्ट की जगह सेंधा नमक का इस्तेमाल करने से आयोडीन की कमी हो सकती है।

सेंधा नमक के अन्य भाषा मे नाम – Rock Salt Names in Different Languages

  • rock salt in hindi – सेंधा नमक
  • rock salt in marathi – सैंधव मीठ
  • rock salt in gujarati – सिंधवा
  • rock salt in urdu – नमक
  • rock salt in tamil – उप्पातम, कलप्पू
  • rock salt in telugu – रतियुप्पू

सेंधा नमक के फायदे को लेकर पूछे जाने वाले सवाल-जवाब – FAQ’s

सवाल- सेंधा नमक में आयोडीन होता है क्या?

जवाब- नहीं, सेंधा नमक में आयोडीन नहीं होता है। 

सवाल- गर्म पानी में सेंधा नमक मिलाकर पीने से क्या होता है?

जवाब- गर्म पानी में सेंधा नमक मिलाकर पीने से गले की खराश कम होने के साथ स्ट्रेस में बी राहत मिलती है।

सवाल- कौन सा नमक अच्छा होता है?

जवाब- हर नमक की अपनी खासियत होती है। जैसे टेबल साॅल्ट में आयोडीन होता है तो सेंधा नमक में सोडियम की अधिक मात्रा होती है। अब ये आपपर निर्भर करता है कि आप अपने परिवार के लिए कौन से नमक चुनना चाहते हैं।

सवाल- हाई ब्लड प्रेशर में कौन सा नमक खाना चाहिए?

जवाब- हाई ब्लड प्रेशर में सेंधा नमक एक जड़ी-बूटी का काम करता है। मगर जिनका ब्लड प्रेशर ज्यादा हाई रहता है, उन लोगों को सेंधा नमक का सेवन नहीं करना चाहिए।

अगर आपको यहां बताए गए सेंधा नमक के फायदे (sendha namak ke fayde) पसंद आए तो इन्हें अपने दोस्तों व परिवारजनों के साथ शेयर करना न भूलें।

21 Sep 2021

Read More

read more articles like this

Read More

read more articles like this
good points logo

good points text