logo
Logo
User
home / xSEO
Self Introduction in Hindi

Self Introduction in Hindi – जानिए अपना परिचय देने का तरीका

अंग्रेजी में एक कहावत है your first impression is often the last impression यानि जब आप किसी से मिलते हैं तो उसके ऊपर पड़ने वाला आपका पहला प्रभाव ही अक्सर आखरी प्रभाव होता है। यही वजह है कि एक सेल्फ इंट्रोडक्शन (self introduction in hindi), फिर चाहे वो कॉलेज के लिए हो, नौकरी के लिए हो, नेटवर्किंग सेशन के लिए हो या फिर शादी के लिए ही क्यों न हो, सबसे जरूरी माना जाता है। अगर आप नौकरी के लिए इंटरव्यू में सबसे अलग दिखना चाहते हैं, तो पहला कदम इंटरव्यू के लिए एक प्रभावशाली सेल्फ इंट्रोडक्शन बनाना होता है। यही बात हर जगह लागू होती है। अब सवाल यह उठता है कि अपना परिचय कैसे दें (apna introduction kaise de) तो इसका जवाब हम आपको यहां देने जा रहे हैं। 

Introduction Meaning in Hindi – इंट्रोडक्शन का अर्थ क्या होता है

Introduction Meaning in Hindi

इंटरव्यू, प्रेजेंटेशन या वर्क मीटिंग के लिए सेल्फ इंट्रोडक्शन ((self introduction in hindi)) बातचीत शुरू करने का एक शुरूआती चरण है। यह एक चीज है, जो निर्धारित करेगी कि बातचीत कैसे आगे बढ़ती है। किसी ऐसे व्यक्ति के लिए जो आपसे पहले कभी नहीं मिला है, इसके जरिये आप उन्हें आपको थोड़ा बेहतर समझने में मदद कर सकते हैं। जब आप इस बारे में बात करते हैं कि आप कौन हैं, आपने पेशेवर या व्यक्तिगत रूप से क्या किया है और आप कहां से हैं, तो आप अनिवार्य रूप से श्रोता को अपने जीवन की एक झलक प्रदान कर रहे हैं। खासतौर पर अगर यह सेल्फ इंट्रोडक्शन आपकी नौकरी के लिए है तो और भी ज्यादा जरूरी हो जाता है। आप जो कहते हैं वह श्रोता को आपके अनुभव या कौशल के बारे में काउंटर सवाल पूछने का मौका दे सकता है। एक सेल्फ इंट्रोडक्शन इस बात की गति निर्धारित करता है कि आपका इंटरव्यू कैसे सामने आएगा।

अपना इंट्रोडक्शन देना क्यों जरूरी है?  

जब भी आप किसी नए इंसान से मिलते है, तो खुद से उससे परिचित करवाते हैं। फिर चाहे वो नौकरी के उद्देश्य से हो या फिर शादी के उद्देश्य से। वास्तव में अपना इंट्रोडक्शन देना उतना ही जरूरी है, जितना सामने वाले के बारे में जानने की अपेक्षा रखना। इसके लिए आपका खुद को अच्छी तरह से जानना भी बेहद जरूरी है। जैसे- आपने पढ़ाई कहां से की है, आपके ज़िंदगी में लक्ष्य क्या है, भविष्य में आप क्या बनना चाहते हैं, आपकी पसंद-नापसंद, परिवार को लेकर सोच, समाज को लेकर सोच और जिस नौकरी के पद के लिए आप अप्लाई करना चाहते हैं, उसके बारे में जानकारी। इस बीच आपको ही यह तय करना होगा कि अपने बारे में आप कितना बताना चाहते हैं और कितना नहीं। 

अपना इंट्रोडक्शन देने के लिए टिप्स – Introduction Tips in Hindi

हो सकता है, खुद के बारे में बताना आपको आसान काम लगे मगर बात जब नौकरी और शादी की आती है तो कई बार सेल्फ इंट्रोडक्शन देना, लिखना या तैयार करना वाकई टेढ़ी खीर साबित होता है। हम यहां आपको बता रहे हैं कि apna introduction kaise dete hain. इन टिप्स के जरिये आप जरूर अपना एक अच्छा सेल्फ इंट्रोडक्शन तैयार कर पाएंगे।  

Introduction Tips in Hindi

कम शब्दों में ज्यादा बताएं 

इंटरव्यू लेने वाला आपसे एक सवाल जरूर पूछता है, ‘अपने बारे में कुछ बताएं’। यह एक कॉमन मगर सबसे जटिल सवाल होता है। इंटरव्यू के लिए सेल्फ इंट्रोडक्शन से निपटने का सबसे अच्छा तरीका पहले से तैयारी करना है। अगर आपके पास एक संरचना है – कहां से शुरू करें, बीच में क्या बोले और कैसे समाप्त करें, तो आप अपनी बात आसानी से सामने वाले तक पहुंचा सकते हैं। कोशिश करें यह ज्यादा लंबा न हो, कम शब्दों में ज्यादा बताने का प्रयास करें। 

शांत रहें और तैयार रहें

जब आप अपना परिचय देते हैं तो नर्वस महसूस करना और थोड़ा अचंभित होना ठीक है। हालांकि, गहरी सांसें लेना, अपने उत्तरों के बारे में सोचना और धीरे-धीरे बोलना अच्छा अभ्यास है। आप जो कहना चाहते हैं, उसमें जल्दबाजी न करें और आराम से अपनी बात खत्म करें। अगर आप तैयार हैं और स्पष्ट रूप से सोच रहे हैं तो आप बहुत बेहतर काम कर सकते हैं।

पर्सनल और प्रोफेशनल के बीच संतुलन बनाएं

चाहे आप भीड़ के सामने बोल रहे हों या नौकरी के लिए इंटरव्यू में अपना परिचय दे रहे हों, एक सेल्फ इंट्रोडक्शन आपको अपना अधिकार स्थापित करने में मदद करता है। व्यक्तिगत जानकारी के साथ अपने पेशेवर अनुभवों का संतुलन बनाये रखना महत्वपूर्ण है। अपने जुनून, अपने शौक, अपने परिवार या अपने सपनों के बारे में बात करें। लेकिन इसे जरूरी और संक्षिप्त रखना याद रखें। 

अपनी ताकत और कमजोरियों के बारे में बात करने से न डरें

कई बार, खासकर नौकरी के लिए इंटरव्यू के दौरान, आप अपनी खूबियों या कमजोरियों के बारे में बात करने से हिचकिचा सकते हैं। इस बात का स्पष्ट अंदाजा होना जरूरी है कि आप किसमें अच्छे हैं और कहां सुधार की गुंजाइश है ताकि आप नौकरी के लिए इंटरव्यू सेल्फ इंट्रोडक्शन दे सकें जो ईमानदार और आकांक्षी हो। इस बारे में बात करें कि आपने अपने पिछले आर्गेनाइजेशन में किसी चुनौती को कैसे पार किया। यदि आपने किसी सहकर्मी को उसका टारगेट पूरा करने में मदद की है, तो उसे भी शेयर करें।

सवालों के जवाब देने के लिए तैयार रहें

इंटरव्यू के दौरान सेल्फ इंट्रोडक्शन देते समय आप जो कहते हैं वह निर्धारित करता है कि आपसे किस प्रकार के प्रश्न पूछे जाएंगे। अपने दावों का समर्थन करें, परिणामों के साथ अपने कौशल की पुष्टि करें, और इस तरह से समाप्त करें जिससे बातचीत चलती रहे। अपनी उपलब्धियों और असफलताओं के बारे में ईमानदार रहें। इस बार में कतई झूठ न बखारें। 

अपना इंट्रोडक्शन देते समय इन बातों का रखें ध्यान 

इंटरव्यू के लिए सेल्फ इंट्रोडक्शन सिर्फ आपके कहे शब्दों के बारे में नहीं है, यह इस बारे में भी है कि आप अपने एक्सप्रेशन और अपने एटीट्यूड के जरिए खुद को कैसे पेश करते हैं। अपने बारे में और आपके द्वारा किए गए कामों के बारे में बात करना मुश्किल नहीं है क्योंकि आप पहले से ही जवाब जानते हैं। इसके बावजूद सेल्फ इंट्रोडक्शन देते समय कुछ बातों का ध्यान रखना बेहद जरूरी है। 

  • इसे छोटा और समझने में आसान रखें
  • पर्सनल रिफरेन्स एड करना याद रखें
  • अपने पेशेवर लक्ष्यों को स्पष्ट रूप से परिभाषित करें
  • उदाहरणों के साथ अपने अनुभव का समर्थन करें
  • प्रश्नों के लिए तैयार रहें। 

अगर आपको यहां दिया गया इंट्रोडक्शन देने का तरीका (introduction meaning in hindi) पसंद आया तो इन्हें अपने दोस्तों व परिवारजनों के साथ शेयर करना न भूलें। 

ये भी पढ़ें 

भारत के 10 सबसे अच्छे कालेज

पढ़ाई करते समय इन 5 तरीकों से करें खुद को प्रेरित

बॉडी लैंग्वेज में ऐसे करें सुधार और निखारे अपनी पर्सनैलिटी 

इन टिप्स से अंग्रेजी बोलना सीखें

26 Jan 2022

Read More

read more articles like this
good points logo

good points text