home / लाइफस्टाइल
water

पानी पीने के ये सिंपल रूल सभी को अपनी आदतों में शामिल करना चाहिए

पानी पीने के फायदे और जरूरत के बारे में तो सभी को पता है, लेकिन आयुर्वेद के अनुसार पानी को पीने का भी सही तरीका होता है जिसके बारे में लोगों को पता होकर भी लोग इस बारे में ध्यान नहीं देते हैं। इनमें से कई बातें चलते-फिरते आपने घर में बड़े-बुजुर्गों से सुनी भी होगी। हम यहां लेकर आए हैं पानी पीने के ऐसे ही जरूरी नियम जो आपकी लाइफ को और सेहतमंद बना सकते हैं। पढ़िए- 

1. बैठकर पानी पीएं

ADVERTISEMENT

आयुर्वेद के अनुसार खड़े होकर किसी भी तरह का लिक्विड पीने से शरीर में लिक्विड का संतुलन बिगड़ जाता है। इसी की वजह से जॉइंट्स में एक्स्ट्रा लिक्विड जमा हो जाता है और अर्थराइटिस का कारण बनता है। इसलिए बड़े-बुजुर्ग शुरू से बैठकर पानी पीने की सलाह देते हैं।

2. एक बार में पूरी गिलास

ADVERTISEMENT

एक गिलास पानी को तेजी से पीना पानी पीने का गलत तरीका है। एक बार में एक गिलास पानी ब्लोटिंग का कारण बनता है। पानी को धीरे-धीरे सिप करके पीने से डायजेशन की समस्या नहीं होती है।

मेमोरी को शार्प करने के लिए आपको भी खानी चाहिए ये 5 चीजें

ADVERTISEMENT

3. चिल्ड पानी से रहे दूर

चिलचिलाती गर्मी में एक गिलास ठंडा पानी कुछ राहत दे सकता है, लेकिन फ्रिज से सीधे पानी पीने से बचना ही बेहतर होता है। अगर आपको ठंडा पानी ही पीना है तो आप इसे नॉर्मल पानी के साथ मिला कर पी सकते हैं। सर्दियों में हमेशा कमरे के तापमान का पानी या गर्म पानी पिएं। ठंडा पानी पाचन को बाधित कर सकता है और कब्ज पैदा कर सकता है, जबकि गर्म पानी पाचन में मदद कर सकता है और कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने में भी मदद करता है।

ADVERTISEMENT

4. खाली पेट जरूर पीएं पानी

आयुर्वेद के अनुसार सुबह उठने के बाद सबसे पहले पानी पीना चाहिए। खाली पेट गुनगुना पानी पीने से शरीर से टॉक्सिन्स तो फ्लश होता ही है और ये शरीर को हाइड्रेट होने में भी हेल्प करता है।

ADVERTISEMENT

5. बॉडी सिग्नल को समझें

फटे होंठ, धंसी हुई आँखें, ड्राई मुँह, कम यूरिन पास करना और यूरिन का गहरा रंग जैसे लक्षण शरीर में पानी के कमी के संकेत देते हैं। 

ADVERTISEMENT

6. वाटर स्टोरेज पर दें ध्यान

आयुर्वेद के अनुसार पानी या तो कॉपर या फिर सिल्वर के बर्तन में स्टोर करना चाहिए। इतना ही नहीं आयुर्वेद में पानी पीने के लिए भी कॉपर या सिल्वर के गिलास यूज करने की सलाह दी जाती है। इनमें पानी पीने से शरीर में कफ, वात या पित्त जो भी दोष होते हैं वो संतुलित होते हैं। इन बर्तनों में रखा पानी पॉजिटिव तरीके से चार्ज हो जाता है और ये इम्यूनिटी बूस्ट करने से लेकर बेहतर डाइजेशन के लिए अच्छा माना जाता है। इस पानी में कैंसर की रोकथाम की क्षमता भी है।

ADVERTISEMENT

ये भी पढ़े-

जानें फास्ट वेट लॉस करने वाले लोगों की ऐसी 10 आदतें, जिनसे वो हमेशा रहते हैं स्लिम- ट्रिम

ADVERTISEMENT
14 Jan 2023

Read More

read more articles like this
good points

Read More

read more articles like this
good points logo

good points text