home / पैरेंटिंग
डिलीवरी के बाद वजन घटाने के लिए

डिलीवरी के बाद तेजी से होगा वजन कम, बस इन तरीकों को आजमाएं

अक्सर महिलाओं में पोस्टपार्टम वेटलॉस को लेकर चिंता सताने लगती है। बच्चे को जन्म देने के तुरंत बाद उन्हें एक्सरसाइज करने की सख्त मनाही होती है। वहीं, बच्चे की देखभाल के साथ उनके लिए अपने लिए वक्त निकाल पाना भी बहुत मुश्किल हो जाता है। यही वजह है इस लेख में हम डिलीवरी के बाद वजन घटाने के कुछ आसान और असरदार तरीकों के बारे में चर्चा करेंगे। 

डिलीवरी के बाद वजन घटाने के असरदार उपाय (Postpartum weight loss tips in Hindi)

प्रसव के बाद बढ़े हुए वजन को लेकर अब आपको फिक्र करने की जरूरत नहीं है। नीचे हम कुछ ऐसे टिप्स दे रहे हैं, जिन्हें फॉलो कर आप पोस्टपार्टम वेटलॉस को काफी हद तक कम कर सकती हैं।

1. खान-पान को लेकर न करें ये गलतियां

कुछ महिलाएं वजन घटाने के चक्कर में दिन की एक मील स्किप करने लगती हैं। लेकिन यह वजन कम करने की बजाय बढ़ने का कारण बन सकता है। ऐसा इसलिए क्योंकि शरीर को जब भूख लगती है और आप कुछ नहीं खाती हैं, तो मेटाबॉलिज्म स्लो हो जाता है। यह वजन को घटाने की बजाय बढ़ने का कारण बन सकता है।

मील को स्किप करने से बेहतर होगा कि आप पोषक तत्व युक्त भोजन का सेवन करें और खाने के पोर्शन पर ध्यान दें। हेल्दी खाने का मतलब यह बिल्कुल नहीं होता कि आप जितना मर्जी इसका सेवन करें। दिनभर में हर एक घंटे में थोड़ी-थोड़ी मात्रा में खाना खाएं। 

2. शुगर और कार्ब्स को कहें ‘नो’

न्यू मॉम्स शुगर और रिफाइंड कार्ब्स युक्त चीजों से कोसों दूर रहें। बच्चे के जन्म के बाद घर में मिठाइयां, चॉकलेट आदि से घर भर जाता है। लेकिन आपको इन सब से दूरी बनाकर रखनी चाहिए। साथ ही सोडा युक्त ड्रिंक्स व ऑयली और फ्राइड चीजों से भी परहेज करें। ये चीजें न सिर्फ आपका वजन बढ़ाती हैं। बल्कि डिलीवरी के बाद होने वाली रिकवरी में भी देरी का कारण बनती हैं।

डिलीवरी के बाद माँ के शरीर को पोषक तत्वों की जरूरत होती है। इसलिए, बेहतर होगा कि आप विटामिन, मिनरल व फाइबर युक्त पोषक तत्वों से भरपूर हेल्दी चीजों का सेवन करें।

3. बच्चे को ब्रेस्टफीडिंग कराने से न करें परहेज

पोस्टपार्टम वेटलॉस
ब्रेस्टफीडिंग कराते हुए महिला

कई मांएं बच्चे को ब्रेस्टफीडिंग कराने से डरती हैं। उन्हें लगता है कि इससे उनका शरीर खराब हो सकता है। परंतु,ऐसा कुछ नहीं है। न्यू मॉम को बच्चों को स्तनपान कराने में किसी तरह का संकोच नहीं होना चाहिए। यह माँ और बच्चे दोनों के लिए फायदेमंद होता है। एक तरफ यह बच्चे में पोषक तत्वों की कमी को पूरा कर रोग-प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत बनाता है। वहीं, माँओं को कई रोगों से बचाने के साथ वजन घटाने में सहायक होता है।

4. पर्याप्त नींद है जरूरी

क्या आप जानती हैं कि हमारी नींद का असर हमारे वजन पर भी पड़ता है। जी हैं, यदि हमारा स्लीपिंग पैटर्न सही नहीं होता है, तो यह वजन बढ़ाने के साथ कई बीमारियों को दस्तक दे सकता है। इसलिए न्यू मॉम की अगर नींद पूरी नहीं होगी तो उनको वजन घटाने में काफी मुसीबतों का सामना करना पड़ सकता है। 

दरअसल, न्यूली बॉर्न बेबी के रात में बार-बार उठने की वजह से अक्सर माँ की नींद पूरी नहीं हो पाती है। लेकिन आपको अब अपनी नींद के लिए बेबी पर निर्भर होना होगा। दिन के समय जब भी बच्चा सोएं तो आप उस समय फोन पर लगने की बजाय उसके साथ सो जाएं। 

5. डिलीवरी के बाद वजन घटाने के लिए टहलने जाएं

माना न्यू मॉम को एक्सरसाइज करने की मनाही होती है, लेकिन वह रोजाना कुछ देर के लिए वॉक पर जा सकती हैं। घर के अंदर बैठे-बैठे व दिनभर बच्चे की देखभाल करने के बाद मूड चेंज के लिए वॉक पर जाना एक बेहतर रेमिडी साबित हो सकता है। इसस माँ को बेहतर महसूस होने के साथ वजन कम करने में भी मदद होगी। नियमित रूप से टहलने जाने से मांसपेशियों में अकड़न की शिकायत भी दूर हो सकती है।

6. पोस्टपार्टम मालिश

डिलीवरी के बाद महिला का शरीर काफी ढीला हो जाता है। इसके लिए पोस्टपार्टम मालिश कराना लाभकारी हो सकता है। यह न्यू मॉम की जल्दी रिकवरी के साथ शरीर को शेप में लाने में मदद करती है। ध्यान रखें नॉर्मल डिलीवरी हुई है तो आप हफ्ते बाद मालिश करवाना शुरू कर सकती हैं। वहीं सिजेरियन डिलीवरी वाली महिलाएं जब तक घाव पूरी तरह भर नहीं जाता तब तक मालिश न करवाएं।

बात करें मालिश के लिए तेल की तो ‘द मॉम्स को’ द्वारा उत्पादित नेचुरल एंटी सेल्युलाइट टॉनिंग बॉडी ऑयल का इस्तेमाल लाभकारी हो सकता है। यह तेल आसानी से त्वचा में समां जाता है और जिद्दी सेल्युलाइट  को तोड़ने के साथ कोलेजन के अवशोषण को बढ़ाता है। साथ ही ब्लड सर्कुलेशन को बेहतर करता है। 

इस तेल को खास डिलीवरी के बाद पेट की ढीली त्वचा को टाइट व टोन करने के लिए तैयार किया गया है। इसे बनाने के लिए कॉफी, हल्दी और अदरक के तेल का इस्तेमाल किया गया है। 

डिलीवरी के बाद वजन घटाने के लिए न करें ये गलतियां

पोस्टपार्टम वेटलॉस के लिए न्यू मॉम नीचे बताई गई गलतियां न करें, नहीं तो माँ और शिशु के लिए कई अन्य परेशानियां पैदा हो सकती हैं।

डिलीवरी के बाद वजन घटाने के लिए
पोस्टपार्टम वेट गेन से परेशान महिला
  • डिलीवरी के बाद वजन घटाने के लिए एक्सरसाइज शुरू करने की जल्दबाजी न करें। ये समय महिला के लिए काफी गंभीर होता है। डॉक्टर न्यू मॉम की रिकवरी के लिए पूरी तरह से रेस्ट करने के साथ हेल्दी डाइट लेने के लिए कहते हैं। इसलिए, बच्चे को जन्म देने के बाद कुछ हफ्तों तक रेस्ट करें और डॉक्टर से परामर्श करने के बाद ही एक्सरसाइज करना शुरू करें।
  • कुछ महिलाएं डिलीवरी के बाद वजन घटाने के लिए क्रैश डाइट का सहारा लेती हैं। इससे ब्रेस्ट मिल्क प्रभावित होता है, जिस वजह से शिशु को पर्याप्त दूध नहीं मिल पाता है। बता दें, बच्चे को पोषण का जरिया सिर्फ माँ का दूध होता है। ऐसे में बच्चे को पर्याप्त पोषण मिल सके, इसके लिए न्यू मॉम के वजन घटाने के लिए क्रैश डाइट सही रास्ता नहीं है। 

आशा करते हैं लेख में दिए गए टिप्स डिलीवरी के बाद बढ़े हुए वजन को कम करने में मदद करेंगी। यदि आपके फ्रेंड सर्कल में कोई न्यू मॉम हैं, तो उनके साथ इस लेख को जरूर शेयर करें।

चित्र स्रोत: Freepik

09 Jun 2022

Read More

read more articles like this
good points logo

good points text