home / xSEO
Poem on Raksha Bandhan in Hindi | रक्षाबंधन पर कविता

(30 Best) Poem on Raksha Bandhan in Hindi | पढ़िए रक्षाबंधन पर कविता 

भाई-बहन का रिश्ता बेहद अनमोल होता है। इस अनमोल रिश्ते को मानाने के लिए हर साल रक्षाबंधन का त्योहार आता है। बॉलीवुड भी रक्षाबंधन जैसे त्योहार को भुनाने में कभी पीछे नहीं रहता तभी तो हिंदी फिल्मों में रक्षाबंधन के गाने की भरमार है। मगर क्या सिर्फ गाने ही काफी हैं, जी नहीं हिंदी फ़िल्मी गानों के साथ raksha bandhan poem in hindi  रक्षाबंधन पर बहन के लिए कविता भी अपना एक अलग स्थान रखती है। इस बात से तो हम सभी वाकिफ हैं कि raksha bandhan par kavita रक्षाबंधन की कविता Raksha Bandhan Quotes in Hindi से काफी अलग होती है। ऐसे में अगर आपको रक्षाबंधन पर अपने भाई या बहन को कविता भेजने का मन है तो हम आपके लिए यहां इसका एक बेहतरीन कलेक्शन लेकर आये हैं। साथ ही आप सभी को रक्षाबंधन की हार्दिक शुभकामनाएं।

Raksha Bandhan Poem in Hindi | रक्षाबंधन पर कविता हिंदी में

अगर आप ये सोच रहे हैं कि इस साल Raksha Bandhan Kab Hai तो हम आपको बता दें कि इस साल रक्षाबंधन का त्योहार 11 अगस्त को मनाया जा रहा है। भाई-बहन के पवित्र रिश्ते वाले इस त्योहार का इंतज़ार दोनों को ही साल भर रहता है। भाई को अपनी कलाई में राखी बंधवाने का और बहन को राखी बांधने के बहाने भाई से तरह-तरह के गिफ्ट्स ऐंठने का। मस्ती-मज़ाक से भरपूर यह त्योहर अपने साथ कई खुशियां लेकर आता है। इस रक्षाबंधन आप भी raksha bandhan kavita in hindi रक्षाबंधन पर कविता हिंदी में भेजकर अपने भाई या बहन का दिल खुश कर दीजिये। 

Raksha Bandhan Poem in Hindi

1- भाई बहन का शुभ दिन है आज

कलाई पर सजा है राखी का ताज

बहना की आँखों में है बहुत प्यार

भाई के हाथों मिलेगा आज उपहार

रक्षा करेगा भाई देता है वचन

यूं ही साथ रहेंगे हर जनम

आओ मिलकर खाएं हम मिठाई

रक्षा बंधन की सबको बधाई!

2- आओ भैया , प्यारे भैया ,

मस्तक पर शुभ तिलक लगा दू ।

रक्षाबंधन की बेला मे ,

धागो का कगन पहना दू ।।

युग ~ युग जियो , फलो ~ फूलो तुम , जीवन भर मेरे भाई ।

राखी के इस शुभ अवसर पर यही कामना मै लाई ।।

जब तक रवि ~ शशि करते विचरण , गगा ~ यमुना है साखी ।

तब तक रक्षा करे तुम्हारी , बहन की प्यारी राखी ।।

दिन बीते सुख चैन भरे ,

राते बीते आनन्द भरी ।

रेशम के कोमल धागो मे ,

बहना की प्रीत भरी ।।

मेरी बहना , प्यारी बहना ,

तुझे वचन मै देता हू ।

जीवन भर अपनी बहन की रक्षा का प्रण लेता हू ।।

बहना तेरी आन ~ मान पर

आच न मै आने दूगा ।

इस प्यारी राखी के बदले

जीवन भी अपना दूगा ।।

3- रहे मेरा भाई कुशल, बहन चाहती है

आया राखी त्यौंहार, बहन फुले नहीं समाती है

राखी रोली मिठाई से, थाली सजाती है

लगाकर तिलक कलाई पे राखी बांधती है

भाई की कलाई, पे रक्षासूत्र का बांधती है धागा

करवाती है भाई से, रक्षा करने का वादा

भैया रखनी है लाज राखी की, इसको निभाना

संकट आये बहन पे तो, रक्षक बनकर तुम रहना

भाई अपनी बहन को देते है वचन

संकट आने पर, संकट का करुगा में हरण

भाई बहन का पवित्र रिश्ता, होता है बड़ा प्यारा

प्यार पवित्र रिश्ते से, फैले घर घर उजियारा

जगत में भाई बहन का रिश्ता है बड़ा ही प्यारा

रक्षाबंधन का त्यौहार है, सबसे ही न्यारा

हर भाई को बहिन का रिश्ता सदा निभाना है

बना रहे प्यार भाई बहिन में, सुरेश का यही कहना है।

4- रेशम के धागे में समेटे

भाई बहन का प्यार,

पूरे एक बरस में आता

राखी का त्यौहार।

बाजारों में बिकती राखी

नहीं मोल कोई इस रिश्ते का

बहन का अहुदा माँ समान है

भाई का है फरिश्ते का,

कभी बनती बहुत आपस में

कभी होती है तकरार

पूरे एक बरस में आता

राखी का त्यौहार।

जब भाई सरहद पर होता

तो राखी चिट्ठी में जाती है

कब जाओगे बहन से मिलने

यही सवाल उठाती है,

कैसे बताए भाई बहन को

पूरा भारत उसका परिवार

पूरे एक बरस में आता

राखी का त्त्यौहार।

ससुराल से बहनें मायके जाएं

भाई की कलाई राखी से सजाएं

मुंह करवाकर मीठा उनका

माथे पर उनके तिलक लगाएं,

बदले में भाई से पाती

सुंदर-सुंदर से उपहार

पूरे एक बरस में आता

राखी का त्यौहार।

5- राखी के धागे हलके फुल्के.. जज़्बातों मे गहरा वज़न टिका,

वह रिश्ता सबसे उत्तम है.. जिस मे रक्षा का है वचन जुड़ा।

रक्षाबंधन पर्व हर वर्ष हो.. इस रीत से सबका ह्रदय जुड़ा,

भाई बहन का एक ही मन है.. अद्वितीय सूत्र की गाँठ बँधा।

कैसे भावनाएँ जन्म ले भीतर..? कैसे उत्पन्न परवाह हो..?

चुपचाप जो बैठे बहन कही तो.. बेचैनी भाई के शब्दों मे हो,

दुआ के थाल दो नैना भरकर.. बहना माँगे भाई का सदा भला..

ईश्वर से विनती इतनी है.. पावन रिश्ता यह रहे खरा।

रंग सुनहरे धागों के.. चमक धमक सजावट हो..

मन भावन है नाम राखी का.. राखी का अर्थ रक्षा हो,

दूर पास.. हम कही रहे.. हुँ बहन! है सौभागय मेरा..

वीर हाथ जो सर पर रख दे.. स्पर्श छाप बन माथे सजे सदा।

राखी के धागे नही हलके फुल्के.. भाई बहन प्रेम हर रेशे जुड़ा..

चोखा है.. अनोखा है.. कई कड़ियों से यह नाता जुड़ा,

रक्षाबंधन पर हर बहना.. माँगे भाई का जीवन हो सुख से भरा..

ह्रदय कोश से.. नैनो से.. शब्दों से सौंपूँ आशीष सदा।

“राखी के धागे हलके फुल्के.. जज़्बातों मे गहरा वज़न टिका,

भाई बहन का एक ही मन है.. अद्वितीय सूत्र की गाँठ बँधा।

6- आपकी रक्षा मै करू

मेरी रक्षा आप

विश्व शिखर पर पहुचे भारत

ऐसा कर लो जाप

राखी का ये धागा कहता

तू मेरा मै तेरा हू

तू गर मेरा अब्दुल हमीद

तो मै मोदी भी तेरा हूँ

मेरे मुल्क का कतरा कतरा

देश पे जान लुटाता है

जब मेरी बहना का धागा

हाथ मेरे बध जाता है बहना

मागे दुश्मन का सर

काट थाल मे ला दूगा

7- बहन कहे गर्दन कटवा दो गर्दन भेट चढ़ा दूगा

बहन कहे गर मेरे देश मे क्यू भय से ग्रसित महिला हैं

बहना के इस कहने पर मै फिर तलवार उठा लूगा

बददिमाग गदे लोगो की गर्दन काट गिरा दूगा

मेरी बहन ने अबकी बस यूपी शगुन में मागा है

मैने भी इन तीन वर्ष मे यूपी स्वर्ग बनाना है

सपा रहे या बसपा सबको काल की भेट चढ़ाना है

जैसा देश मे मोदिराज है राज उसी सा लाना है

राखी जैसे बधन का बहना का कर्ज चुकाना है

8- बेटा – बेटी की चुहलबाजी, सबको आनंदीत करती है

छोटी है बहन का रखना ध्यान, सीख की बात बताई जाती है

होती है बचपन में, भाई – बहन में नोक-झोक

सीख की बताकर, करते है, माता पिता रोक-टोक

रूठने – मनाने के, चलते रहते हैं दौर

भाई-बहन आपस में खेले, मचाये रखते है शौर

देते नसीहत माता-पिता, बहन का ध्यान रखना

हैं भाई-बहन का पवित्र रिश्ता, होते जग में गुणगान

लगता है अच्छा बहन का भाई के घर में आना-जाना

भाई कहे बहन से, रक्षाबंधन पे जरुर तुम आना

खत्म हुआ इंतजार, आ गया राखी का त्यौहार

बहन आई भाई के घर, भाई करे बहन की मनुहार

भाई की कलाई पर, बहन बांधती है रक्षा सूत्र का धागा

बहन की करे सुरक्षा, करे बहन से रक्षा का वादा

बना रहे भाई बहन का प्यार, सदा निभाओ अपना फर्ज

रहे भाई बहन में प्यार सदा, सुरेश करे आपसे अर्ज

Raksha Bandhan Poem for Sister in Hindi | रक्षाबंधन पर बहन के लिए कविता 

हर भाई के लिए उसकी बहन बहुत खास होती है। अगर बहन बड़ी है तो वो मां से कम नहीं होती और अगर बहन छोटी है तो वो प्यारी-दुलारी दोनों होती है। कुल मिलाकर एक भाई की ज़िम्मेदारी अपनी छोटी या बड़ी दोनों बहनों की तरफ बराबर की होती है। जो भाई हर छोटी नोंक-झोंक में बहन की शादी की दुआ मांगता है वो शादी के दिन अपनी बहन से सबसे ज्यादा लिपटकर रोता है। यही तो होता है, भाई-बहन का प्यार। अगर आप भी अपनी बहन से करते हैं बेइंतेहां प्यार तो इस राखी उन्हें भेजिए raksha bandhan poem for sister in hindi रक्षाबंधन पर बहन के लिए कविता। 

Raksha Bandhan Poem for Sister in Hindi

1- कच्चे धागों से बना ये राखी पक्की डोर है,

ये राखी प्यार और शरारतो का होड़ है,

लंबी लंबी दुआओं से भरा ये त्योहार,

भाई बहन के प्यार में सराबोर है।

बहन मांगे प्यार और दुलार,

नहीं चाहिए बड़ा बड़ा उपहार,

वो तो बस इतना चाहे की,

भाई का जगमगाता रहे,

खुशियों का संसार।

2- चन्दन की डोरी सावन के झूले,

ठंडी हवा का झोंका हो रहा है रिश्तो,

का अनूठा संगम आ गया राखी का त्यौहार।

बहन ने भाई को बांधा है प्यार,

कच्चा है धागा पर रिश्ते है पक्के,

यही होते है भाई-बहन के रिश्ते सच्चे।

कुछ-कुछ जोड़ कर

रख लिया है गुल्लक तोड़ कर

सिक्कों से एक गुड़िया सजाई है

इस राखी मैनें तेरे लिए तेरी पसंद की चुड़ियां लायी है।

3- कैसी भी हो एक

बहन होनी चाहिए….

बड़ी हो तो माँ – बाप

से बचाने वाली…..

छोटी हो तो हमारे…

पीठ पीछे छुपने वाली….

बड़ी हो तो चुपचाप हमारे

पॉकेट में पैसे रखने वाली…

छोटी हो तो चुपचाप पैसे

निकाल लेने वाली…

छोटी हो या बड़ी

छोटी – छोटी बातों

पे लड़ने वाली

एक बहन होनी चाहिए

खुद से ज्यादा हमे

प्यार करने वाली एक

बहन होनी चाहिये

4- जाति-धर्म के तोड़ता बंधन, फिर भी सबको है भाता।

कांटे भी खिलते फूलों से, जब रक्षाबंधन है आता।।

प्राणवायु नहीं दिखती फिर भी, जीवन उसी से है चलता।

बहन हो कितने दूर भी, फिर भी राज उसी का है चलता।।

जंजीरें भी जकड़ न पाएं, मन इतना चंचल होता।

पल में अवनि, पल में अंबर, पल में सागर में खोता।।

इतने चंचल मन को बांधा, इक रेशम के धागे ने,

हंसते-हंसते खुद बंध जाना, सबके मन को है भाता।

कांटे भी खिलते फूलों से, जब रक्षाबंधन है आता।

5- राखी का आज त्यौहार है

बहन भाई के लिए बहुत खास है

लाया खुशियों की बहार है

रेशम के धागे से बंधा प्यार है।

बहनें आज भाइयों को

कुमकुम का तिलक लगाती हैं

अपने प्यारे हाथों से

भाई को मिठाई खिलाती है।

भाई की सूनी कलाई पर

रेशम का धागा बांधती है

बदले में भाई से रक्षा का

अनमोल वायदा पाती है।

भाई भी सुंदर सुंदर तोहफे

बहनों के लिए लाते हैं

तोहफे में क्या मिलने वाला है

बहनें उत्सुक रहती हैं।

बहनें भी भाई की

सलामती की दुआ करती है

खुश रहो तुम सदा भैया

यही प्रार्थना करती है।

बहन भाई का एक दूसरे पर

होता अटूट विश्वास है

रेशम के धागे से ये

बंधा हुआ त्यौहार है।

6- रक्षाबंधन का है आया त्यौहार,

साथ में समेटे लाया खुशियों का बहार,

हमेशा यही दुआ करें हम,

प्यारे भैया खुश रहो हर दम।

लड़ना भी झगड़ना भी रिश्ते की है शान,

रूठना और मनाना इस रिश्ते का मान,

भाई बहन एक दूजे में बसती है जान,

पूरा करें भाई बहनो के अरमान।

यह त्यौहार कुछ खास है,

प्यारी बहना के हाथ में भैया का हाथ है,

बहना तेरी खुशी के लिए,

भाई तेरे हमेशा साथ है।

7- कच्चे डोर से बनी ये पक्की राखी है

रक्षा करूं आखरी सांस तक ऐसी डोर तूने बांधी है

वैसे तो रिश्ते हजार मिल जाते हैं निभाने को

पर दीदी लड़ने और प्यार करने के लिए तोहफे भी मेरे काफी हैं।

वो जो प्यार की डोर होती है

कुछ ना होकर भी हर ओर होती है

सजा दिए जाते हैं बाजार उन रंगीन धागों से

रक्षा की जो सबसे बड़ी छोर होती है।

याद आता है बचपन वो हमारा

बांधती थी मैं राखी सब से प्यारा

टूट जाते थे तेरे सारे गुल्लक

लाता था जब तू भेंट बहुत सारा।

बहन चाहे सिर्फ प्यार – दुलार,

नहीं माँगती बड़े उपहार,

रिश्ता बने रहे सदियों तक,

मिले भाई को खुशियां हज़ार |

आया राखी का त्यौहार,

छाई खुशियों की बहार,

एक रेशम की डोरी से बाँधा,

एक बहन ने अपने भाई की कलाई पर प्यार।

भाई बहन के प्यार का बंधन,

है इस दुनिया में वरदान

इसके जैसा दूजा कोई न रिश्ता

चाहें ढूंढ लो सारा जहान…

रक्षाबंधन की ढेर सारी शुभकामनाएं

8- हर सावन में आती राखी,

बहना से मिलवाती राखी…

चाँद सितारों की चमकीली,

कलाई को कर जाती राखी…

जो भूले से भी ना भूले,

मनभावन क्षण लाती राखी,

अटूट-प्रेम का भाव धागे से

हर घर में बिखराती राखी…

सारे जग की मूल्यवान

चीजों से बढकर भाती राखी.

सदा बहन की रक्षा करना,

भाई को बतलाती राखी.

Short Poem on Raksha Bandhan in Hindi | रक्षाबंधन पर छोटी सी कविता 

ऐसे कई लोग होते हैं, जिनकी बहनें नहीं होती और कई लड़कियां होती हैं, जिनके भाई नहीं होते। तो क्या रक्षाबंधन का त्योहार उनके लिए कोई मायने नहीं रखता? गलत सवाल, क्योंकि जिनके अपने भाई या बहन नहीं होते उन्हें ही इनकी सबसे ज्यादा कीमत पता होती है। दूर के रिश्ते का भाई या दूर के रिश्ते की बहन एक उम्र तक राखी तो बंधवा सकते हैं लेकिन उम्र भर का साथ नहीं दे सकते। मगर कई बार राखी का रिश्ता खून से न होकर दिल से भी जुड़ा होता है। अगर आपके भी कोई ऐसे भाई या बहन हैं, जिनसे आपका दिल का रिश्ता जुड़ा है तो उन्हें short poem on raksha bandhan in hindi रक्षाबंधन पर छोटी सी कविता या फिर very short poems on rakhi भेजकर खुश कर सकते हैं। 

Short Poem on Raksha Bandhan in Hindi

1- रिश्ते कई हैं दुनिया में

पर ये रिश्ता कुछ खास है

राखी के धागों संग बंधता

हाथों पर विश्वास है

बहन की खुशियों की खातिर

भाई जान भी देता वार

पूरे एक बरस में आता

राखी का त्यौहार।

रेशम के धागे में समेटे

भाई बहन का प्यार,

पूरे एक बरस में आता

राखी का त्यौहार।

2- बड़ा अनोखा ये प्रेम का बंधन

बहना मेरी मेरे घर का कुन्दन

धुप पुष्प का थाल सजाकर

आई करने को पूजन वन्दन

जुग – जुग जिये भैया मेरा

हर रोज लगाऊं दीप व् चंदन

मिले सफलता तुझे जहाँ में

जाएँ जहाँ भी तेरा हो अभिनन्दन

खुशियाँ ही खुशियाँ मिले तुझे बहना

न देखू तेरा कभी करुण क्रदन

मिलकर रहे दीप बहन-भाई

ये याद दिलाता हमे रक्षा बंधन

3- कैसी भी हो एक बहन होनी चाहिये

बड़ी हो तो माँ-बाप से बचाने वाली

छोटी हो तो हमारे पीठ पीछे छुपने वाली

बड़ी हो तो चुपचाप हमारे पॉकेट में पैसे रखने वाली

छोटी हो तो चुपचाप पैसे निकाल लेने वाली

छोटी हो या बड़ी छोटी-छोटी बातों पे

लड़ने वाली एक बहन होनी चाहिये

खुद से ज्यादा हमे प्यार करने वाली

एक बहन होनी चाहिये

4- अनोखे रगो मे रगा मेरा रक्षाबंधन इसान से

इसान के प्यार को समर्पित है मेरा रक्षाबधन,

अनोखे रंगों से रंगा है मैने मेरा रक्षाबधंन।

आओ हम सब मिलकर एक अनोखा पर्व मनाते है,

राखी के इस पावन पर्व को राष्ट्रीय पर्व बनाते है।

बाध के एक दूजे को राखी रक्षा का वचन उठाते है,

न उजड़े ससार किसी बहन का न बिखरे सपने किसी भाई के।

हाथो से हाथ मिलाकर मानव श्रखला बनाते है,

बेसहारा का सहारा बन राखी पर्व मानते है।

5- भाई बहन का शुभ दिन है आज

कलाई पर सजा है राखी का ताज

बहना की आँखों में है बहुत प्यार

भाई के हाथों मिलेगा आज उपहार

रक्षा करेगा भाई देता है वचन

यूं ही साथ रहेंगे हर जनम

आओ मिलकर खाएं हम मिठाई

रक्षा बंधन की सबको बधाई!

6- राखी आई खुशियाँ लाई

बहन आज फूली ना समाई

राखी, रोली और मिठाई

इन सब से थाली खूब सजाई

बांधे भाई की कलाई पर धागा

भाई से लेती है यह वादा

राखी की लाज भैया निभाना

बहन को कभी भूल ना जाना

भाई देता बहन को वचन

दुख उसके सब कर लेगा हरण

भाई बहन को प्यारा है

त्यौहार राखी का न्यारा है

7- धागा नहीं यह तो प्यारा का नाता है

तोहफे के लिए भी तो हम रोते हैं

फिर जाके मिठाई भी खिलाते हैं

नजर उतारते हैं हम यूं हीं

आरती की ताली से देख

प्यार के धागे होते हैं कोमल

हैं ये रिश्ते बचपन से

भैया मानो तो मेरी बात

मां -पापा का न छोडो साथ।

8- बड़ा अनोखा ये प्रेम का बंधन

बहना मेरी मेरे घर का कुन्दन

धुप पुष्प का थाल सजाकर

आई करने को पूजन वन्दन

जुग – जुग जिये भैया मेरा

हर रोज लगाऊं दीप व् चंदन

मिले सफलता तुझे जहाँ में

जाएँ जहाँ भी तेरा हो अभिनन्दन

खुशियाँ ही खुशियाँ मिले तुझे बहना

न देखू तेरा कभी करुण क्रदन

मिलकर रहे दीप बहन-भाई

ये याद दिलाता हमे रक्षा बंधन

Very Short Poems on Rakhi in Hindi | रक्षाबंधन की कविता

Very Short Poems on Rakhi in Hindi | रक्षाबंधन की कविता

1- एक रेशम का धागा भर नहीं,

एक हल्की सी गांठ ही नहीं…

राखी एक बहन का प्यार है,

ये कोई यूं ही दिन भर नहीं,

भाई बहन के बंधन का त्योहार है

2- भाई बहन का शुभ दिन है आज

कलाई पर सजा है राखी का ताज

बहना की आँखों में है बहुत प्यार

भाई के हाथों मिलेगा आज उपहार

रक्षा करेगा भाई देता है वचन

यूं ही साथ रहेंगे हर जनम

आओ मिलकर खाएं हम मिठाई

रक्षा बंधन की सबको बधाई!

3- हे रेशम के धागे तु मुझे प्यारा

मेरे भ्राता प्रेम का तु नजारा

भाई को कभी नाराज ना करना

सदा तु उसकी रक्षा करना

रक्षा करना उसकी हर कदम

बुरा समय हो या तूफानी मौसम

ताजीवन देना तु उसका साथ

इस आस से बाँधा तुझे उसके हाथ

4- जब मैं तुमसे रूठ जाऊं..

तो तुम मुझे मनाना..

जब-जब मैं रोऊँ..

तुम मुझे हंसाना..

मेरे भैया दूर ना जाना..

मुझसे तुम राखी बंधवाना..

5- राखी आई खुशियाँ लाई

बहन आज फूली ना समाई

राखी, रोली और मिठाई

इन सब से थाली खूब सजाई

बाँधे भाई की कलाई पे धागा

भाई से लेती है यह वादा

राखी की लाज भैया निभाना

बहना को कभी भूल ना जाना

6- भैया और बहना हैं एक दूजे का खजाना,

राखी में दोनों को प्रीत है निभाना,

मिलकर हँसी खुशी दोनों को,

है ये प्यारा सा त्यौहार मनाना।

मेरा भैया हमेशा सलामत रहे,

बस इतनी सी है रब से दुआएँ,

जब-जब आये ये राखी का त्यौहार,

मेरे भाई के जीवन में खुशी लाए।

7- राखी की इस रीत को उम्र भर निभाना तुम

दुनियादारी के चक्कर में, मुझे मत भूल जाना तुम

बेटी नहीं होती है पराई, ये बात माँ-बाबा को समझाना तुम

दहेज न कोई सामान देना तुम, मुझे तो मेरा स्वाभिमान देना तुम

8- बाज़ारों में राखी सजी है

अपनी भी कलाई में सजाने दो

रौनक हर जगह दिख रही है

मुझे भी उत्सव मनाने दो

नहीं चाहिए मेवे और उपहार बदले में,

तुम बस रक्षा का वचन निभाओ ना…

भैया तुम आ जाओ ना…

अगर आपको यहां दी गई poem on raksha bandhan in hindi रक्षाबंधन पर कविता पसंद आईं तो इन्हें अपने दोस्तों व परिवारजनों के साथ शेयर करना न भूलें। यहाँ पढ़ें बाल दिवस की गीत 

ये भी पढ़ें 

250 + Birthday Wishes For Brother In Hindi

भाई के साथ सबका रिश्ता ख़ास होता हैं और उनका जन्मदिन एक ऐसा मौका है जब आप उनको बता सकते हैं कि वो आपके लिए कितने ख़ास हैं

जानिए कैसा होता है भाई-बहन का रिश्ता 

अगर आपके पास एक छोटा भाई है तो आप कम लकी नहीं हैं। आप दोनों नोंक-झोंक करते, एक-दूजे से बराबरी करते हुए साथ बढ़ेंगे। 

भाई-बहन के लिए फनी बर्थडे विश

हम आपके लिए फनी बर्थडे विशेस लेकर आए हैं, जिन्हें आप अपने दोस्तों या भाई-बहन को भेज सकते हैं।

Sister Shayari in Hindi 

आप ये शायरी पनी बहन को भेज सकते हैं और उन्हें बता सकते हैं कि आप उनसे कितना प्यार करते हैं या फिर उन्हें कितना मिस कर रहे हैं। 

Bhai Dooj kab Hai

यहां जानिए कि साल 2022 में भाई दूज कब मनाया जाएगा।

09 Aug 2022

Read More

read more articles like this

Read More

read more articles like this
good points logo

good points text