home / Periods
20+ Period Jaldi Lane ka Upay | जानिए पीरियड जल्दी लाने का उपाय

20+ Period Jaldi Lane ka Upay | जानिए पीरियड जल्दी लाने का उपाय

पीरियड कोई समस्या या बीमारी नहीं बल्कि एक ऐसी आम प्रक्रिया है, जो महिलाओं में 13 साल की उम्र से लेकर लगभग 45 या 50 की उम्र तक चलती है। समाज में भले ही इसे टैबू की तरह माना जाता हो मगर समय के साथ लोगों के बीच इसकी जागरूकता और समझ बढ़ने लगी है। साथ ही टीवी पर आने वाले सैनिटरी पैड के विज्ञापनों के चलते अब इसके बारे में  खुलकर बात भी होने लगी है। पीरियड होना कोई समस्या नहीं है, समस्या है तो पीरियड का समय से न आना। सामान्य पीरियड अपने तय समय पर हर महीने दस्तक दे देते हैं मगर कई महिलाओं में पीरियड की अनियमितता भी देखने को मिलती है। घर की बड़ी-बुजुर्ग महिलाएं पीरियड्स जल्दी लाने के तरीके अक्सर सुझाती रहती हैं। अगर आपको भी पीरियड की अनियमितता से दो-चार होना पड़ता है तो हम आपके लिए पीरियड जल्दी लाने का उपाय (period jaldi lane ka upay) लेकर आये हैं।

पीरियड आने के लिए क्या खाना चाहिए | Periods Jaldi Lane ke Gharelu Nuskhe in Hindi 

अनियमित पीरियड्स को चिकित्सकीय रूप से ओलिगोमेनोरिया के रूप में जाना जाता है, जो महिलाओं में काफी आम समस्या है। वजन घटाने से लेकर आजकल की जीवनशैली के कारण कई महिलाओं में पीरियड देर से आने की समस्या उत्पन्न हो जाती है। अब सवाल यह उठता है कि रुका हुआ पीरियड कैसे आएगा। दरअसल, पीरियड न आना एक ऐसी समस्या है, जो आजकल काफी देखने को मिल रही है। इसके लिए मासिक धर्म खुलकर आने के उपाय तक आज़माती हुई नज़र आती हैं। मगर पीरियड लाने का उपाय घरेलू हो तो यह सबसे बेहतर रहता है। हम आपको बता दें कि भारतीय घर की रसोईं में ऐसी कई खजाने छिपे हैं, जिनके पास पीरियड जल्दी लाने का उपाय मौजूद हैं। इनमें से कुछ हम आपको यहां बता रहे हैं। जानिए पीरियड लाने का उपाय साथ ही जानिए पीरियड में पेट में दर्द के लिए घरेलू उपचार

Periods Jaldi Lane ke Gharelu Nuskhe in Hindi 
पीरियड आने के लिए क्या खाना चाहिए

अजवायन के पत्ते हैं पीरियड लाने का उपाय | Periods Jaldi Aane ke Liye Parsley

सदियों से मासिक धर्म लाने के लिए अजवायन के पत्तों का पारंपरिक रूप से उपयोग किया जाता रहा है। दरअसल, अजवायन के पत्तों में मौजूद दो पदार्थ अपिओल और मिरिस्टिसिन, गर्भाशय के संकुचन को उत्तेजित करते हैं, जिसके परिणामस्वरूप आपके मासिक चक्र का नियमित हो जाता है और पीरियड समय पर आते हैं। 

पपीता है पीरियड लाने का उपाय | Papaya Khane se Period Jaldi aata Hai

यह पीरियड्स को प्रीपोन करने के लिए उपलब्ध सबसे प्रभावी घरेलू उपचार है। कच्चा पपीता गर्भाशय में संकुचन को उत्तेजित करता है और पीरियड्स को जल्दी आने में मदद कर सकता है (papaya khane se period jaldi aata hai)। पपीते में मौजूद कैरोटीन एस्ट्रोजन हार्मोन को उत्तेजित करता है जिससे मासिक धर्म जल्दी आता है। पीरियड साइकिल के बीच में पपीते को कच्चा या पपीते के रस के रूप में दिन में दो बार सेवन किया जा सकता है। 

अदरक है पीरियड लाने का उपाय | Periods Jaldi Aane ke Liye Adrak 

अदरक की चाय सबसे शक्तिशाली इमेनगॉग में से एक है। इसके जादुई गुणों वाली जड़ी-बूटियां मासिक धर्म प्रवाह को उत्तेजित करती हैं, जिसके परिणामस्वरूप मासिक धर्म को बढ़ावा मिलता है, ऐसा माना जाता है कि अदरक गर्भाशय के आसपास की गर्मी को बढ़ाता है, जिससे संकुचन को बढ़ावा मिलता है। अदरक का सेवन चाय के रूप में या ताजा अदरक के रस में कुछ शहद के साथ या शहद के साथ कच्चे अदरक के रूप में किया जा सकता है। नियमित तिथि से कुछ दिन पहले एक कप ताजा अदरक का रस पानी के साथ रोज सुबह खाली पेट पिएं।

धनिये के बीज हैं पीरियड लाने का उपाय | Periods Jaldi Aane ke Liye Dhaniya ke Beej

धनिया के बीज अनियमित मासिक धर्म के लिए सबसे प्रभावी घरेलू उपचार माना जाता है क्योंकि इसमें इमेनैगॉग गुण होते हैं। इसके लिए 1 टीस्पून धनिया को 2 कप पानी में उबालें और तब तक उबालें, जब तक पानी कम होकर सिर्फ एक कप न हो जाए। अब इसे एक कप में छान कर पियें। अपनी पीरियड डेट के लगभग 3 दिन पहले से इसे दिन में कम से कम 2 बार पियें।  

सौंफ है पीरियड लाने का उपाय | Periods Jaldi Aane ke Liye Saunf

सौंफ को एक सुगंधित चाय बनाने के लिए पानी में उबाला जा सकता है, जिसका सेवन हर सुबह खाली पेट किया जाना चाहिए ताकि आपकी पीरियड की अवधि को नियंत्रित किया जा सके और स्वस्थ मासिक धर्म प्रवाह हो सके। इसके लिए एक गिलास पानी में 2 चम्मच सौंफ मिलाकर रात भर के लिए छोड़ दें। पानी को छानकर सुबह पी लें। 

सौंफ - Periods Jaldi Aane ke Liye Saunf
पीरियड आने के लिए क्या खाना चाहिए

मेथी है पीरियड लाने का उपाय | Periods Jaldi Aane ke Liye Methi

बात जब पीरियड्स जल्दी लाने के तरीके की होती है तो मेथी का नाम भी घरेलू उपाय की लिस्ट में शामिल किया जाता है। सिर्फ मेथी ही नहीं मेथी के बीज का सेवन भी विशेषज्ञों द्वारा मासिक धर्म को जल्दी लाने के लिए सलाह दी जाती है। इसके लिए मेथी के दानों को पानी में उबालकर पिएं।

तिल के बीज हैं पीरियड लाने का उपाय | Til ke Beej Period Jaldi Lane ke Gharelu Nuskhe

सीसम सीड्स, जिसे हिंदी में तिल के बीज के रूप में जाना जाता है, का सेवन आपके पीरियड की अवधि को नियमित करने के लिए किया जा सकता है, लेकिन उन्हें केवल कम मात्रा में ही खाना चाहिए क्योंकि वे आपके शरीर में बहुत अधिक गर्मी पैदा कर सकते हैं। गर्मी पैदा करने वाले इन बीजों को आपकी अपेक्षित तिथि से लगभग 15 दिन पहले रोजाना खाया जा सकता है ताकि आपको पीरियड पहले प्राप्त करने में मदद मिल सके। आप गर्म पानी के साथ दिन में दो बार एक चम्मच तिल भी ले सकते हैं। एक चम्मच तले हुए या सादे तिल दिन में 2-3 बार शहद के साथ लें।

विटामिन सी है पीरियड लाने का उपाय | Periods Jaldi Aane ke Liye Vitamin C

विटामिन सी, जिसे एस्कॉर्बिक एसिड भी कहा जाता है, आपके मासिक धर्म को नियमित कर सकता है। विटामिन सी आपके एस्ट्रोजन के स्तर को बढ़ा सकता है और प्रोजेस्टेरोन के स्तर को कम कर सकता है। इससे गर्भाशय सिकुड़ जाता है और गर्भाशय की परत टूट जाती है, जिससे पीरियड शुरू हो जाते हैं। खट्टे फल, जामुन, काले करंट, ब्रोकोली, पालक, ब्रसेल्स स्प्राउट्स, लाल और हरी मिर्च, और टमाटर सभी विटामिन सी के अच्छे स्रोत हैं। मगर ध्यान रहे बहुत अधिक विटामिन सी भी खतरनाक हो सकता है।

हल्दी है पीरियड लाने का उपाय | Haldi se Period Lane ke Upay

हल्दी एक और पारंपरिक उपाय है जिसे कुछ लोग इमेनगॉग मानते हैं। यही वजह है कि हल्दी खाने से पीरियड्स जल्दी आता है। यह एस्ट्रोजन और प्रोजेस्टेरोन के स्तर को प्रभावित करके काम करने वाला माना जाता है। हल्दी को अपने आहार में शामिल करने के कई तरीके हैं। आप इसे करी, चावल या सब्जी के व्यंजनों में मिला सकते हैं। या आप इसे गर्म पेय के लिए पानी या दूध में अन्य मसालों के साथ मिला सकते हैं। इसके अलावा एक गिलास पानी में एक चम्मच हल्दी उबालें और दिन में दो बार इसका सेवन करने से आपके पीरियड्स शुरू हो जाएंगे। 

गुड़ है पीरियड लाने का उपाय | Gur Khake Period Jaldi Kaise Laye

आपने अक्सर घर की बड़ी-बुजुर्ग महिलाओं को यह खतये सुना होगा कि गुड़ खाने से पीरियड आता है। इस मामले में वो काफी हद तक सही भी हैं। मगर पीरियड जल्दी लाने के लिए केवल गुड़ नहीं खाना चाहिए। गुड़ को अदरक, तिल और अजवायन के साथ मिलाकर सेवन करने  समय पर आते हैं। यह एक प्रभावी प्राकृतिक घरेलू उपचार होता है।

5 मिनट में पीरियड लाने का उपाय | 5 minute mai period lane ke gharelu upay

5 minute mai period lane ke gharelu upay
5 मिनट में पीरियड लाने का उपाय

वैसे तो 5 मिनट में पीरियड लाने का उपाय  गारंटी नहीं देता मगर प्रयास करना हमारा काम है। मासिक धर्म की समस्या और अनियमित माहवारी का घरेलू इलाज हमारे घर में ही छिपा है। बस ज़रुरत है तो उसे पहचानने और सही दिशा में इस्तेमाल करने की। 5 मिनट में मासिक धर्म लाने के घरेलू उपाय आज़माने के लिए आपको किसी कड़वी दवा को खाने की ज़रुरत नहीं है बल्कि  स्वादिष्ट फल के सेवन से ही आप ऐसा कर सकती हैं। जी हां, इस स्वादिष्ट फल का नाम है पाइनएपप्ल। पाइनएप्पल पीरियड्स को जल्दी लाने में मदद करता है। पाइनएप्पल ब्रोमेलैन का एक अच्छा स्रोत है। ब्रोमेलैन एस्ट्रोजन और दूसरे हार्मोन को प्रभावित करने का कार्य करता है। ब्रोमेलैन सूजन को कम करने में भी सहायक है। ऐसे में पाइनएप्पल का सेवन 5 मिनट में पीरियड लाने का उपाय बन सकता है।

रुका हुआ पीरियड लाने की दवा का नाम | periods jaldi lane ki medicine ka naam

कई महिलाओं में पीरियड हर महीने देर से आने की शिकायत बनी रहती है। बहुत बार तो यह समस्या पीरियड जल्दी लाने का उपाय अपनाकर दूर हो जाती है। मगर कई मामलों में घरेलू उपचार भी काम नहीं करते। ऐसे में बेहतर होगा आप पीरियड खुल के आने की टेबलेट का इस्तेमाल करें। इसके लिए अपनी डॉक्टर से संपर्क करें और उनके द्वारा सुझाई गई 5 मिनट में मासिक धर्म लाने की दवा लें। हम यहां आपको पीरियड लाने की टेबलेट के नाम के कुछ सुझाव दे रहे हैं।

Period Jaldi Lane Ki Medicine - पीरियड जल्दी लाने की मेडिसिन
रुका हुआ पीरियड लाने की दवा का नाम

प्रिमोलट-एन टैबलेट | Primolut-N Tablet

प्रिमोलट-एन टैबलेट का उपयोग मासिक धर्म की विभिन्न समस्याओं के इलाज के लिए किया जाता है, जिसमें पीरियड के दौरान होने वाला दर्द, पेट में भारीपन या अनियमित पीरियड्स, प्रीमेंस्ट्रुअल सिंड्रोम (पीएमएस) और एंडोमेट्रियोसिस नामक स्थिति शामिल है। यह प्राकृतिक महिला सेक्स हार्मोन प्रोजेस्टेरोन का मानव निर्मित संस्करण है। प्रिमोलट-एन टैबलेट भोजन के साथ या बिना भोजन किए इसे लिया जा सकता है, लेकिन बेहतर होगा आप इसे अपने डॉक्टर की सलाह के अनुसार ही लें। इस पीरियड लाने की टेबलेट price है, 52 रुपये।

रेजेस्ट्रोन 5mg टैबलेट | Regestrone 5mg Tablet

रेजेस्ट्रोन 5mg टैबलेट का उपयोग भी अनियमित पीरियड्स के लिए किया जा सकता है। प्रिमोलट-एन टैबलेट की तरह यह भी पीरियड्स की कई समस्याओं का एक इलाज है। ध्यान रहे आपको यह दवा तभी तक लेनी चाहिए जब तक यह आपको निर्धारित की गई हो। इसलिए इस दवा का सेवन डॉक्टर की सलाह के बाद ही करें। इस पीरियड लाने की टेबलेट price है, 46 रुपये।

प्रोजेस्टेरोन | Progesterone 

प्रोजेस्टेरोन एक हार्मोन है जो शरीर में स्वाभाविक रूप से होता है। यह गर्भावस्था में शामिल है और मुख्य रूप से अंडाशय में उत्पन्न होता है। पीरियड्स को लेन के लिए प्रोजेस्टेरोन दवा को कुछ खुराक में लिया जा सकता है लेकिन ध्यान रखें कि यह कुछ साइड इफेक्ट वाली हार्मोन की गोली है। इसलिए, बेहतर होगा कि आप स्वयं दवा न लें और इसके सेवन के लिए डॉक्टर से सलाह लें। इस पीरियड लाने की टेबलेट price है 340 रुपये। 

सस्टेन एसआर | Susten SR

सस्टेन एसआर 200 टैबलेट में प्रोजेस्टेरोन होता है, जो एक महिला हार्मोन है जो ओव्यूलेशन और मासिक धर्म के नियमन में महत्वपूर्ण है। इसका उपयोग उन महिलाओं में मासिक धर्म लाने का कारण बनने के लिए किया जाता है जो अभी मेनोपॉज़ तक नहीं पहुंची हैं, लेकिन शरीर में प्राकृतिक प्रोजेस्टेरोन की कमी के कारण मासिक धर्म नहीं हो रहा हैं। इस पीरियड लाने की टेबलेट price है 364 रुपये।

दवा खाने के बाद कितने दिन बाद पीरियड आता है | After how many days does the period come after taking the medicine?

After how many days does the period come after taking the medicine?
दवा खाने के बाद कितने दिन बाद पीरियड आता है

कई लड़कियां पीरियड्स न होने की दशा में डॉक्टर में संपर्क करती हैं या फिर इंटरनेट में देखकर दवा का सेवन कर लेती है। ये दवाएं आपको पीरियड जल्दी लाने में मदद करती हैं। मगर ऐसे में सवाल यह उठता है कि दवा खाने के बाद कितने दिन बाद पीरियड आता है | After how many days does the period come after taking the medicine? पीरियड्स आमतौर पर दवा लेने के 4 सप्ताह के भीतर फिर से शुरू हो जाता है, लेकिन यह इस बात पर निर्भर करता है कि आपका साइकिल सामान्य रूप से कैसा है। जहां कुछ लड़कियों को दवा लेने के कुछ घंटे के अंदर ही पीरियड का एहसास हो जाता है वहीं कुछ लड़कियों को 15 दिन या उससे ज्यादा का समय भी लग सकता है।

डिलीवरी के बाद पीरियड लाने के उपाय | Remedies to get period after delivery

Remedies to get period after delivery
डिलीवरी के बाद पीरियड लाने के उपाय

प्रेगनेंसी के 9 महीने काफी खुशनुमा होते हैं। जहां एक और अपने अंदर एक नई जिंदगी जन्म ले रही होती है वहीं दूसरी और ९ महीने तक पीरियड्स तक कोई चिंता नहीं होती। हालांकि डिलीवरी के बाद पीरियड्स की चिंता ज़रूर होती है और मन में बार-बार यह सवाल आता है कि डिलीवरी के बाद पीरियड लाने के उपाय (Remedies to get period after delivery) क्या हैं। आपको बता दें कि अगर आप शिशु स्तनपान नहीं करा रही हैं, तो आपकी अवधि आमतौर पर जन्म देने के लगभग छह से आठ सप्ताह बाद वापस आ जाएगी। यदि आप स्तनपान कराती हैं, तो मासिक धर्म वापस आने का समय अलग-अलग हो सकता है। अब बात करते हैं उपाय की तो विटामिन सी, जिसे एस्कॉर्बिक एसिड भी कहा जाता है, आपके मासिक धर्म को लाने के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है। ऐसा माना जाता है कि विटामिन सी आपके एस्ट्रोजन के स्तर को बढ़ा सकता है और प्रोजेस्टेरोन के स्तर को कम कर सकता है। इससे गर्भाशय सिकुड़ जाता है और गर्भाशय की परत टूट जाती है, जिससे मासिक धर्म शुरू हो जाता है।

पीरियड लाने का उपाय yoga | period jaldi lane ke yoga aur Exercises

ऐसा माना जाता है कि पीरियड के समय एक्सरसाइज नहीं करनी चाहिए। ये सही भी है। दरअसल, पीरियड के दौरान शरीर को पूर्ण आराम की जरूरत होती है। इस वजह से उन 5 दिनों में एक्सरसाइज न ही की जाये तो बेहतर है। वहीं अगर आप पीरियड की अनियमितता से गुजर रही हैं तो कुछ चुनिंदा एक्सरसाइज या योगासन पीरियड जल्दी लाने का उपाय बन सकते हैं। अगर आपको एक्सरसाइज करना पसंद नहीं है तो ऐसे में आप योग का सहारा भी ले सकती हैं। हम यहां आपको पीरियड लाने का उपाय yoga के बारे में बता रहे हैं।

मत्स्यासन | Matsyasana 

Matsyasana
मत्स्यासन

जमीन पर अपनी पीठ के साथ फ्लैट लेट जाओ। अपनी बाहों को अपने कूल्हों के नीचे रखें, अपनी कोहनी कमर को छूते हुए। दोनों पैरों को मोड़ें, उन्हें क्रॉस-लेग्ड मुद्रा में लाएं, घुटनों, जांघों को अभी भी फर्श को छूते हुए। श्वास लें और अपने ऊपरी शरीर को ऊपर उठाएं, फिर सिर के पिछले हिस्से को कुछ मिनट के लिए इस मुद्रा में रखें, फिर सांस छोड़ें और धड़ को आराम दें।

अधो मुख संवासन | Adho Mukha Svanasana

Adho Mukha Svanasana
अधो मुख संवासन

अपने आप को चारों अंगों पर संतुलित करें, अपनी बाहों को सीधा रखते हुए, अपने सिर को सामने की ओर रखते हुए, अपने घुटनों को मोड़ें और अपने निचले पैरों को एक टेबल के समान जमीन पर फैलाएं। सांस छोड़ते हुए धीरे-धीरे अपने कूल्हों को ऊपर उठाएं, अपनी बाहों, कोहनियों को सीधा करते हुए वी-आकार की संरचना बनाएं। अपनी बाहों को फैलाएं, अपने शरीर को और ऊपर उठाएं, कुछ मिनट के लिए मुद्रा को पकड़ें, फिर धीरे से आराम करें और वापस टेबल की स्थिति में आ जाएं।

धनुरासन | Dhanurasana

Dhanurasana
धनुरासन

जमीन पर लेट जाएं, आपका पेट फर्श को छू रहा है, पैर थोड़ा अलग हो गए हैं और हाथ शरीर के साथ-साथ फैल गए हैं। अपने निचले पैरों को उठाएं, उन्हें अपने हाथों से अपनी एड़ियों को पकड़कर स्थिर रखें। गहरी सांस लेते हुए अपनी छाती और पैरों को सतह से ऊपर उठाएं। इस तरह से अधिक से अधिक सेकंड तक रहें, फिर धीरे-धीरे अपने ऊपरी शरीर और पैरों को वापस फर्श पर ले आएं।

उष्ट्रासन | Ustrasana

Ustrasana
उष्ट्रासन

फर्श पर घुटने टेकें, एड़ियों को सपाट और ऊपर की ओर, हाथों को कूल्हों पर रखते हुए। सुनिश्चित करें कि घुटने और कंधे एक सीध में हों। गहरी सांस लें, फिर अपनी पीठ को मोड़ें, संतुलन के लिए अपने पैरों को अपने हाथों से पकड़ें। एक मिनट के लिए इस मुद्रा को बनाए रखें, फिर धीरे-धीरे अपनी पीठ को एक सीधी स्थिति में लाएं, साथ ही पैरों और हाथों को भी आराम दें।

मालासन | Malasana

Malasana
मालासन

अपने आप को एक आरामदायक स्क्वाट स्थिति में फर्श पर रखकर शुरू करें, जमीन पर ऊँची एड़ी के जूते के साथ, जांघें अलग-अलग और पैर एक-दूसरे के करीब हों। सांस छोड़ें, फिर शरीर को आगे की ओर झुकाएं, ताकि आपका धड़ जांघों के बीच में फिट हो जाए। हाथों को मोड़ें, कोहनियों को भीतरी जांघों पर रखें, कुछ दबाव डालें। अपनी बाहों को घुमाएं, अपनी एड़ी को थोड़ा ऊपर उठाएं, फिर धीरे-धीरे स्क्वाट की स्थिति में वापस आएं और आराम करें।

पीरियड्स में होने वाले दर्द को कम करने के प्रोडक्ट्स | Products to reduce period pain in Hindi

पीरियड दर्द कम कैसे करें यह हम में से अधिकतर महिलाओं के लिए समझ पाना कई बार मुश्किल हो जाता है क्योंकि हम में से कुछ महिलाओं के पेट में पीरियड्स के दौरान भयंकर दर्द होता है, जो दवाई खाने के बाद भी सही नहीं होता है और इस वजह से हम यहां आपके लिए कुछ ऐसे प्रोडक्ट्स लेकर आए हैं, जिनकी मदद से आपको पीरिडय पेन (periods pain relief home remedies in hindi) से आराम मिल सकता है।

Sirona पीरियड पेन रिलीफ पैच

सिरोना के इस पीरियड पेन रिलीफ पैच को कैरी करना और इसका इस्तेमाल करना दोनों ही बहुत आसान है। इसके लिए आपको केवल पैच पर से स्टिकिंग को हटाना है और अपने लॉवर पेट पर चिपका लेना है। यह पैच 8 घंटों तक काम करता है और पीरियड्स में होने वाले दर्द को कम करता है।

Feminine क्रैम्प रिलीफ रोल ऑन

यदि आप पैच का इस्तेमाल नहीं करना चाहती हैं तो आप पीसेफ के क्रैम्प रिलीफ रोल ऑन को भी लगा सकती है। यदि पीरियड्स में आपको दर्द होता है तो आपको केवल रोल-ऑन को दर्द वाली जगह पर लगाना है और कुछ ही वक्त में आपको दर्द से आराम मिलने लग जाएगा।

पीरियड जल्दी लाने को लेकर पूछे जाने वाले सवाल-जवाब – FAQ’s

सवाल- पीरियड कितने दिन लेट हो सकता है?

जवाब- पीरियड 15 दिन से लेकर 28 दिन तक लेट हो सकता है। 

सवाल- पीरियड आने के लिए क्या खाना चाहिए?

जवाब- पीरियड आने के लिए आप पीपता सहित गुड़ व विटामिन सी का सेवन कर सकती हैं।

सवाल- 2 महीने पीरियड ना आए तो क्या करें?

जवाब- 2 महीने पीरियड ना आएं तो तुरंत अपने डाॅक्टर से इस बारे में परामर्श करें।

सवाल- पीरियड्स रुकने का क्या कारण है?

जवाब- पीरियड्स रुकने के कई कारण हो सकते हैं। जैसे- तनाव भरी जीवनशैली, स्मोकिंग, शराब या सेहत ठीक न होने के अलावा गर्भ धारण करने से भी पीरियड्स रुक जाते हैं।  

हम उम्मीद करते हैं कि पीरियड पेन रिलीफ और पीरियड्स जल्दी लाने के नुस्खों पर हमारा यह आर्टिकल आपको पसंद आया होगा। साथ ही यहां दिए गए नुस्खों से आपकी मदद भी हुई होगी।

यह भी पढ़ें:
ये 10 घरेलू तरीके आपको देंगे पीरियड के दर्द से राहत – पीरियड पेन रिलीफ के लिए ये टिप्स आपके काम आएंगी।
जानिए कैसे होती है मासिक धर्म चक्र प्रक्रिया – पीरियड साइकिल के बारे में आपको यहां अधिक जानकारी मिल जाएगी।
पीरियड के दौरान दिखना चाहती हैं खुश तो फॉलो करें ये एक्सपर्ट Tips – पीरियड्स में खुश रहने के लिए ये टिप्स काम आएंगी।
मासिक धर्म में अधिक रक्तस्राव को कम करने के उपाय
जानिए पीरियड्स (मासिक धर्म में अधिक रक्तस्राव को कम करने के उपाय) के दौरान होने वाली ब्लीडिंग को कम करने के उपाय, तरीकों और नुस्खों के बारे में

23 Oct 2021

Read More

read more articles like this

Read More

read more articles like this
good points logo

good points text