Advertisement

वेलनेस

मुंह में छाले ठीक करने के लिए घरेलू नुस्खे, कारण और उपचार – Muh ke Chalo ka Gharelu Upay

Archana ChaturvediArchana Chaturvedi  |  Jan 21, 2021
Muh ke Chalo ka Gharelu Upay, Mouth Ulcer in Hindi, जीभ पर छाले

Advertisement

मुंह के छाले में होने वाला दर्द बेहद असहनीय होता है और ये वहीं महसूस कर सकता है जिसे कभी मुंह में छाले हुए हों। इसकी समस्या अधिकतर गर्मियों में होती है। कुछ भी खाने-पीने से मुंह के छालों का दर्द और ज्यादा बढ़ जाता है साथ ही अजीब-सी झनझनाहट भी महसूस होने लगती है। यह एक आम समस्या है और अपने आप 1-2 हफ्तों में ठीक हो जाती है। लेकिन इस बीच छाले की वजह से होने वाले दर्द से बचने के लिए न जाने हम क्या नहीं करते हैं। जितने लोग उतनी सलाह दी जाती हैं, लेकिन कोई ये नहीं बताता कि मुंह के छालों से आराम कैसे मिल सकता है (muh ke chalo ka gharelu upay)। आपकी इसी समस्या का हल हम इस लेख के तौर पर आपके लिए लेकर आये हैं। यहां हम आपको मुंह में छाले होने के कारण, मुंह के छाले की अंग्रेजी दवा (chhale ki dawai) से लेकर के मुंह के छाले के उपाय तक सब बातयेंगे, ताकि ये जानकारी आपके काम आ सके।

मुंह में छाले होना क्या है – What is Mouth Ulcer in Hindi

मुंह के छालों को कोल्ड सोर, अल्सर या तालू में होने वाला नासूर / घाव (canker sores) भी कहा जाता है। ये तरल पदार्थ से भरे छोटे-छोटे घाव या फफोले जैसे होते हैं, जो आमतौर में जीभ पर, होंठों पर व उसके आसपास या मुंह के अंदर गाल पर होते हैं। ये छोटे, गोल अल्सर जैसे होते हैं जो लाल, पीले या भूरे रंग के हो सकते हैं। मुंह के छाले एक तरह से संक्रामक वायरस के कारण होते हैं, जिसे हर्पीस सिम्प्लेक्स वायरस (एचएसवी) कहा जाता है। साथ ही छालों से निकलने वाले तरल के माध्यम से एक व्यक्ति से दूसरे में फैल सकते हैं। 

मुंह में छाले कितने प्रकार के होते हैं? – Types of Mouth Ulcer in Hindi

आमतौर पर मुंह के छाले को तीन वर्गों में बांटा जाता है, जोकि कुछ इस प्रकार हैं। आइए जानते हैं उनके बारे में –

Types of Mouth Ulcer in Hindi

  1. नॉर्मल मुंह के छाले – ये मुंह के छाले के सबसे आम प्रकार हैं और आमतौर पर साल में तीन या चार बार होते हैं। ये 10 से 20 साल की आयु वर्ग में सबसे अधिक होते हैं और 1 सेंटीमीटर से कम व्यास के होते हैं। इस तरह के मुंह के छाले एक सप्ताह के भीतर ठीक हो जाते हैं जिसमें कोई दाग नहीं होता है।
  2. बड़े मुंह के छाले – इस तरह के बड़े छाले बहुत कम लोगों को ही होते हैं। येइनका आकार 10 मिलीमीटर से  अधिक होता है। इन को ठीक होने में 15 दिन से 1 या दो महिनों तक का भी समय लग सकता है। यह बहुत गहरे तक हो जाते हैं और ठीक होने पर निशान छोड़ हैं।
  3. हेरपेटिफोर्म मुंह के छाले – ये दुर्लभ होते हैं और छोटे अल्सर के ग्रुप के रूप में दिखाई देते हैं। आमतौर पर इस तरह के छालों को ठीक होने में  2 सप्ताह या उससे ज्यादा का समय भी लग जाता है।

माउथ अल्सर के लक्षण – Symptoms of Mouth Ulcer in Hindi

माउथ अल्सर यानि मुंह के छाले अक्सर गालों के अंदर की सतह पर, जीभ पर छाले, होंठ के अंदर की ओर नर्म भाग में, मसूड़ों में और मुंह के तालू में छाले होते हैं। किसी दूसरी तरह की बीमारी की तरह ही मुंह के छालों के भी लक्षण शरीर में कुछ दिन पहले से ही संकेत देने लगते हैं। आइए जानते हैं माउथ अल्सर के लक्षण के बारे में ताकि इन्हें नजरअंदाज न करके समय पर इसका इलाज (muh ke chale kaise thik kare) कर इससे आराम पा सकें।
  • खट्टे या फिर नमकीन चीजें खाने पर मुंह में दर्द होना
  • कब्ज की शिकायत हो जाना।
  • भूख न लगना।
  • शरीर का तापमान बढ़ना।
  • मुंह के अंदरूनी हिस्से में दर्द महसूस होना।
  • बोलने व खाना निगलने व चबाने पर परेशानी होती है।
  • मुंह या होंठ में सूजन आना
  • गले में कांटेदार चुंभन होना।

मुंह में छाले होने के कारण – Mouth Ulcer Causes in Hindi

मुंह में छाले होना जाना एक आम समस्या है, जिससे लोगों को अपने जीवन काल में कभी न कभी एक बार सामना करना पड़ता है। कई शोध होने के बाद भी मुंह में छाले (muh ke chhale) होने के कारण का पता नहीं चल सका है। क्योंकि कई एक्सपर्ट्स का मानना है कि किसी एक कारण से नहीं बल्कि इसके लिए कई वजहें जिम्मेदार हो सकती हैं। तो आइए जानते हैं मुंह में छाले किन-किन कारणों से हो सकते हैं – 
  • जेनेटिक हिस्ट्री 
  • पेट का खराब रहना
  • खराब लाइफस्टाइल
  • अत्यधिक तनाव
  • कब्ज
  • तंबाकू और सिगरेट का सेवन
  • कमजोर इम्यूनिटी सिस्टम
  • मुंह के कैंसर के कारण 
  • छाले से संक्रमित व्यक्ति का छूटा खाने से
  • अपने फटे होंठो को जीभ से छूना
  • विटामिन-सी की कमी के कारण

मुंह में छाले के उपाय – Muh ke Chalo ka Gharelu Upay

जीभ पर छाला, मुंह में सफेद छाले (muh me safed chale), मुंह में सफेद घाव या फिर मुंह के तालू में छाले हो गये हैं और इसका दर्द सहन नहीं हो रहा है तो ज्यादा परेशान मत हो। बस नीचे दिये गये इन तरीकों से मुंह के छाले के उपचार करें। ये मुंह में छाले ठीक करने के लिए घरेलू नुस्खे इस्‍तेमाल के लिए बिल्कुल सही हैं और इनका कोई साइड इफेक्‍ट भी नहीं होता है। तो आइए जानते हैं मुंह के छाले ठीक करने के घरेलू उपाय (mouth ulcer home remedies in hind) के बारे में – 

Muh ke Chalo ka Gharelu Upay

फिटकरी मुंह के छाले

जीभ के छाले मिटाने के उपाय के लिए फिटकरी सबसे सही है। इससे दर्द में तुरंत राहत मिल जाती है। फिटकरी को जीभ पर दिन में 2 बार लगाएं। इस बात को ध्यान में रखें कि फिटकरी लगााते समय आपको जलन हो सकती है। इसीलिए इसे लगाकर लार को नीचे टपकने दें। 

मुंह के छाले में टमाटर 

अगर किसी को मुंह में छाला है तो उसे टमाटर का सूप या फिर कच्चा टमाटर जरूर खाना चाहिए। क्योंकि छालों के लिए टमाटर औषधि का काम करती है। यही नहीं टमाटर के रस को पानी में मिलाकर कुल्ला करने से भी मुंह के छाले खत्म (muh ke chalo ka gharelu upay) हो जाते हैं। 

बेकिंग सोडा है फायदेमंद

मुंह में सफेद छाले या फिर जीभ के छालों में तुरंत आराम पाने के लिए बेकिंग सोडा का इस्तेमाल करें। ये दर्द वाली जगह को सुन्न कर देता है जिससे तुरंत आराम मिल जाता है। बस इसके लिए बेकिंग सोडा में पानी मिलाकर पेस्ट बनाएं और उसे छालों पर लगाएं।

नारियल का तेल लगाएं

नारियल के तेल का औषधीय गुण जीभ के छाले के उपचार में बहुत सहायक होता है। क्योंकि ये एक एंटीफंगल ऑयल होता है। इसमें जो एलिमेंट्स होते हैं वह मुंह के छालों को खत्म करते हैं। नारियल के तेल को रुई की सहायता जीभ पर छाले में लगाएं।

मुंह के छालों के लिए टी ट्री ऑयल

टी ट्री ऑयल बैक्टीरियल इंफेक्शन की समस्या को कुछ समय में ही दूर कर देता है। कॉटन में थोड़ा सा टी ट्री ऑयल लेकर मुंह के छालों वाली जगह पर लगाएं। ऐसा दिन में 3-4 बार करें। कुछ ही दिनों में आपको मुंह के छालों से छुटकारा (muh ke chale kaise thik kare) मिल जाएगा।

Muh ke Chalo ka Gharelu Upay

पिपरमिंट तेल मुंह के छालों के लिए

पिपरमिंट का तेल मुंह के छाले से होने वाले दर्द (muh ke chale) को छूमंतर कर देता है और इसके लगातार उपयोग से छाले कम हो सकते हैं। दिन में 2-3 बार रूई को पिपरमिंट ऑइल में भिगोकर छाले पर लगाएं। 

छाले मिटाने के लिए एलोवेरा जेल 

एक स्टडी में यह बात सामने आई है कि एलोवेरा जेल में मौजूद बायोएक्टिव घटक एंटी-एचएसवी1 की तरह काम कर सकते हैं। इसीलिए आप घर एलोवेरा को मुंह के छाले के उपचार के तौर पर उपयोग में ला सकते हैं। बस इसके प्रभावित जगह पर फ्रेश एलवोरे जल लगाएं।

मुंह के छालों में हल्दी

हल्दी में एंटीसेप्टिक गुण पाए जाते हैं जिसकी वजह से ये मुंह के छाले ठीक करने में फायदेमंद है। हल्दी में पानी मिक्स कर पेस्ट के रूप में तैयार कर लें और इसे छालों पर लगाएं। 10 से 12 मिनट बाद पानी से कुल्ला कर लें। तुरंत आराम मिलेगा। अगर इसमें ताजी हल्दी की गांठ का इस्तेमाल करें तो ज्यादा बेहतर रहेगा।

तुलसी से छाले होंगे ठीक

तुलसी में एंटी-इंफ्लामेट्री, एंटी-बैक्‍टीरियल और एंटीसेप्टिक गुण होते हैं। दिन में कम से कम दो बार चार- पांच पत्ते तुलसी के खाने से मुंह के छाले जल्दी ठीक हो जाते हैं और साथ छालों की वजह से होने वाले दर्द में भी आराम मिलता है।

जीभ के छाले का घरेलू उपचार

जब जीभ पर छाले होते हैं तो ये मुंह के छालों से भी ज्यादा दर्दनाक होते हैं और पूरे समय अखरते रहते हैं। बार-बार दांत लग जाने से इनकी स्थिति और भी ज्यादा खराब हो जाती है। वैसे जीभ के छाले ठीक करने का घरेलू उपाय (mouth ulcer home remedies in hindi) बेहद कारगर साबित होते हैं। इन्हें अपना कर आप जीभ के छालों से तुरंत आराम पा सकते हैं। तो चलिए इन नुस्खों के बारे में जानते हैं – 

muh ke chale kaise thik kare

  1. लौंग सूजन-रोधी और बैक्‍टीरिया-रोधी गुणों से युक्‍त होता है। इससे जीभ के छाले ठीक करने के लिए एक कप गर्म पानी में लौंग के तेल की 3 से 4 बूंदें डालें और इस मिश्रण से कुल्‍ला करें। 
  2. एक कटोरी में गरम पानी डालें और उसमें 2 चम्मच एप्पल साइडर विनेगर और एक चम्मच शहद डालें। और इससे कुल्ला करें। दिन में ऐसा 2 बार करने से जीभ के छाले जल्दी ठीक हो जायेंगे।
  3. जीभ के छालों से छुटकारा पाने के लिए आप उस पर दही लगा लें। क्योंकि दही आपकी बॉडी में प्रोबायोटिक्स को बूस्ट करता है। यह सेहतमंद बैक्टीरियाज के प्रोडक्शन को बढ़ाता है। इससे आपको मुंह या जीभ में छाले नहीं होते हैं। 
  4. जीभ के छालों से राहत पाने के लिए खाना खाने के बाद गुड़ चूसने की सलाह दी जाती है। क्योंकि 
  5. एक गिलास में गुनगुना पानी लें और उसमें 1 चम्मच सेंधा नमक मिलाएं। इससे मुंह में भर के धीरे-धीरे घुमाएं और कुल्ला करें। पूरे दिन में 3 से 4 बार करने से आराम मिलेगा।
  6. लहसुन की कली को पानी के साथ पीसकर उसमें थोड़ा-सा देसी घी मिलाकर मलहम तैयार करें। इस मरहम को लगाने से जीभ के छाले खत्म हो जाते हैं
  7. अमरूद के पत्ते मुंह के छाले के उपचार में इस्तेमाल किये जाते हैं। अमरूद के पत्तों में कत्था मिलाकर पान की तरह चबाने से जीभ के छालों में राहत (muh ke chale ka ilaj) मिलती है और इस समस्या से छुटकारा भी।

मुंह में छाले की दवा

टेबलेट या गोली की जरूरत तभी होती है जब मुंह के छालों की स्थिति बहुत अधिक गंभीर हो गई हो और इन छालों में क्रीम आदि का कोई असर नहीं हो रहा हो। मुंह के छाले के उपचार के लिए मार्केट में बहुत सी ओरल जेल, ट्यूब और मुंह के छाले की अंग्रेजी दवा आती हैं। किसी ईएनटी स्पेशलिस्ट की सलाह से आप मुंह के छाले ठीक करने के लिए दवाई ले सकते हैं। वैसे यहां हम आपको मुंह के छाले की अंग्रेजी दवा, आयुर्वेदिक दवा और कुछ होम्योपैथिक दवा का नाम बता रहे हैं, जिन्हें आमतौर पर मुंह के छाले की परेशानी से छुटकारा पाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। तो आइए जानते हैं मुंह के छाले की दवा (muh me chale ki dawa) के बारे में – 
 

chhale ki dawai

मुंह के छाले की होम्योपैथिक दवा

अगर आप मुंह के छाले की होम्योपैथिक दवा का नाम (chhale ki dawai) का नाम खोज रहे हैं तो आप सही जगह हैं। आमतौर पर मुंह के छालों के लिए नाइट्रिक एसिड दवा जाती है। वहीं बोरेक्स, मर्कसोल, हीपरसल्फ, नाइट्रिक एसिड, ल्यूकेरिया, सल्फर युक्त कुछ प्रमुख दवाएं भी मुंह के छालों को ठीक करने के लिए जाती हैं।

मुंह के छाले की अंग्रेजी दवा का नाम

मुंह के छाले की समस्या को ठीक करने के लिए ज्यादातर डॉक्टर इन मरीजों को बीकासूल (Becosules), रीनेफॉल (rinifol), ऑटोरेक्स (Otorex), न्यूरोबियन फोर्ट (Neurobion Forte) आदि दवाएं लिखते हैं। साथ में पने रिलिफ के तौर पर ओरासेप जेल (orasep gel) दिन में 3 बार लगाने की सलाह देते हैं।

मुंह के छाले की देसी दवा

मुंह के छाले की देसी दवा (muh me chale ka ilaj)के तौर पर मुलेठी, त्रिफला का चूर्ण और शहद का इस्तेमाल किया जाता है। मुंह के छाले की पतंजलि की दवा कोई नहीं आती है। लेकिन इस समस्या से दूर रहने के लिए नियमित तौर पर आंवले और एलोवेरा जूस पीने और दिव्य सुजलम का सेवन करने की सलाह दी जाती है।

मुंह के छाले के उपचार से जुड़े सवाल-जवाब

बार-बार मुंह में छाले क्यों पड़ते हैं?

बार-बार मुंह में छाले पड़ने के कई कारण हो सकते हैं। वैसे आमतौर पर पेट की बीमारी या पेट में गर्मी होने के कारण भी मुंह में छाले हो जाते हैं।

मुंह के छाले को ठीक होने में कितना वक्त लग सकता है?

वैसे मुंह का छाला 1 से 2 हफ्ते के अंदर ही ठीक होने लगता है। अधिकतम तीन सप्ताह तक समय ले सकता है। अगर इससे ज्यादा समय लग रहा है मुंह के छाले ठीक होने में तो ये चिंता का विषय हो सकता है।

क्या मुंह छाला होना एक तरह का कैंसर होता है?

मुंह में सफेद छालों का ज्यादा समय तक रहना और उनमें घाव होना ओरल कैंसर के शुरुआती लक्षण हो सकते हैं।

रात भर में मुंह का छाला कैसे ठीक करें?

आमतौर पर रात भर में मुंह का छाला ठीक करना संभव नहीं है। लेकिन फिटकरी और गर्म पानी के कुल्ले से इसे बढ़ने से रोका जा सकता है।

मुंह में छाले होने पर क्या नहीं खाना चाहिए?

मुंह में छाले होने पर तीखा, मीठा और गर्म चीजें नहीं खानी चाहिए। इससे मुंह के छालों का दर्द और भी ज्यादा बढ़ सकता है।

जीभ पर छाले कैसे ठीक करें?

जीभ पर छाले को ठीक करने के लिए उस पर ओरल सोर रिलिवर ट्यूब लगा सकते हैं। वहीं जीभ के छाले ठीक करने का घरेलू उपाय करना है तो देसी घी को इस्तेमाल करें। जल्द ही आराम मिलता है।

ये भी पढ़ें-

गुलकंद खाने के फायदे और नुकसान