Dry Skin

जानिए ब्यूटी से जुड़े 10 सबसे बड़े मिथक और उनकी सच्चाई

Archana ChaturvediArchana Chaturvedi  |  Aug 4, 2020
जानिए ब्यूटी से जुड़े 10 सबसे बड़े मिथक और उनकी सच्चाई

अपनी स्किन और बालों की केयर को लेकर ज्यादातर लोग लापरवाह ही होते हैं। जब कंडीशन बिगड़ने लगती है तो दूसरों की सलाह पर घरेलू नुस्खे और तमाम तरह के पैतरे आजमाने लगते हैं। ब्यूटी के मामले में कई बार सुनी-सुनाई बातें नुकासनदायक भी साबित हो जाती हैं। क्योंकि हर किसी की स्किन अलग टाइप की होती है और हर चीज का असर सब पर अलग-अलग तरह होता है। इसीलए स्किन और बालों के मामले में किसी भी तरह के भ्रम या मिथक पर भरोसा नहीं करना चाहिए।

ब्यूटी मिथक और उनकी सच्चाई Beauty Facts and Myths in HIndi

ऐसा बिल्कुल भी जरूरी नहीं है कि आपके दोस्त और जानकर आपको स्किन और बालों से जुड़ी जो सलाह दे रहे हैं या फिर कोई एक्सपेरिमेंट करने के लिए कह रहे हैं वो सही ही हों। कई बार बिना सच जाने किसी बात को मान से लेने से अंत में पछतावा ही होता है। खासतौर पर स्किन केयर के मामले में आधी-अधूरी जानकारी से काम नहीं चलता है, इसीलिए हकीकत या फैक्ट जरूर पता होना चाहिए। यहां हम आपको उन सामान्य ब्यूटी मिथ्स के बारे में बता रहे हैं, जिन्हें ज्यादातर लोग सही मानते हैं और उनकी बिना सच्चाई जानें ही फॉलो भी करते रहते हैं। तो आइए जानते हैं ब्यूटी से जुड़े मिथ और उनके फैक्ट्स के बारे में – 

1. मिथक – ज्यादा मेकअप करने की वजह से होते हैं मुहांसे
सच्चाई – कील-मुहांसे शरीर में होने वाली गड़बड़ियों की वजह से होते हैं न कि मेकअप प्रोडक्ट्स ज्यादा इस्तेमाल करने से होते हैं। लेकिन अगर आप खराब या एक्सपायर्ड मेकअप प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल कर रही हैं तो आपको स्किन से जुड़ी कई समस्याएं भी हो सकती हैं।
2. मिथक – बालों को रोजाना या हफ्ते में 5 बार धुलना चाहिए
सच्चाई – बहुत से लोगों को इस बात की गलतफहमी है कि रोजाना बाल धोने से वो हेल्दी और साफ रहते हैं। जबकि ऐसा करने से आप बालों को उनके नैचुरल ऑयल से वंचित कर रही हैं। ऐसा करने से सामान्य बालों की तुलना में ज्यादा नुकसान होता है।
3. मिथक – ड्राई स्किन वालों के चहेरे पर जल्दी झुर्रियां पड़ती हैं
सच्चाई –  ड्राई और ऑयली स्किन से झुर्रियों का कोई लेना-देना नहीं है। झुर्रियों का होना कोलेजन के निकलने से होता है और वो किसी भी तरह की स्किन पर आ सकता है। 
 

4. मिथक – एक सफेद बाल तोड़ने से ये और भी ज्यादा होते हैं।
सच्चाई –  इस बात का जवाब तो साइंस के पास भी नहीं है कि सफेद बाल तोड़ने से ये बढ़ते भी हैं या नहीं। वैसे भी सफेद बालों का तोड़ना को हल नहीं है। इस समस्या से निजात पाने के लिए इन्हें तोड़ें नहीं बल्कि कलर करें।
5. मिथक – आई ब्रो शेट करते समय शीशे के एकदम नजदीक होना चाहिए
सच्चाई – ज्यादा नजदीक से आई ब्रो बनाने से आपको हर बाल नजदीक से दिखाई देता है बजाय कि पूरी शेप के। इससे आई ब्रो की शेप बिगड़ सकती है। इसीलिए शीशे का इस्तेमाल थोड़ा दूर रहकर करें जहां से आपका चेहरा पूरा दिखाई दे। 

6. मिथक – सनस्क्रीन का इस्तेमाल सिर्फ गर्मियों में ही किया जाता है।
सच्चाई – ये बात पूरी तरह से गलत है कि सनस्क्रीन सिर्फ गर्मियों में ही धूप से हमरी स्किन को होने वाले बुरे प्रभावों से बचाती है। जबकि सनस्क्रीन को हर मौसम में घर से बाहर निकलने से पहले लगाना चाहिए क्योंकि यह आपकी स्किन को सूर्य की हानिकारक किरणों के साथ ही सनबर्न से भी बचाती है।
7. मिथक – ज्यादा फेसवॉश करने से स्किन अच्छी हो जाती है
सच्चाई – बहुत लोगों को ये भ्रम है कि ज्यादा फेसवॉश करने से उनकी स्किन हमेशा साफ और सुंदर बनी रहती है। बल्कि चेहरा साफ करने के लिए जितना आप फेसवॉश या साबुन का इस्तेमाल करेंगे, आपकी स्किन उतनी ही ड्राई हो जायेगी। इसीलिए सिर्फ पानी से मुंह धोना चाहिए।
 
8. मिथक – कलर कराने से बाल ज्यादा झड़ने लगते हैं।
सच्चाई – बालों का झड़ना उनके पोषण पर निर्भर करता है न कि हेयर प्रोडक्ट इस्तेमाल करने पर। आयुर्वेदिक और अच्छे ब्रांड के हेयर कलरिंग प्रॉडक्ट्स आपके बालों को नुकसान नहीं पहंचाते हैं। 
9. मिथक – फेयरनेस क्रीम आपको गोरा बना सकती हैं। 
सच्चाई – गोरापन देने का दावा करने वाली क्रीम समाज पर खराब असर तो देती हैं लेकिन ये आपको गोरा बिल्कुल नहीं बनाती है। दरअसल, फेयरनेस क्रीम्स सिर्फ पिग्मेंटेशन को हटाती है और इससे ज्यादा कुछ नहीं करतीं।
10. मिथक – स्क्रबिंग से ब्लैकहेड्स एकदम खत्म हो जाते हैं।
सच्चाई – ये बात सरासर झूठ है कि स्क्रबिंग से ब्लैकहेड्स चले जाते हैं। क्योंकि ब्लैकहेड्स की जड़ हमारी स्किन के रोमछिद्रों में बहुत गहराई तक मौजूद होती है। तो इसे सिर्फ स्किन की ऊपरी सतह पर घिसकर खत्म नहीं किया जा सकता है।

अधिक पढ़ें –

Balo ko Kala Karne ka Tarika