home / पैरेंटिंग
प्रेग्नेंसी में ऑयली स्किन

Moisturizer for oily skin: प्रेग्नेंसी में ऑयली स्किन के लिए कैसी क्रीम होगी फायदेमंद, यहां जानें

प्रेग्नेंसी में ड्राई स्किन की शिकायत करते हुए कई महिलाओं को सुना होगा। लेकिन कुछ महिलाएं ऐसी भी हैं जिन्हें गर्भावस्था में जरूरत से ज्यादा ऑयली स्किन की समस्या होती है। ऐसा जिन महिलाओं की पहले से ऑयली व कॉम्बिनेशन त्वचा है, उनमें ज्यादा देखने को मिलता है। प्रेग्नेंसी में ऑयली स्किन का मुख्य कारण, हार्मोन्स में होने वाला बदलाव है। इनकी वजह से कुछ महिलाओं के सीबम ग्लैंड्स अत्यधिक तेल बनाने लगते हैं।

कई महिलाओं को लगता है कि उनकी स्किन ऑयली है, तो उन्हें मॉइश्चराइजर लगाने की जरूरत नहीं है। वो तो सिर्फ ड्राई स्किन की जरूरत होती है। परंतु, यह आपकी गलतफहमी है। ड्राई स्किन हो या ऑयली, त्वचा की देखभाल के लिए सीटीएम यानी क्लींजिंग, टोनिंग और मॉइश्चारइजिंग करना जरूरी होता है। बशर्तें, हर त्वचा के लिए अलग प्रोडक्ट होते हैं।

वैसे तो प्रेग्नेंसी में जैसी भी त्वचा हो, इनके लिए स्किन केयर प्रोडक्ट्स का चयन करना एक बहुत बड़ा काम होता है। क्योंकि इस दौरान महिलाओं को हर प्रोडक्ट का इस्तेमाल करने की आजादी नहीं होती है। ऐसे समय में महिलाओं को सिर्फ नेचुरल और डर्मेटोलॉजिस्ट टेस्टेड प्रेग्नेंसी सेफ स्किन केयर प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल करने के लिए कहा जाता है। यही वजह है इस लेख में प्रेग्नेंसी में ऑयली स्किन के लिए कैसी मॉइश्चराइजर क्रीम (Moisturizer for oily skin) का इस्तेमाल करना चाहिए, इसके बारे में चर्चा करेंगे।

प्रेग्नेंसी में ऑयली स्किन की देखभाल कैसे करें? (How To Take Care Of Oily Skin During pregnancy in Hindi)

प्रेग्नेंसी में ऑयली स्किन
प्रेग्नेंसी में ऑयली स्किन

नीचे प्रेग्नेंसी में ऑयली स्किन की देखभाल सही तरीके से कैसे करनी है, इससे जुड़ी जानकारी दे रहे हैं:

फेसवॉश- प्रेग्नेंसी में फेसवॉश के लिए हमेशा जेल बेस्ड क्लींजर का चयन करें। मिल्की व एक्ने वॉश से त्वचा पर बुरा असर पड़ सकता है। रोजाना सुबह उठकर और रात को सोने से पहले अपने चेहरे को अच्छे से साफ जरूर करें।

टोनर- ऑयली स्किन की देखभाल के लिए फेस वॉश के बाद टोनर लगाना चाहिए। यह त्वचा पर सीबम के उत्पादन को नियंत्रित करने का काम करता है।

सीरम- त्वचा को पर्याप्त पोषण मिल सके इसके लिए सीरम लगाने की आवश्यकता होती है। प्रेग्नेंसी में ऑयली स्किन के लिए विटामिन-सी युक्त सीरम का इस्तेमाल उपयुक्त हो सकता है। साथ ही यह त्वचा की रंगत को एक समान कर सकता है।

मॉइश्चराइजर- लेख में ऊपर आपने जाना कि प्रेग्नेंसी में ऑयली स्किन पर प्राकृतिक ऑयल होने का यह मतलब नहीं है कि इसे मॉइश्चराइज करने की जरूरत नहीं है। बस आपको ऑयली स्किन के अनुसार प्रोडक्ट्स चुनने की जरूरत है। प्रेग्नेंसी में ऑयली स्किन के लिए ऑयल फ्री मॉइश्चराइजर का ही चयन करें। साथ ही हयालूरोनिक एसिड और नियासिनामाइड युक्त ऑयल फ्री मॉइश्चराइजर को बेहतर माना जाता है।

प्रेग्नेंसी में स्किन केयर उत्पादों का चयन करते समय निम्न बातों का ध्यान रखना आवश्यक है:

  • चाहें फेसवॉश हो या क्रीम, किसी भी उत्पाद में किसी तरह के हानिकारक केमिकल न हो।
  • स्किन केयर प्रोडक्ट डर्मेटोलॉजिस्ट टेस्टेड है या नहीं, यह जरूर देखें।
  • आर्टिफिशियल फ्रेगरेंस का इस्तेमाल न किया गया हो।
  • पैराबेन, मिनरल ऑयल, सल्फेट का प्रयोग न किया गयो हो।
  • टॉक्सिन्स फ्री हो।

गर्भावस्था में ऑयली स्किन के लिए मॉइश्चराइजर (Best Moisturizer for Oily Skin During Pregnancy in Hindi)

प्रेग्नेंसी में ऑयली स्किन
ऑयली स्किन के लिए मॉइश्चराइजर

नीचे प्रेग्नेंसी में ऑयली स्किन के लिए एक अच्छे मॉइश्चराइजर से जुड़ी जानकारी साझा कर रहे हैं, जो कुछ इस प्रकार है: 

ऑयली स्किन से परेशान गर्भवती महिलाएं ‘द मॉम्स को’ द्वारा तैयार की गई ‘विटामिन-सी ऑयल फ्री मॉइश्चराइजर’ का इस्तेमाल कर सकती हैं। इस क्रीम खास बात यह है कि इसमें किसी तरह के हानिकारक पदार्थों का इस्तेमाल नहीं किया गया है। यह क्रीम डर्मेटोलॉजिस्ट और क्लीनिकली टेस्टेड है। प्रेग्नेंट व स्तनपान कराने वाली महिलाओं के लिए इसका प्रयोग सुरक्षित है। 

इस मॉइश्चराइजर क्रीम की सामग्री की बात करें, तो इसमें हयालूरोनिक एसिड, विटामिन-सी, नियासिनामाइड और एलोवेरा जेल का इस्तेमाल किया गया है। यह त्वचा को गहराई से नमी प्रदान करने के साथ स्किन के प्राकृतिक निखार को कायम रखती है। वहीं, इसमें शामिल एलोवेरा जेल त्वचा को हील कर किसी भी तरह की इरिटेशन से बचाव करता है। इस तरह प्रेग्नेंसी में ऑयली स्किन से परेशान महिलाओं के लिए यह क्रीम एक बेहतर विकल्प साबित हो सकती है।

इस लेख में आपने प्रेग्नेंसी में ऑयली स्किन की देखभाल से जुड़ी जानकारी हासिल की। आशा करते हैं इस लेख के जरिए ऑयली स्किन से जुड़े आपके सभी सवालों के उत्तर आपको मिल गए होंगे। हर महिला की त्वचा अलग होती है। इसलिए किसी भी क्रीम का सीधे चेहरे पर इस्तेमाल करने से पहले कोहनी के पीछे पैच टेस्ट जरूर करें।

चित्र स्रोत: Freepik

ये भी पढ़ें-

ऑयली स्किन के लिए बेस्ट क्रीम

07 Jul 2022

Read More

read more articles like this

Read More

read more articles like this
good points logo

good points text