home / xSEO
लीची के फायदे - lichi khane ke fayde, Lichi in Hindi

लीची के फायदे और नुकसान (Litchi in Hindi) – Lichi Khane ke Fayde

हर एक मौसम के साथ अलग-अलग फल आते हैं। इसी तरह का एक फल लीची (lichi in hindi) है और ये गर्मियों के मौसम में आती है। लीची को बच्चों से लेकर बड़ों तक सभी पसंद करते हैं। लीची जितनी स्वादिष्ट और रसीली होती है उतनी ही ये स्वास्थ्य के लिए भी लाभकारी होती है। तो चलिए आज हम आपको अपने इस लेख में लीची ( litchi benefits in hindi) के फायदों के बारे में बताते हैं। ड्रैगन फ्रूट के फायदे

लीची क्या है – What is Lichi in Hindi

What is Lichi in Hindi

लीची (लीची खाने के फायदे) का वैज्ञानिक नाम चीनेंसिस है और ये सोपबैरी परिवार से आती है। लीची के पेड़ की लंबाई 30 मीटर होती है जबकि इसकी पत्तियां 5 से 15 सेंटीमीटर तक लंबी होती हैं। इसपर छोटे-छोटे फूल आते हैं, जो पीले या फिर ऊजले रंग के होते हैं। लीची (लीची के गुण) गोल, अंडाकार या दिल के आकार की होती है। इसका डायमीटर 2.0 से 3.5 सेंटीमीटर तक का होता है। इसका छिलका खुरदरा होता है और अंदर से एकमद नर्म और रसीली होती है। वहीं इसका रंग गुलाबी-लाल, हल्का लाल या बैंगनी लाल हो सकता है। 

लीची के फायदे – Lichi Khane ke Fayde

लीची स्वास्थ्य के लिए बेहद ही फायदेमंद होती है। यहां हम आपको डिटेल में लीची (lychee khane ke fayde) के फायदों के बारे में बताने वाले हैं। हालांकि, उससे पहले हम ये स्पष्ट कर देना चाहते हैं कि लीची (लीची के फायदे) कि किसी भी समस्या का मेडिकल इलाज नहीं है और इस वजह से ऐसी किसी भी परेशानी के लिए आपको डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।  जानिए मौसमी जूस के फायदे और नुकसान

Lichi Khane ke Fayde

पाचन के लिए

लीची (lichi ke fayde) में फाइबर काफी अधिक मात्रा में पाया जाता है और इस वजह से पाचन स्वास्थ्य के लिए बहुत ही अच्छी होती है। ये आंतों के कार्यों को आसान बनाने में मदद करती है और इसमें मौजूद फाइबर चिकनी छोटी आंत की मांसपेशियों की गति को उत्तेजित करती है। साथ ही लीची के सेवन से गैस्ट्रिक और पाचन का रस उत्तेजित होता है, जिससे पोषक तत्व का अवशोषण तेज हो जाता है। यह कब्ज जैसी समस्या को भी दूर करता है। 

प्रतिरक्षण प्रणाली के लिए

लीची (lichi khane ke fayde) में विटामिन सी भी मौजूद होता है। ये आपकी प्रतिरक्षण प्रणाली को बढ़ावा देता है क्योंकि विटामिन सी एक मुख्य एंटीऑक्सीडेंट है और इससे सफेद रक्त कोशिकाओं की गतिविधियों को प्रोत्साहन मिलता है, जो प्रतिरक्षा प्रणाली को बनाए रखने के लिए आवश्यक है। 

कैंसर से बचाने के लिए

लीची में पॉलीफेनोलॉलिक यौगिकों और प्रोएथोकाइनाइडिन भी मौजूद होता है, जो विटामिन सी की तुलना में अधिक मात्रा में होता है और इस वजह से शरीर को कई तरह की बीमारियों से बचाता है। लीची (लीची में विटामिन) इस प्रकार की कार्बनिक यौगिकों का एक समृद्ध स्त्रोत है और इस वजह से ये कैंसर के प्रभावी निवारक उपाय के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है।  

एंटीवायरल बीमारी के लिए

लीची में एक प्रोएथोकेनडिंस नामक पदार्थ पाया जाता है। लीची में मौजूद इस पदार्थ पर काफी अध्ययन किए गए हैं और उसमें पाया गया है कि लीची एंटीवायरल बीमारियों को दूर भगाने के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है। 

उच्च रक्तचाप को कम करने के लिए

लीची में पोटेशियम भी पाया जाता है, जो आपके शरीर के द्रव संतुलन को बनाए रखने में मदद करता है। आपके शरीर में द्रव संतुलन केवल चयापचय में ही नहीं बल्कि इसके साथ उच्च रक्तचाप से संबंधी कार्यों के लिए भी महत्वपूर्ण माना जाता है। पोटेशियम, आपकी रक्त वाहिकाओं और धमनियों के कसने को कम करता है और इस वजह से कार्डियोवास्कुलर सिस्टम पर तनाव कम हो जाता है। यहां आपको बता दें कि पोटेशियम ताजे लीची की बजाए सूखी लीची में तीन गुना अधिक पाया जाता है। 

त्वचा के लिए लीची का जूस

अधिक समय तक धूप में रहने के कारण आपकी त्वचा जल सकती है या काली हो सकती है। इस वजह से आपकी स्किन पर जलन होने लगती है और ऐसे में यदि आप अपनी त्वचा पर विटामिन ई से भरपूर लीची (lichi ka juice peene ke fayde) को लगाते हैं तो त्वचा पर होने वाली जलन कम हो जाती है। साथ ही सनबर्न भी कम होता है और निशान भी दूर हो जाते हैं। 

बालों की चमक के लिए

तनाव या प्रदूषण और धूल-मिट्टी सभी चीजें हमारे बालों के लिए काफी हानिकारक होती हैं। ऐसे में यदि आप लीची को अपने बालों पर लगाते हैं तो इससे आपके बालों को बढ़ने में मदद मिलती है। लीची, बालों में कंडीशनर की तरह काम करता है और आपके बालों की खोई हुई चमक को लौटाने में मदद करता है। इसके लिए आप 8-10 लीची का गूदा निकालें और उसे मैश कर लें इसके बाद इसे कम से कम 15 मिनट के लिए बालों में लगा कर छोड़ दें और फिर बालों को अच्छे से धो लें। 

हृदय स्वास्थ्य के लिए

कुछ शोधों के अनुसार लीची (लीची फ्रूट के फायदे) में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट कार्डियोवैस्कुलर स्वास्थ्य को बढ़ावा देने में मदद करते हैं। लीची में मौजूद ऑलिगोनोल, नाइट्रिक ऑक्साइड के उत्पादन को बढ़ाता है। शरीर में नाइट्रिक ऑक्साइड, रक्त वाहिकाओं को विस्तारित करने में मदद करता है और इस वजह से ये रक्त को ठीक से प्रवाहित करने में मदद करता है और इस वजह से ये हृदय स्वास्थ्य के लिए बहुत ही लाभकारी होता है। 

आंखों की बीमारी के लिए

मोतियाबिंद एक ऐसी बीमारी है जो आंखों के लेंस के धूंधले होने की वजह से होता है। मोतियाबिंद की समस्या कई लोगों को होती है और इस वजह से इस बारे में कई तरह के अध्ययन किए गए हैं। एक अध्ययन के अनुसार लीची मोतियाबिंद की समस्या को रोकने में मदद करता है। लीची में फाइटोकेमिकल्स होते हैं, जो एंटीऑक्सीडेंट गुणों से भरपूर होता है। दरअसल, ये कोशिकाओं की असामान्य वृद्धि को रोकने में मदद करता है और इस वजह से मोतियाबिंद रोकने में मदद करता है। 

वजन घटाने के लिए

लीची में काफी कम मात्रा में कैलोरी होती है और इस वजह से ये उन लोगों के लिए बहुत ही अच्छी है, जो वाकई अपना वजन घटाना चाहते हैं। 100 ग्राम लीची (litchi ke fayde aur nuksan) में केवल 66 कैलोरी होती है। इसके साथ ही लीची में पानी और फाइबर काफी अधिक मात्रा में होता है। 

प्रेगनेंसी में लीची खाने के फायदे

लीची में अधिक मात्रा में विटामिन सी होता है, जिससे इम्यून सिस्टम मजबूत होता है। इसके साथ ही लीची में मौजूद पोटेशियम दिल की धड़कन और ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने में मदद करता है। साथ ही लीची में फाइबर भी होता है जो कब्ज से बचाव करता है। इस वजह से प्रेगनेंट महिलाएं लीची (लीची खाने के फायदे गर्भावस्था) का सेवन कर सकती हैं लेकिन उन्हें अधिक मात्रा में इसका सेवन नहीं करना चाहिए और साथ ही डॉक्टर से बात-चीत भी करनी चाहिए। 

डायबिटीज में लीची खाने के फायदे

लीची (लीची फॉर डायबिटीज) डायबिटीज के मरीजों के लिए भी फायदेमंद होती है। इसमें काफी अधिक मात्रा में सैपोनिन, स्टिग्मारस्टरोल, एपिटिक्न, ल्कूकोसाइनाइडिन, मालविदिन, ग्लाइकोसाइड और बी2 जैसे फाइटोकेमिकल्स होते हैं। साथ ही लीची में फाइबर, विटामिन सी, विटामिन बी6, नियासिन, रोइबोफ्लेविन, फोलेट, तांबा, पोटेशियम, मैग्नीशियम और मैंगनीज समेत कई खनिज और पोषक तत्व मौजूद होते हैं। ये ब्लड शुगर को मेंटेन करने में मदद करता है और साथ ही इम्यूनिटी बूस्ट करने में भी मदद करता है।

लीची के नुकसान – Litchi Khane ke Nuksan 

लीची तब तक आपके लिए फायदेमंद होती है, जब तक आप इसका सेवन सीमित मात्रा में करते हैं। यदि आप अधिक मात्रा में लीची (litchi khane ke nuksan) का सेवन बहुत अधिक मात्रा में करते हैं ये आपके लिए नुकसानदायक भी हो सकता है। 

– लीची का बहुत अधिक मात्रा में सेवन करने से ब्लड शुगर का स्तर कम होने में मदद मिलती है। इस वजह से यदि डायबिटीज के मरीज ब्लड शुगर कम करने की दवा ले रहे हैं तो उन्हें लीची की मात्रा का ध्यान रखना चाहिए। आप चाहें तो इस मामले में डॉक्टरों की सलाह भी ले सकते हैं।

– यदि आप दर्द से राहत दिलाने वाली दवा या खून पतला करने वाली किसी भी तरह की दवा का सेवन कर रहे हैं तो इसके साथ लीची (लीची का उपयोग) खाने से रक्तस्राव का खतरा बढ़ जाता है।

– कुछ मामलों में लीची के सेवन से एलर्जी जैसे- प्रुरिटस, अर्टिकरिया, होठों में सूजन या फिर सांस फूलने की समस्या हो सकती है। इस वजह से यदि आपको कुछ चीजों से एलर्जी है तो ऐसे में लीची का सेवन करने से पहले डॉक्टर से सलाह जरूर लें। 

– इसके अलावा लीची की तासीर गर्म होती है। इस वजह से यदि आप लीची का अधिक सेवन करते हैं तो आपका मुंह सूखना, स्वाद का कड़वा होना, गले में सूजन या खराश होना, होंठों पर फोड़ा होना, जीभ का पीला होना और बुखार की समस्या हो सकती है। 

लीची से जुड़े सवाल और जवाब

लीची में कौन सा विटामिन है?

लीची में विटामिन सी, विटामिन ई और विटामिन के होता है।

खाली पेट लीची खाने से क्या होता है?

खाली पेट लीची का सेवन करने से आपके शरीर में ग्लूकॉज की मात्रा कम हो जाती है और इस वजह से आपको खाली पेट इसका सेवन नहीं करना चाहिए।

फ्रूट्स खाने का सही समय क्या है?

एक्सपर्ट्स के अनुसार फ्रूट्स को हमेशा स्नैक के रूप में खाना चाहिए। आप चाहें तो सुबह ब्रेकफास्ट के बाद या फिर शाम के समय स्नैक के तौर पर फलों का सेवन कर सकते हैं।

क्या शुगर में लीची खा सकते हैं?

जी हां, आप डायबिटीज या शुगर की समस्या में भी लीची का सेवन कर सकते हैं।

लीची की तासीर क्या होती है?

लीची की तासीर गर्म होती है।

लीची ज्यादा खाने से क्या होता है?

अधिक मात्रा में लीची का सेवन करने से आपका ब्लड शुगर लेवल कम हो सकता है। इसके अलावा भी अधिक मात्रा में लीची खाने के कई नुकसान होते हैं।

POPxo की सलाह: MyGlamm की ग्लो स्किनकेयर रेंज के साथ रखें अपनी त्वचा का ख्यला।

24 Aug 2021

Read More

read more articles like this

Read More

read more articles like this
good points logo

good points text