home / xSEO
Lemon Grass in Hindi

Lemon Grass in Hindi – हेल्थ के लिए फायदेमंद है लेमन ग्रास, जानें क्या है इसके फायदे

लेमन ग्रास का नाम सुनते ही सर्दियों की लेमन ग्रास वाली चाय याद आती है, लेकिन लेमन ग्रास की खुशबू और गले से कफ साफ करने के गुण इसके बारे में सिर्फ छोटी सी जानकारी भर है। लेमन ग्रास के फायदे ( lemon grass in hindi ) इससे कहीं ज्यादा है क्योंकि इसमें बहुत सारे पोषक तत्व हैं और ये मेडिसिनल गुणों से भरपूर है। घास परिवार का हिस्सा माना जाने वाले लेमन ग्रास (lemongrass in hindi) से जुड़ी बातें जैसे लेमन ग्रास के फायदे, लेमन ग्रास के नुकसान की जानकारी हर किसी के पास होनी ही चाहिए।

क्या होता है लेमन ग्रास

दक्षिण पूर्वी एशिया में पाई जाने वाली लेमन ग्रास घास परिवार का हिस्सा है और हिंदी में इसे नींबू घास के नाम से भी जाना जाता है। ये दिखता तो घास जैसा ही है, लेकिन इसकी लंबाई आम घास से ज्यादा होती है और इसकी खुशबू नींबू जैसी होती है। इसका साइंटिफिक नाम को सिम्बोपोगोन है, लेकिन इसे और कई नाम से बुलाया जाता है जैसे बार्ब्ड वायर ग्रास, सिल्की हेड्स, कोचिन ग्रास, मालाबार ग्रास, ऑयली हेड्स, सिट्रोनेला ग्रास और फीवर ग्रास भी कहा जाता है। यह औषधीय पौधा एशिया के अलावा अफ्रीका और ऑस्ट्रेलिया में  भी पाया जाता है।

lemon grass in hindi

लेमन ग्रास के मेडिसिनल गुण

लेमन ग्रास का तेल और पत्ते लंबे समय से आयुर्वेदिक उपचार के लिए इस्तेमाल किए जा रहे हैं। नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इंफॉर्मेशन के अनुसार लेमन ग्राम में एंटी इंफ्लेमेटरी, एंटी बैक्टीरियल और एंटीफंगल गुण होते हैं। इस वजह से लेमन ग्रास कई बीमारियों और संक्रमण में उपयोगी रहता है।

लेमन ग्रास का न्यूट्रिशिनल वैल्यू

लेमन ग्रास में पोषक तत्वों की कोई कमी नहीं है। इस बात का अंदाजा ऐसे लगा सकते हैं कि प्रति 100 ग्राम लेमन ग्रास में 70.58 ग्राम पानी होता है, 99 कैलोरी एनर्जी होती है और प्रोटीन लगभग 2 ग्राम होता है। लेमन ग्रास में फैट की मात्रा सिर्फ 0.49 ग्राम होती है, जबकि कार्बोहाइड्रेट 25.31 ग्राम होता है। इसके साथ ही इसमें कैल्शियम ( 65 मिली ग्राम), आरन (8.17 मिलीग्राम), मैग्नीशियम (60 मिली ग्राम), फॉस्फोरस ( 101 मिलीग्राम), पोटैशियम  (723 मिली ग्राम) , सोडियम (6 मिलीग्राम) भी होता है। 

Lemon Grass Benefits in Hindi – लेमन ग्रास के 12 फायदे

1. डायजेशन

2. कॉलेस्ट्रोल

3. किडनी हेल्थ

4. कैंसर

5. वेट लॉस

6. नींद की परेशानी

7. इम्युनिटी सही करने के लिए

8. डिप्रेशन, स्ट्रेस और एंजाइटी

9. डायबिटीज

10. गठिया के लिए

11. स्किन हेल्थ और इंफेक्शन

12. अस्थमा

1. डायजेशन

लेमन ग्रास को पेट और पाचन से जुड़ी परेशानियां जैसे गैस, एसिडिटी, अपच की स्थिति में उपयोगी पाया गया है। साल 2012 में एक शोध में ये बताया गया था कि लेमन ग्रास गैस्ट्रिक अल्सर से राहत देता है।

2. कोलेस्ट्रॉल

 कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने में लेमन ग्रास को बहुत कारगर माना जाता है। नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजिकल सेंटर के अनुसार लेमन ग्रास का तेल का सेवन कोलेस्ट्रॉल कम करने में बहुत मदद करता है।

3. किडनी हेल्थ

 जर्नल ऑफ रीनल न्यूट्रीशन में छपे एक छोटे दायरे में किए गए शोध के अनुसार लेमन ग्रास की चाय पीने से व्यक्ति किसी दूसरे पेय के मुताबिक ज्यादा यूरिन पास करता है। ऐसा इसलिए की लेमन ग्रास में डाईयूरेटिक ( मूत्रवर्धक) गुण होते हैं और ज्यादा यूरिन पास होने से किडनी के सभी टॉक्सिन्स निकल जाते हैं और ये किडनी के हेल्थ के लिए अच्छा होता है। 

4. कैंसर

लेमन ग्रास टी और लेमन ग्रास ऑयल में मौजूद सिट्रस में ऐसे गुण होते हैं जो कैंसर की रोकथाम में मदद करते हैं। इसके अलावा लेमन ग्रास में ऐसे कई पोषक तत्व होते हैं जो या तो सेल्स को खत्म करने के लिए उपयोगी माने जाते है, या इम्युनिटी को बढ़ाकर कैंसर से बचाव करते हैं।  

5. वेट लॉस

लेमन ग्रास की चाय को डिटॉक्स के लिए यूज किया जाता है और ये मेटाबॉलिज्म बढ़ाकर वजन को नियंत्रित करने में हेल्प करती है। क्योंकि ये अपनी डाईयूरेटिक गुण की वजह से ब्लोटिंग कम करता है इस लिए भी इसे वेट लॉस के लिए अच्छा माना जाता है। हालांकि इससे जुड़ा कोई साइंटिफिक तथ्य या शोध अभी सामने नहीं आया है, फिर भी इसे वजन कम करने के उपाय में शामिल किया जाता है। 

Lemon Grass Benefits in Hindi

6. नींद की परेशानी

लेमन ग्रास के तेल ( एसेंशियल ऑयल) में सेडेटिव गुण होते हैं और यही वजह है कि इसे नींद आने के घरेलू उपाय में से एक माना जाता है। ये उन लोगों के लिए उपयोगी हैं जिन्हें नींद न आने की परेशानी हो। इसे रूम में डिफ्यूजर में डालकर सोने से अच्छी नींद आती है। 

7. इम्यूनिटी सही करने के लिए

लेमन ग्रास में मौजूद पोषक तत्व और एंटीऑक्सीडेंट की अधिकता इसे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में उपयोगी बनाते हैं। इम्यूनिटी बढ़ाने के उपाय में लेमन ग्रास टी पीने की सलाह दी जाती है।

8. डिप्रेशन, स्ट्रेस और एंजाइटी

लेमन ग्रास में मैग्नीशियम की अधिकता होती है और ये स्ट्रेस और एंजाइटी को कम करने में बहुत उपयोगी माना जाता है। कई शोध ये बता चुके हैं कि शरीर में मैग्नीशियम की कमी होने से स्ट्रेस बढ़ता है। इसके अलावा मैग्नीशियम न्यूरोडिजेरेटिव रोगों जैसे वर्टिगो (चक्कर आना) , एंजाइटी या घबराहट जैसे माइंड को उत्तेजित करने वाले रोगों से राहत देता है। 

इसके साथ लेमन ग्रास में एंटी डिप्रेसेंट गुण भी होते हैं जो इसे डिप्रेशन के मरीजों के लिए कारगर बनाते हैं। इन स्थितियों में कमरे में डिफ्यूजर में लेमन ग्रास का यूज करने से भी फायदा होता है।

9. डायबिटीज

डायबिटीज के मरीजों के लिए भी लेमन ग्रास को फायदेमंद माना जाता है और काफी समय से इसे शुगर को नियंत्रित करने के लिए इस्तेमाल भी किया जा रहा है। डायबिटीज के मरीजों  लेमन ग्रास की चाय में स्टीविया डालकर स्टीविया के फायदे भी उठा सकते हैं।

10. गठिया के लिए

गठिया या रूमेटाइड अर्थराइटिस में शरीर के सभी जोड़ों में दर्द आने लगती है और साथ में सूजन के लक्षण भी दिखते हैं। गठिया खत्म करने के उपायों में लेमन ग्रास भी काफी राहत देने वाला होता है। लेमन ग्रास में तेल में एंटी इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं। गठिया के मरीज जोड़ों पर लेमन ग्रास का तेल मालिश कर इसके फायदे उठा सकते हैं।

11. स्किन हेल्थ और इंफेक्शन

हेल्दी स्किन और इंफेक्शन फ्री स्किन के लिए लेमन ग्रास एसेंशियल ऑयल बहुत उपयोगी है। लेमन ग्रास के एंटी बैक्टीरियल और एंटी इंफ्लेमेटरी गुण स्किन को पिंपल, कील या किसी भी तरह के दूसरे इंफेक्शन से सुरक्षित रखते हैं। साथ ही लेमन ग्रास में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट स्किन को नुकसान पहुंचाने वाले फ्री रैडिकल्स को न्यूट्रलाइज कर देते हैं।

12. अस्थमा

आयुर्वेद में लेमन ग्रास को लंबे समय से कोल्ड, कफ और फीवर के उपचार के लिए यूज किया जाता है। लेमन ग्रास में मौजूद विटामिन सी बंद नाक, ब्रोन्कियल अस्थमा और दूसरे श्वसन संबंधी ( सांस से जुड़ी) परेशानियों में राहत देते हैं। 

Lemon Grass ke Nuksan – लेमन ग्रास के नुकसान

ऐसे तो लेमन ग्रास का इस्तेमाल चाय या खाने की चीजों में जिस मात्रा में होता है वो आमतौर पर सुरक्षित ही होता है, लेकिन फिर भी कुछ लोगों को इसके सेवन से चक्कर आने, भीख बढ़ने, मुंह के सूखने, बार-बार यूरिन जाने और थकान हो सकती है। जिन लोगों को लेमन ग्रास से एलर्जी है उन्हें खुजली, रैशेज आदि की परेशानी हो सकती है।

प्रेगनेंसी के दौरान, डाईयूरेटिक्स के रूप में दवा का सेवन करने वाले लोगों को, कम रक्तचाप  और जिनके शरीर में पोटैशियम का स्तर कम हो, ऐसे लोगों को लेमन ग्रास का सेवन नहीं करना चाहिए।

बच्चों से लेमन ग्रास का तेल हमेशा दूर रखना चाहिए।

Lemon grass uses in Hindi – लेमन ग्रास का उपयोग कैसे करें 

1. लेमन ग्रास का ज्यादातर इस्तेमाल चाय बनाने में किया जाता रहा है। इसे बिना दूध के भी बना सकते हैं  और दूध वाली चाय में डालकर भी बना सकते हैं।

बिना दूध की लेमन ग्रास टी

बाजार में ग्रीन टी की तरह लेमन ग्रास टी बैग्स मिलते हैं। इसके अलावा सूखे लेमन ग्रास भी मिलते हैं।

बिना दूध की लेमन ग्रास टी बनाने के लिए कप में ले लेमन ग्रास लें और ऊपर से खौलता हुआ पानी डालें और इसे पांच मिनट के लिए ढक कर छोड़ दें। पांच मिनट बाद चाय पीने के लिए तैयार है।

दूध वाली लेमन ग्रास टी

दूध वाली लेमन ग्रास टी के लिए सूखे या ताजा लेमन ग्रास के स्टॉक्स यूज किए जा सकते हैं। 

दो कप दूध वाली लेमन ग्रास टी के लिए डेढ़ कप पानी लें और इसे आंच पर रखें। अब लेमन ग्रास के स्टाक के हरे भाग को काट कर थोड़ा क्रश कर लें ताकि इसके फ्लेवर्स पानी में अच्छी तरह मिक्स हो जाएं। इसे पानी में डालकर 2 से 3 मिनट उबालें और फिर चाय पत्ती डालकर थोड़ा उबालें। अब आधा कप दूध डालकर चाय को फिर से उबलने दें।  स्वादानुसार चीनी डालें और छान लें। 

2. लेमन ग्रास को वेजिटेबल सूप, टोमैटो सूप या चिकन सूप में यूज कर सकते हैं।

3. इसे चिकन की रेसिपी में भी यूज कर सकते हैं। इससे चिकन का स्वाद और खुशबू बिलकुल अलग हो जाती है।

4. इसे केक बेक करते हुए भी यूज कर सकते हैं।

5. इसे प्रॉन, चिकन से बनने वाले स्टार्टर में भी यूज किया जाता है।

लेमन ग्रास के फायदे और नुकसान दोनों होने हैं, लेकिन ये कहना गलत नहीं होगा कि लेमन ग्रास के औषधीय गुणों की वजह से लेमन ग्रास के फायदे (lemongrass ke fayde ) कहीं ज्यादा हैं। लेमन ग्रास के नुकसान बहुत कम हैं और तभी सामने आते हैं जब इनका सेवन अत्यधिक हो या किसी को इससे एलर्जी हो। लेमन ग्रास (lemon grass in hindi) की चाय दिन भर में एक या दो बार पीने से किसी तरह का नुकसान नहीं होता है और खाने में इसके 8 से 10 स्टॉक को पर्याप्त माना जाता है। 

ये भी पढ़े- 

ब्लैक टी पीने के फायदे – काली चाय कई तरह के स्वास्थ्य लाभ प्रदान करती है क्योंकि इसमें एंटीऑक्सिडेंट और यौगिक होते हैं जो शरीर में सूजन को कम करते हैं। 

तुलसी के फायदे– ये चमत्कारी पौधा सिर्फ सेहत के लिए नहीं बल्की अपने ब्यूटी बेनेफिट्स के लिए भी जाना जाता है।
Cholesterol Kam Karne ke Upay– ये जानकारी सभी के पास होनी चाहिए कि नॉर्मल रेंज से अधिक कोलेस्ट्रॉल कई बीमारियों को आमंत्रण देता है।

22 Jul 2022

Read More

read more articles like this
good points logo

good points text