home / xSEO
Kachua palne ke Fayde in Hindi

Kachua palne ke Fayde in Hindi – जानिए कछुआ पालने के फायदे और उसका ख्याल रखने का तरीका

घर में पालतू जानवर लाना एक छोटे बच्चे को गोद लेने के बराबर होता है। अपने बच्चे की तरह उसकी भी देख्भाल करनी पड़ती है। मन में मातृत्व भाव लाने पड़ते हैं। जिस तरह बच्चे को 3 टाइम का खाना और पानी देते हैं उसी तरह पालतू जानवर को भी समय-समय पर खाना और पानी देना पड़ता है। डॉक्टर के पास ले जाकर उसे समय-समय पर जरूरी इंजेक्शन लगवाने पड़ते हैं। इतना ही नहीं उसे घर पर अकेला भी नहीं छोड़ सकते और घर के किसी एक सदस्य या नैनी को उसकी केयर के लिए हर वक़्त मौजूद रहना पड़ता है। फिर चाहे आप घर पर कुत्ता, बिल्ली, खरगोश या फिर कछुआ turtle in hindi ही क्यों न पालें। आज हम आपको यहां kachua palne ke fayde in hindi कछुआ पालने के फायदे के बारे में बता रहे हैं। 

Turtle Palne ke Fayde in Hindi – कछुआ पालने के फायदे

1- कछुओं को बहुत अधिक स्थान की आवश्यकता नहीं होती है
2- सर्दियों में हायबरनेट हो जाते हैं
3- एलर्जी मुक्त होते हैं कछुए 
4- कछुए अपेक्षा से अधिक स्वच्छ होते हैं
5- घर में सुख-शांति का प्रतीक

आजकल घर में कछुआ पालना उतना ही आम हो चुका है, जितना कुत्ते, बिल्ली या फिर एक्वेरियम रखना। जिस तरह घर पर एक्वेरियम रखने के फायदे हैं उसी तरह turtle palne ke fayde in hindi कछुआ पालने के फायदे भी हैं। फिर भी कई बार लोग घर में कछुआ लाने से पहले कई बार सोचते हैं। उनके मन में कछुआ पलने को लेकर कई तरह से सवाल चलते हैं। जैसे- कौन सा कछुआ पालना चाहिए, जिंदा कछुआ घर में रखने से क्या होता है, कछुए को पानी में कितनी देर रखना चाहिए या फिर कछुआ पालने के नुकसान क्या हैं। नुकसान के बारे में तो हम आपको बाद में बताएंगे। पहले जान लेते हैं कि घर में kachua palne ke fayde in hindi कछुआ पालने के फायदे क्या हैं। 

Turtle Palne ke Fayde in Hindi

कछुओं को बहुत अधिक स्थान की आवश्यकता नहीं होती है

क्योंकि कछुए घर में बहुत धीमी गति से चलने वाले और खुश होते हैं, इसलिए आपको उनके लिए इतना स्थान देने की आवश्यकता नहीं है। कछुआ पलने के लिए एक बगीचे वाला घर बहुत अच्छा होता है क्योंकि आप उन्हें पौधों में घूमने दे सकते हैं। फिर भी, वह यार्ड बहुत बड़ा नहीं होना चाहिए। आजकल कई घरों में बगीचे नहीं पाए जाते हैं। ऐसे में घर और कछुआ के मालिक उन्हें घर के अंदर ही घुमने देते हैं। हां, उन्हें घर पर ढूढ़ने के दौरान आपका फर्नीचर अव्यवस्थित हो सकता है लेकिन यह कोई बड़ी बात नहीं है। 

सर्दियों में हायबरनेट हो जाते हैं

बात जब रखरखाव और देखभाल की चल रही है तो आपका यह जानना बेहद ज़रूरी है कि कछुआ सर्दियों में हायबरनेट रहता है। उनके लिए एक अच्छी सुरक्षित मांद बनाएं जहां वे आराम और शांति से हयबरनेट रह सकें। इसका मतलब यह भी है कि कछुओं की देखभाल की लागत पूरे वर्ष समान नहीं होती है। विशिष्ट देखभाल आवश्यकताओं और हाइबरनेशन की आदतों के बारे में अधिक जानने के लिए आपके द्वारा खरीदे गए कछुए की नस्ल पर शोध जरूर करें।

एलर्जी मुक्त होते हैं कछुए 

यह अनुमान लगाया गया है कि 10% लोगों को जानवरों से किसी न किसी रूप में एलर्जी है। यह 7 में से 1 बच्चा हो सकता है। यह आबादी का एक बड़ा हिस्सा है जिसके पास बिल्ली या कुत्ता नहीं है। वास्तव में, बिल्ली द्वारा एलर्जी कुत्ते की एलर्जी से दोगुना होने की संभावना है। ये पालतू जानवर आपके फर्नीचर पर बैठेंगे, बेड पर बैठेंगे और छींकना बंद नहीं कर सकते। इनका विकल्प बनकर उभरते हैं, ऐसे पालतू जानवर जिनके बाल नहीं होते। येअधिक स्नेही, देखभाल करने में आसान और अधिक आकर्षक हो सकते हैं। कछुआ इनमें सबसे अच्छा विकल्प है। यह किसी भी तरह की एलर्जी देने से मुक्त होते हैं। 

कछुए अपेक्षा से अधिक स्वच्छ होते हैं

कछुए बहुत अलग होते हैं। वे कुत्ते या बिल्ली से तुलनात्मक रूप में बहुत साफ जानवर हैं और उन्हें उतनी ही सफाई की आवश्यकता नहीं है। हालांकि उन्हें नियमित स्नान की जरूरत होती है क्योंकि उन्हें हाइड्रेटेड रहने की आवश्यकता होती है। लेकिन, यह कुत्ते के स्नान के समान प्रक्रिया नहीं है। वे ज्यादा गंध भी नहीं फैलाते लेते हैं। कुछ से समय-समय पर थोड़ी मटमैली गंध आ सकती है। मगर अधिकांश काफी गंधहीन होते हैं।

घर में सुख-शांति का प्रतीक 

ऐसा माना जाता है कि घर में कछुआ पालने से सकारात्मकता भी बानी रही है। इतना ही नहीं घर के लोगों में आपसी समझ और प्यार भी बना रहता है। यदि किसी के परिवार में घर के सदस्यों के बीच लड़ाई-झगड़े होते रहते हैं तो घर में 2 कछुओं का जोड़ा रखना चाहिए। ऐसा करने से घर के सदस्यों के बीच चल रही अनबन खत्म हो जाएगी और प्यार बढ़ेगा। कछुआ घर पर रखने से शांति बनी रहती है। आपसी प्यार बढ़ता है। कछुआ रखने से क्लेश और बुरी शक्तियां दूर होती हैं।

कछुए का ख्याल रखने का तरीका

Take Care Tips for Turtule in Hindi

पालतू जानवर चाहे कितना ही प्यारा क्यों न हो मगर इस बात को नकारा नहीं जा सकता कि पालतू जानवर रहने से घर पर गन्दगी भी बहुत रहती है। खासतौर पर फार वाले जानवरों से, जैसे कुत्ता और बिल्ली। मगर कछुआ इन सबसे अलग है। कछुए का न सिर्फ ख्याल रखना आसान होता है बल्कि वह घर पर ज्यादा गंदगी भी नहीं फैलाता। किसी भी अन्य जानवर की तरह कछुओं को भी विशिष्ट देखभाल की आवश्यकता होती है। हालाँकि, एक बार जब आपके पास उनके लिए रहने का सही माहौल हो, तो आपको बहुत अधिक चिंता करने की ज़रूरत नहीं है। कछुआ एक दिन में फल और पत्तियों के एक स्वस्थ भोजन के साथ रह सकते हैं। यह एक बजट पर मालिकों के लिए एक बहुत ही सरल, सस्ता आहार योजना है। उन्हें पीने और हाइड्रेटेड रहने के लिए पानी की आवश्यकता होती है। घर में सोने के लिए एक सुरक्षित जगह और उनके तापमान को नियंत्रित करने में मदद करने के लिए एक हीट लैंप की भी आवश्यकता होती है। कछुए सरीसृप हैं इस लिए अपने शरीर के तापमान को नियंत्रित नहीं कर सकते। उन्हें सही तापमान तक पहुंचने के लिए हीट लैंप और बाहरी कूलिंग सिस्टम की जरूरत होती है।

Kachua Palne ke Nuksan – कछुआ पालने के नुकसान

Kachua Palne ke Nuksan

कछुआ पालने के फायदे तो हमने आपको बता दिए अब हम आपको कछुआ पालने के नुकसान के बारे में बता रहे हैं। 

1- उन्हें एक बड़े बाहरी स्थान की आवश्यकता होती है। आपके द्वारा घर लाए जाने वाले किस्म के आधार पर कछुओं का आकार भिन्न होता है। अधिकांश समय, ये जानवर मध्यम जलवायु में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हैं, हालांकि कुछ गर्म तापमान में पनपते हैं। 

2- उनके आकार और स्वतंत्र रूप से घूमने की उनकी इच्छा के कारण, आप छोटी जगह पर इन्हें नहीं रख सकते। साथ ही, आपके कछुआ को तैरने, खाने, पीने आदि के लिए पर्याप्त जगह की आवश्यकता होगी। इसलिए, यदि आपके पास इन सब के लिए पर्याप्त जगह नहीं है, तो कछुआ आपके लिए नहीं है।

3- चूंकि कछुए वर्ष के 10-20 सप्ताह के बीच हाइबरनेट करते हैं, इसलिए आपको हाइबरनेशन सीज़न के दौरान उचित तापमान निर्धारित करने में सक्षम होने की आवश्यकता होगी।

4- वे अच्छे अल्पकालिक पालतू जानवर नहीं हैं। कछुआ बहुत लंबे समय तक जीवित रहने वाला जानवर है। हालाँकि कछुओं को बहुत अधिक व्यक्तिगत ध्यान देने की आवश्यकता नहीं होती है, लेकिन उन्हें बहुत अधिक देखभाल की आवश्यकता होती है।

5- आपको कछुए की नियमित स्वास्थ्य जांच करने और पीने और तैरने के लिए पर्याप्त बिस्तर, भोजन और पानी उपलब्ध कराने की आवश्यकता होगी। इसमें बहुत खर्च हो सकता है।

6- उनके साथ जुड़े स्वास्थ्य जोखिम भी हैं। कुछ सशर्त कारकों के कारण कछुओं के अतिरिक्त उच्च स्वास्थ्य जोखिम हो सकते हैं। सबसे पहले, गैर-बंदी नस्ल के कछुओं को बंदी बनाने के बाद नकारात्मक स्वास्थ्य प्रभावों का खतरा होता है। इसलिए,यदि आप चाहते हैं कि यह जीवित रहे तो आप कभी भी एक जंगली कछुआ घर नहीं लाना चाहेंगे।

7- इसके अलावा, कछुए साल्मोनेला संचारित कर सकते हैं, इसलिए वे अपने आस-पास के अन्य पालतू जानवरों और आपके घर के लोगों सहित अन्य लोगों के लिए एक स्वास्थ्य जोखिम पैदा कर सकते हैं।

8-  जब वे ऐसे वातावरण के संपर्क में आते हैं जो उनके लिए अनुपयुक्त है तब वे बहुत क्रोधित हो सकते हैं। इनके साथ, कछुआ विशेष रूप से कंट्रोल करना कठिन हो सकता है, जब दो या दो से अधिक नर एक समूह में हों, इसलिए आप कभी भी दो नरों को एक साथ न लाएं।

घर में कछुआ किस धातु का रखना चाहिए

Ghar mei Kachua Kaisa Rakhe

फेंग शुई के अनुसार, कई जानवरों की मूर्तियाँ हैं जिन्हें भाग्यशाली माना जाता है, जैसे कि हरा ड्रैगन, लाल फीनिक्स, सफेद बाघ और काला कछुआ। चीनी पौराणिक कथाओं में काले कछुए को एक आध्यात्मिक प्राणी माना जाता है जो दीर्घायु का प्रतीक है। यह घर में सकारात्मक ऊर्जा को केंद्रित करने में भी मदद करता है। घर में स्फटिक धातु का कछुआ लक्ष्मी जी का प्रिय माना जाता है। इसलिए वास्तु के जानकार स्फटिक धातु का कछुआ घर में रखने की सलाह देते हैं। क्योंकि ऐसा करने से घर पर धन का अभाव नहीं रहता है। इसके अलावा धातु के कछुओं को उत्तर या उत्तर-पश्चिम दिशा में रखना चाहिए। घर में कछुए की ऐसी मूर्तियाँ बच्चों के जीवन में सौभाग्य लाती हैं, उनके दिमाग को तेज करती हैं और उनकी एकाग्रता को बढ़ाती हैं। इसके अलावा यदि आपके परिवार का कोई सदस्य एक लाइलाज बीमारी से पीड़ित है, तो आप स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं से निपटने में इसके प्रतीकात्मक मूल्य के लिए हेमेटाइट से बना कछुआ चुन सकते हैं।

अगर आपको यहां दिए गए turtle in hindi कछुआ पालने के फायदे पसंद आए तो इन्हें अपने दोस्तों व परिवारजनों के साथ शेयर करना न भूलें। 

ये भी पढ़ें 

चाहते हैं इनकम बढ़ने लगे तो अपनाएं ये वास्तु टिप्स

वास्तुशास्त्र के हिसाब से अगर कुछ खास बातों का ध्यान रखा जाए तो आपकी इनकम बढ़ सकती है। और आप भी एक खुशहाल जिंदगी जी सकते हैं।

सक्सेसफुल लाइफ के लिए गुडलक वास्तु टिप्स

अगर आप रोजमर्रा की जिंदगी में कुछ चीजों को ध्यान में रखकर काम करेंगे तो आपका लक हमेशा गुड यानि अच्छा ही होगा। बस इसके लिए वास्तु की कुछ आसान बातों को ध्यान में रखना जरूरी है।

घर में लगा है तुलसी का पौधा तो आपको जरूर पता होनी चाहिए ये 7 बातें

तुलसी को कभी पेड़ ना समझें, गाय को पशु समझने की गलती ना करें और गुरू को कोई साधारण मनुष्य समझने की भूल ना करें, क्योंकि ये तीनों ही साक्षात् भगवान के स्वरूप होते हैं। 

27 Jul 2022

Read More

read more articles like this
good points logo

good points text