home / पैरेंटिंग
बच्चों के लिए सनस्क्रीन

बेबी के लिए सनस्क्रीन का इस्तेमाल कितना जरूरी?

त्वचा को सूरज की हानिकारक किरणों से बचाने के लिए सनस्क्रीन का इस्तेमाल सभी लोग करते हैं। लेकिन, क्या आप अपने बच्चों के लिए सनस्क्रीन का इस्तेमाल करती हैं। कई सारी मां के मन में इस बात को लेकर असमंजस की स्थिति होती है कि बच्चों के लिए सनस्क्रीन का इस्तेमाल सुरक्षित है या नहीं। यही वजह है आज इस लेख में हम बच्चों के लिए सनस्क्रीन के इस्तेमाल के बारे में विस्तार से जानेंगे।

क्या बच्चों के लिए सनस्क्रीन का इस्तेमाल करना चाहिए?

बच्चों के लिए सनस्क्रीन
दो साल से छोटे बच्चों को न लगाएं सनस्क्रीन

हां, दो साल से बड़े बच्चों के लिए सनस्क्रीन का इस्तेमाल सुरक्षित होता है। सीडीसी के अनुसार, बच्चों को बाहर धूप में खेलने जाने से पहले, पूल या बीच में जाने से पहले यूवी रेज से बचाने के लिए सनस्क्रीन लगाना लाभकारी होता है। 

सीडीसी की रिपोर्ट में यह भी जिक्र मिलता है कि बच्चों को धूप में होने वाले सनबर्न आगे चलकर स्किन कैंसर का कारण बन सकते हैं। इसलिए, बच्चों को हमेशा बाहर जाने से आधे घंटे पहले सनस्क्रीन लगाना न भूलें। साथ ही अगर बच्चा लंबे समय के लिए बाहर है, तो हर दो घंटे में सनस्क्रीन लगाएं। इसके अलावा, बाहर धूप न भी हो तो भी बच्चों को हमेशा सनस्क्रीन लगाकर ही घर से बाहर भेजने की सलाह दी गई है।

हालांकि, बच्चों के लिए बाजार में अलग-अलग सनस्क्रीन उपलब्ध हैं। कोई भी सनस्क्रीन लगाने से पहले बच्चे के हाथ पर पैच टेस्ट जरूर करें। अगर किसी तरह का एलर्जी का लक्षण नजर नहीं आता, इसके बाद ही सनस्क्रीन को इस्तेमाल में लाएं। बच्चों के साथ अपना सनस्क्रीन शेयर करने की गलती न करें। ऐसा इसलिए क्योंकि आपके सनस्क्रीन में ऐसे कई केमिकल हो सकते हैं, जो बच्चे की स्किन को नुकसान पहुंचा सकते हैं।

बच्चों के लिए सनस्क्रीन

बच्चों के लिए बाजार में कई सारे सनस्क्रीन उपलब्ध हैं। नीचे हम उनमें से कुछ के बारे में बता रहे हैं:

  1. नेचुरल बेबी सनस्क्रीन एसपीएफ 25

इस सनस्क्रीन लोशन को बच्चों की त्वचा को ध्यान में रखते हुए तैयार किया गया है। यह डर्मेटोलॉजिकली टेस्टेड है। इसमें एवोकाडो ऑयल, आलमंड ऑयल, हेंपसीड ऑयल, कैरट सीड ऑयल, रोज ऑयल, ऑलिव ऑयल और कोकोआ बटर जैसे नैचुरल प्रोडक्ट्स से तैयार किया गया है। 

  1. द मॉम्स को. मिनरल बेस्ड बेबी सनस्क्रीन लोशन एसपीएफ 50+ पीएच +++

एसपीएफ 50 पीएच +++ युक्त यह सनस्क्रीन बच्चों की त्वचा को यूवी रेज से सुरक्षा कवच प्रदान करता है। इसे तैयार करने के लिए ऑर्गेनिक कैरट सीड ऑयल, पोंगामिया ग्लबरा सीड ऑयल और रेड रेस्पबेरी सीड ऑयल के साथ टाइटेनियम डाइऑक्साइड व जिंक ऑक्साइड का इस्तेमाल किया गया है।

बच्चों के सनस्क्रीन में नहीं होने चाहिए ये इंग्रिडिएंट्स

बच्चों के लिए सनस्क्रीन
बच्चों के लिए सनस्क्रीन

पैरेंट्स को बच्चों के लिए सनस्क्रीन खरीदते समय उसमें मौजूद इंग्रीडिएंट्स पर ध्यान देना चाहिए। नीचे कुछ ऐसे इंग्रीडिएंट्स के बारे में बता रहे हैं, जो बच्चों के सनस्क्रीन में नहीं होने चाहिए:

  • ज्यादातर सनस्क्रीन लोशन में ऑक्‍सीबेनजोन नामक केमिकल मौजूद होता है। यह त्वचा में आसानी से अवशोषित हो जाता है। बच्चों की त्वचा नाजुक होती है। यह केमिकल बच्चों के एंडोक्राइन सिस्टम पर असर डाल सकता है। साथ ही इससे बच्चों में एक्जिमा के होने की संभावना भी अधिक होती है। 
  • बच्चों के सनस्क्रीन में नैनो पार्टिकल और पैराबेन पिजर्वेटिव नहीं होने चाहिए।
  • रेटिनाइल पामिटेट और होमोसोलेट युक्त सनस्क्रीन लोशन का चयन न करें। इससे बच्चों में कैंसर होने का जोखिम अधिक होता है।
  • सनस्क्रीन में मौजूद ऑक्‍टोक्रिलीन, मिथाइलिसोथियाजोलिनोन और सिनॉक्‍सेट जैसे केमिकल भी बच्चों के लिए हानिकारक हो सकते हैं।

लेख में आपने जाना कि बड़ों की तरह बच्चों की त्वचा को भी यूवी रेज से बचने के लिए सनस्क्रीन की आवश्यकता होती है। यहां आपको बच्चों के सनस्क्रीन में कौन से इंग्रीडिएंट्स नहीं होने चाहिए, इसके बारे में भी बताया गया है। तो बस सोच क्या रहे हैं, आज ही खरीदकर लाएं बच्चों के लिए सनस्क्रीन लोशन।

चित्र स्रोत: Freepik/Pexel

19 Apr 2022

Read More

read more articles like this
good points logo

good points text