ब्यूटी

अपने हेयरटाइप के लिए नहीं चुन पा रही हैं सही कंडीशनर तो फॉलो करें ये टिप्स

Megha SharmaMegha Sharma  |  Oct 14, 2020
अपने हेयरटाइप के लिए नहीं चुन पा रही हैं सही कंडीशनर तो फॉलो करें ये टिप्स
हेयर केयर रूटीन में हेयर कंडीशनर (Conditioner) भी एक बहुत ही ज़रूरी स्टेप होता है, लेकिन कई बार महिलाओं के लिए ये केवल एक खयाल बन कर ही रह जाता है। अगर आप भी कंडीशनर का इस्तेमाल करती हैं तो शायद आपने इसे शैंपू की रेंज से ही ले लिया होगा और इसके बारे में ज्यादा नहीं सोचा होगा? लेकिन क्या आप जानती हैं कि आपको किस तरह का शैंपू और किस तरह का कंडीशनर खरीदना चाहिए?
दरअसल, आपको अपनी स्कैल्प के अनुसार शैंपू का चुनाव करना चाहिए। उदाहरण के लिए ड्राई, ऑयली स्कैल्प के आधार पर। इसी तरह से आपको अपने कंडीशनर का चुनाव बालों के अनुसार करना चाहिए। उदाहरण के लिए रफ, ड्राई या फिर फ्रीज़ी बालों के मुताबिक। हो सकता है कि आपकी स्कैल्प ऑयली हो लेकिन आपके बाल ड्राय और रफ हो। इस मामले में आपको ऐसा कंडीशनर चुनना चाहिए जो आपके बालों को मॉइश्चराइज़ करे।
अपने हेयर टाइप (Hair Type) के अनुसार सही कंडीशनर चुनने से आपके बाल कम उलझते हैं, उनकी शाइन बनी रहती हैं और आपके बाल अधिक मैनेजएबल बन जाते हैं। तो चलिए आपको बताते हैं कि आप किस तरह से अपने बालों के अनुसार सही कंडीशनर चुन सकती हैं।

ऐसे चुनें बालों के मुताबिक सही कंडीशनर- Choose Right Conditioner For Your Hair Type in Hindi

ऑयली बालों के लिए

जिन महिलाओं के बाल ऑयली और लिंप होते हैं वो अक्सर ही कंडीशनर को स्किप करना पसंद करती हैं। ऐसे में जब आपके बाल कंडीशनर का इस्तेमाल करने के बाद ग्रीसी और चिपचिपे लगते हैं इसका मतलब है कि आप सही कंडीशनर का इस्तेमाल नहीं कर रही हैं। ऐसे में उन कंडीशनर का इस्तेमाल ना करें जिन पर हाइड्रेटिंग और मॉइश्चराइज़िंग लिखा हो। इसकी जगह आप उन कंडीशनर को खरीदें जिन पर वॉल्यूमाइज़िंग और बैलेंसिंग लिखा हो। साथ ही इस बात का ध्यान रखें कि आप कंडीशनर लगे बालों को धोने से पहले कम से कम 30 सेकेंड के लिए लगाए रखें।

ड्राई और डल बाल

जब आपके बाल डल और ड्राई हैं तो मॉइश्चराइज़र बहुत ही ज़रूरी हो सकता है। इस वजह से ऐसे कंडीशनर का चुनाव करें जो मॉइश्चराइज़िंग, हाइड्रेटिंग, स्मूथनिंग और बैलेंसिंग बेनेफिट्स हों। यहां तक कि आप ऐसे कंडीशनर का भी इस्तेमाल कर सकती हैं, जो कर्ल्स को मैंटेन कर सके। इस तरह के कंडीशनर आपके बालों के मॉइश्चर लेवल को बनाए रखते हैं और साथ ही बालों को स्वस्थ भी रखते हैं। इसके अलावा ड्रायनेस से निपटने के लिए आप महीने में कम से कम 2 बार डीप कंडीशनिंग सेशन ले सकती हैं।

डैमेज, फ्रीजी बाल

अगर आपके बाल बहुत अधिक डैमेज हैं तो आपको ऐसे कंडीशनर खरीदने चाहिए जो बालों को रिपेयर करे और फ्रीज़ को कंट्रोल करें। डैमेज और फ्रीज़ी बालों के लिए फॉर्मुलेटिड कैमिकली ट्रीटेड कंडीशनर बेस्ट होते है। आर्गन और नारियल का तेल आपकी बालों को मज़बूत बनाते हैं और स्वस्थ भी रखते हैं।
प्रो टिप: जब आप कंडीशनर का इस्तेमाल करें तो अपने बालों में इसे मिड-लेंथ से लेकर अंत तक लगाएं। कोशिश करें कि आप स्कैल्प में बिल्कुल भी कंडीशनर ना लगाएं।