home / पैरेंटिंग
डिलीवरी के बाद हेयर लॉस

डिलीवरी के बाद झड़ रहे हैं बाल तो इन होममेड शैंपू से दूर करें हेयर लॉस प्रॉब्लम

माँ बनना इतना आसान नहीं है, जितना लोग समझते हैं। प्रेग्रेंसी के पहले दिन से और पूरे नौ महीने तक गर्भवती के लिए एक-एक दिन बहुत चैलेंजिंग होता है। पोस्ट प्रेग्नेंसी यानि डिलीवरी के बाद हेयर लॉस ऐसे परेशानियों में से एक है। बच्चे को जन्म देने के बाद महिलाओं के शरीर में एस्ट्रोजन हॉर्मोन्स का स्तर गिरने से यह समस्या शुरू होती है। लेकिन इसे लेकर परेशान होने की जरूरत नहीं है।

इस लेख में हम आपको डिलीवरी के बाद हेयर फॉल की समस्या से छुटकारा दिलाने के लिए होममेड शैंपू के बारे में बताने जा रहे हैं। ये शैंपू नैचुरल हैं और इन्हें आप घर पर आसानी से तैयार कर सकती हैं। तो चलिए जानते हैं डिलीवरी के बाद हेयर लॉस कम करने के लिए होममेड शैंपू की विधि और प्रकार के बारे में।

डिलीवरी के बाद हेयर फॉल क्यों होता है? (Causes of Hair fall After Delivery in Hindi)

प्रेग्नेंसी के दौरान महिला के शरीर में एस्ट्रोजन, प्रोजेस्टेरोन, ऑक्सीटोसिन और प्रोलेक्टिन हार्मोन का स्तर बढ़ जाता है। यही वजह है गर्भावस्था में महिलाओं का हेयरफॉल काफी कम हो जाता है। 

वहीं, प्रसव के बाद महिला के शरीर में एस्ट्रोजन और प्रोजेस्टेरोन हार्मोन का स्तर तेजी से गिरता है। इस वजह से हेयर फॉल की परेशानी का सामना करना पड़ता है। हालांकि, ऐसा 6 से 8 महीने के लिए ही होता है। हार्मोन्स के वापस से सामान्य स्तर पर आते ही बालों का झड़ना अपने आप कम हो जाता है। 

डिलीवरी के बाद हेयर लॉस से राहत दिलाएंगे ये होममेड शैंपू (Homemade Shampoo for Postpartum Hairfall in Hindi)

नीचे डिलीवरी के बाद बालों के झड़ने की समस्या को नियंत्रित करने के लिए कुछ होममेड शैंपू के बारे में बता रहे हैं, जो कुछ इस प्रकार हैं:

  1. मेथी दाना और शिकाकाई शैंपू
डिलीवरी के बाद हेयर लॉस
बालों के लिए शिकाकाई

सामग्री:

  • 20 ग्राम शिकाकाई
  • 20 ग्राम रीठा
  • 2 बड़े चम्मच मेथी के बीज
  • 4 कप पानी

बनाने का तरीका:

  • एक बर्तन में पानी उबलने रख दें।
  • पानी के गर्म होने पर उसमें सारी सामग्रियां मिलाएं।
  • इसे 10-15 मिनट तक पकने दें।
  • आंच बंद कर दें।
  • ठंडा होने पर इसे छानकर एक शीशे की बोटल में स्टोर करें।

कैसे है फायदेमंद:

शिकाकाई में विटामिन ए, विटामिन सी, विटामिन के, विटामिन डी के साथ कई एंटीऑक्सीडेंट्स मौजूद होते हैं। ये सभी गुण बालों को स्वस्थ रखने के साथ पोषण देने का काम करते हैं। इसके अलावा, इसमें उच्च मात्रा में एल्केलाइड मौजूद होते हैं, जिस वजह से बालों को साफ करने के लिए इसे उपयोगी माना जाता है। 

वहीं, बात करें मेथी दाने की तो एक शोध में साफतौर से इसे हेयरफॉल की समस्या के लिए उपयोगी बताया गया है। इसके पीछे इसके अर्क में मौजूद फाइटोएस्ट्रोजेन (एस्ट्रोजन हार्मोन को बढ़ावा देने वाला) प्रभाव को उपयोगी बताया गया है। ऐसे में शिकाकाई और मेथी दाने शैंपू को पोस्टपार्टम हेयर फॉल की समस्या को दूर करने के लिए लाभकारी माना जा सकता है।

  1. शिकाकाई और आंवला शैंपू
डिलीवरी के बाद हेयर लॉस
बालों के लिए आंवला

सामग्री:

  • 1/2 कटोरी आंवला पाउडर
  • 1 कटोरी रीठा पाउडर
  • 1/2 कटोरी शिकाकाई
  • 1/2 कटोरी अलसी के बीज

बनाने का तरीका:

  • एक पैन में 4 गिलास पानी डालकर गर्म होने रख दें।
  • पानी में जब उबाल आने लगे तो उसमें सारी सामग्रियां मिला दें।
  • लगभग 15 मिनट बाद मिश्रण गाढ़ा होने लगेगा तो आंच बंद कर दें।
  • अब इसे छान लें और एक शीशे के जार में स्टोर करें।
  • हेयर वॉश के लिए शैंपू बनकर तैयार है।

कैसे है फायदेमंद:

बालों के लिए शिकाकाई के फायदे लेख में ऊपर बताए जा चुके हैं। बात करें आंवले की तो आयुर्वेद में इसे बालों के लिए औषधि बताया गया है। इसमें बालों को बढ़ाने के साथ घना बनाने की क्षमता होती है। कई शोध में इसे हेयरफॉल का टॉनिक बताया गया है।

पोस्टपार्टम हेयर फॉल को रोकने के लिए ध्यान रखने योग्य बातें (Tips to Prevent Postpartum Hair Fall in Hindi)

प्रसव के बाद होने वाले हेयर फॉल को रोकने के लिए लेख में दिए गए नैचुरल शैंपू का इस्तेमाल करने के साथ कुछ बातों का ध्यान रखना जरूरी है, जिनके बारे में नीचे जानकारी दे रहे हैं:

  • नियमित रूप से स्कैल्प पर तेल की चंपी करें। इससे स्कैल्प में ब्लड सर्कुलेशन बेहतर होता है। साथ ही बाल जड़ों से मजबूत हो सकते हैं।
  • बालों को कसकर बांधने से परहेज करें।
  • डाइट का ध्यान रखें। कैल्शियम, प्रोटीन, जिंक, आयरन, विटामिन-डी, विटामिन-सी, विटामिन-ए युक्त खाद्य पदार्थों को आहार में शामिल करें।
  • बालों पर हेयर ड्रायर व आयरन करने से बचें।
  • किसी तरह के केमिकल उत्पादों का इस्तेमाल न करें।
  • तनाव से खुद को कोसों दूर रखें।
  • हेयर कलर, स्मूथनिंग, रिबॉन्डिंग, कैराटिन आदि से दूरी बनाकर रखें।

लेख में आपने होममेड शैंपू के बारे में जाना, जो पोस्टपार्टम हेयर फॉल को काफी हद तक कम करने में मदद कर सकते हैं। ये शैंपू केमिकल बेस्ड शैंपू की तुलना में कम झाग बनाते हैं। परंतु इसका यह मतलब नहीं है कि आपके बाल साफ नहीं होंगे। ये बालों की गंदगी को प्राकृतिक रूप से साफ करते हैं। नियमित रूप से इनके इस्तेमाल के साथ लेख में दी गई अन्य टिप्स को फॉलो कर बालों के झड़ने की समस्या में काफी हद तक कमी आ सकती है।

चित्र स्रोत: Instagram & Freepik

31 Mar 2022

Read More

read more articles like this
good points logo

good points text