home / पैरेंटिंग
प्रेग्नेंसी में फटी एड़ियों

5 ऑर्गेनिक चीजें प्रेग्नेंसी में फटी एड़ियों के दर्द से राहत दिलाएंगी

महिलाओं के लिए मां बनना जिंदगी का सबसे बड़ा सुख और कठिन अनुभव है। जब कोई महिला पेट से होती है, तो वह नौ महीने तक होने वाले कई तरह के शारीरिक और मानसिक कष्टों को सहती है और अपने बच्चे का जिंदगी में आने का इंतजार करती है। 

महिलाओं को गर्भावस्था के दौरान अनगिनत तकलीफों को सामना खुद ही करना पड़ता है। जी मिचलाना, चक्कर आना, उल्टी आना, बॉडी पेन, खाने-पीने का मन ना करना आदि आम परेशानी हैं। बहुत सारी महिलाएं ऐसी भी हैं, जिन्हें गर्भावस्था के दौरान फटी एड़ियों व एड़ियों में सूजन की समस्या से जुझना पड़ता है। गर्भाती महिलाओं में यह समस्या बेहद आम है, लेकिन बहुत कष्टदायी है। महिलाओं के पैरों में दर्द

फटी एड़ियों के कारण गर्भवती को तेज दर्द होता है, जो कई दफा बर्दाश से बाहर होता है। यह दर्द रात के समय ज्यादा परेशान करता है। यह समस्या दूसरी और तीसरी तिमाही में तो और ज्यादा परेशान कर देती है, जब शिशु का आकार भी बढ़ने लगता है। यही वजह है इस लेख में हम गर्भावस्था के दौरान फटी एड़ियों के कारण व घरेलू उपचार के बारे में जानेंगे।

प्रेग्नेंसी में फटी एड़ियों की समस्या क्यों होती है? (Causes of Cracked Heels during Pregnancy in Hindi)

प्रेग्नेंसी के दौरान एड़ियों के फटने के कई कारण हो सकते हैं। गर्भावस्था में हॉर्मोन्स में कई तरह के बदलाव होते हैं। इसके चलते त्वचा की लोच और नमी खोने लगती है। वहीं, गर्भावस्था में पैरों में सूजन आती है, जिस वजह से पैरों का साइज बढ़ता है। ऐसे में त्वचा में लोच व नमी की कमी के कारण एड़ियां फटने लगती हैं। इसके अलावा, गर्भावस्था की दूसरी व तीसरी तिमाही में बेबी बंप बढ़ने लगता है और महिला के शरीर का सारा वजन पैरों पर आ जाता है, जिस कारण एड़ियों पर अधिक दवाब पड़ने से भी यह परेशानी हो सकती है।

गर्भावस्था में फटी एड़ियों के घरेलू उपचार ( Home Remedies for Cracked Heels in Hindi)

प्रेग्नेंसी में फटी एड़ियों से हैं परेशान, तो निम्नलिखित घरेलू उपचार आएंगे आपके काम। चलिए जानते हैं घरेलू उपचार से फटी एड़ियों की समस्या से कैसे राहत पाई जा सकती है:

  1. चावल का आटा, शहद और नींबू

फटी एड़ियों के घरेलू उपचार के तौर पर चावल का आटा और नींबू से तैयार पैक का इस्तेमाल किया जा सकता है। चावल के आटे में हीलिंग प्रभाव होता है, जो डैमेज त्वचा को रिपेयर करने में सहायक हो सकता है। शहद में नमी प्रदान करने वाला गुण होता है और नींबू त्वचा को स्मूद बनाता है। ऐसे में इस पैक को फटी एड़ियों के लिए कारगर इलाज माना जा सकता है। 

उपयोग करने का तरीका:

  • चावल का आटा, शहद और नींबू का रस मिलाकर पेस्ट तैयार करके एक साइड रख लें।
  • अब अपने पैरों को 10 मिनट गर्म पानी में भिगोकर रखें।
  • अब एड़ियों पर तैयार पेस्ट को लगाएं और स्क्रब करें।
  • इस प्रक्रिया को सप्ताह में दो बार किया जा सकता है।
  1. नारियल का तेल
प्रेग्नेंसी में फटी एड़ियों
नारियल तेल

एक शोध में नारियल तेल को त्वचा संबंधित कई परेशानियों के लिए लाभकारी बताया है। यह त्वचा को गहराई से पोषण प्रदान करने के साथ हाइड्रट रखता है। वहीं, ड्राइनेस फटी एड़ियों के मुख्य कारणों में से एक है। इस आधार पर नारियल तेल को फटी एड़ियों के घरेलू नुस्खे के तौर पर उपयोग में लाया जा सकता है।

उपयोग का तरीका:

  • रात को सोते समय एड़ियों को साफ करके नारियल तेल से मसाज करें।
  • जुराबें पहनकर सो जाएं।
  • सुबह एड़ियों को नॉर्मल पानी से साफ कर लें।
  • रोजाना रात को इस प्रक्रिया को दोहराएं।
  1. ऑलिव ऑयल

ऑलिव ऑयल से मसाज करने से भी फटी एड़ियों की परेशानी में कुछ हद तक राहत मिल सकती है। इसमें हीलिंग और एंटी इंफ्लामेटरी यानी सूजन को कम करने वाला गुण पाया जाता है। साथ ही यह त्वचा के पुननिर्माण को बढ़ावा देता है। इस तरह फटी एड़ियों के घरेलू नुस्खे के तौर पर ऑलिव ऑयल का उपयोग किया जा सकता है।

उपयोग करने का तरीका:

  • हथेली में 4-5 बूंदे ऑलिव ऑयल की लें।
  • उंगलियों की मदद से इसे फटी एड़ियों पर लगाएं।
  • रोजाना रात को सोने से आधे घंटे पहले इस प्रक्रिया को दोहराएं।
  1. केला और एवोकाडो मास्क

केला और एवोकाडो दोनों में हीलिंग को बढ़ावा देने वाला प्रभाव पाया जाता है। साथ ही केला एक प्राकृतिक मॉइस्चराइजर है। इसलिए फटी एड़ियों के घरेलू उपचार के तौर पर केला और एवोकाडो से तैयार फुट मास्क का इस्तेमाल लाभकारी हो सकता है।

उपयोग का तरीका:

  • केला और एवोकाडो को पीसकर पेस्ट मिला लें।
  • तैयार पेस्ट को एड़ियों पर लगाकर छोड़ दें।
  • 20 मिनट बाद गुनगुने पानी से पैरों को साफ कर लें।
  • इस प्रक्रिया को रोजाना सोने से पहले दोहराएं।
  1. एलोवेरा जेल
प्रेग्नेंसी में फटी एड़ियों
एलोवेरा जेल

फटी एड़ियों के लिए एलोवेरा को वरदान समान है। इसके पीछे इसमें मौजूद हीलिंग व मॉइस्चराइजिंग गुण को प्रभावी माना जाता है। एलोवेरा फटी एड़ियों को भरने के साथ स्मूथ बनाता है। 

उपयोग करने का तरीका:

  • रात को सोने से पहले गुनगुने पानी से भरे टब में पैर को डूबोकर रखें।
  • 10 मिनट बाद पैरों को निकालकर अच्छे से सूखा लें।
  • अब एलोवेरा जेल से फटी एड़ियों पर मसाज करें।
  • मोजा पहनकर सोएं।
  • सुबह उठकर एड़ियों को पानी से साफ कर लें।
  • हफ्ते में एक बार इस प्रक्रिया को अपनाया जा सकता है।

प्रेग्नेंसी में फटी एड़ियों से बचाव के उपाय (Preventions from Cracked Heels during Pregnancy in Hindi)

नीचे कुछ टिप्स बता रहे हैं, जो प्रेग्नेंसी में फटी एड़ियों की समस्या से बचाव में सहायक भूमिका निभा सकते हैं।

  1. अच्छी क्वालिटी के जूतों का चुनाव करें, जिनमें अच्छे कुशन हो। इससे पैरों को चलते समय अच्छा सपोर्ट मिलता है। बिना फुटवियर व जूतों के चलना एवॉइड करें। हाई हील्स पहनने से परहेज करें।
  2. फटी एड़ियों से बचाव के लिए एक अच्छे मॉइस्चराइजर का चयन करें। चाहें तो वेसलीन या नारियल तेल का भी इस्तेमाल कर सकती हैं। दिन भर पैरों पर नमी बरकरार रखने के लिए मॉइस्चराइजर का इस्तेमाल करें।
  3. पैरों की साफ-सफाई का खास ख्याल रखें।
  4. विटामिन-सी, विटामिन-ई युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन करें।
  5. त्वचा को हाइड्रेट रखने के लिए पर्याप्त मात्रा में पानी पीएं।

लेख में ऊपर प्रेग्नेंसी में फटी एड़ियों के घरेलू उपाय दिए गए हैं। इन्हें फॉलों करते समय ध्यान रखें कि इनका परिणाम नजर आने में कुछ समय लग सकता है। ऐसा नहीं है कि रातों रात आराम मिल जाएगा। यदि इन उपायों के बाद भी एड़ियों की हालत में सुधार नहीं है व खून आ रहा है, तो इसके लिए त्वचा विशेषज्ञ से परामर्श लेना बेहतर होगा।

Pic Credit: Freepik

23 Mar 2022

Read More

read more articles like this
good points logo

good points text