लाइफस्टाइल

पिस्ता खाने के फायदे – Pista Khane ke Fayde

Anu VermaAnu Verma  |  Jun 20, 2019
पिस्ता खाने के फायदे - Pista Khane ke Fayde

गर्मी के मौसम में आइसक्रीम खाने की चाहत हो और पिस्ता फ्लेवर मिल जाए, तो मज़ा ही आ जाता है। घर में खीर बनी हो या फिर कोई स्वीट डिश, पिस्ता के बिना उसकी सजावट और स्वाद, दोनों ही अधूरे हैं। मुंह में जाते ही पिस्ता जिस तरह से घुलता है, स्वाद भूलते नहीं भूलता। यही वजह है कि पिस्ता अब आपके किचन का परमानेंट सदस्य बन चुका है। दरअसल, पिस्ता न सिर्फ आपके स्वाद को, बल्कि आपकी सेहत और त्वचा की खूबसूरती को भी बरकरार रखता है। यह न सिर्फ हेल्दी फैट, फाइबर, एंटी ऑक्सीडेंट के रूप में फायदेमंद है, बल्कि प्रोटीन का भी बेहतरीन स्रोत है। इसीलिए डॉक्टर्स पिस्ता को अपने खान- पान का अहम हिस्सा बनाने की सलाह देते हैं। पिस्ता हरे रंग का होता है और अखरोट की तरह ही खोल में होता है। उस खोल को हटाते ही अंदर हरे रंग की स्वादिष्ट चीज नजर आती है, जो कि स्वाद में कुछ- कुछ कागजी बादाम की तरह होती है। अक्सर लोग कागजी बादाम और पिस्ता में कंफ्यूज भी हो जाते हैं। बहरहाल, पिस्ता को अंग्रेजी में पिस्ताचियो (pistachios) कहते हैं। आम बोलचाल में इसे पिस्ता ही कहते हैं। पहले लोगों को यह गलतफहमी थी कि पिस्ता केवल स्वीट डिश की गार्निशिंग में ही काम आता है। लेकिन अब हम आपको बताएंगे कि पोषक गुणों से भरपूर पिस्ता ऊर्जा का बेहतरीन स्रोत भी है।

पिस्ता के गुण – Nutrients of Pistachios in Hindi

पिस्ता की खास बात है कि यह न सिर्फ खाने में स्वादिष्ट होता है, बल्कि इसमें कई पोषक गुण भी पाए जाते हैं। पिस्ता में हेल्दी फैट, फाइबर, प्रोटीन जैसे कई पोषक तत्व होते हैं, जो कि शरीर को कई बीमारियों से लड़ने में मदद करता है। इसमें अच्छी कैलोरी, कार्ब, फाइबर, प्रोटीन, फैट, पोटैशियम, फॉस्फोरस, विटामिन बी 6, कॉपर और मैंग्नीज की प्रचुर मात्रा होती है, जिससे सेहत काफी अच्छी हो जाती है।

पिस्ता के फायदे – Pista ke Fayde

Pista ke Fayde

पिस्ता को नियमित डाइट में शामिल करने की राय डायटीशियन्स भी देते हैं। इसकी कई वजहें हैं, जिनमें इसका बेहतरीन एंटी ऑक्सीडेंट होना प्रमुख हैं। यही वजह है कि इसके नियमित सेवन से शरीर में होने वाली बीमारियों से निजात मिलती है।

पाचन क्रिया की परेशानी होगी छू मंतर

पिस्ता की यह खूबी होती है कि इसके सेवन से आपको अपच जैसी बीमारियों से भी छुटकारा मिलता है। अगर इसे सही मात्रा में खाया जाए तो पेट से संबंधित कई बीमारियों से छुटकारा पाना आसान होता है। इसलिए डॉक्टर इसके सेवन की सलाह देते हैं।

Pista Khane ke Fayde

वजन नियंत्रित हो फटाफट

कम लोगों को ही इस बात की जानकारी है कि पिस्ता खाने से वजन कम किया जा सकता है। पिस्ता ड्राईफ्रूट की श्रेणी में आता है, जिसकी वजह से लोगों को कई बार गलतफहमी हो जाती है कि यह शरीर का वजन बढ़ाने में भी सहायक होगा। जबकि हकीकत यह है कि पिस्ता में भरपूर मात्रा में फाइबर और प्रोटीन पाया जाता है और इन दोनों तत्वों के कारण आपको ज्यादा भूख नहीं लगती है। इससे आप अधिक भोजन करने से बच जाते हैं। यकीन न हो तो लगातार 12 हफ्तों तक पिस्ता का सेवन कर आप अपने वजन में खुद इसका फर्क महसूस कर सकते हैं। पिस्ता की खास बात यह है कि इसे स्रैक्स में भी शामिल किया जा सकता है और ज्यादा बेहतर परिणाम के लिए हर दिन कम से कम दो बार पिस्ता खाने की सलाह दी जाती है।

दिल के मरीजों का दोस्त

जी हां, पिस्ता की खास बात यह है कि दिल के मरीज भी इसे बिना रुकावट के खा सकते हैं। पिस्ता आपके शरीर में बढ़े हुए कोलेस्ट्रॉल के स्तर को घटाने में महत्वपूर्ण साबित होता है इसलिए हृदय के मरीजों को इसे खाने की सलाह दी जाती है। पिस्ता अच्छे कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाने में मदद भी करता है। एचडीएल शरीर में हृदय रोग के खतरे को कम करता है।

benefits of pista in hindi

खून संबंधी बीमारियों में रामबाण

अमूमन डायबिटीज के मरीजों को काफी परहेज करना पड़ता है लेकिन पिस्ता ऐसी चीज है, जो न सिर्फ डायबिटीज के मरीजों को जरूरी पोषक तत्व देता है, बल्कि हीमोग्लोबिन बढ़ाने में भी सहयोग करता है। यही नहीं, ब्लड प्रेशर को भी समान रखने में मदद करता है। दरअसल, पिस्ता में फॉस्फोरस के करीब 60 प्रतिशत गुण होते हैं। यही वजह है कि पिस्ता टाइप2 डायबिटीज के रोगियों के लिए किसी रामबाण से कम नहीं होता है। पिस्ता में मौजूद फॉस्फोरस प्रोटीन को अमीनो एसिड में तोड़ने का काम करता है, इससे भी काफी फायदा होता है। वहीं विटामिन बी 6 के कारण हीमोग्लोबिन बढ़ने में काफी मदद मिलती है।

आंखों को करे दुरुस्त

पिस्ता में मौजूद कैरोटिनॉइड आंखों में मोतियाबिंद जैसी आयु संबंधी समस्याओं से आंखों की रक्षा करता है। इससे रेटिना क्षति की आशंका कम हो जाती है।

अन्य बीमारियों से भी छुटकारा

पिस्ता मे मौजूद तत्व नींद की बीमारी को दूर भगाने में भी काफी सहायक होते हैं। यही नहीं पिस्ता के अन्य लाभ ये भी हैं कि यह आपके इम्यून सिस्टम को और अधिक दुरुस्त करने में सहायक होता है। इसमें मौजूद विटामिन बी 6 के कारण यह कैंसर रोधक भी होता है। साथ ही कई तरह के संक्रमण से भी बचाता है।

पिस्ता खाने के आयुवेर्दिक फायदे

Pista in Hindi

आसानी से उपलब्ध, शाकाहारी के लिए बेस्ट

पिस्ता की सबसे खास बात यह है कि हेल्दी होने के साथ- साथ यह कहीं भी किसी भी जगह पर आसानी से उपलब्ध होता है। शाकाहारियों के लिए इससे बेहतरीन फूड ऑप्शन कुछ नहीं हो सकता है।

वर्कप्लेस और सफर में भी साथ निभाए

ऐसे कई खाद्य पदार्थ हैं, जो आप सफर पर साथ नहीं रख सकते हैं लेकिन पिस्ता को आप अपने वर्कप्लेस सफर के दौरान अपने पास रख सकते हैं। यह महीनों तक खराब नहीं होता है। अगर इसे किसी अच्छे डिब्बे में, खासतौर पर कांच के डिब्बे में रखा जाए तो यह सबसे ज्यादा फ्रेश रहता है।

स्वीश डिश का बेस्ट फ्रेंड

घर पर स्वीट डिश बनाने में पिस्ता का काफी इस्तेमाल किया जाता है। आइसक्रीम से लेकर खीर, रबड़ी, सेंवई तक, हर तरह की डिश में इसके उपयोग से स्वाद दोगुना हो जाता है। साथ ही पिस्ता से की गई गार्निशिंग डिश को एक खूबसूरत टच भी देती है।

pista benefits  in hindi

पिस्ता खाने का तरीका – Pista Khane ka Tarika

बेशक पिस्ता एक अच्छा और स्वास्थ्य वर्धक फूड ऑप्शन है लेकिन जाहिर है कि किसी भी चीज की अति सही नहीं होती है। पिस्ता भी अत्यधिक मात्रा में नहीं खाया जाना चाहिए। पिस्ता खाने का सबसे सही वक्त सुबह का माना जाता है। आप इसे नाश्ते से पहले एक मुट्ठी खा लें और फिर शाम में स्नैक्स के रूप में खा लें। दिन में दो बार बराबर मात्रा में इसका सेवन करें। आप चाहें तो अपने भोजन में भी इसका इस्तेमाल कर सकते हैं लेकिन मात्रा का ध्यान रखना जरूरी है। पिस्ता की खास बात यह भी है कि आप इसे रोजाना दूध के साथ या किसी डिश में डालकर भी खा सकते हैं। त्योहारों में तो सारी स्वीट डिशेज़ में इसका इस्तेमाल होता ही है, ठंडाई और आइसक्रीम में भी इसके इस्तेमाल को अहमियत दी जाती है। इसकी खुशबू खाने के लालच को और बढ़ा देती है।
पिस्ता के फायदों के साथ ही आपको इसे खाने के नुकसान भी पता होने चाहिए। पिस्ता खाने से कई लोगों को डायरिया और उल्टी जैसी परेशानियां भी हो जाती हैं। इसलिए इसे सीमित मात्रा में खाना जरूरी है। पिस्ता में उच्च मात्रा में फाइबर और प्रोटीन पाया जाता है इसलिए सही मात्रा में खाने से आपका वजन घटेगा। मगर इसे ज्यादा मात्रा में खाना वजन बढ़ा भी सकता है। इसलिए इसे खाने की तरह नहीं, बल्कि हर दिन की खुराक के अनुसार ही खाएं।

pistachios

पिस्ता में सोडियम का भी निम्न स्तर होता है और कम मात्रा में सोडियम मौजूद होने के कारण अगर अत्यधिक मात्रा में सेवन करेंगे तो ब्लड प्रेशर सामान्य बढ़ जायेगा। पिस्ता में फ्रक्टांस नामक एक कंपाउंड भी होता है, जो गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल (गैस) की समस्या को उत्पन्न करता है। यह हानिकारक नहीं होता है लेकिन अधिक मात्रा में सेवन करने से पाचन को खराब कर सकता है। इसलिए जरूरी है कि इसका सेवन कम और सही समय पर किया जाए।

त्वचा की खूबसूरती बढ़ाने में सहायक

पिस्ता के न सिर्फ स्वास्थ्य लाभ हैं, बल्कि इसमें कई तरह के ऐसे तत्व भी मौजूद हैं, जो आपकी त्वचा के लिए भी उपयुक्त हैं। पिस्ता में विटामिन ई होता है, जो एक एंटी ऑक्सीडेंट भी है। इसके अलावा यह हानिकारक अल्ट्रावॉयलेट किरणों से भी त्वचा को बचाता है और स्किन की तमाम बीमारियों से रक्षा करता है। इसके सेवन से त्वचा आकर्षक और सुंदर होती है। यह एक प्राकृतिक मॉइश्चराइजर भी है, जिसकी वजह से आपके चेहरे पर बढ़ती उम्र का पता नहीं चलता है यानि यह एंटी एंजिंग भी है। इसे खाने से झुर्रिया भी नहीं होती हैं। यह त्वचा को जवां बनाये रखने में भी सहायक है।

बालों के लिए भी फायदेमंद

पिस्ता में मौजूद बायोटिन, बालों को गिरने से रोकने में मदद करते हैं। यही वजह है कि इसके सेवन से बाल रेशमी और स्वस्थ बनते हैं। इसके सेवन से बालों में विभाजन की समस्या भी रुक जाती है।

पिस्ता के इस्तेमाल से बनने वाली डिश

काजू और पिस्ता रोल रेसिपी

सामग्री : 750 ग्राम काजू, 300 ग्राम पिस्ता, 800 ग्राम शुगर क्यूब्स, इलायची पाउडर
विधि : काजू को भिगो लें। पिस्ता का छिलका उतार लें। इन दोनों को अलग- अलग पीस कर पेस्ट बना लें। इसके बाद 650 ग्राम चीनी को काजू और 150 ग्राम चीनी को पिस्ता के मिश्रण में मिलाएं। अब इन्हें तब तक पकाएं, जब तक चीनी पूरी तरह से घुल न जाए। दोनों को अलग- अलग पकाएं। फिर इसमें इलायची पाउडर डालें। इसके बाद इसे कड़ाही से निकाल कर, काजू और पिस्ता की एक शीट बना लें और इसे बीच में रोल करें। गार्निश के लिए सिल्वर फॉइल लगा दें। फिर सर्व करें।

पिस्ता के इस्तेमाल को लेकर पूछे गए सवाल और जवाब

मैंने सुना है कि पिस्ता खाने से वजन बढ़ता है। इस बात में कितनी सच्चाई है?

दरअसल, यह एक मिथ है। हालांकि यह इस बात पर भी निर्भर करता है कि आखिर पिस्ता किस तरीके से खाया जा रहा है और कब खाया जा रहा है। अब अगर आप स्वीट डिश में हर दिन इसे डाल कर अधिक मात्रा में खाएंगे तो वजन बढ़ेगा ही। वहीं सुबह के वक्त इसे सही मात्रा में खाएंगे तो वजन बढ़ेगा नहीं बल्कि कंट्रोल होगा और आपको बहुत भूख भी नहीं लगेगी।

क्या पिस्ता खाने से बालों में भी मजबूती आती है?

जी हां, बिल्कुल आती है। इसमें मौजूद बायोटिन बालों की खूबसूरती को बढ़ाने में सहायक होता है और वह आपके बालों को मॉइश्चराइज भी करता है। इससे आपके बालों का विकास भी होता है।

क्या पिस्ता को एक बार खरीद कर कई महीनों तक इस्तेमाल किया जा सकता है?

हां, मगर आपको सही दुकान का चुनाव करना होगा। कई बार पिस्ता खराब होने की वजह से वह घर पर जल्द ही खराब होने लगता है। अगर बारिश का मौसम है तो अधिक मात्रा में इसे न खरीदें और कोशिश करें कि इसे प्लास्टिक की बजाय शीशे के डिब्बे में बंद करके रखें।

क्या डायबिटीज के मरीज भी इसका सेवन कर सकते हैं?

जी हां, बिल्कुल कर सकते हैं। हर दिन नियमित मात्रा में इसके सेवन से फायदा होता है। टाइप2 डायबिटीज मरीज के लिए यह किसी रामबाण से कम नहीं है।

हृदय के मरीजों के लिए यह किस तरह लाभदायक है? क्या इसे सुबह या शाम नाश्ते में खा सकते हैं?

एक बात का खास ख्याल रखना जरूरी है कि इसे सुबह नाश्ते में या शाम के स्रैक्स में खाना है, नाश्ते की तरह ही नहीं खाना है। कई लोग पूरी प्लेट भर कर महीने भर की खुराक एक दिन में खा जाते हैं लेकिन ऐसा नहीं करना है। पिस्ता को हल्का फ्राई करके चाट मसाले के साथ भी खाया जा सकता है। वह भी काफी टेस्टी लगता है। जहां तक बात है हृदय के मरीजों की तो यह सच है कि पिस्ता हृदय रोग को रोकने में सहायक होता है।

ये भी पढ़ें : 

जिलेटिन के स्वास्थ्य संबंधित लाभ
जानिए अश्वगंधा कैसे रखता है आपके स्वास्थ्य और सौंदर्य का ख्याल
त्वचा के लिए बादाम तेल के फायदे – Benefits Of Almond Oil For Skin
चुकंदर के स्वास्थ्य लाभ
बालो और स्किन के लिए मखाना खाना है फायदेमंद

(लेखक – अनु वर्मा)

(आपके लिए खुशखबरी! POPxo शॉप आपके लिए लेकर आए हैं आकर्षक लैपटॉप कवर, कॉफी मग, बैग्स और होम डेकोर प्रोडक्ट्स और वो भी आपके बजट में! तो फिर देर किस बात की, शुरू कीजिए शॉपिंग हमारे साथ।) .. अब आयेगा अपना वाला खास फील क्योंकि Popxo आ गया है 6 भाषाओं में … तो फिर देर किस बात की! चुनें अपनी भाषा – अंग्रेजीहिन्दीतमिलतेलुगूबांग्ला और मराठी.. क्योंकि अपनी भाषा की बात अलग ही होती है।

स्मरण शक्ति कमजोर होने के लक्षण