home / एंटरटेनमेंट
Harnaaz Sandhu on weight Gain

हरनाज संधू ने बताया कि उन्हें सीलिएक डिजीज है, वेट गेन पर ट्रोल्स को दिया करारा जवाब 

मिस यूनिवर्स हरनाज संधू जब से लैक्मे फैशन वीक में रैंप पर दिखी हैं तभी से वो लगातार ट्रोल्स के निशाने पर हैं। अंतरराष्ट्रीय मंच पर 21 साल बाद मिस यूनिवर्स का खिताब जीतकर देश का मान बढ़ाने वाली हरनाज ने अब बॉडी शेमिंग करने वाले ट्रोल्स को जवाब दिया है। 

हरनाज ने बॉडी शेमिंग पर बात करते हुए कहा कि मैं वो लड़की हूं जिसे पहले बहुत स्किनी होने के लिए ट्रोल किया गया और अब सब कह रहे हैं कि मोटी हो गई। किसी को पता नहीं है कि मुझे सीलिएक डिजीज है और मैं गेहूं का आटा और ऐसी बहुत सारी चीजें नहीं खा सकती हूं। हरनाज ने बताया कि अलग-अलग जगह जाने की वजह से भी उनकी बॉडी में बहुत सारे बदलाव आए हैं। उन्होंने कहा, जगह बदलने से भी बॉडी में कई बदलाव दिखते हैं। जैसे कई पंजाब जाए या कहीं जाए तो बॉडी में वेट गेन होने लगेगा। मेरे साथ भी यही हुआ है। मैं यहां से न्यू यॉर्क जाकर रहने लगी और ये मेरे लिए बहुत अलग था।  बता दें, मिस यूनिवर्स ऑर्गनाइजेशन की स्पोक्सपर्सन के तौर पर मिस यूनिवर्स को ऐसी बहुत सारी जिम्मेदारी दी जाती हैं जिसके लिए उन्हें अलग-अलग देश और शहरों में घूमना पड़ता है।

साभार- इंस्टाग्राम

हरनाज ने बताया कि उनकी बॉडी पर लोगों के रिएक्शन से उन्हें कोई फर्क नहीं पड़ता है, क्योंकि वो बॉडी पॉजिटिव बातों में विश्वास करती हैं और पहली बार किसी मिस यूनिवर्स के साथ ऐसा हो रहा है। मिस यूनिवर्स के मंच पर हम वुमन एम्पॉवरमेंट, वूमनहुड और बॉडी पॉजिटिव बातें करते हैं। जो लोग मिस यूनिवर्स नहीं हैं लेकिन रोज ट्रोल किए जा रहे हैं उनके लिए मैं ये संदेश दे रही हूं कि मैं गॉर्जियस महसूस कर रही हूं, आप भी बहुत खूबसूरत हैं।

साभार- इंस्टाग्राम

हो सकता है कि मैं बहुत खूबसूरत नहीं हूं, लेकिन मैं उन में से एक हूं जो साहस और कॉन्फिडेंस के साथ ये मानती हैं कि मैं मोटी हूं या मैं पतली हूं, ये मेरी बॉडी है और मैं इससे प्यार करती हूं। मुझे बदलाव पसंद है और आपको भी इसे पसंद करना चाहिए क्योंकि ये सबके साथ हो सकता है। अगर लाइफ में चुनौती आ रही हैं तो आपको इसके लिए धन्यवाद देना चाहिए क्योंकि इसका मतलब है कि कुछ अच्छा होने वाला है। 

क्या होता है सीलिएक रोग

इम्यून रिएक्शन की वजह से होने वाली इस बीमारी में व्यक्ति ग्लूटेन वाली चीजें नहीं खा पाता है। गेहूं, बार्ले जैसी चीजों में मिलने वाला ग्लूटेन से ऐसे मरीजों को एलर्जी होती है और इसे खाने से उन्हें काफी परेशानियां होने लगती हैं। ऐसे मरीजों में ग्लूटेन की वजह से स्टमक ब्लोट करना, थकान, आयरन की कमी से अनीमिया, सिर में दर्द और मिचली, जॉइंट में पेन जैसी समस्या दिखती है। हरनाज की तरह जगह बदलने पर बॉडी में कई तरह के बदलाव भी आ सकते हैं। इस बिमारी को नियंत्रित करने के लिए मरीज को अपने खान पान से ग्लूटेन वाली चीजों को हटाना पड़ता है। ऐसे मरीज डॉक्टर की सलाह से वो एक अच्छी और हेल्दी लाइफ जी सकते हैं।

01 Apr 2022

Read More

read more articles like this
good points logo

good points text