home / एंटरटेनमेंट
एक्ट्रेस गीता बसरा ने कहा आसान नहीं था दोबारा मां बनना, 2 बार मिसकैरिज के बाद दिया बेटे को जन्म

एक्ट्रेस गीता बसरा ने कहा आसान नहीं था दोबारा मां बनना, 2 बार मिसकैरिज के बाद दिया बेटे को जन्म

इन दिनों तो स्टार कपल्स के घर नन्हें मेहमानों के आने का तांता सा लग गया है। आये दिन किसी न किसी सेलिब्रिटी की प्रेग्नेंसी की खबर सुनने को मिल ही जाती है। हाल ही में इंडियन क्रिकेट टीम के खिलाड़ी हरभजन सिंह (Harbhajan Singh) और उनकी पत्नी गीता बसरा (Geeta Basra) ने दूसरी बार पैरेंट्स बने हैं। गीता ने बेटे को जन्म दिया है, जिसकी खुशी हरभजन सिंह ने अपने सोशल मीडिया पोस्ट के जरिए शेयर की थी। इसी बीच गीता बसरा ने खुलासा किया है कि दूसरे बच्चे की डिलीवरी से पहले 2 बार उनका मिसकैरिज हो चुका है।

एक मीडिया इंटरव्यू के दौरान गीता बसरा ने अपने दोबारा मां बनने के सफर के बारे में कुछ चौंका देने वाले खुलासे किये। उन्होंने बताया कि उनका बेटा जोवान एक ‘रेनबो बेबी’ है। क्योंकि वो बहुत मुश्किलों के बाद पैदा हुआ है। गीता ने बताया कि उनका पहला मिसकैरिज साल 2019 में हुआ था और दूसरा साल 2020 में। दोनों बार उनका मिसकैरिज पहले ट्राइमेस्टर में हुआ था। उन्होंने बताया कि इस मुश्किल समय में उनके पति हरभजन हमेशा सहारा बने और साथ खड़े रहे। 

उम्मीद कभी नहीं खोनी चाहिए

गीता ने बताया कि अगर पहले ट्राइमेस्टर में मिसकैरिज हो जाए तो मां को बहुत दुख होता है। लेकिन वहीं गीता बसरा ने उन सभी महिलाओं से उम्मीद ना खोने की सलाह दी है जिन्हें मिसकैरेज हुआ है। उन्होंने कहा कि चुप रहकर दर्द नहीं सहना चाहिए। गीता ने कहा कि ‘इसमें कोई शक नहीं है कि पिछले दो साल मेरे लिए दर्दनाक रहे हैं लेकिन मैंने खुद को हिम्मत हारने से रोका। मिसकैरेज के बाद एक महिला के हार्मोन बहुत ऊपर-नीचे होते हैं। उनके लिए संयम बनाए रखना बहुत मुश्किल होता है। मैंने खुद को मजबूत रखा और खुद को टूटने नहीं दिया।’ 

दो बच्चे तो चाहिए ही थे 

दूसरी बार मिसकैरेज होने के बाद गीता और हरभजन कुछ समय तक अपने माता-पिता के साथ रहे। दूसरी बार प्रेग्नेंट होने पर गीता अपने ससुराल में थीं और उन्होंने हर तरह से सावधानी बरती। गीता ने कहा, ‘एक लड़की को अपने आस-पास एक सपोर्ट सिस्टम की जरुरत होती है। शादी से पहले ही मैंने सोच लिया था कि मुझे एक नहीं दो बच्चे चाहिए। भाई-बहनों के बीच रिश्ता मजबूत होना चाहिए और पहले बच्चे को हमेशा कंपनी चाहिए होती है। मेरी बेटी हिनाया 5 साल की है। अगर सब सही होता तो हिनाया 3 साल की होती।’

योग से किया तनाव कम

गीता ने बताया जब जोबान के आने के बारे में पता चला तो वो मुंबई आ गई और तीन महीने आराम किया और सारी दवाई समय पर ली। इसके बाद उन्होंने योगा करना शुरू किया। इससे स्ट्रेस बिल्कुल खत्म हो गया और इससे उन्हें प्रेगनेंसी के 9 महीनों के दौरान भी काफी हेल्प मिली। इसके बाद उन्हें एहसास हुआ कि योग की वजह से उनका सबकुछ ठीक हो गया। 

आपको बता दें कि हरभजन सिंह और गीता बसरा ने साल 2015 में शादी की थी। शादी के 1 साल बाद ही यानि साल 2016 में इनके घर बेबी हिनाया का जन्म हुआ था। इसके बाद गीता बसरा का पहला मिसकैरेज 2019 में हुआ था। उनका दूसरा मिसकैरेज साल 2020 में हुआ था। लेकिन उसके बाद 10 जुलाई 2021 को गीता बसरा और हरभजन सिंह के बेटे का जन्म हुआ। 

ये भी पढ़ें –

एक्सपर्ट से जानिए ब्रेस्टफीडिंग कराने वाली मां को क्या खाना चाहिए और क्या नहीं 

एक्सपर्ट से जानिए प्रेगनेंसी के दौरान योग करना महिला और शिशु के लिए क्यों है फायदेमंद 

दीया मिर्जा ने दिया बेट को जन्म, 2 महीने पहले ही हो गई थी डिलीवरी लेकिन इस वजह से किसी को नहीं बताया

POPxo की सलाह: MYGLAMM के ये शनदार बेस्ट नैचुरल सैनिटाइजिंग प्रोडक्ट की मदद से घर के बाहर और अंदर दोनों ही जगह को रखें साफ और संक्रमण से सुरक्षित!

03 Aug 2021

Read More

read more articles like this

Read More

read more articles like this
good points logo

good points text