Advertisement

एंटरटेनमेंट

रिव्यू – लड़कियों का नया संसार है ‘वीरे दी वेडिंग’

Deepali PorwalDeepali Porwal  |  Jun 1, 2018
रिव्यू – लड़कियों का नया संसार है ‘वीरे दी वेडिंग’

फिल्म ‘वीरे दी वेडिंग’ लड़कियों की नई दुनिया की कहानी है। यहां दोस्ती है, मस्ती है, ड्रामा है, प्यार है, परिवार है, परफेक्ट हॉलिडे है और लड़कियों की ढेर सारी गपशप। यह फिल्म चार सहेलियों की कहानी है, जो अपने मन-मुताबिक ज़िंदगी जीने में विश्वास करती हैं। उनके लिए उनकी दोस्ती और हर सुख-दुख की घड़ी में एक-दूसरे का साथ बहुत ज़रूरी है। तो आइए पहले मिलते हैं इस कहानी के मुख्य किरदारों, यानि कि चारों सहेलियों से। हो सकता है कि इनमें से कोई आप या आपकी करीबी भी हों। पढ़ें वीरे दी वेडिंग का रिव्यू।

फिल्म के कलाकार : करीना कपूर, स्वरा भास्कर, शिखा तल्सानिया, सोनम कपूर, सुमित व्यास

वीरे दी वेडिंग रिव्यू : 

  1. कालिंदी (करीना कपूर) शादी नहीं करना चाहती है क्योंकि उसने बचपन से अपने पेरेंट्स को लड़ते-झगड़ते देखा है। हालांकि बाद में वह अपने प्रेमी ऋषभ (सुमित व्यास) से शादी के लिए हां कह देती है, जिसमें हुए ड्रामे की आधी कहानी है ‘वीरे दी वेडिंग’।
  2. अवनी (सोनम कपूर) एक डिवोर्स लॉयर है और शादी में यकीन रखती है। एक परफेक्ट पार्टनर की तलाश में वह अक्सर ‘ग्रूम हंटिंग’ में व्यस्त रहती है।
  3. साक्षी सोनी (स्वरा भास्कर) अपने मम्मी-पापा की लाडली है और फिलहाल पति से अलग रह रही है। वह मोहल्ले की आंटियों की बिचिंग से बहुत परेशान है और फिल्म के आखिरी सीन में उन्हें मुंह तोड़ जवाब देती है।
  4. मीरा (शिखा तल्सानिया) एक प्यारी चुलबुली लड़की है, जिसने फॉरेनर (एडवर्ड सॉनेनब्लिक) से शादी की है और दोनों का एक छोटा सा बच्चा भी है। हालांकि फॉरेनर से शादी करने की वजह से मीरा की फैमिली ने उससे अपना रिश्ता खत्म कर दिया है।
  5. कालिंदी (करीना कपूर) की शादी के लिए सारी सहेलियां इकट्ठा होती हैं और फिर शुरू होता है ड्रामा, उलझनें, सुख-दुख, मौज-मस्ती और वेडिंग का धूमधड़ाका।
  6. यह फिल्म आज के यूथ की मेंटैलिटी को दर्शाती है, जो शादियों के धूमधड़ाके के बजाय एक सिंपल वेडिंग में भरोसा रखती है। ऋषभ (सुमित व्यास) के पिता को जेल होने के बाद के कुछ संवाद वाकई बहुत टचिंग हैं, जैसे कि ‘शादी में आए मेहमानों को इटैलियन खाना खिलाएंगे, भले ही बाद में खुद को जेल का खाना- खाना पड़े।’Veere Di Wedding Poster
  7. यह फिल्म बीच- बीच में दर्शकों को यह भी समझाती है कि 21 वीं सदी में जीने के बावजूद कुछ रिवाज या लोगों का व्यवहार ऐसा है, जो किसी भी सदी में शायद ही बदल पाए।
  8. फिल्म में गालियों की भरमार शायद कुछ दर्शकों को अजीब लग सकती है पर उससे परेशान होने की ज़रूरत नहीं है क्योंकि फिल्म को ए-सर्टिफिकेट मिला हुआ है।
  9. फुकेट हॉलिडे वाला सीन देखकर किसी का भी अपने गर्ल्स गैंग के साथ आउटिंग पर जाने का मूड बन सकता है। इस फिल्म को देखकर समझ में आता है कि हालात कैसे भी हों, ज़िंदगी में कुछ लोग ऐसे होने चाहिए, जिनके साथ मुश्किल से मुश्किल लम्हा भी आसान सा लगने लगे।FI Veere din wedding poster
  10. दोस्ती की इस कहानी से यह भी सबक मिलता है कि अगर मन में कोई बात हो या आप किसी परेशानी से जूझ रहे हैं तो उसे अपने करीबियों से शेयर करने से ही उसका हल मिल सकता है।

फिल्म की सीख – इंसान अपनी गलतियों से ही सीखता है इसलिए कोई गलती हो जाने पर उससे घबराने के बजाय उसे सुधार कर आगे बढ़ने की कोशिश करनी चाहिए।

फिल्म के चारों कलाकारों की एक्टिंग तो दमदार है ही, सभी साथी कलाकारों ने भी तारीफेकाबिल काम किया है। ‘वीरे दी वेडिंग’ के डायलॉग के साथ ही इसका संगीत भी दर्शकों को फिल्म से बांधे रहेगा। करीना कपूर की कमबैक फिल्म उनके करियर की दूसरी पारी के हिसाब से काफी अच्छी साबित होगी। खास बात है कि लड़कियों की इस फिल्म की पूरी बैकग्राउंड टीम भी फीमेल है। खास बात है कि शशांका घोष के निर्देशन में बनी ‘वीरे दी वेडिंग’ की निर्माता शोभा कपूर, रिया कपूर और एकता कपूर हैं और फिल्म की पटकथा की को-राइटर हैं निधि मेहरा हैं। 

अगर दोस्तों के साथ अच्छा वक्त बिताना चाहते हैं तो इस वीकेंड अपने गैंग के साथ ‘वीरे दी वेडिंग’ जरूर देखें।

ये भी पढ़ें :