home / xSEO
भुने चने खाने के फायदे - Bhuna Chana Khane ke Fayde,Bhuna Chana Benefits in Hindi

भुने चने खाने के फायदे और नुकसान – Bhuna Chana Khane ke Fayde aur Nuksan

चने, जिसे गारबैंज़ो बीन्स के रूप में भी जाना जाता है, हजारों वर्षों से मध्य पूर्वी देशों में उगाया और खाया जाता रहा है। उनका पौष्टिक स्वाद और दानेदार बनावट कई अन्य खाद्य पदार्थों और सामग्रियों के साथ अच्छी तरह से मेल खाता है। विटामिन, खनिज और फाइबर के एक समृद्ध स्रोत के रूप में, चने कई तरह के स्वास्थ्य लाभ प्रदान कर सकते हैं, जैसे वजन कम करना, पाचन में सुधार करना और बीमारी के जोखिम को कम करना। वैसे तो बाजार में कई तरह के प्रोटीन युक्त स्नैक्स उपलब्ध हैं, लेकिन भुना हुआ चना असली और लोकप्रिय बॉडीबिल्डिंग स्नैक्स में से एक है। यह भारतीय संस्कृति का एक लोकप्रिय आहार/नाश्ता भी है। हम यहां आपको भुने चने खाने के फायदे (bhune chane khane ke fayde) बता रहे हैं। पनीर के फूल के फायदे 

भुने चने खाने के फायदे – Bhuna Chana Khane ke Fayde

डाइट फिटनेस के महत्वपूर्ण भागों में से एक है। इस लिस्ट में भुना चना का नाम सबसे ऊपर आता है। भुने चने खाने के फायदे हैरान कर देने वाले हैं। यह चिकन और अंडे (मतलब नॉन-वेज) का सबसे अच्छा रिप्लेस्मेंट भी है। जानिए bhune chane khane ke fayde हिंदी में। 

Bhuna Chana Khane ke Fayde

इम्यूनिटी बढ़ाए 

सुबह नाश्ते में भुने हुए चने खाने से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में मदद मिलती है। जिन लोगों को सर्दी के मौसम में बुखार, सर्दी-खांसी जैसी छोटी-मोटी बीमारियां होने का खतरा अधिक रहता है, उन्हें 45-90 दिन (रोजाना 1 कप) भुने चने खाने शुरू कर देने चाहिए। इससे बुखार, सर्दी, खांसी जैसी छोटी-मोटी बीमारियों में 90 फीसदी तक कमी जरूर आएगी। काला जीरा के फायदे 

वजन घटाए

1 कप भुने हुए चने में 4.0 से 4.5 ग्राम स्वस्थ वसा होता है (जो कि बहुत कम मात्रा में होता है)। एक कप भुने हुए चने को 2-3 महीने तक खाने से वजन और बीएमआई में 62 फीसदी ज्यादा कमी आई। इसमें एमिनो एसिड एल-आर्जिनिन होता है, जो फैट लॉस को बढ़ावा देता है।

भूख कम करे

आमतौर पर लोग किशोरावस्था में इस समस्या से प्रभावित होते हैं। एक्स्ट्रा कैलोरी = एक्स्ट्रा हंगर। अगर आप भी इसका सामना कर रहे हैं, तो मेरा सुझाव है कि भुने हुए चने को नियमित आहार में शामिल करें। ऐसा इसलिए है क्योंकि यह तृप्ति की भावना को बढ़ा सकता है और भोजन में कुल कैलोरी की मात्रा को कम कर सकता है। आमतौर पर लंबी यात्राओं पर जाने वाले यात्री अपने दोपहर के भोजन के लिए भुने चने का उपयोग करते हैं और युद्ध के समय में जीवित रहने के लिए योद्धा भी भुने हुए चने खाते हैं। यह अपनी भूख मिटाने का सबसे सस्ता और स्वास्थ्यप्रद तरीका है।

डाइजेशन ठीक करे

इसमें 32 प्रतिशत आहार फाइबर होता है, जो आपके आंत में स्वस्थ बैक्टीरिया की संख्या को बढ़ाता है और आपके पाचन तंत्र के माध्यम से अपशिष्ट प्रवाह को कुशलतापूर्वक मदद करता है। अगर आप भी पाचन संबंधी समस्या का सामना कर रहे हैं तो आहार में भुने चने अधिक मात्रा में शामिल करें। 4-5 हफ्ते के बाद, आप अधिक बार मल त्याग और नरम मल स्थिरता सहित मल त्याग में सुधार महसूस कर सकते हैं।

याद्दाश्त बढ़ाए

भुने हुए चने पोषक तत्वों, कैल्शियम, आयरन आदि से भरपूर होते हैं जो एसीएच एसिटाइलकोलाइन, एक न्यूरोट्रांसमीटर के स्तर को बढ़ाने में मदद करते हैं। और मस्तिष्क में न्यूरोट्रांसमीटर याददाश्त बढ़ाने में मदद करते हैं। और रोजाना एक कप भुने हुए चने खाने से ही परिणाम मिलते हैं।

खून की क्वालिटी अच्छी करे

भुना चना शरीर में खून की क्वालिटी को भी बेहतर बनाता है। इसमें फास्फोरस और आयरन (लगभग 20 प्रतिशत) होता है जो रक्त के हीमोग्लोबिन को बेहतर बनाने और रक्त को साफ करने में मदद करता है। भुने हुए चने का नियमित सेवन आपको रक्त की समग्र गुणवत्ता में सुधार करने में मदद करता है।

ब्लड शुगर कंट्रोल करे

भुने हुए चने में ग्लाइसेमिक इंडेक्स और एमाइलोज कम होता है। और दोनों चीजें ब्लड शुगर और इंसुलिन को बहुत तेजी से ऊपर जाने से रोकने में मदद करती हैं। ये मधुमेह वाले लोगों के लिए बहुत मददगार होते हैं।

तनाव कम करे

भुने हुए चने में सेलेनियम और विटामिन ई होता है, जो शरीर में हैप्पी हार्मोन और एंटीऑक्सीडेंट के स्तर को बढ़ाता है। और ये हैप्पी हार्मोन (एंडोर्फिन) और एंटीऑक्सिडेंट तनाव के स्तर को कम करने में प्रमुख रूप से काम करते हैं। सामान्य गर्म दूध के साथ भुने चने खाने से तनाव की समस्या कम होती है

बेहतर नींद लाए

इसमें मैग्नीशियम और जिंक होता है। और एक अध्ययन के अनुसार, मेलाटोनिन, मैग्नीशियम और जिंक का संयोजन अनिद्रा से पीड़ित वृद्ध वयस्कों को बेहतर नींद लेने में मदद करता है। अगर आप बुरे सपने आना, रात में नींद न आना और ठीक से नींद नहीं आने की समस्या से जूझ रहे हैं तो आपको यह आसान तरीका अपनाना चाहिए। रात में सामान्य गर्म दूध के साथ भुने चने खाने से अच्छी नींद आती है और नींद के बाद आराम मिलता है।

डाइट बेहतर करे

यदि आपका लक्ष्य मांसपेशियों का निर्माण करना है और आप एक सस्ते और स्वस्थ नाश्ते की तलाश में हैं तो भुने हुए चने (1-2 कप) इसके लिए सबसे अच्छा विकल्प हैं। इसमें प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट और वसा की खुराक भी अच्छी मात्रा में होती है, जो मांसपेशियों के निर्माण वाले आहार के मुख्य घटक हैं। लगभग 1 कपभुने हुए चने में कार्ब्स: 44.7 ग्राम, हेल्दी फैट: 4.2 ग्राम, प्रोटीन: 14.4 ग्राम और 20+ विटामिन और खनिज होता है। 

भुना हुआ चना और गुड़ खाने के फायदे – Bhuna Chana aur Gud Khane ke Fayde

भुना हुआ चना और गुड़ खाने के फायदे (bhuna chana aur gud khane ke fayde) एक नहीं अनेक हैं। भुने हुए चने और गुड़ का मिश्रण प्रोटीन और कार्बोहाइड्रेट का एक पावरहाउस है जो न केवल प्रदूषण से संबंधित बीमारियों से उबरने में मदद कर सकता है बल्कि प्रतिरक्षा को बढ़ावा देने और दांतों की सड़न को रोकने में भी मदद कर सकता है। इसके अलावा गुड़ और चना दोनों में मौजूद जिंक त्वचा के स्वास्थ्य में सुधार करता है जो चेहरे पर चमक लाने में मदद करता है। गुड़ चना कसरत के बाद का आदर्श नाश्ता है क्योंकि यह शरीर के ऊर्जा स्तर को बढ़ाने में मदद करता है। यह भी माना जाता है कि गुड़ चना के नियमित सेवन से विटामिन बी 6 की उपस्थिति के कारण याददाश्त तेज करने में मदद मिलती है।

भुने हुए चने की तासीर कैसी होती है – Bhune Chane ki Taseer Kaisi Hoti Hai

Bhune Chane ki Taseer Kaisi Hoti Hai

अगर आप भी यह सोचते हैं कि भुने हुए चने की तासीर कैसी होती है (bhune chane ki taseer kaisi hoti hai), तो हम आपको बता दें कि चने में भरपूर मात्रा में कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, फाइबर, कैल्शियम, मैग्नीशियम और दूसरे मिनरल्स होते हैं। यही वजह है कि काले चने की तासीर ठंडी होती हैं, इसलिए गर्मी के दिनों में इसे खाना काफी फायदेमंद होता है। इसके अलावा, चने को आप किसी भी रूप में खा सकते हैं। सलाद, सूप या सैंडविच जैसे विभिन्न व्यंजनों में एड किये जा सकते हैं।  

भुने हुए चने में कितना प्रोटीन होता है – Bhune hue Chane me Kitna Protein Hota Hai

कई लोगों के मन में यह सवाल उठता है कि भुने हुए चने में कितना प्रोटीन होता है (bhuna chana nutrients)। दरअसल, चने पौधे आधारित प्रोटीन का एक बड़ा स्रोत है, जो उन्हें उन लोगों के लिए एक उत्कृष्ट भोजन बनाता है जो मांस या पशु उत्पाद नहीं खाते हैं। 1-कप भुने चने में लगभग 14.5 ग्राम प्रोटीन मिलता है, जो कि काले बीन्स और दाल जैसे समान खाद्य पदार्थों की प्रोटीन सामग्री के बराबर है। चने में मौजूद प्रोटीन परिपूर्णता को बढ़ावा देने और आपकी भूख को नियंत्रण में रखने में मदद कर सकता है। प्रोटीन वजन प्रबंधन, हड्डियों के स्वास्थ्य और मांसपेशियों की ताकत में अपनी भूमिका के लिए भी जाना जाता है। इसके अलावा भुने चने में प्रोटीन की गुणवत्ता अन्य प्रकार की फलियों की तुलना में बेहतर होती है। ऐसा इसलिए है क्योंकि छोले में मेथियोनीन को छोड़कर सभी आवश्यक अमीनो एसिड होते हैं। 

भुने चने खाने का सही समय – Bhuna Chana Kab Khana Chahiye

Bhuna Chana Kab Khana Chahiye

वैसे तो आप दिनभर में किसी भी समय स्नैक्स की तरह भुने चने का सेवन कर सकते हैं। इसके बावजूद अगर आप जानना चाहते हैं कि भुने चने खाने का सही समय (Bhuna Chana Kab Khana Chahiye) कब होना चाहिए, तो हम आपको बता दें कि रात को सोने से पहले भुने चने खाना स्वास्थ्य की दृष्टि से बेहतर साबित होता है। आपको बस इतना करना है कि रात को सोने से पहले भुने चने का सेवन करें और इसके बाद एक गिलास गर्म दूध पिएं।

भुने चने खाने को लेकर पूछे जाने वाले सवाल-जवाब – FAQ’s

सवाल- क्या भुने हुए चने खाने से वजन बढ़ता है?

जवाब- नहीं, उल्टा भुने हुए चने खाने से भूख कम लगती है और वजन भी कम होता है।

सवाल- 1 दिन में कितना चना खाना चाहिए?

जवाब- 1 दिन में लगभग मुठ्ठीभर चने खाना फायदेमंद होता है। 

सवाल- भुने चने खाने से क्या होता है?

जवाब- भुने चने खाने के कई स्वस्थ लाभ हैं। जैसे- रात को अच्छी नींद आना, तनाव कम होना, डाइजेशन ठीक रहना आदि।

सवाल- भुने हुए चने में कौन कौन से विटामिन होते हैं? 

जवाब- भुने हुए चने में कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, कैल्शियम, आयरन और प्रचुर मात्रा में विटामिन होता है।

अगर आपको यहां दिए गए भुने चने खाने के फायदे (bhune chane khane ke fayde) पसंद आए तो इन्हें अपने दोस्तों व परिवारजनों के साथ शेयर करना न भूलें। 

ये भी पढ़ें –
अंकुरित मूंग के फायदे

14 Dec 2021

Read More

read more articles like this
good points logo

good points text