Advertisement

Diet

सेहत के लिए चुकंदर खाने के फायदे – Chukandar Khane ke Fayde

Anu VermaAnu Verma  |  Jul 15, 2019
Chukandar Khane ke Fayde, What is Beetroot in Hindi

शाकाहारी लोग चुकंदर को “रेड रानी” के नाम से भी जानते हैं। इसकी वजह यह है कि चुकंदर न सिर्फ दिखने में लाल होता है, बल्कि इसे खाने से खून की कमी से भी निदान मिलता है। आप यकीन नहीं करेंगी, लेकिन यह सच है कि अपनी फिटनेस के लिए लोकप्रिय मलाइका अरोड़ा ने हाल ही में बातचीत में यह बात स्वीकारी है कि वे अपने भोजन में चुकंदर का इस्तेमाल जरूर करती हैं। दरअसल यह पौष्टिक तो होता ही है, इसे खाने से शरीर में खून की कमी भी नहीं होती है। कभी- कभी मलाइका सुबह- सुबह चुकंदर को टुकड़ों में काट कर चेहरे पर मल लेती हैं, इससे उनके चेहरे पर अलग तरह की ताजगी रहती है। 

दरअसल, चुकंदर जीनस बीटा वल्गेरिस की किस्मों में से एक है और यह जड़ वाला पौधा होता है, जो जमीन के अंदर उगाया जाता है। इसका सेवन सलाद, जूस और सूप बनाने में किया जाता है। कई लोग इसका सेवन पुलाव बनाने में भी करते हैं। चुकंदर स्वास्थ्य के साथ- साथ सौंदर्य का भी बेहतरीन स्रोत है। अंग्रेजी में जहां इसे बीटरूट कहते हैं, वहीं स्पैनिश में ला रेमोलाचा और चीनी भाषा में हांग के टू कहते हैं। चुकंदर इतना गुणकारी है कि इसे रोजाना अपनी डाइट में शामिल करना ही चाहिए। तो आइये, आज हम चुकंदर से जुड़े सारे महत्वपूर्ण पहलुओं से रूबरू कराते हैं।

बीटरूट क्या है – What is Beetroot in hindi

What is Beetroot in Hindi

What is Beetroot in Hindi

बीटरूट यानी चुकंदर स्वाद के साथ-साथ सेहत के लिए भी बहुत कारगर है। पोषक तत्वों से भरपूर बीटरूट स्किन के लिए किसी वरदान से कम नहीं है। यह शरीर में खून बढ़ाने के साथ-साथ आपकी स्किन से जुड़ी परेशानियों को दूर करने में मदद करता है। बीटरूट आपको साल भर आसानी से मिल जायेगा। चुकंदर एक ऐसी सब्जी हैं जो आपको आँखों के लिए, खून बढ़ाने के लिए, चर्बी कम करने के लिए फायदेमंद होता है। ऐसा बताया जाता है की चुकंदर की जड़ मीठी और ठंडी तासीर की होती है। आमतौर पर चुकंदर का इस्तेमाल औषधि और फूड कलर के रूप में भी किया जाता है।

चुकंदर के पोषक तत्व – Nutrients in Beetroot

चुकंदर खाने के फायदे (chukandar khane ke fayde) अनेक हैं इसमें कई जरूरी पोषक तत्व मौजूद होते हैं। इसमें कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, विभिन्न तरह के विटामिन, मिनरल्स, फाइटो न्यूट्रिएंट्स भी होते हैं, जो शरीर के लिए आवश्यक हैं। चुकंदर में एंटी ऑक्सिडेंट, विटामिन ए, विटामिन सी, कैल्शियम, आयरन और पोटैशियम की मात्रा अधिक होती है। चुकंदर स्वास्थ्य को बढ़ावा देने वाले बायोएक्टिव्स जैसे पॉलीफेनॉल्स, फ्लेवोनॉइड्स और एंथोकायनिन का भी बड़ा स्रोत है।

मखाना खाने के फायदे

चुकंदर खाने के फायदे – Chukandar ke Fayde

चुकंदर में कई ऐसे पौष्टिक तत्व हैं, जिनकी वजह से कई तरह की बीमारियों से तो छुटकारा मिलता ही है, साथ ही पोषक तत्वों की पूर्ति भी होती है। यह मधुमेह से लेकर हीमोग्लोबिन बढ़ाने के साथ-साथ कई तरीकों से कारगर है। तो चलिए जानते हैं चुकंदर के फायदों के बारे में।

मधुमेह

चुकंदर खाने से मुधमेह पर नियंत्रण हासिल किया जा सकता है। चूंकि यह एक गुणकारी खाद्य पदार्थ है। रोजाना इसका सेवन करने से रक्त शर्करा को संतुलित करने में मदद मिलती है। साथ ही यह फाइटोकेमिकल्स और स्वास्थ्य को बढ़ावा देने वाले बायोएक्टिव्स जैसे पॉलीफेनॉल्स, फ्लेवोनॉइड्स और एंथोकायनिन का भी बड़ा स्रोत है। ये सभी तत्व मधुमेह के स्तर को कम करने का काम करते हैं।

हृदय लाभ

चुकंदर के फायदे (chukandar ke fayde) जान कर आपको हैरानी होगी, मगर सच यही है कि इसमें मौजूद नाइट्रेट तत्व रक्तचाप को सामान्य कर हृदय रोगों से बचाते हैं। यह आपको मायोकार्डियल संक्रमण से भी बचाता है। चुकंदर में मौजूद एंटी ऑक्सिडेंट गुण स्ट्रेस और हृदय रोग से जुड़े इंफ्लेमेशन को कम करने का भी काम करते हैं।

Chukandar Khane ke Faude

Chukandar Khane ke Fayde

हाई ब्लड प्रेशर

हाई ब्लड प्रेशर शरीर के कई अंगों को खराब करता है। इसलिए डॉक्टर इससे ग्रसित रोगियों को सलाह देते हैं कि उन्हें रोजाना प्राकृतिक सलाद और साग- सब्जियों का सेवन अधिक करना चाहिए। डॉक्टर्स का मानना है कि चुकंदर में मौजूद नाइट्रेट उच्च रक्तचाप को कम करने का काम करता है।

कैंसर

शोधकर्ताओं का यह भी मानना है कि चुकंदर फेफड़ों और स्किन कैंसर को शरीर में विकसित होने से रोकता है। इसीलिए डॉक्टर्स गाजर और चुकंदर के जूस को मिला कर पीने की सलाह देते हैं। उनका मानना है कि इससे ब्लड कैंसर खत्म होने के भी चांसेज होते हैं।

एनीमिया

एनीमिया के कारण शरीर में खून की कमी होने लगती है। इसमें हीमोग्लोबिन कम हो जाता है। इसकी वजह से आपको सांस लेने में तकलीफ, चक्कर आना या सिरदर्द जैसी समस्याएं आम हैं। चुकंदर में भरपूर मात्रा में आयरन होता है, जो शरीर में आयरन की पूर्ति करने में सहायक होता है। इसलिए बच्चों से लेकर बुजुर्गों तक, सभी को चुकंदर का सेवन रोजाना करना चाहिए।

शरीर में एनर्जी के लिए

अगर आप हर मॉर्निंग उठने के बाद आलस और थके थके महसूस करते हैं तो आपका इलाज चुंदर में छिपा है। इसमें मौजूद जरूरी विटामिन्स और मिनरल्स आपको दिन भर एनर्जेटिक बनाये रखता हैं। शरीर में एनर्जी के लिए आप चुकंदर का सेवन हर दिन कर सकते हैं। चुकंदर के सेवन से शरीर में लाल रक्त कोशिकाओं और ऊर्जा के विकास में मदद मिलती है। यह आंतों में कैंडिडा को पनपने से रोकता है, जो ऊर्जा के स्तर को कम करने का काम करता है। शरीर में ऊर्जा के लिए लीवर का सही काम करना बेहद जरूरी है। ऐसे में चुकंदर एक बेहतरीन स्रोत है, चूंकि इसमें फ्लेवोनॉइड, सल्फर और बीटा कैरोटीन भी होते हैं, जो लीवर को सुचारु रूप से चलाने में खूब मदद करते हैं।

पाचन क्रिया

चुकंदर खाने के फायदे(chukandar khane ke fayde) अनेक हैं। इसमें में पाचन क्रिया को मजबूत बनाने के भी काफी गुण होते हैं। चुकंदर में ग्लूटामाइन नामक एमिनो एसिड होता है, जो भोजन को पचाने में मदद करता है। साथ ही इम्यून सिस्टम को भी ठीक रखता है। यही नहीं, इसके सेवन से लीवर को भी काफी फायदे होते हैं।

ऊर्जावान बनाने में सहायक

चुकंदर के सेवन से शरीर में लाल रक्त कोशिकाओं और ऊर्जा के विकास में मदद मिलती है। यह आंतों में कैंडिडा को पनपने से रोकता है, जो ऊर्जा के स्तर को कम करने का काम करता है। शरीर में ऊर्जा के लिए लीवर का सही काम करना बेहद जरूरी है। ऐसे में चुकंदर एक बेहतरीन स्रोत है, चूंकि इसमें फ्लेवोनॉइड, सल्फर और बीटा कैरोटीन भी होते हैं, जो लीवर को सुचारु रूप से चलाने में खूब मदद करते हैं।

Beetroot Benefits in Hindi

Beetroot Benefits in Hindi

हड्डियां मजबूत, दांत मजबूत

चुकंदर के फायदे (chukandar ke fayde) कई सारे हैं। हम जानते हैं कि हड्डियों को मजबूत बनाने के लिए शरीर में कैल्शियम का होना बहुत जरूरी है और चुकंदर में कैल्शियम की प्रचुर मात्रा होती है। रोजाना इसके सेवन से न सिर्फ हड्डियां मजबूत होती हैं, बल्कि आपके दांतों की मजबूती भी बढ़ती है।

कोलेस्ट्रॉल

कम लोगों को ही इसकी जानकारी है कि चुकंदर में वे सारे तत्व मौजूद हैं, जिनकी वजह से कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित किया जा सकता है। चुकंदर में कैलोरी की मात्रा कम होती है और यही वजह है कि इसमें शून्य कोलेस्ट्रॉल होता है।

गर्भावस्था

बीटरूट के फायदे और इसकी खासियत होती है कि इसमें फोलेट के साथ- साथ मैंग्नीज, पोटैशियम, विटामिन- सी, फॉस्फोरस, कॉपर और आयरन भी प्रचुर मात्रा में होता है। ये सारे तत्व गर्भावस्था में हीमोग्लोबिन का स्तर बनाये रखने और मां व बच्चे को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं। चुकंदर फॉलिक एसिड का भी बड़ा स्रोत है, जो बच्चे में न्यूरल ट्यूब दोष को रोकने में मदद करता है।

वजन घटाने में सहायक

चुकंदर में खनिज और विटामिन भरपूर मात्रा में होता है। चुकंदर के रस में फाइबर की मात्रा अधिक होती है और यह स्पष्ट है कि फाइबर युक्त खाद्य पदार्थ खाने से वजन कम होता है। इसलिए कई बार डायटीशियन की यही राय होती है कि पेट को भरने के लिए इसका भरपूर सेवन करें। अगर आप भी अपना वजन तेज़ी से घटाना चाहते हैं तो आज ही अपनी डाइट में चुकंदर शामिल करें। आप इसका इस्तेमाल सलाद या जूस की तरह कर सकते हैं।

लीवर के लिए

लीवर से जुड़ी समस्याओं से बचने के लिए रोजाना चुकंदर का सेवन किया जाना चाहिए। इसमें मौजूद हाई फैट से लीवर को होने वाली क्षति को कम करने में मदद मिलती है। इसमें फ्लेवोनॉयड्स भी पाए जाते हैं, जो मेटाबॉलिज्म को बरकरार रखने में सहायक होते हैं। आप चाहें तो एक बार डॉक्टर की सलाह भी ले लें।

आंखों के लिए

डॉक्टर्स का मानना है कि बुढ़ापे में अपनी आंखों को तमाम बीमारियों से बचाने के लिए चुकंदर का रोज़ाना सेवन करना चाहिए। इसमें मौजूद विटामिन सी के सेवन से मोतियाबिंद जैसी बीमारी से पूरी तरह से छुटकारा मिलता है। आंखों के लिए हर दिन जूस या सलाद के रूप में इसका सेवन करना चाहिए।

एच.आई.वी/एड्स के अहम लक्षण – HIV/AIDS Symptoms

चुकंदर के सेवन को लेकर किन बातों का रखें ध्यान

यह सच है कि चुकंदर में सेहत का भंडार छिपा हुआ है लेकिन फिर भी इसके सेवन से पहले कुछ बातों का ध्यान रखना बेहद जरूरी है।

चूंकि चुकंदर में कैल्शियम और विटामिन सी की मात्रा ज्यादा होती है इसलिए इसका अत्यधिक सेवन करने से किडनी स्टोन की समस्या हो सकती है। ऐसे में डॉक्टर से इसके सेवन को लेकर सारे निर्देश ले लें। चुकंदर की वजह से बीटूरिया नामक परेशानी भी होती है, जिसमें आपके मूत्र का रंग लाल हो जाता है। ऐसी परिस्थिति में भी फौरन डॉक्टर से सलाह लें। अगर आपको चकत्ते से जुड़ी परेशानी है, तब भी चुकंदर का सेवन वर्जित करें। चुकंदर खाने से कई बार कलर स्टूल की भी परेशानी होती है। कुछ लोगों को पेट दर्द की परेशानी भी हो जाती है। अगर आपको ऐसी कोई परेशानी है तो चुकंदर के सेवन में लापरवाही न करें।

जानिये चुकंदर से जुड़े स्वास्थ्य लाभ को लेकर पूछे गये महत्वपूर्ण सवाल – FAQ’s

1. क्या डायबिटीज से पीड़ित मरीज को चुकंदर का सेवन करना चाहिए?
जवाब : देखिये, यह बहुत जरूरी है कि आप एक बार अपने डॉक्टर से सलाह- मशविरा कर लें। लेकिन हकीकत यह है कि चुकंदर खाने से मुधमेह पर नियंत्रण हासिल किया जा सकता है। यह एक गुणकारी खाद्य पदार्थ है। इसका रोजाना सेवन करने से रक्त शर्करा संतुलित होने में मदद मिलती है। 

2. चुकंदर के सेवन से किडनी स्टोन की परेशानी होती है। क्या यह सच है?
जवाब : यह मिथ है। किडनी स्टोन होने के अन्य कारण भी होते हैं। ऐसा नहीं है कि आपने चुकंदर खाया, इसलिए आपको किडनी स्टोन हो गया। लेकिन अगर आपको किडनी स्टोन की परेशानी है तो इसके सेवन से आपको परहेज करना चाहिए। हालांकि, इसके लिए डॉक्टर से सलाह लेना बेहतर होगा। चुकंदर में कैल्शियम और विटामिन सी की मात्रा ज्यादा होती है इसलिए इसका अत्यधिक सेवन करने से किडनी स्टोन की समस्या हो सकती है।

3. क्या गर्भावस्था में चुकंदर का सेवन किया जा सकता है?
जवाब : जी हां, बिल्कुल। लेकिन एक बार अपनी डॉक्टर और डाइटीशियन से सलाह ज़रूर लें। वैसे इसमें फोलेट के साथ- साथ मैंग्नीज, पोटैशियम, विटामिन- सी, फॉस्फोरस, कॉपर और आयरन भी प्रचुर मात्रा में होता है। ये सारे तत्व गर्भावस्था में हीमोग्लोबिन को संतुलित रखने और मां व बच्चे को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं।

4. क्या चुकंदर का सेवन सुबह खाली पेट में किया जा सकता है?
जवाब : जी हां, बिल्कुल किया जा सकता है। खासतौर से अगर इसके जूस का सेवन सुबह- सुबह किया जाये तो हेल्थ के लिए यह काफी अच्छा होता है। गाजर, खीरा और चुकंदर को साथ में मिला कर जूस बनाएं और इसका सेवन करें।

5. क्या चुकंदर बालों के लिए स्वास्थ्यवर्धक है?
जवाब : जी हां, चुकंदर के सेवन से बालों में चमक आती है। चुकंदर में एंटी ऑक्सिडेंट, विटामिन ए, विटामिन सी, कैल्शियम, आयरन और पोटैशियम की मात्रा अधिक होती है।  यही वजह है कि बालों की सेहत के लिए इससे बेहतर विकल्प और कुछ नहीं होता है। यह बालों को घना बनाने के साथ ही स्कैल्प को भी तंदुरुस्त रखता है।

ये भी पढ़ें –
जानिए लैवेंडर तेल के सौंदर्य एवं औषधीय लाभ और इस्तेमाल

अब आयेगा अपना वाला खास फील क्योंकि Popxo आ गया है 6 भाषाओं में … तो फिर देर किस बात की! चुनें अपनी भाषा – अंग्रेजीहिन्दीतमिलतेलुगूबांग्ला और मराठी.. क्योंकि अपनी भाषा की बात अलग ही होती है।