home / ब्यूटी
प्रेग्नेंसी के दौरान त्वचा पर भूलकर भी ना करें इन चीजों का इस्तेमाल

प्रेग्नेंसी के दौरान त्वचा पर भूलकर भी ना करें इन चीजों का इस्तेमाल

प्रेग्नेंसी का समय किसी भी महिला के जीवन का बहुत ही खूबसूरत समय होता है। प्रेग्नेंसी के दौरान महिला के शरीर में काफी सारे बदलाव होते हैं, फिर चाहे वो शारीरिक हो या फिर मानसिक। यहां तक कि महिला के शरीर के हार्मोन्स में भी इस दौरान काफी बदलाव होता है, जिनकी वजह से उन्हें कई तरह की स्किन प्रोबल्म भी हो सकती है। इनमें एक्ने, इची स्किन, पिगमेंटेशन आदि शामिल है। आमतौर पर तो ये कुछ समय के लिए होते हैं लेकिन आपको काफी परेशान कर सकते हैं और ऐसे में यदि आप त्वचा संबंधी परेशानियों को दूर रखना चाहती हैं तो आपको सही स्किनकेयर रूटीन को फॉलो करना चाहिए। 

हालांकि, इस दौरान आपको कुछ स्किनकेयर चीजों का इस्तेमाल करने से बचना चाहिए क्योंकि ये आपकी ब्लडस्ट्रीम में चले जाते हैं और बच्चे के विकास को नुकसान पहुंचा सकते हैं।

रेटीनॉइड्स

आइसोट्रेटिनॉइन, एक प्रकार का विटामिन ए होता है, जो टॉपिकल और ओरल दोनों फॉर्म में मिलता है। वैसे तो ये मुहांसो को दूर करने में उपयोगी होता है लेकिन प्रेग्नेंसी के दौरान ये आपके शिशु के स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकता है। इस वजह से आपको अपनी प्रेग्नेंसी के समय कभी भी रेटीनॉइड युक्त स्किनकेयर प्रोडक्ट का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। 

सैलिसिलिक एसिड

प्रेग्नेंसी के दौरान सैलिसिलिक एसिड युक्त ओरल दवाई या फिर पील का इस्तेमाल ना करें क्योंकि इसके एंटीइंफ्लामेटरी एजेंट आपके शिशु के लिए हानिकारक हो सकते हैं। बता दें कि सैलिसिलिक एसिड का इस्तेमाल की सारे स्किनकेयर प्रोडक्ट्स जैसे कि, क्लींजर, बॉडीवॉश, सीरम, लोशन और मुहांसों के दाग के ट्रीटमेंट आदि में किया जाता है। 

हाइड्रोक्वीनोन

एक एक प्रिस्क्रिप्शन प्रोडक्ट है, जिसका इस्तेमाल त्वचा को लाइटन करने या फिर मेलासमा और क्लोआस्मा के कारण होने वाले स्किन पिगमेंटेशन को कम करने के लिए किया जाता है। हालांकि, शरीर द्वारा काफी अधिक मात्रा में हाइड्रोक्वीनोन को सोख लिया जाता है और फिर इसके साइड-इफेक्ट हो जाते हैं। इस वजह बेहत है कि आप प्रेग्नेंसी के दौरान इसका इस्तेमाल ना करें।

केमिकल सनस्क्रीन

मार्केट में ऐसी बहुत सी सनस्क्रीन हैं, जिनमें ऑक्सीबेनजॉन आदि चीजें शामिल होती हैं। इस तरह की सनस्क्रीन, सूरज की हानिकारक किरणों से त्वचा को बचाने में मदद करती है। वहीं ऑक्सीबेनजॉन एक एंड्रोक्राइन डिसरप्टिंग केमिकल है और यदि आप प्रेग्नेंसी के दौरान इसके संपर्क में आती हैं तो इससे आपके हार्मोन प्रभावित हो सकते हैं। 

बेनजॉइल पेरॉक्साइड

बेनजॉइल पेरॉक्साइड के हाई कॉन्संट्रेशन प्रेग्नेंसी के दौरान इंफ्लेम स्किन, ब्लड फ्लो आदि का कारण बन सकते हैं। इस वजह से प्रेग्नेंसी के दौरान इस तरह की चीजों को त्वचा पर लगाने से पहले डॉक्टर से जरूर सलाह लें। 

11 Aug 2021

Read More

read more articles like this
good points logo

good points text