home / एंटरटेनमेंट
अथिया शेट्टी हो चुकीं हैं बॉडी शेमिंग का शिकार, शेयर किया अनुभव और कही ये दिल जीत लेने वाली बात

अथिया शेट्टी हो चुकीं हैं बॉडी शेमिंग का शिकार, शेयर किया अनुभव और कही ये दिल जीत लेने वाली बात

बॉलीवुड में ऐसी कई एक्ट्रेसेज हैं जो कभी न कभी बॉडी शेमिंग का शिकार हुई हैं। बाद में उन्होंने इस बारे में अपने अनुभव भी साझा किए। इस बार भी बॉलीवुड एक्ट्रेस अथिया शेट्टी (Athiya Shetty) ने ऐसा ही कुछ अपना कड़वा अनुभव शेयर किया। बचपन में कई बार उनके फिगर और रंग को लेकर मजाक उड़ाया गया। उन्हें इस स्थिति से बाहर निकलने में काफी समय लगा। हाल ही में एक इंटरव्यू में उन्होंने बॉडी शेमिंग का शिकार होने और उस पर पड़ने वाले प्रभाव के बारे में खुलकर बात की।

ANI से बातचीत में अथिया शेट्टी ने बताया, “मैं भी बॉडी शेमिंग का शिकार हुई हूं। जब मैं छोटी थी तो लोगों ने मुझे इस कैटेगरी में रखा था. लोगों को यह समझना होगा कि बॉडी शेमिंग केवल ज्यादा वजन के बेसिस पर ही नहीं की जाती है, जो लोग पतले होते हैं, उन्हें भी बॉडी शेम किया जाता है। मैंने हमेशा से ही यह यकीन रखा है कि किसी के वजन पर कॉमेंट करना, उसके दिखने पर बोलना या किसी ऐसी चीज पर बातें बनाना अच्छा नहीं है, जिससे सामने वाले का आत्मविश्वास टूट जाए।”

अथिया शेट्टी ने आगे कहा, ”हम सभी को यह महसूस करना जरूरी है कि सामने वाले इंसान के बारे में अगर हम कुछ भी गलत कॉमेंट करते हैं तो उसकी रोज की जिंदगी और चीजों पर कितना गलत असर पड़ सकता है। हमें काइंड और समझदार होना बेहद जरूरी है। हर किसी को बोलने से पहले सोचना चाहिए और यह महसूस करना चाहिए कि उनके बोलने से सामने वाले को कितनी चोट पहुंच सकती है।”

अथिया ने इंटरव्यू के दौरान एक दिल जीत लेने वाली बात कहते हुए बताया, ”पहले मैं भी खुद की बॉडी को लेकर काफी अजीब महसूस करती थी। आज भी थोड़ा करती हूं, लेकिन अब मैं बेहतर हो गई हूं। मैं पहले से ज्यादा आत्मविश्वास से भर चुकी हूं और जो इंसान मैं अब हूं, वह बेहतर हूं. खूबसूरत कहे जाने पर कई धारणाएं बनी हुई हैं। हर कोई सोशल मीडिया पर एकदम परफेक्ट दिखना चाहता है और यह चीजें बहुत कम एज वाले लोगों में मैं देखती हूं। दुख होता है जब लोग यह नहीं समझते कि वह भी अपने आप में खूबसूरत हैं।”

साफ सीधी बात ये है कि किसी को बॉडी शेम करना कभी भी ठीक नहीं होता है। इसलिए इससे पहले कि आप किसी व्यक्ति के शरीर, पहनावे या रूप-रंग पर वह बुरा संदेश या टिप्पणी भेजें, किसी के मानसिक स्वास्थ्य पर इसके प्रभाव के बारे में सोचने के लिए कुछ समय निकालें। सोशल मीडिया को एक बेहतर जगह बनाएं। जहां तक ​​अथिया का सवाल है, हमें खुशी है कि उसने अपनी इस मोटीवेशनल जर्नी के बारे में खुलकर बात की और आज वह काफी बेहतर जगह पर है। इस बारे में हर किसी को खुलकर बात करनी चाहिए। जिन बातों के लिए आपको शर्मिंदा किया जाता है वो आपकी कमी ही नहीं है तो फिर अफसोस किस बात का। डट कर इसका सामना करें और खुद पर गर्व करें।

21 Dec 2021

Read More

read more articles like this

Read More

read more articles like this
good points logo

good points text