home / एंटरटेनमेंट
Anupamaa New Episode twist

‘अनुपमां’ के घर मचे घमासान में पारितोष ने की सारी हदें पार, वनराज दिखाएगा अपना असली रूप

स्टार प्लस का फेमस सीरियल ‘अनुपमां’ इन दिनों कई सारे ट्विस्ट से होकर गुजर रहा है। एक तरफ जहां अब तक पाखी अपने परिवार से खफा होकर काव्या का साथ दे रही थी वहीं अब पारितोष भी परिवार के खिलाफ काव्य के साथ जा खड़ा हुआ है। पाखी तो फिर भी समय के साथ सुधर गई लेकिन पारितोष ने घर का बड़ा बेटा होने के बावजूद अपनी सारी हदें पार कर दीं। अनुपमां के आने वाले एपिसोड में आप देखेंगे कि घर में किसी बात को लेकर घमासान मचा हुआ है, इस घमासान के दौरान पारितोष ने सभी घर वालों से बेहद बदतमीजी से बात की, जिसके बाद वनराज का असली रूप दिखने को मिला। 

सीरियल ‘अनुपमां’ हर उस महिला की कहानी है, जो घर पर रहकर सिर्फ अपने परिवार के लिए जीती है। उसके हर किये को बड़ी ही आसानी से परिवार के लोग यहां तक कि उसके बच्चे भी taken for granted लेने लगते हैं। जो मां पूरे दिन घर और किचन में पिस कर अपने बच्चों को बड़ा करती है बाद में वही बच्चे मां को आंखें दिखाने में 2 बार भी नहीं सोचते। जो पिता अपने बच्चों के लिए दिनभर घर से बाहर चार पैसे कमाने के लिए खुद की ख्वाहिशें भूल जाता है, उस पिता को बच्चे बड़े होकर उल्टा जवाब देने में समय नहीं लगाते। कुछ यही इन दिनों सीरियल ‘अनुपमां’ में भी हो रहा है। 

सीरियल में पारितोष को घर का सबसे बड़ा बेटा दिखाया गया है और जब घर का बड़ा बेटा ही नालायक निकल जाये तो बाकि घरवालों के पैरों तले जमीन खिसक जाती है। आने वाले एपिसोड में आप देख पाएंगे कि कैसे पारितोष एक-एक कर बड़े से छोटे तक परिवार के हर सदस्य की बेइज्जती करता है। यहां तक कि वो इसमें अपनी पत्नी किंजल को भी नहीं छोड़ा। उसे भी अब हाई-फाई किंजल बहनजी लगने लगी है। अपनी मां अनुपमां और पिता वनराज को भी नीचे दिखाने में वो कोई कसर नहीं छोड़ता। 

ऐसे में वनराज अपना असली रूप दिखाते हुए पारितोष को एक ज़ोर का तमाचा जड़ देता है और उसे खरी-खोटी सुनाते हुए घर से निकल जाने को कहता है। वनराज अपने बेटे पारितोष से कहता है कि उसे अपने पिता की गलतियों से कुछ सीखना चाहिए था। वो भले ही अच्छा पति या पिता न हो लेकिन अच्छा बेटा बनने में उसने कोई कसर नहीं छोड़ी। वहीं काव्या इस बात की खुशी मना रही होती है कि इस बहाने घर के सभी लोगों का ध्यान उसपर से हटकर परितोष के ऊपर चला गया। 

वहीं घर की इस कलह से दुखी होकर बापूजी, बा और मामाजी घर छोड़कर जाने का फैसला कर लेते हैं मगर वनराज और अनुपमां किसी तरह मिन्नतें कर उन लोगों को जाने से रोक लेते हैं। किंजल भी पारितोष को समझाने की कोशिश करती है लेकिन वो उल्टा किंजल पर यह फैसला छोड़ देता है कि उसे पारितोष के साथ चलना है या फिर घर पर रहना है। आगे के एपिसोड में आप देख पाएंगे कि पारितोष और किंजल घर छोड़ कर चले जाएंगे और अनुपमां दुखी मन से लेकिन खुशी-खुशी उनको जाने देगी और वनराज को भी इसके लिए मना लेगी।   

POPxo की सलाह : MYGLAMM के ये शानदार बेस्ट नैचुरल सैनिटाइजिंग प्रोडक्ट की मदद से घर के बाहर और अंदर दोनों ही जगह को रखें साफ और संक्रमण से सुरक्षित!

12 Aug 2021

Read More

read more articles like this
good points logo

good points text