वेलनेस

ब्रेस्ट मिल्क के ये कमाल के फायदे नहीं जानते होंगे

Supriya SrivastavaSupriya Srivastava  |  Jan 8, 2021
ब्रेस्ट मिल्क, Breast Milk, Baby Rashes, Baby Acne, Breast Milk Soap

मां का दूध यानी ब्रेस्ट मिल्क (Breast Milk) बच्चे के लिए किसी वरदान से कम नहीं। 6 महीने तक ब्रेस्ट मिल्क (Breast Milk) ही बच्चे को हर ज़रूरी पोषण देता है, यहां तक की बच्चे के शरीर में पानी की कमी को भी ब्रेस्ट मिल्क (Breast Milk) ही पूरा करता है। ब्रेस्ट मिल्क (Breast Milk) बच्चे की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में बहुत मददगार होता है। इतना ही नहीं ब्रेस्ट मिल्क (Breast Milk) बच्चे के विकास और सही पोषण के साथ ही उसे बीमारियों से भी बचाता है। इसमें प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट्स, फैट, एंटीबॉडी, विटामिन, मिनरल्स जैसे कई पोषक तत्व पाये जाते हैं। वर्ल्ड हेल्थ आर्गेनाइजेशन (WHO) ने तो कोरोनावायरस होने पर भी ब्रेस्ट फीडिंग (Breast Feeding) को सबसे सेफ बताया है।

ब्रेस्ट मिल्क (Breast Milk) को लिक्विड गोल्ड भी कहा जाता है। क्या आप जानते हैं ये और भी कई तरीके से फायदेमंद है। जी हां, बेबी को फीड कराने के अलावा भी ब्रेस्ट मिल्क (Breast Milk) के ऐसे कई फायदे हैं, जिसने शायद अभी आप अनजान होंगें। यह बेबी की बॉडी के अंदर ही नहीं बल्कि बाहर होने वाले रैशेज़, दाने आदि में भी कामगार है। जानिए ब्रेस्ट मिल्क (Breast Milk) के कुछ अन्य फायदे।

बेबी रैशेज़ को करे ठीक

बेबी के रैशेज़ हो जाना आम बात है। गीली नैपी की वजह से या फिर छोटे साइज के डायपर के चलते बच्चों के रैशेज़ हो जाते हैं। माता-पिता के रूप में हम इन्हें देखते ही परेशान हो उठते हैं। बाजार में कई बेबी ब्रांड्स हैं, जो रैशेज़ क्रीम बनाती हैं लेकिन वो इतनी फायदेमंद नहीं होतीं, जितना कि ब्रेस्ट मिल्क (Breast Milk) होता है। जी हां, रैशेज़ हो गए हैं तो वहां बाजार की क्रीम लगाने के बजाय अपना ब्रेस्ट मिल्क (Breast Milk) लगाएं को थोड़ी देर के लिए खुला करके सूखने के लिए छोड़ दें। आप देखेंगे ब्रेस्ट मिल्क (Breast Milk) रैशेज़ पर जादुई तरीके से काम कर रहा है।

बेबी एक्ने करे दूर

नवजात शिशुओं में मुंहासें जन्म के ठीक बाद या कुछ हफ्तों के बाद विकसित हो सकते हैं। आमतौर पर, ये मुंहासें अपने आप ही समय के साथ ठीक भी हो जाते हैं लेकिन ब्रेस्ट मिल्क (Breast Milk) उन्हें मिनटों में ठीक कर बेबी की संवेदनशील त्वचा कजो कोई नुकसान नहीं पहुंचने देता। एक कॉटन बॉल को ब्रेस्ट मिल्क में भिगोएं और अपने बच्चे के चेहरे पर या एक्ने वाली जगह पर धीरे से थपथपाएं। दूध में मौजूद प्राकृतिक तत्व त्वचा को साफ करने में मदद कर सकते हैं। 

कटे व चोटिल निप्पल करे ठीक

आमतौर पर बच्चे 2 साल तक मां का दूध पीते हैं। इस दौरान दांत निकलने पर कई बार बच्चों द्वारा मां के निप्पल काट कट जाते हैं या फिर चोटिल हो जाते हैं। उनपर से खून तक आने लगता है। ऐसे में ब्रेस्ट मिल्क (Breast Milk) कटे व चोटिल निप्पल के लिए भी किसी वरदान से कम नहीं। इनपर ब्रेस्ट मिल्क (Breast Milk) लगाएं और असर खुद अनुभव करें।

ब्रेस्ट मिल्क से बनाएं बेबी सोप

बाज़ार में कई तरह के बेबी सोप उपलब्ध हैं, जो केमिकल फ्री होने का दावा करते हैं। मगर जो बात मां के दूध में हैं वो किसी बाहरी चीज़ में नहीं हो सकती। आप घर पर ब्रेस्ट मिल्क (Breast Milk) से अपने बच्चे के लिए साबुन भी बना सकती हैं। यह साबुन आपके बेबी की नाज़ुक त्वचा पर ज़रा भी कठोर साबित नहीं होगा। 

ब्रेस्ट मिल्क से साबुन बनाने का तरीका

सबसे पहले आधा कटोरा सोप बेस ग्लिसरीन लें। अब इसे पहले 30 सेकेंड के लिए माइक्रोवेव करें। उसके बाद 10-10 सेकेंड के लिए और 3 बार माइक्रोवेव करें, जब तक कि वो पूरी तरह घुल न जाए। अब सोप बेस में 1 टीस्पून नारियल का तेल मिलाएं और उसमें तकरीबन 150 ml ब्रेस्ट मिल्क (Breast Milk) मिलाएं। आप चाहें तो इस मिश्रण में अपनी पसंद के किसी एजेंशियल ऑयल की 2-3 बूंदें भी मिला सकती हैं। अब इस मिश्रण को अच्छी तरह से मिक्स कर लीजिये और साबुन के सांचें में इस मिश्रण को डाल दीजिये। अब इसे रात भर सेट होने के लिए रख दें। आपका ब्रेस्ट मिल्क (Breast Milk) से बना साबुन तैयार है।

POPxo की सलाह: MYGLAMM के ये शनदार बेस्ट नैचुरल सैनिटाइजिंग प्रोडक्ट की मदद से घर के बाहर और अंदर दोनों ही जगह को रखें साफ और संक्रमण से सुरक्षित!